Mansing bhai Sumaniya
Mansing bhai Sumaniya Nov 26, 2021

जय श्री राम।जय श्री राम🙏 जय माता पार्वती।ओम नमः शिवाय🙏

जय श्री राम।जय श्री राम🙏
जय माता पार्वती।ओम नमः शिवाय🙏

+72 प्रतिक्रिया 16 कॉमेंट्स • 265 शेयर

कामेंट्स

Runa Sinha Nov 26, 2021
💞💥 Jai Mata Di 💥💞 💖💥 Good morning💥💖 🍭💥 Happy Friday💥🍭

madan pal 🌷🙏🏼 Nov 26, 2021
जय श्री राधे कृष्णा जी शूभ प्रभात वंदन जी आपका हर पल शूभ मगल हों जी अति सुन्दर पोस्ट जी 🙏🏼🙏🏼🙏🏼🌷🌷🌷

Janardan Mishra Nov 26, 2021
जै माता दी ,सुप्रभात वंदन जी

Yogesh Bhushan Nov 26, 2021
🙏🌹🙏🌹🙏🌹 Radhey Radhey 🙏🌹🙏🌹🙏🌹

R.K.SONI (Ganesh Mandir) Nov 26, 2021
Radhe Radhe Ji🌹 🌈Suprabhat Vandan Ji🌈. V. nice post Ji👌👌🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌈🌈🌈🙏

R.K.SONI (Ganesh Mandir) Nov 26, 2021
Radhe Radhe Ji🌹 🌈Suprabhat Vandan Ji🌈. V. nice post Ji👌👌🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌈🌈🌈🙏

Brajesh Sharma Nov 26, 2021
🌞🙏❤🇮🇳🎋🌞🚩🇮🇳🙏🌹🌞 जगतजननी माँ कल्याण करें जय माता दी..जय माता दी खुश रहें मस्त रहें स्वस्थ रहें व्यस्त रहें राम राम जी 🇮🇳🙏🎋🌞🚩🎋🌞🌹🚩🙏

Kailash Pandey Nov 26, 2021
जय माता दी सुप्रभात वंदन भाई जी

🌷JK🌷 Nov 26, 2021
🌹🌹jai mata di🌹🌹 Good morning ji🙏

🌹🙏जय गुरूदेव 🙏🌹 🌴🥀❤️मोती कुंड❤️🥀🌴 🌴🥀❤️मथुरा में बरसाना और नंदगांव के बीच में मोती कुंड मौजूद है। यह कुंड तीन तरफ से पीलू के पेड़ों से घिरा हुआ है। इस पेड़ में मोती जैसे फूल होते हैं❤️🥀🌴🌴🥀❤️ ऐसी मान्‍यता है कि इन पेड़ों को कान्‍हा ने नंदबाबा के दिए कीमती मोतियों को बोकर उगाया था❤️🥀🌴 🌴🥀❤️बरसाना के विरक्‍त संत रमेश बाबा बताते हैं कि गर्ग संहिता, गौतमी तंत्र समेत कई ग्रंथों में इस महान कुंड और राधा-कृष्‍ण की सगाई का वर्णन है❤️🥀🌴🌴🥀❤️ गोवर्धन पर्वत उठाने की लीला के बाद दोनों की सगाई हुई थी। सगाई के दौरान राधा के पिता वृषभानु ने नंदबाबा को उपहार में मोती दिए❤️🥀🌴🌴🥀❤️ तब नंद बाबा चिंता में पड़ गए कि इतने कीमती मोती कैसे रखें❤️🥀🌴 🌴🥀❤️श्रीकृष्‍ण चिंता समझ गए। उन्‍होंने मां यशोदा से लड़कर मोती ले लिए। घर से बाहर निकलकर कुंड के पास जमीन में मोती बो दिए❤️🥀🌴🌴🥀❤️ जब यशोदा ने कृष्‍ण ने पूछा कि मोती कहां है। तब उन्‍होंने इसके बारे में बताया❤️🥀🌴 🌴🥀❤️नंद बाबा भगवान कृष्‍ण के कार्य से नाराज हुए और मोती जमीन से निकालकर लाने को लोगों को भेजा। जब लोग यहां पहुंचे तो देखा कि यहां पेड़ उग आए हैं और पेड़ों पर मोती लटके हुए हैं❤️तब🥀🌴🌴🥀❤️ बैलगाड़ी भरकर मोती घर भेजे गए। तभी से कुंड का नाम मोती कुंड पड़ गया। माना जाता है कि श्रीकृष्‍ण और राधा के बीच सांसारिक रिश्‍ते नहीं थे❤️🥀🌴 🌴🥀❤️लेकिन नंदगाव का यह मोती कुंड आज भी दोनों की सगाई की गवाही देता है। आज भी ब्रज 84 कोस यात्रा के दौरान यहां लोग यहां पर मोती जैसे फल बटोरने आते हैं❤️🥀🌴🌴🥀❤️ यह डोगर (पीलू) का पेड़ है।पूरे ब्रज में कुछ ही जगह ये पेड़ हैं❤️🥀🌴🌴🥀❤️ लेकिन मोती जैसे फल सिर्फ मोती कुंड के पास मौजूद पेड़ में ही मिलते हैं❤️🥀🌴 🌴🥀❤️🥀❤️🥀❤️🥀❤️🥀❤️🥀❤️🥀❤️🥀🌴 🌴🥀❤️जय जय श्री कृष्ण❤️🥀🌴 🌴🥀❤️जय जय श्री हरी❤️🥀🌴

+14 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 24 शेयर
Master ji Jan 24, 2022

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 11 शेयर
vidya sharma Jan 24, 2022

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Archana Singh Jan 24, 2022

+67 प्रतिक्रिया 31 कॉमेंट्स • 102 शेयर
Malti Bansal Jan 24, 2022

+27 प्रतिक्रिया 19 कॉमेंट्स • 105 शेयर
Rama Devi Sahu Jan 24, 2022

+63 प्रतिक्रिया 17 कॉमेंट्स • 77 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB