Urmila Agrawal
Urmila Agrawal Jul 19, 2017

आज तक आप ने शिव जी के ऐसे भक्त नही देखे होंगे, आप सिर्फ दूध, दही, घी, बेलपत्र, फूल आदि अपर्ण किये हो

आज तक आप ने शिव जी के ऐसे भक्त नही देखे होंगे, आप सिर्फ दूध, दही, घी, बेलपत्र, फूल आदि अपर्ण किये होंगे, किन्तु हे ऐसे भक्त है जो भगवान को सर्प अर्पण करते है।

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
simran Oct 30, 2020

+49 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 139 शेयर
Radha Bansal Oct 30, 2020

+18 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 0 शेयर
saroj singh Baghel Oct 30, 2020

⛵💦⛵कृष्ण भजन राधे कृष्णा राधे कृष्णा ⛵💦⛵ 🌹‼️🌹 विशेष स्पेशल पोस्ट 🌹‼️🌹 🌷🙏गुड मॉर्निंग शुभ प्रभात🙏🌷 मेरे बांके बिहारी श्याम तू इतना ना करियो💦 🌿 💦 🌿💕💦💕💦💕 सिंगार नजर तोहे लग जाएगी:::;;:🙏🍒 आज का दिन शुभ हो🌷आप सभी भाई बंधुओं मित्रों दोस्तों भक्तों सभी को हमारी तरफ 💚🌿💚 🌿🐾🌿🐾🏹🐾🏹🐾से शरद पूर्णिमा कोजागिरी की ढेर सारी शुभकामनाएं राधे राधे जी जय🐾☘️🐾 🦠 ☘️🦠☘️✍️✍️✍️✍️श्री कृष्णा जी आज का दिन शुभ मंगलमय हो आप सभी के जीवन में सदा🙏💕 💕💕💕 💕💕💕💕💕💕💕💕💕💕 खुशियां ही खुशियां हो माता महालक्ष्मी जी का आशीर्वाद सदा ही💐💐💐💐💐❤️❤️❤️❤️❤️ आप और आपके परिवार पर बना रहे जी) राधे राधे जी जय श्री कृष्णा जी🌴🍒 🌴🍒🌴 🍒🌴🍒🌴👬💏👬 दोस्ती यारी सदा⛳बनी रहे जी ☘️🍒🌍 🙏✍️🙏✍️🙏 ✍️🙏✍️ 🙏✍️🙏✍️🙏 🌍

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 14 शेयर
Ammbika Oct 30, 2020

+11 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 9 शेयर

*_🙏पाँच छेद की नाव🙏_* *हम जिस नाव में भवसागर पार कर रहे हैं...* *उस नाव में पाँच छेद हैं...* *जब तक हम भवसागर पार करें तब तक तो पाँच छेद से पानी नाव में भर जायेगा और नाव 84 के भवसागर में डूब जायेगी...* *हमें चाहिये कि उन पाँच छेदों को बन्द करते चलें...* *पाँच छेदों को बन्द करने का तरीक़ा श्री कृष्ण ने बता दिया है...* *और वो पांच छेद हैं , वो पाँच विकार ...जो हमें इस जीवन रूपी भवसागर को पार करने ही नहीं देते वो...यानी कि : काम , क्रोध , लोभ , मोह और अहंकार ।।* *तो हमें चाहिये कि छेदों को बन्द करते हुऐ भवसागर में आगे बढ़ते चलें - बढ़ते चलें ...* *बाकी सब श्री कृष्ण पर छोड़ दें ।।* 🌹🙏🌹जय श्री कृष्ण 🌹🙏🌹 *🙏🙏🌷 शुभ रात्रि विश्राम🌷🙏🙏*

+11 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 17 शेयर
Sweta Saxena Oct 30, 2020

+12 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🙏🌹जय माता लक्ष्मी 🌹🙏 अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा कहते हैं। इस साल इसे 30 अक्टूबर को मनाया जाएगा। इस दिन का विशेष महत्व है इसी वजह से इस दिन लोग व्रत एवं पूजन करते हैं। इसे आरोग्य का पर्व भी कहा जाता है। ऐसी मान्यता है कि शरद पूर्णिमा का अमृतमयी चांद अपनी किरणों में स्वास्थ का वरदान लेकर आता है। हिंदू पंचाग के अनुसार पूर्णिमा की रातो में शरद पूर्णिमा का स्थान प्रमुख है। इसे कौमुदी यानि मूनलाइट या कोजागरी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। साथ ही देश के कई राज्यों में इसे फसल उत्सव के रूप में भी मनाया जाता है। इस पर्व पर चंद्रमा की रोशनी में खीर को रखा जाता है। कहा जाता है कि चंद्रमा की किरणों के नीचे रखी इस खीर को खाने से सारे रोगों का निवारण होता है। शरद पूर्णिमा में माता लक्ष्मी का पूजन किया जाता है। उनके आठ रूप हैं, जिनमें धनलक्ष्मी, धान्यलक्ष्मी, राज लक्ष्मी, वैभव लक्ष्मी, ऐश्वर्य लक्ष्मी, संतान लक्ष्मी, कमला लक्ष्मी एवं विजय लक्ष्मी है। सच्चे मन से मां की अराधना करने वाले भक्तों की सारी मुरादें पूरी होती हैं। शरद पूर्णिमा के दिन सुबह उठ जाएं और स्नान आदि कर लें। घर के मंदिर को साफ करके माता लक्ष्मी और श्री हरि के पूजन की तैयारी कर लें। इसके लिए एक चौकी पर लाल या पीले रंग का वस्त्र बिछाएं। इस पर माता लक्ष्मी और विष्णु जी की मूर्ति स्थापित करें। प्रतिमा के सामने घी का दीपक जलाएं, गंगाजल छिड़कें और अक्षत, रोली का तिलक लगाएं। सफेद या पीले रंग की मिठाई से भोग लगाएं और पुष्प अर्पित करें। यदि गुलाब के फूल हैं तो और भी अच्छा है। गाय के दूध में बनी चावल की खीर की खीर को छोटे-छोटे बर्तनों में भर दें। अब इन्हें चंद्रमा की रोशनी में छलनी से ढककर रख दें। इसके बाद ब्रह्म मुहूर्त जागते हुए गणपति जी की आरती के बाद भगवान विष्णु सहस्त्रनाम जप, श्रीसूक्त का पाठ, भगवान श्री कृष्ण की महिमा, श्रीकृष्ण मधुराष्टकम का पाठ और कनकधारा स्तोत्र का पाठ करें। अगले दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्नान आदि करने के बाद, मां लक्ष्मी को खीर अर्पित करने बाद घर वालों को प्रसाद स्वरूप ग्रहण करने व दें। 🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀🥀 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

+130 प्रतिक्रिया 23 कॉमेंट्स • 86 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB