मायमंदिर फ़्री कुंडली
डाउनलोड करें
Prabha Jain
Prabha Jain May 12, 2019

🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌴🌴🌴🌴radhey radhey Ji 🌺🌺🌺🌺🌺

🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌴🌴🌴🌴radhey  radhey  Ji  🌺🌺🌺🌺🌺

+190 प्रतिक्रिया 50 कॉमेंट्स • 34 शेयर

कामेंट्स

Prabha Jain May 12, 2019
Jai Shri Krishana jai Shri ram Bhai ji good morning Ji 🙏🙏

GIRISH May 12, 2019
@prabhajain2 JAI SHRI RADHA KRISHNA JI GOOD MORNING JI SISTERJI aap ka din shubh ho Mangal ho RADHEY RADHEY JI

Prabha Jain May 12, 2019
@knpadshala Jai Shri radhey Krishna Bhai ji god bless you and your family good morning Ji 🙏🙏

Nagaraja Swamy o mass ns 2012 May 12, 2019
जै आधी शेष शक्ति मान। गणेश सुब्रमण्यन। ब्रह्मा शक्ति । हरी शक्ति । शिव । संध्या छाया सूर्या भगवान । शनिदेव । शुभम ।

ವೆಂಕಟೇಶ (venkatesh) May 12, 2019
🙏🙏🙏🌹🌷 jai Sri Radha Krishna ki app aur aapki parivar krupa bani rahe happy mother's Day good morning sister have a great day 🙏🙏🙏🌹🌹🌷

+268 प्रतिक्रिया 57 कॉमेंट्स • 175 शेयर

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Gishi Harwansh Jun 24, 2019

+13 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 31 शेयर
Ashok Sharma Jun 24, 2019

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 7 शेयर
Ajanta electric bike Jun 24, 2019

+49 प्रतिक्रिया 33 कॉमेंट्स • 49 शेयर
anita sharma Jun 24, 2019

🔔भगवान को पाने का तरीका🔔 भगवान को पाना आसान भी नहीं है और मुश्किल भी नहीं है। कितना अच्छा होता ना की जैसे संसार में हमे कुछ लेना है तो रुपये देकर खरीद लेते हैं। काश! ऐसा ही भगवान के साथ भी हो जाये। सच कहूँ तो भगवान को बिकने के लिए तैयार है लेकिन उन्हें खरीदने वाला कोई नहीं है। उनकी कीमत क्या है ? भगवान को पाने का सिर्फ एक और सिर्फ एक ही तरीका है। वो है प्रेम। जिसे आप भक्ति भी कह सकते हैं। प्रेम तीन प्रकार से होता है। व्यक्ति से, वस्तु से और परमात्मा से। व्यक्ति से तो आपने कभी ना कभी प्रेम किया होगा, और शायद करते भी होंगे। दूसरा वस्तु से, आजकल सभी करते हैं, अपने स्कूटर से, गाडी से, बाइक से और सबसे ज्यादा अपने स्मार्टफोन से। लेकिन ये सारा प्रेम बेकार हो जायेगा। आप परमात्मा से प्रेम कीजिये। आज जानते हैं प्रेम में कितनी ताकत हैं। शायद किसी भी चीज में नही हैं। श्री राधा रानी को आप देखिये। कृष्ण जी से प्रेम किया और भगवान आज राधा रानी के वश में हैं। अगर आप भगवान से प्रेम करते हैं तो आप सबसे प्रेम कीजिये। ऐसा प्रेम जिसमे कोई मांग नही हैं। जिसमे अपनी प्रेमी को सुख देना हैं सिर्फ। अपने सुख की कामना नहीं हैं। अगर अपने सुख की कामना हैं तो वह प्रेम नहीं हैं। वो स्वार्थ हैं। श्री राम चरितमानस में यही बात आती है, जो राम जी हैं ना उन्हें केवल प्रेम ही प्यारा है। जो जानना चाहता हो वो जान ले। एकदम सच बात है सबरी के बेर राम ने प्रेम में ही तो खाये थे। हमे कोई झूठे बेर खाने को दे तो क्या हम खाएंगे? कभी नही खाएंगे, लेकिन भगवान राम कुछ भी नही देखते यदि आपके अंदर प्रेमहै तो आप भगवान को आसानी से पा लोगे। एक बड़ी अच्छी बात आती है– हरि ब्यापक सर्बत्र समाना। प्रेम तें प्रगट होहिं मैं जाना॥ भगवान सब जगह समान रूप से व्यापक हैं, प्रेम से वे प्रकट हो जाते हैं। और ये बात भगवान भोले नाथ ने रामचरितमानस में देवताओं को कही है!

+72 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 90 शेयर
Rachna Jerath Jun 25, 2019

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Vijay Yadav Jun 24, 2019

+19 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 29 शेयर
OM PRAKASH CHOUBEY Jun 24, 2019

+27 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 18 शेयर
anu laura Jun 24, 2019

+18 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 12 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB