Nupur Bala Sharma
Nupur Bala Sharma Nov 22, 2021

+40 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 98 शेयर

कामेंट्स

R K Jangid Nov 22, 2021
राधे राधे जी सुप्रभात वंदन

santoshi thakur Nov 22, 2021
Om namah Shivay sister 🙏 beutiful good morning aapka din shubh ho Har Pal Mangalmay ho God bless you and your family always be happy Radhe Radhe krishna ji 🙏🏵️

संजीव 9779584243 Nov 22, 2021
प्रभु श्रीगोपीजन के प्रकाश स्वरूप थे और प्रभु के श्री मथुराजी जाने के बाद सब कुछ श्रीबृज में अंधकारमय हो गया । सूत्र यह है कि प्रभु जिसके जीवन से चले जाते हैं तो उसके जीवन में फिर अंधेरा-ही-अंधेरा छा जाता है ।

Ravi Kumar Taneja Nov 22, 2021
🌴🙏🙏🙏🕉🙏🙏🙏🌴 ऊँ नमो शिवाय 🙏🌿🙏 सच्ची मानवता की सोच हमेशा यही होगी कि मुझे मिला हुआ *दुःख* किसी को नही मिले और मुझे मिला हुआ *सु:ख* सबको मिले🙏🌹🙏 आपका दिन मंगलमय हो🙏 प्रभु की करुणामई कृपा आप पर सदैव बनी रहे इसी मंगल कामना के साथ शुभ प्रभात वंदन जी 🙏🌹🙏 *🌷श्रीकृष्ण गोविन्द हरे मुरारी,* *हे नाथ नारायण वासुदेवाय!!!🌷* *꧁!!🌹Զเधॆ Զเधॆ 🌹!!꧂*

Saroj Kumari singh Jan 15, 2022

**बाल संस्कार : अपने बच्चों को अवश्य सिखाएं ये दिव्य श्लोक हमारे पुराणों में वर्णित मंत्र-श्लोक अपने बच्चों को जरूर सिखाएं,जीवन की विपरीत परिस्थिति में इनके स्मरण से शक्ति मिलती है.... 1.प्रात: कर-दर्शनम् कराग्रे वसते लक्ष्मीः करमध्ये सरस्वती। करमूले तु गोविन्दः प्रभाते करदर्शनम्॥ 2.पृथ्वी क्षमा प्रार्थना समुद्रवसने देवि पर्वतस्तनमंडिते। विष्णु पत्नि नमस्तुभ्यं पाद स्पर्शं क्षमस्व मे॥ 3.त्रिदेवों के साथ नवग्रह स्मरण ब्रह्मा मुरारी स्त्री पुरान्तकारी भानु: शशि भूमिसुतो बुधश्च। गुरुश्च शुक्र: शनि राहु केतव: कुर्वन्तु सर्वे मम सुप्रभातम्॥ 4.स्नान मंत्र गंगे च यमुने चैव गोदावरी सरस्वती। नर्मदे सिन्धु कावेरी जलेस्मिन् सन्निधिं कुरु॥ 5.सूर्य नमस्कार ॐ सूर्य आत्मा जगतस्तस्थुषश्च।। आदित्यस्य नमस्कारं ये कुर्वन्ति दिने दिने। दीर्घमायुर्बलं वीर्यं व्याधि शोक विनाशनम् सूर्य पादोदकं तीर्थ जठरे धारयाम्यहम्॥ ॐ मित्राय नम: ॐ रवये नम: ॐ सूर्याय नम: ॐ भानवे नम: ॐ खगाय नम: ॐ पूष्णे नम: ॐ हिरण्यगर्भाय नम: ॐ मरीचये नम: ॐ आदित्याय नम: ॐ सवित्रे नम: ॐ अर्काय नम: ॐ भास्कराय नम: ॐ श्री सवितृ सूर्यनारायणाय नम: आदिदेव नमस्तुभ्यं प्रसीदमम भास्कर। दिवाकर नमस्तुभ्यं प्रभाकर नमोऽस्तु ते॥ 6.संध्या दीप दर्शन शुभं करोतु कल्याणम् आरोग्यम् धनसंपदा। शत्रुबुद्धिविनाशाय दीपज्योति नमोऽस्तु ते॥ दीपो ज्योतिः परं ब्रह्म दीपो ज्योतिर्जनार्दनः। दीपो हरतु मे पापं संध्यादीप नमोऽस्तु ते॥ 7.गणपति स्तोत्र गणपति: विघ्नराजो लम्बतुंडो गजानन:। द्वै मातुरश्च हेरम्ब एकदंतो गणाधिप:॥ विनायक: चारुकर्ण: पशुपालो भवात्मज:। द्वादशैतानि नामानि प्रातरुत्थाय य: पठेत्॥ विश्वं तस्य भवेद् वश्यं न च विघ्नं भवेत् क्वचित्। विघ्नेश्वराय वरदाय सुरप्रियाय। लम्बोदराय विकटाय गजाननाय॥ नागाननाय श्रुतियज्ञविभूषिताय। गौरीसुताय गणनाथ नमो नमस्ते॥ शुक्लाम्बरधरं देवं शशिवर्णं चतुर्भुजं। प्रसन्नवदनं ध्यायेत् सर्वविघ्नोपशान्तये॥ 8.आदिशक्ति वंदना सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके। शरण्ये त्र्यम्बके गौरि नारायणि नमोऽस्तु ते॥ 9.शिव स्तुति कर्पूर गौरं करुणावतारं, संसार सारं भुजगेन्द्रहारं। सदा वसंतं हृदयारविन्दे, भवं भवानी सहितं नमामि॥ 10. विष्णु स्तुति शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं सुरेशं विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्ण शुभाङ्गम्। लक्ष्मीकान्तं कमलनयनं योगिभिर्ध्यानगम्यम् वन्दे विष्णुं भवभयहरं सर्वलोकैकनाथम्॥ 11. श्री कृष्ण स्तुति कस्तूरी तिलकं ललाटपटले, वक्षस्थले कौस्तुभं। नासाग्रे वरमौक्तिकं करतले, वेणु करे कंकणम्॥ सर्वांगे हरिचन्दनं सुललितं, कंठे च मुक्तावलि। गोपस्त्री परिवेष्टितो विजयते, गोपाल चूडामणी॥ मूकं करोति वाचालं पंगुं लंघयते गिरिम्। यत्कृपा तमहं वन्दे परमानन्द माधवम्॥ 12.श्रीराम वंदना लोकाभिरामं रणरंगधीरं राजीवनेत्रं रघुवंशनाथम्। कारुण्यरूपं करुणाकरं तं श्रीरामचन्द्रं शरणं प्रपद्ये॥ 13. एक श्लोकी रामायण आदौ रामतपोवनादि गमनं हत्वा मृगं कांचनम्। वैदेही हरणं जटायु मरणं सुग्रीवसम्भाषणम्॥ बालीनिर्दलनं समुद्रतरणं लंकापुरीदाहनम्। पश्चाद्रावण कुम्भकर्णहननं एतद् श्री रामायणम्॥ 14.सरस्वती वंदना या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता। या वींणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपदमासना॥ या ब्रह्माच्युतशङ्करप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता। सा माम पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्याऽपहा॥ 15.हनुमंत वंदना अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहम्। दनुजवनकृषानुम् ज्ञानिनांग्रगणयम्। सकलगुणनिधानं वानराणामधीशम्। रघुपतिप्रियभक्तं वातजातं नमामि॥ मनोजवं मारुततुल्यवेगम जितेन्द्रियं बुद्धिमतां वरिष्ठं। वातात्मजं वानरयूथमुख्यं श्रीरामदूतं शरणम् प्रपद्ये॥ 16.स्वस्ति-वाचन ॐ स्वस्ति न इंद्रो वृद्धश्रवाः स्वस्ति नः पूषा विश्ववेदाः। स्वस्ति नस्तार्क्ष्यो अरिष्ट्टनेमिः स्वस्ति नो बृहस्पतिर्दधातु॥ 17.शांति पाठ ऊँ पूर्णमदः पूर्णमिदं पूर्णात् पूर्णमुदच्यते। पूर्णस्य पूर्णमादाय पूर्णमेवावशिष्यते॥ ॐ द्यौ: शान्तिरन्तरिक्ष (गुँ) शान्ति:, पृथिवी शान्तिराप: शान्तिरोषधय: शान्ति:। वनस्पतय: शान्तिर्विश्वे देवा: शान्तिर्ब्रह्म शान्ति:, सर्व (गुँ) शान्ति:, शान्तिरेव शान्ति:, सा मा शान्तिरेधि॥ ॥ॐ शांति: शांति:शांति:॥*♻🌼♻🌹🌹🙏🙏 🔳🍁🎉🔳🍁🎉🔳🍁🎉🔳

+10 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 55 शेयर
Ravi Kumar Taneja Jan 15, 2022

🌻जो राम को लाये है, हम उनको लाएंगे!!! 🌻पूरे भारत वर्ष में हम भगवा फहरायेगे 🙏💐🙏 *🕉मनोज तिवारी जी और कन्हैया मित्तल जी की आवाज में भगवा रंग अब चढ़ने लगा है ... मंदिर अब बनने लगा है।* 🕉🙏🌻🙏🌻🙏🕉 जागो हिंदू जागो 🙏💐🙏 *🔳शुरू हो गई टिकट वाली नौटंकी...* *‼️अगर फलाने को टिकट नहीं दिया तो हम भाजपा को वोट नहीं देंगे!अगर फलाने को टिकट दे दिया तो हम भाजपा को वोट नहीं देंगे‼️* *‼️ऐसी नौटंकी करने वाले कार्यकर्ताओं को तनिक सोचना चाहिए की आपकी ऐसी नौटंकी के चलते अगर सपा आ गई तब क्या कीजिएगा ? 5 साल बैठ के मंजीरा बजाइयेगा‼️* *🌷यूपी की जनता से मेरी विनम्र अपील है, उत्तर प्रदेश में प्रत्येक सीट से योगीजी ही लड़ रहे है! उम्मीदवार नहीं ,चुनाव निशान देखिये, 🌷"कमल का फूल"...!!🌷* 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से जम्मू कश्मीर से धारा 370 हट गई! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 500 वर्षों बाद अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर बन रहा है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से काशी विश्वनाथ धाम भव्य बन गया! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से गुंडों माफियाओं की 3600 करोड़ की अवैध संपत्ति जब्त/ध्वस्त हुई! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से यूपी में दंगाई दंगा करने से घबराते है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 40-50 वर्ष पुरानी लटकी भटकी सरयू नहर और बाण सागर जैसी सिंचाई परियोजनाएं पूरी हुई! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 31 साल बाद गोरखपुर का खाद कारखाना पुनः चालू हुआ! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से बंद पड़ी 20 से अधिक चीनी मिलें पुनः शुरू हुई और उनकी क्षमता में भी वृद्धि हुई! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 1 करोड़ छात्र छात्राओं को टैबलेट और मोबाइल फोन मिले! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से उत्तर प्रदेश के करोड़ों प्रतियोगी छात्र छात्राओं को मुफ्त कोचिंग की सुविधा मिली! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से बालिकाओं को स्नातक तक मुफ्त शिक्षा की सुविधा मिली! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 4.5 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी मिली! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से मुफ्त दोगुना राशन मिल रहा है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 1.67 करोड़ गरीबों को मुफ्त उज्जवला गैस कनेक्शन मिला! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 24 घंटे बिजली मिल रही है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 43 लाख गरीबों को आवास, 2.61 करोड़ शौचालय, नल से स्वच्छ जल मिल रहा है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 2.55 करोड़ किसानों को 6000₹ किसान सम्मान निधि मिली! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 86 लाख किसानों का 36 हजार करोड़ का कर्ज माफ हुआ! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से गन्ना किसानों को समय पर 1.55 लाख करोड़ का भुगतान मिला! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से किसानों को सिंचाई के लिए सस्ती बिजली मिल रही है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से कांवड़ियों पर हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा होती है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से अयोध्या में दिव्य दीपावली मनती है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से हमारे धार्मिक स्थलों का भव्य सौंदर्यीकरण हो रहा है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से हर जिले में मेडिकल कॉलेज बन रहे है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से दस शहरों में मेट्रो का निर्माण हो रहा है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से प्रदेश में 6 एक्सप्रेसवे बन रहे है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 25 करोड़ जनता को मुफ्त कोरोना वैक्सीन लग रही है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से पाकिस्तान को हम घर में घुसकर मारते है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से डिफेंस कॉरिडोर बन रहा है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से प्रदेश में आकाश, ब्रम्होस जैसी घातक मिसाइलें बनाने का प्लांट लगा है! 🌷ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से गुंडे माफिया थाने में जाकर सरेंडर कर रहे है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से दंगाइयों से सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान की वसूली की जा रही है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से लव जिहादियों पर नकेल कसी जा रही है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से कैराना में हिंदुओं का पलायन रुका! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से नोएडा में फिल्म सिटी बन रही है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से नोएडा में डाटा सेंटर बन रहा है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से गैस पाइपलाइन बिछ रही है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से उत्तर प्रदेश की जनता खुद को सुरक्षित महसूस कर रही है! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से उत्तर प्रदेश भारत की जीडीपी में सबसे ज्यादा योगदान करने वाला दूसरा राज्य बना! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 2.68 लाख से अधिक निर्धन कन्याओं का विवाह हुआ! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 98.28 लाख वृद्धजनों को 1000₹ मासिक पेंशन मिली! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 3.81 करोड़ कामगारों को 500₹ मासिक भरण पोषण भत्ता मिला! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 10.93 लाख बेटियों को ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करने के लिए सहायता मिली! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 1.38 लाख स्कूलों का कायाकल्प और 7 नए राज्य विश्वविद्यालयों की स्थापना हुई! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 1 करोड़ महिलाओं को 10 लाख स्वयं सहायता समूह के जरिए रोजगार मिला! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 2 करोड़ युवाओं को एमएसएमई के जरिए रोजगार मिला! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 3.5 लाख युवाओं को संविदा पर नौकरी मिली! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से प्रदेश में 3 लाख करोड़ का निवेश आया और इससे 25 लाख युवाओं को रोजगार मिला! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से 6.51 करोड़ लोगों को आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख तक की स्वास्थ्य बीमा सुरक्षा मिली! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से प्रदेश में दो ऐम्स (गोरखपुर और रायबरेली) का संचालन हुआ! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से कोरोना महामारी से प्रदेशवासियों को बचाने के लिए 550 ऑक्सीजन प्लांट का संचालन हुआ! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से पूर्वांचल में जापानी बुखार से मामलों में 75% की कमी और मृत्यु दर में 95% की कमी आई! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से प्रदेश को 5 नए अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे मिले! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से प्रदेश को 10 स्मार्ट सिटी मिली! 🌷 ये वही कमल का फूल है, जिसका बटन दबाने से प्रदेश को एसजीपीजीआई में देश का सबसे बड़ा किडनी ट्रांसप्लांट केंद्र मिला! *🌷इस कमल के फूल की सोच ईमानदार है, काम दमदार है और इसीलिए फिर एक बार 🌷उत्तर प्रदेश में कमल के फूल की सरकार...🌷* 🌻जो राम को लाये है, हम उनको लाएंगे!!! 🌻पूरे भारत वर्ष में हम भगवा फहरायेगे 🙏💐🙏 🕉🙏💐🙏💐🙏🕉

+182 प्रतिक्रिया 141 कॉमेंट्स • 251 शेयर
hanumandas Jan 15, 2022

+10 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 17 शेयर
har har Mahadev Jan 15, 2022

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Ravi Kumar Taneja Jan 14, 2022

🌈मकर संक्रांति की 8 पौ‍राणिक घटनाएं जो इस दिन को बनाती है खास🌈 🌈मकर संक्रांति का पर्व प्रतिवर्ष 14-15 जनवरी को मनाया जाता है। इस वर्ष 14 जनवरी 2022 शुक्रवार को मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाएगा। आओ जानते हैं कि आखिर मकर संक्रांति के दिन कौन सी 8 पौराणिक घटनाएं घटी थी जिसके चलते मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है। 🌈1. गंगाजी जा मिली थी गंगासागर में : मकर संक्रांति के दिन ही गंगाजी भगीरथजी के पीछे-पीछे चलकर कपिल मुनि के आश्रम से होती हुई सागर में जाकर मिली थीं। महाराज भगीरथ ने अपने पूर्वजों के लिए इस दिन तर्पण किया था इसलिए मकर संक्रांति पर गंगासागर में मेला लगता है। राजा भगीरथ ने अपने पूर्वजों का गंगाजल, अक्षत, तिल से श्राद्ध तर्पण किया था। तब से ही माघ मकर संक्रांति स्नान और मकर संक्रांति श्राद्ध तर्पण की प्रथा आज तक प्रचलित है। पावन गंगा जल के स्पर्श मात्र से राजा भगीरथ के पूर्वजों को स्वर्ग की प्राप्ति हुई थी। कपिल मुनि ने वरदान देते हुए कहा था, 🕉 *"मातु गंगे त्रिकाल तक जन-जन का पापहरण करेंगी और भक्तजनों की सात पीढ़ियों को मुक्ति एवं मोक्ष प्रदान करेंगी। गंगा जल का स्पर्श, पान, स्नान और दर्शन सभी पुण्यदायक फल प्रदान करेगा।"* 🌈कथा के अनुसार एक बार राजा सगर ने अश्वमेघ यज्ञ किया और अपने अश्व को विश्व-विजय के लिए छोड़ दिया। इंद्रदेव ने उस अश्व को छल से कपिल मुनि के आश्रम में बांध दिया। जब कपिल मुनि के आश्रम में राजा सगर के 60 हजार पुत्र युद्ध के लिए पहुंचे तो कपिल मुनि ने श्राप देकर उन सबको भस्म कर दिया। राजकुमार अंशुमान, राजा सगर के पोते ने कपिल मुनि के आश्रम में जाकर विनती की और अपने बंधुओं के उद्धार का रास्ता पूछा। तब कपिल मुनि ने बाताया कि इनके उद्धार के लिये गंगाजी को धरती पर लाना होगा। तब राजा अंशुमन ने तप किया और अपनी आने वाली पीढ़ियों को यह संदेश दिया। बाद में अंशुमान के पुत्र दिलीप के यहां भागीरथ का जन्म हुआ और उन्होंने अपने पूर्वज की इच्छा पूर्ण की। 🌈2. श्रीहरि विष्णु ने किया था असुरों का वध : इस दिन भगवान विष्णु ने असुरों का अंत करके युद्ध समाप्ति की घोषणा की थी। उन्होंने सभी असुरों के सिरों को मंदार पर्वत में दबा दिया था। इसलिए यह दिन बुराइयों और नकारात्मकता को खत्म करने का दिन भी माना जाता है। 🌈3. सूर्यवंशी राजा करते हैं सूर्य की पूजा : रामायण काल से ही भारतीय संस्कृति में दैनिक सूर्य पूजा का प्रचलन चला आ रहा है। रामकथा में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम द्वारा नित्य सूर्य पूजा का उल्लेख मिलता है। मकर संक्रांति के दिन सूर्य की विशेष आराधना होती है। 🌈4. सूर्य की सातवीं किरण : सूर्य की सातवीं किरण भारतवर्ष में आध्यात्मिक उन्नति की प्रेरणा देने वाली है। सातवीं किरण का प्रभाव भारत वर्ष में गंगा-जमुना के मध्य अधिक समय तक रहता है। इस भौगोलिक स्थिति के कारण ही हरिद्वार और प्रयाग में माघ मेला अर्थात मकर संक्रांति या पूर्ण कुंभ तथा अर्द्धकुंभ के विशेष उत्सव का आयोजन होता है। 🌈5. भीष्म पितामह : महाभारत काल में भीष्म पितामह ने अपनी देह त्यागने के लिए सूर्य के उत्तरायण होने का ही इंतजार किया था। कारण कि उत्तरायण में देह छोड़ने वाली आत्माएं या तो कुछ काल के लिए देवलोक में चली जाती हैं या पुनर्जन्म के चक्र से उन्हें छुटकारा मिल जाता है। उनका श्राद्ध संस्कार भी सूर्य की उत्तरायण गति में हुआ था। फलतः आज तक पितरों की प्रसन्नता के लिए तिल अर्घ्य एवं जल तर्पण की प्रथा मकर संक्रांति के अवसर पर प्रचलित है। 🌈6. सूर्य जाते हैं अपने पुत्र शनि के घर : हिन्दू धर्मशास्त्रों के अनुसार इसी दिन सूर्य अपने पुत्र शनि के घर एक महीने के लिए जाते हैं, क्योंकि मकर राशि का स्वामी शनि है। कथा के अनुसार सूर्यदेव ने शनि और उनकी माता छाया को खुद से अलग कर दिया था, जिसके कारण शनि के प्रकोप के चलते उन्हें कुष्ठ रोग हो गया था। तब सूर्यदेव के दूसरे बेटे यमराज ने इ रोग को ठीक किया था। रोगमुक्त होने के बाद सूर्यदेव ने क्रोध में आकर उनके घर कुंभ को जला दिया था। परंतु बाद में यमराज के समझाने पर वे जब शनि के घर गए तो उन्होंने वहां देखा कि सबकुछ जल चुका था केवल काला तिल वैसे का वैसा रखा था। अपने पिता को देखकर शनिदेव ने उनका स्वागत उसी काले तिल से किया। इससे प्रसन्न होकर सूर्य ने उन्हें दूसरा घर ‘मकर’ उपहार में दे दिया। इसके बाद सूर्यदेव ने शनि को कहा कि जब वे उनके नए घर मकर में आएंगे, तो उनका घर फिर से धन और धान्य से भर जाएगा। साथ ही कहा कि मकर संक्रांति के दिन जो भी काले तिल और गुड़ से मेरी पूजा करेगा उसके सभी कष्ट दूर हो जाएंगे। 🌈7. यशोदाजी ने किया था व्रत : कहते हैं कि माता यशोदा जी ने श्रीकृष्‍णजी के लिए व्रत किया था तब सूर्य उत्तरायण हो रहे थे और उस दिन मकर संक्रांति थी। तभी से मकर संक्रांति के व्रत का प्रचलन प्रारंभ हुआ। 🌈8. उत्तरायण होता है सूर्य तब देवताओं का प्रारंभ होता है दिन : मकर संक्रांति के दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण गति करने लगते हैं। इस दिन से देवताओं का छह माह का दिन आरंभ होता है, जो आषाढ़ मास तक रहता है। सूर्य के उत्तरायण होने के बाद से देवों की ब्रह्म मुहूर्त उपासना का पुण्यकाल प्रारंभ हो जाता है। इस काल को ही परा-अपरा विद्या की प्राप्ति का काल कहा जाता है। इसे साधना का सिद्धिकाल भी कहा गया है। इस काल में देव प्रतिष्ठा, गृह निर्माण, यज्ञ कर्म आदि पुनीत कर्म किए जाते हैं। मकर संक्रांति के एक दिन पूर्व से ही व्रत उपवास में रहकर योग्य पात्रों को दान देना चाहिए। 🌈सूर्य संस्कृति में मकर संक्रांति का पर्व ब्रह्मा, विष्णु, महेश, गणेश, आद्यशक्ति और सूर्य की आराधना एवं उपासना का पावन व्रत है, जो तन-मन-आत्मा को शक्ति प्रदान करता है। संत-महर्षियों के अनुसार इसके प्रभाव से प्राणी की आत्मा शुद्ध होती है। संकल्प शक्ति बढ़ती है। ज्ञान तंतु विकसित होते हैं। मकर संक्रांति इसी चेतना को विकसित करने वाला पर्व है। 🌈विष्णु धर्मसूत्र में कहा गया है कि पितरों की आत्मा की शांति के लिए एवं स्व स्वास्थ्यवर्द्धन तथा सर्वकल्याण के लिए तिल के छः प्रयोग पुण्यदायक एवं फलदायक होते हैं- तिल जल से स्नान करना, तिल दान करना, तिल से बना भोजन, जल में तिल अर्पण, तिल से आहुति, तिल का उबटन लगाना। 🙏🌞🙏सु-प्रभात स्नेह वंदना जी🙏🌞🙏 आपका दिन मंगलमय हो !!!🙏 🌼ॐ भास्कराय नमः🙏 🌼ॐ आदित्याय नमः🙏 🌼ॐ भानवे नमः🙏 🌼ॐ प्रभाकराय नमः🙏 🌼ॐ दिवाकराय नमः🙏 🌼ॐ सुर्याय नमः🙏 🌼ॐ दिनेशाय नमः🙏 🌼ॐ अर्काय नमः🙏 🌼ॐ सुर्यदैवाय नमः🙏 🌼ॐ सविताय नमः🙏 *🦚आपको सपरिवार मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं।।🦚* प्रभु सूर्य देव की कृपा से आप स्वस्थ रहे,मस्त रहे, मुस्कुराते रहें, तथा प्रसन्न: रहे🕉🌞🙏🌻🙏🌻🙏🌞🕉

+197 प्रतिक्रिया 66 कॉमेंट्स • 430 शेयर

+39 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 192 शेयर

+26 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 175 शेयर
Gopal Jalan Jan 15, 2022

+5 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 11 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB