7726088551
7726088551 Jun 10, 2018

GOODMORNING

+14 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 16 शेयर

कामेंट्स

7726088551 Jun 10, 2018
radhey radhey babitaji suprabhat have a nice day

जिनके साथ माँ पार्वती,मस्तक पर गंगा जी,ललाट पर चन्द्रमा,कंठ में विष और वक्षःस्थल पर सर्पराज शेष सुशोभित हैं। वे भस्म से विभूषित,देवताओं के भी देव,सर्वेश्वर,संहारकर्ता,भक्तों के पापनाशक,सर्वव्यापक,कल्याण रूप,चन्द्रमा के समान शुभ्रवर्ण #शंकर_जी सदा हम पर कृपा करें एवं हमारी रक्षा करें.!! हर-हर महादेव 🚩 🇮🇳जय भारत 🌹जय हिंद 🇮🇳 *चक्रव्यूह रचने वाले सारे अपने ही होते हैं.!* *कल भी यही सच था* *और आज भी यही सच है.!!* *संभाल के रखना अपनी पीठ को यारो.!* *'शाबाशी' और 'खंजर' दोनो* *यहीं पर मिलते है. 🙏🙏🙏भारत माता की जय .🙏🙏🙏🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳 *🙏निवेदन🙏* अधिकतर देखने में आया है कई कंपनियां पैसा कमाने के उद्देश्य से बगैर सोचे समझे कोई भी प्रोडक्ट मार्केट में ले आती है। अभी चूंकि 15 अगस्त को हमारा स्वतंत्रता दिवस निकट आ रहा है, तो उसे देखते हुए मास्क बनाने वाली कंपनियों ने हमारे राष्ट्रीय ध्वज के तीन रंग और अशोक चक्र के साथ मास्क को बेचना प्रारम्भ कर दिया है किया है। कुछ दुकानों अथवा मेडिकल्स पर उपलब्ध भी हो चुके हैं। मेरी समझ से यह गलत है। क्योंकि इस मास्क को व्यक्ति अपने मुंह पर लगाएगा तो कई बार मुंह पर लगाने के पश्चात व्यक्ति मास्क पर खांसता भी है छींकता भी है ,और इसका उपयोग होने के बाद इसे डस्टबिन में भी फेंक दिया जाएगा जो कि मेरी दृष्टि से गलत है । *ये तिरंगा हर हिंदुस्तानी की आन बान का प्रतीक है, अतः हमें अपने राष्ट्रीय ध्वज और उसके तीन रंगो को पूरा पूरा सम्मान देते हुए इन मास्को के उपयोग से और इन्हें खरीदने और बेचने से बचना चाहिए।* हम नही खरीदेंगे तो वह नही बेच पाएंगे।👏👏👏👏👏👏🌹शिव की भांति त्याग कहां,कहां पार्वती विश्वाश अब तो साधु संत भी धन की करते आस शिव जैसा कोई पुरुष नहीं, नारी नहीं सती शिव के मानिंद प्रेमी कौन ,कौन गौरा सी प्रेयसी कौन निरंकारी शिव सा ,कौन शक्ति सी स्वामिनी कौन शिव सा दूल्हा है ,कौन गिरिजा अर्धांगिनी #हर_हर_महादेव #जयमाँशक्ति सेवक भरत व्यास बांगा हिसार चंडी घाट हरिद्वार

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Adhikari Molay Aug 9, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
MAHENDRA Aug 9, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Adhikari Molay Aug 9, 2020

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

Jai Shri Krishna हे! आनंद कंद, देवकी नंद, दुखियों का उद्धार करो । जग को बचाने, कष्ट मिटाने, हे कृष्ण! फिर से धरा पर अवतार करो। मानव ही नहीं प्रकृति भी तड़प रहे, दुख से पीड़ित हो प्राणी बिलख रहे, कितने कुब्जा की आँखें तरस रहे, करुणा औषधि की बरसात करो हे प्रभु! फिर से सुखी संसार करो फिर गीता की अमृत दान करो, जग को बचाने, कष्ट मिटाने, हे कृष्ण! फिर से धरा पर अवतार करो । हे! आनंद कंद, देवकी नंद, दुखियों का उद्धार करो । जग को बचाने, कष्ट मिटाने, हे कृष्ण! फिर से धरा पर अवतार करो । पल – पल द्रोपदी पुकार रही, पग – पग दुशासन की है साहस बढ़ी, हे! निर्दोष के सखा सहारे, अब ना ज्यादा देर करो, कलयुगी कंस, दुशासन का अब आकर के संहार करो, हे प्रभु! दुष्टों का नाश करो, फिर से कर में चक्र धरो। जग को बचाने, कष्ट मिटाने, हे कृष्ण! फिर से धरा पर अवतार करो । हे आनंद कंद, देवकी नंद, दुखियों का उद्धार करो । जग को बचाने, कष्ट मिटाने, हे कृष्ण! फिर से धरा पर अवतार करो । लाखों सुदामा, ओ मेरे कृष्णा! आज भी जग में भटक रहे, उसके आँसू पोंछ दो आकर, दुख से पीड़ित सब बिलख रहे, शरणागत की आस की झोली सुख वैभव से भरपूर करो । दुखिया के दुख अब दूर करो । फिर से प्रभु! शंख नाद करो । जग को बचाने, कष्ट मिटाने, हे कृष्ण! फिर से धरा पर अवतार करो । हे आनंद कंद, देवकी नंद, दुखियों का उद्धार करो । जग को बचाने, कष्ट मिटाने, हे कृष्ण! फिर से धरा पर अवतार करो । घोर अज्ञान है चारों ओर, प्रभु ज्ञान का प्रकाश भरो, ईर्ष्या, द्वेष, मद, लोभ, प्रपंच का नाग फुफकार रहे, जाने कितने शकुनी, धृतराष्ट्र घर – घर अपनी चाल चल रहे, कलयुगी कालिया, धृतराष्ट्र, शकुनी का हे नाथ! गर्व अब चूर करो, हर दिल में प्रेम के गीत भरो, फिर से वंशी मुख अधर धरो, जग को बचाने, कष्ट मिटाने, हे कृष्ण! फिर से धरा पर अवतार करो । आनंद कंद, देवकी नंद, दुखियों का उद्धार करो । जग को बचाने, कष्ट मिटाने, हे कृष्ण! फिर से धरा पर अवतार करो।।👏👏👏👏👏👏👏👏👏👏👏इसी तरह निर्मल और स्वच्छ रहे माँ गंगा 🙏🙏🙏 प्रत्येक व्यक्ति का कर्तव्य है माँ गंगा हरिद्वार में किसी भी प्रकार की पूजन सामग्री, पन्नी, पाउच लेकर न जाए। गंदे कपड़े बाहर धोए तभी सभी गंगा भक्तों को पूजा का लाभ मिलेगा। मां गंगा की पूजा के बहाने वहां जाकर गंदगी न करें। हर ग्रामवासी जिले एवं प्रदेश, देशवासी का कर्तव्य है कि जल सरिताओं को पवित्र रखने का हर संभव प्रयास करें | ©ब्रहमा घाट हरिद्वार सेवक भरत व्यास बांगा हिसार

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 11 शेयर
Rajneesh Bhansali Aug 9, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB