Shamjibhai Patel
Shamjibhai Patel Dec 28, 2017

Dasodisha Matra.

+171 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 336 शेयर

कामेंट्स

Mani Rana Dec 28, 2017
nice g radhe radhe g good evening g Thnx g

Ajnabi Dec 28, 2017
very nice jay shree Radhe krishna veeruda good night

Raghu Nath Vyas Dec 28, 2017
अतीव सुन्दर प्रयास है वास्तु दोष निवारण मन्त्र के लिये साधुवाद साष्टागं दडंवत

viraj shah Dec 29, 2017
🙏🙏🙏🙏🙏🙏👌👌👌👌

Acharya Rajesh Dec 10, 2019

*संतान गोपाल मंत्र* जिन दंपति को संतान न प्राप्त हो पा रही हो, गर्भ मे ही गर्भपात हो जाता हो, या जन्म होने के बाद संतान न रहे, या पुत्र संतान न होती हो अथवा जिन महिलाओं ने गर्भ धारण कर लिया हो, वह अपने गर्भस्थ शिशु की रक्षा, सुरक्षित प्रसव तथा गुणवान संतान की अभिलाषा हेतू प्रतिदिन शुद्ध चंदन की माला से इस मंत्र का जाप करना चाहिए । *संतान गोपाल मंत्र ( सम्पुट सहित ):-* *ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं देवकीसुत गोविन्द वासुदेव* *जगत्पते देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गतः ।* *संतान गोपाल मंत्र ( सम्पुट रहित ):-* *2. ॐ देवकीसुत गोविन्द वासुदेव जगत्पते ।* *देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गतः ।* पूजाकक्ष में या मंदिर मे श्री कृष्ण भगवान का बाल रूप चित्र लगाकर, उनके सम्मुख बैठकर । देसी धी की ज्योति जलाकर । मक्खन- मिश्री का भोग लगाकर । उपरोक्त मंत्र का भक्तिपूर्वक, शुद्ध चंदन की माला से, अपने सामर्थ्यनुसार  9 माला / 3 माला या 1 माला का प्रतिदिन जाप करे और ईश्वर से संतान की कामना करे .. *ग्रहों के अनुसार ही करें वस्तुओं का दान:-* शास्त्रों के अनुसार पुत्र रत्न की प्राप्ति के लिए श्री संतान गोपाल मंत्र के जाप के बाद जातक को नवग्रहों से संबंधित विशेष वस्तुएं दान करनी चाहिए। जिन महिलाओं को अपनी जन्मकुण्डली ज्ञात न हो वह निम्नलिखित वस्तुओं का दान कर सकते हैं:- चावल, गुड़, चीनी, नमक, गेहूं, दाल, तेल, तिल, जौ तथा कंबल तथा दक्षिणा इत्यादि । *(समाप्त)* ________________________ *आगामी लेख:-* *1. शीघ्र ही "नौकरी प्राप्ति हेतु उपाय" पर लेख* *2. शीघ्र ही "तुलसी पूजन" पर लेख* _________________________ *जय श्री राम* *आज का पंचांग 🌹🌹🌹* *बुधवार,11.12.2019* *श्री संवत 2076* *शक संवत् 1941* *सूर्य अयन- दक्षिणायण, गोल- दक्षिण गोल* *ऋतुः- हेमन्त ऋतुः ।* *मास- मार्गशीर्ष मास।* *पक्ष- शुक्ल पक्ष ।* *तिथि- चतुर्दशी तिथि 10:59 am तक* *चंद्रराशि- चंद्र वृष राशि मे ।* *नक्षत्र- रोहिणी नक्षत्र अगले दिन 6:22 am तक* *योग- सिद्ध योग 3:20 pm तक (शुभ है)* *करण- वणिज करण 10:59 am तक* *सूर्योदय 7:07 am, सूर्यास्त 5:21 pm* *राहुकाल - 12 pm से 1:30 pm तक, (शुभ कार्य वर्जित )* *भद्रा :- 11 दिस० 10:59 am to 11 दिस० 10:51 pm तक* ( भद्रा मे मुण्डन, गृहारंभ, गृहप्रवेश, विवाह, रक्षाबंधन आदि शुभ काम नही करने चाहिये , लेकिन भद्रा मे स्त्री प्रसंग, यज्ञ, तीर्थस्नान, आपरेशन, मुकद्दमा, आग लगाना, काटना, जानवर संबंधी काम किए जा सकतें है । *सर्वार्थ सिद्ध योग :- 11 दिस० 7:07 am to 12 दिस० 7:07 am तक*, ( शुभ  समय , इस योग मे किए गये काम, परीक्षा देना, नौकरी ज्वाइन करना, चुनाव के लिए आवेदन, भूमि, वाहन, वस्त्र आभूषण इत्यादि को खरीदना बेचना  अथवा  मुहूर्त शुभ परिणाम देते है । _______________________ *विशेष:- जो व्यक्ति दिल्ली से बाहर अथवा देश से बाहर रहते हो, वह ज्योतिषीय परामर्श हेतु paytm या Bank transfer द्वारा परामर्श फीस अदा करके, फोन द्वारा ज्योतिषीय परामर्श प्राप्त कर सकतें है* *अगले कुछ दिनो के व्रत तथा त्यौहार:-* 12 दिसं०- मार्गशीर्ष पूर्णिमा व्रत । 15 दिसं०- संकष्टी चतुर्थी । 16 दिसं०- धनु संक्रांति । 22 दिसं०- सफला एकादशी । 23 दिसं०- प्रदोष व्रत । 24 दिसं०- मासिक शिवरात्रि । 26 दिसं०- मार्गशीर्ष अमावस्या आपका दिन मंगलमय हो . 💐💐💐 *आचार्य राजेश ( रोहिणी, दिल्ली )* *9810449333, 7982803848*

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 17 शेयर

"सपनो के जहाँ से अब लौट आओ, हुई है सुबह अब जाग जाओ, चाँद तारो को अब कह कर अलविदा, इस नये दिन की खुशियों मे खो जाओ!! कुछ रिश्ते मुनाफ़ा नहीं देते पर ज़िन्दगी को अमीर बना देते हैं । सारा जहाँ उसी का है जो मुस्कुराना जानता है रौशनी भी उसी की है जो शमा जलाना जानता है हर जगह मंदिर हैं लेकिन भगवान तो उसी का है जो सर झुकाना जानता हैं ।" हिंदू धर्म में देवताओं को प्रसन्न करने के लिए पूजन आदि के साथ-साथ मंत्र जाप का विधान है। शास्त्रों के अनुसार इन मंत्रों में इतनी शक्ति होती है कि व्यक्ति की हर कामना सिद्ध हो जाती है। तो वहीं ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक अगर इन मंत्रों का जाप पूरी श्रद्धा भावना से किया जाए तो जीवन में से हर तरह की बाधा का निवाराण हो जाता है। मगर बहुत से लोगों को ये नहीं पता रहता है कि किस कामना के लिए कौन से मंत्र का जाप करना चाहिए। जिस कारण उन्हें शुभ फल की प्राप्ति नहीं होती। तो चलिए हम आपको बताते हैं कि आपको बताते हैं कुछ ऐसे मंत्रों के बारे में जो आपको हर बड़ी से बड़ी बीमारी से कुछ ही देर में बाहर निकाल सकते हैं। आप में से लगभग लोगों को गायत्री मंत्र का तो पता हो होगा लेकिन क्या आपको ये पता है कि हिंदू धर्म के कितने देवी-देवताओं को विभिन्न गायत्री मंत्र समर्पित है, जिनका अगर कामना अनुसार जाप किया जाए तो शुभ होता है। बता दें इन मंत्रों को प्रतिदिन एक हज़ार या फिर 108 की संख्या में तुलसी की माला से जपें, सुख, सौभाग्य, समृद्धि और ऎश्वर्य की प्राप्ति होगी। गणेश गायत्री मंत्र- विघ्नों का निवारण करने के लिए ।। ॐ एक दृष्टाय विद्महे वक्रतुण्डाय धीमहि। तन्नो बुद्धिः प्रचोदयात्।। नृसिंह गायत्री मंत्र- पुरषार्थ एवं पराक्रम की वृद्धि के लिए ।। ॐ उग्रनृसिंहाय विद्महे वज्रनखाय धीमहि। तन्नो नृसिंह: प्रचोदयात्।। विष्णु गायत्री मंत्र- पारिवारिक कलह की समाप्ति के लिए ।। ॐ नारायण विद्महे वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु: प्रचोदयात्।। शिव गायत्री मंत्र- सभी तरह के कल्याण के लिए ।। ॐ पंचवक्त्राय विद्महे महादेवाय धीमहि। तन्नो रुद्र: प्रचोदयात्।। कृष्ण गायत्री मंत्र- कर्म क्षेत्र की सफलता के लिए ।। ॐ देवकीनन्दनाय विद्महे वासुदेवाय धीमहि। तन्नो कृष्ण: प्रचोदयात्।। राधा गायत्री मंत्र- प्रेम के अभाव को दूर करने के लिए ।। ॐ वृषभानुजायै विद्महे कृष्णप्रियायै धीमहि। तन्नो राधा प्रचोदयात्।। लक्ष्मी गायत्री मंत्र- पद प्रतिष्ठा,यश ऐश्वर्य और धन सम्पति के लिए ।। ॐ महालक्ष्म्यै विद्महे विष्णुप्रियायै धीमहि । तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात्।। अग्नि गायत्री मंत्र- इंद्रियों की तेजस्विता बढ़ाने के लिए ।। ॐ महाज्वालाय विद्महे अग्निदेवाय धीमहि। तन्नो अग्नि: प्रचोदयात्।। इन्द्र गायत्री:- दुश्मनों के हमले से बचाव के लिए ।। ॐ सहस्त्रनेत्राय विद्महे वज्रहस्ताय धीमहि। तन्नो इन्द्र: प्रचोदयात्।। दुर्गा गायत्री मंत्र- शत्रु नाश और विघ्नों पर विजय के लिए- ।। ॐ गिरिजायै विद्महे शिवप्रियायै धीमहि। तन्नो दुर्गा प्रचोदयात्।। हनुमान गायत्री:- कर्म के प्रति निष्ठा की भावना जागृत करने के लिए- ।। ॐ अंजनी सुताय विद्महे वायुपुत्राय धीमहि। तन्नो मारुति: प्रचोदयात्।। जय श्री कृष्ण जय श्री राधे राधे जय श्री राम 👏 जय श्री हरी विठ्ठल जय श्री हनुमान जी 🙏 जय श्री महाकाली माता की जय श्री गणेश जी जय श्री महाकाल जी नमस्कार 🙏 मित्रों जय माता की 🙏 जय जय रघुवीर समर्थ जय श्री राम 👏 जय श्री शनी देव महाराज 👑 नमस्कार 🙏 शुभ प्रभात शुभ शुभ दिवस जय श्री गुरुदेव दत्त जय श्री स्वामी समर्थ महाराज 👑 जय श्री राम जय श्री सुर्य नारायण 🌅 शुभ मंगलवार सबका मंगल हो जय माता की जय श्री राम 👏 👣 🌹🌷⛅ नमस्कार 👏 👣 🌅 🙏 🚩🌷🍃💕🌱👪🎪👍🌷 🌹🚩 🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷

+50 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 8 शेयर
Vidur Tiwari Dec 8, 2019

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB