मोहन
मोहन Sep 12, 2017

क्या है सुख-दुख का रहस्य

क्या है सुख-दुख का रहस्य

भगवान कृष्ण कहते हैं कि जिसका मन वश में है, जो राग-द्वेष से रहित है, वही स्थायी प्रसन्नता को प्राप्त करता है। जो व्यक्ति अपने मन को वश में कर लेता है, उसी को कर्मयोगी भी कहा जाता है। इस संसार में दो प्रकार के मनुष्य हैं। एक तो दैवीय प्रकृति वाले, दूसरे आसुरी प्रकृति वाले। इसी तरह से हमारे मन में 2 तरह का चिंतन या सोच चलती है- सकारात्मक एवं नकारात्मक। सकारात्मक सोच वाले खुश और नकारात्मक सोच वाले दुखी देखे जाते हैं। 

 हमारी सोच ही हमें सुखी और दुखी बनाती है। हमारी सोच या चिंतन जैसा होता है, वह हमारे चेहरे पर, हमारे व्यवहार में, हमारे कार्यों में दिखने लगता है। जब हमारे अंदर भय और शंकाएं प्रवेश कर जाती हैं तो हमारी आंखों व हमारे हाव-भाव से इसका पता चलने लगता है और हमारे भीतर जब खुशियां प्रवेश करती हैं या हमारा चिंतन हास्य या खुशी का होता है तो हमारे सारे व्यक्तित्व से खुशी झलकती है। जब हम मुस्कराहट के साथ लोगों से मिलते हैं तो सामने वाला भी हमसे खुशी के साथ मिलता है। जब हम दुखी होते हैं या गुस्से में होते हैं तो दूसरे लोग हमें पसंद नहीं करते और वे हमसे दूर जाने का प्रयास करते हैं। बहुत से लोगों की सोच या चिंतन अपना दुख बताने की होती है। ऐसे लोग खुद तो दुखी रहते ही हैं, दूसरों को भी दुखी करते हैं।   

महाभारत में श्रीकृष्ण ने सकारात्मक चिंतन के कारण ही दुर्योधन के सामने पांडवों को 5 गांव देने का प्रस्ताव रखा था, पर नकारात्मक सोच वाले दुर्योधन ने प्रस्ताव ठुकराकर युद्ध करने का निश्चय किया था, जिसका परिणाम जन-धन की भारी हानि के रूप में सामने आया। इसलिए हम कह सकते हैं कि दुख और सुख केवल इस बात पर निर्भर करता है कि हम कैसा चिंतन करते हैं। जो दुखों में भी सुखों की तलाश करते हैं, वही सच्चे अर्थों में मानवता की सेवा कर पाते हैं और संसार को खुशियां बांटते हैं। इसलिए हमारा चिंतन सकारात्मक ही हो। 

Fruits Milk Like +92 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 100 शेयर

कामेंट्स

vaman mehta Sep 13, 2017
જય શ્રી કૃષ્ણ વામન મહેતા ના

anju joshi Dec 14, 2018

Pranam Tulsi Flower +48 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 196 शेयर
anju joshi Dec 15, 2018

Pranam Like Bell +71 प्रतिक्रिया 16 कॉमेंट्स • 372 शेयर
Usha Vaishnav Dec 15, 2018

Pranam Belpatra Flower +14 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 197 शेयर
Ramkumar Verma Dec 14, 2018

Good morning to all friend jaishanidevaapkimangalkamnaporikare

Pranam Lotus Bell +39 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 742 शेयर

सूर्य पुत्र शनि देव और पवनपुत्र हनुमान जी की कृपा दृष्टि सदैव बनी रहे। 🌹 🙏

Like Bell Tulsi +29 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 47 शेयर
Usha Vaishnav Dec 15, 2018

Like Belpatra Lotus +12 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 78 शेयर

*ऊँ🙏शुभ पंचांग🌹शुभ गर्ग राशिफल🙏ऊँ*

#शनिवार_15_दिसम्बर2018

#तिथि:.अष्टमी - ३०:१२+ तक

*Astro Sunil Garg (Nail & Teeth)*
*( First Time in The World )*

#Calling :- 9911020152, 9811332901, 9811332914, 7982311549,

सूर्योदय: ०७:०६
सूर्यास्त: ...

(पूरा पढ़ें)
Tulsi Bell Jyot +17 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 55 शेयर
anju joshi Dec 15, 2018

Pranam Flower Water +59 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 427 शेयर
Ravi pandey Dec 14, 2018

Tulsi Like Pranam +12 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 187 शेयर
JAGDISH BIJARNIA Dec 14, 2018

Pranam Like Belpatra +45 प्रतिक्रिया 12 कॉमेंट्स • 119 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB