जय श्री राम ।। जय श्री हनुमान ।।

+55 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 5 शेयर

कामेंट्स

hindusthani mohan sen Apr 20, 2021
तेरी कृपा से मैया, हर काम हो गया, काम तूने किया, मेरा नाम हो गया।। दुर्गाष्टमी की शुभकामनाएं। मां भरती झोली खाली, मां अम्बे वैष्णों वाली, मां संकट हरने वाली, मां विपदा हरने वाली, मां के सभी भक्तों को, 🚩हिन्दुस्तानी मोहन सेन🚩

Renu Singh Apr 20, 2021
Jai Mata Di 🌹🙏 Shubh Sandhya Vandan Bhai ji 🙏🌹

RAJ RATHOD Apr 20, 2021
🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻 👣🌸🚩ओम देवी महागौर्यै नमः.🚩🌸👣 🌅🌹शुभ मंगलवार.. शुभ रात्रि वंदन 🙏🌅 या देवी सर्वभू‍तेषु मां गौरी रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।। 🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻 🚩आज चैत्र नवरात्रि की अष्टमी तिथि तथा विश्वस्वामिनी का अष्टम स्वरूप महागौरी आराधना का दिन है 🚩 🌹🌹आप सभी को महाअष्टमी एवं महागौरी उपासना की हार्दिक शुभकामनाएँ 🌹🌹माता महागौरी की कृपा से सभी के जीवन में सुख संवृध्दि, सौभाग्य की प्राप्ति हो 🌻🌻

Ravi Kumar Taneja Apr 21, 2021
🦚🐾🙏🌷🙏🐾🦚 आपको सपरिवार नवमं नवरात्रि महापर्व की हार्दिक शुभकामनायें!! 🙏💐🙏 नौवीं माता सिद्धिदात्री की कृपा सबके उपर बनी रहे🙏 माता सिद्धिदात्री रानी की कृपा से सभी की शांति, खुशहाली,तन्दरुसती बनी रहे...तथा सभी रोगमुक्त रहे 🙏🌻🙏 जय माता दी 🙏🌴🙏 माता रानी के नौ रूप आपकी हर मनोकामना पुरी करे 🙏🌹🙏 🌴 नौवीं 🐾सिद्धिदात्री माता🐾🌴 सु-प्रभात वंदन🙏 🌺🙏 🕉 *माँ सिद्धिदात्री की कृपा से आप सब स्वस्थ,सम्रद्ध व सुखी रहें*🕉 🕉🐾🦢🙏🌷🙏🦢🐾🕉

Manoj manu May 11, 2021

🚩🌹जय श्री राम जी जय वीर बजरंग वली 🌹🙏 🌿🌹राम नाम कहते रहो, धरे रहो मन धीर। 🌿🌹 🌹🌿कारज वही सुधारिहें ,कृपा सिंधु रधुवीर।🌹🌿 🌹🌹तन के साथ मन की निर्मलता कैसे हो श्री राम चरित मानस ज्ञान से बाबा तुलसी दास जी ,चौपाई :- 🌹🌹 रघुपति भगति सजीवन मूरी। अनूपान श्रद्धा मति पूरी॥ एहि बिधि भलेहिं सो रोग नसाहीं। नाहिं त जतन कोटि नहिं जाहीं॥ 🌿🌿भावार्थ:-श्री रघुनाथजी की भक्ति संजीवनी जड़ी है। श्रद्धा से पूर्ण बुद्धि ही अनुपान (दवा के साथ लिया जाने वाला मधु आदि) है। इस प्रकार का संयोग हो तो वे रोग भले ही नष्ट हो जाएँ, नहीं तो करोड़ों प्रयत्नों से भी नहीं जाते॥ 🌹🌹 जानिअ तब मन बिरुज गोसाँई। जब उर बल बिराग अधिकाई॥ सुमति छुधा बाढ़इ नित नई। बिषय आस दुर्बलता गई॥ 🌿🌿भावार्थ:-हे गोसाईं! मन को निरोग हुआ तब जानना चाहिए, जब हृदय में वैराग्य का बल बढ़ जाए, उत्तम बुद्धि रूपी भूख नित नई बढ़ती रहे और विषयों की आशा रूपी दुर्बलता मिट जाए॥ 🌹🌹 बिमल ग्यान जल जब सो नहाई। तब रह राम भगति उर छाई॥ सिव अज सुक सनकादिक नारद। जे मुनि ब्रह्म बिचार बिसारद॥ 🌿🌿भावार्थ:-इस प्रकार सब रोगों से छूटकर जब मनुष्य निर्मल ज्ञान रूपी जल में स्नान कर लेता है, तब उसके हृदय में राम भक्ति छाई रहती है। शिवजी, ब्रह्माजी, शुकदेवजी, सनकादि और नारद आदि ब्रह्मविचार में परम निपुण जो मुनि हैं,॥ 🌹🌹सब कर मत खगनायक एहा। करिअ राम पद पंकज नेहा॥ श्रुति पुरान सब ग्रंथ कहाहीं। रघुपति भगति बिना सुख नाहीं॥ 🌿🌿भावार्थ:-हे पक्षीराज! उन सबका मत यही है कि श्री रामजी के चरणकमलों में प्रेम करना चाहिए। श्रुति, पुराण और सभी ग्रंथ कहते हैं कि श्री रघुनाथजी की भक्ति के बिना सुख नहीं है॥ 🌹🌿🌹प्रभु श्री राम चंद्र जी सभी का सदा कल्याण करें सदा मंगल प्रदान करें जय श्री राम जी 🌹🌿🌹🌿🙏

+365 प्रतिक्रिया 106 कॉमेंट्स • 249 शेयर
sushma May 11, 2021

+15 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 14 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 2 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 5 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB