राधे राधे

राधे राधे

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 2 शेयर

कामेंट्स

Ajay Awasthi Feb 24, 2021

🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *********|| जय श्री राधे ||********* 🌺🙏 *महर्षि पाराशर पंचांग* 🙏🌺 🙏🌺🙏 *अथ पंचांगम्* 🙏🌺🙏 *********ll जय श्री राधे ll********* 🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *दिनाँक-: 25/02/2021,गुरुवार* त्रयोदशी, शुक्ल पक्ष माघ """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि -------त्रयोदशी 17:18:09 तक पक्ष ---------------------------शुक्ल नक्षत्र ------------पुष्य 13:16:16 योग ------------शोभन 25:06:18 करण -----------तैतुल 17:18:09 करण --------------गर 28:38:30 वार -------------------------गुरूवार माह -----------------------------माघ चन्द्र राशि -------------------- कर्क सूर्य राशि ------------------- कुम्भ रितु --------------------------शिशिर आयन ---------------------उत्तरायण संवत्सर -----------------------शार्वरी संवत्सर (उत्तर) -------------प्रमादी विक्रम संवत ----------------2077 विक्रम संवत (कर्तक) ----2077 शाका संवत ----------------1942 वृन्दावन सूर्योदय -----------------06:48:44 सूर्यास्त -----------------18:16:00 दिन काल ------------11:27:14 रात्री काल -------------12:31:48 चंद्रोदय ----------------16:15:37 चंद्रास्त -----------------30:13:41 लग्न ---- कुम्भ 12°30' , 312°30' सूर्य नक्षत्र ---------------शतभिषा चन्द्र नक्षत्र ---------------------पुष्य नक्षत्र पाया --------------------रजत *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* हो ----पुष्य 07:20:26 ड ----पुष्य 13:16:16 डी ----आश्लेषा 19:09:26 डू ----आश्लेषा 25:00:03 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================== सूर्य= कुम्भ 12°52 ' शतभिषा, 2 सा चन्द्र = कर्क 29°23 ' पुष्य , 3 हो बुध = मकर 17°37' श्रवण ' 3 खे शुक्र= कुम्भ 05 ° 55, धनिष्ठा ' 4 गे मंगल=वृषभ 01°30 ' कृतिका ' 2 ई गुरु=मकर 21°22 ' श्रवण , 4 खो शनि=मकर 13°43 ' श्रवण ' 2 खू राहू=(व)वृषभ 21°50 'मृगशिरा , 4 वु केतु=(व)वृश्चिक 21°50 ज्येष्ठा , 2 या *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 13:58 - 15:24 अशुभ यम घंटा 06:49 - 08:15 अशुभ गुली काल 09:41 - 11:06 अभिजित 12:09 -12:55 शुभ दूर मुहूर्त 10:38 - 11:24 अशुभ दूर मुहूर्त 15:13 - 15:59 अशुभ 🚩गंड मूल 13:16 - अहोरात्र अशुभ 💮चोघडिया, दिन शुभ 06:49 - 08:15 शुभ रोग 08:15 - 09:41 अशुभ उद्वेग 09:41 - 11:06 अशुभ चर 11:06 - 12:32 शुभ लाभ 12:32 - 13:58 शुभ अमृत 13:58 - 15:24 शुभ काल 15:24 - 16:50 अशुभ शुभ 16:50 - 18:16 शुभ 🚩चोघडिया, रात अमृत 18:16 - 19:50 शुभ चर 19:50 - 21:24 शुभ रोग 21:24 - 22:58 अशुभ काल 22:58 - 24:32* अशुभ लाभ 24:32* - 26:06* शुभ उद्वेग 26:06* - 27:40* अशुभ शुभ 27:40* - 29:14* शुभ अमृत 29:14* - 30:48* शुभ 💮होरा, दिन बृहस्पति 06:49 - 07:46 मंगल 07:46 - 08:43 सूर्य 08:43 - 09:41 शुक्र 09:41 - 10:38 बुध 10:38 - 11:35 चन्द्र 11:35 - 12:32 शनि 12:32 - 13:30 बृहस्पति 13:30 - 14:27 मंगल 14:27 - 15:24 सूर्य 15:24 - 16:21 शुक्र 16:21 - 17:19 बुध 17:19 - 18:16 🚩होरा, रात चन्द्र 18:16 - 19:19 शनि 19:19 - 20:21 बृहस्पति 20:21 - 21:24 मंगल 21:24 - 22:27 सूर्य 22:27 - 23:29 शुक्र 23:29 - 24:32 बुध 24:32* - 25:35 चन्द्र 25:35* - 26:37 शनि 26:37* - 27:40 बृहस्पति 27:40* - 28:43 मंगल 28:43* - 29:45 सूर्य 29:45* - 30:48 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान---------------------दक्षिण* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा केशर खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 13 + 5 + 1 = 19 ÷ 4 = 3 शेष मृत्यु लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 13 + 13 + 5 = 31 ÷ 7 = 3 शेष वृषभारूढ़ = शुभ कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* * सर्वार्थसिद्धि एवं अमृत सिद्धि योग13:16 तक * गुरुपुष्य योग 13:16 तक * श्री गुरु गोरखनाथ जयन्ती * विश्वकर्मा जयन्ती *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* वृध्द्काले मृता भार्या बन्धुहस्ते गतं धनम् । भाजनं च पराधीनं स्त्रिः पुँसां विडम्बनाः ।। ।।चा o नी o।। वह आदमी अभागा है जो अपने बुढ़ापे में पत्नी की मृत्यु देखता है. वह भी अभागा है जो अपनी सम्पदा संबंधियों को सौप देता है. वह भी अभागा है जो खाने के लिए दुसरो पर निर्भर है. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: कर्मसंन्यासयोग अo-04 अज्ञश्चश्रद्दधानश्च संशयात्मा विनश्यति ।, नायं लोकोऽस्ति न परो न सुखं संशयात्मनः ॥, विवेकहीन और श्रद्धारहित संशययुक्त मनुष्य परमार्थ से अवश्य भ्रष्ट हो जाता है।, ऐसे संशययुक्त मनुष्य के लिए न यह लोक है, न परलोक है और न सुख ही है॥,40॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष मेहनत रंग लाएगी। कार्य की प्रशंसा होगी। यात्रा सफल रहेगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। लाभ होगा। वाहन क्रय करने के योग बनेंगे। इच्छाशक्ति का लाभ मिलेगा। पारिवारिक वातावरण से आशान्वित रहेंगे। स्थायी संपत्ति, क्रय-विक्रय से लाभ की संभावना है। 🐂वृष पुराना रोग उभर सकता है। शोक समाचार मिल सकता है, धैर्य रखें। मेहनत अधिक होगी। थकान रहेगी। व्यर्थ खींचतान में नुकसान संभव है। आर्थिक मामलों में विश्वास, भरोसे में नहीं रहें। दिन प्रतिकूल रहेगा। स्वभावगत चंचलता में कमी करना होगी। 👫मिथुन विवेक से कार्य करें। लाभ होगा। सतर्कता एवं सावधानीपूर्वक व्यापारिक योजनाओं को अंजाम दें। विद्यार्थी शिक्षा में उल्लेखनीय सफलता अर्जित करेंगे। यात्रा न करें। पुराना रोग उभर सकता है। कार्य में लापरवाही व जल्दबाजी न करें। कुसंगति से बचें। 🦀कर्क विवेक से कार्य करें। दूसरों पर विश्वास न करें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। व्यापारिक प्रतिष्ठा, लेन-देन अन्य कानूनी परेशानी संभव है। परिवार में किसी से विवाद होने की आशंका है। अनिश्चितता का वातावरण रहेगा। अपने कार्य-निर्णय गुप्त रखें। व्ययवृद्धि होगी। 🐅सिंह उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। व्यवसाय ठीक चलेगा। बड़े एवं प्रतिष्ठित लोगों से संबंधों का लाभ मिल सकेगा। जोखिम, जवाबदारी के कामों में सावधानी आवश्यक है। पारिवारिक वातावरण खुशनुमा रहेगा। 🙍‍♀️कन्या पुराने मित्र व संबंधियों से मुलाकात होगी। शुभ समाचार मिलेंगे। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। उत्तेजित न हों। लाभ होगा। रोजगार की संभावनाएँ बढ़ेंगी। महत्व के मामले सुलझेंगे। घर में मूल्यवान वस्तुओं को संभालना होगा। विरोधी, शत्रु शांत रहेंगे। ⚖️तुला स्वादिष्ट भोजन का आनंद मिलेगा। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। यात्रा, निवेश व नौकरी मनोनुकूल लाभ देंगे। व्यापार अच्छा चलेगा। आशानुरूप आमदनी होगी। व्यापार-व्यवसाय में अनुभव, निवेश में सफलता मिलेगी। समय का सदुपयोग होगा। 🦂वृश्चिक बेरोजगारी दूर होगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। नौकरी, रोजगार में उन्नति, सहयोग संभव है। आवश्यक मार्गदर्शन मिलेगा। संतान पक्ष के स्थायित्व की बात बनेगी। अपने व्यसनों पर नियंत्रण रखना होगा। 🏹धनु परिवार का सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। यात्रा, निवेश व नौकरी मनोनुकूल लाभ देंगे। कानूनी बाधा दूर होगी। अपरिचित व्यक्तियों के सहयोग से आत्मविश्वास का संचार होगा। खर्चों में कमी का प्रयास करना होगा। लाभकारी निवेश बढ़ेगा। 🐊मकर रुका हुआ धन प्राप्त होगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। थकान रहेगी। यात्रा सफल रहेगी। प्रसन्नता रहेगी। नौकरी में पद, स्थिति से लाभान्वित हो पाएँगे। परिश्रम की अधिकता रहेगी। आर्थिक मामलों में लोभ, प्रलोभन से बचें। कार्यक्षेत्र का विस्तार होगा। 🍯कुंभ कार्यस्‍थल पर सुधार होगा। नए अनुबंध हो सकते हैं। मान-सम्मान बढ़ेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। प्रमाद न करें। कार्य में प्रगति, उत्साह रहेगा। दूसरों की दखलंदाजी पसंद नहीं आएगी। कर्ज, लेन-देन कम होगा। भेंट, उपहार की प्राप्ति होगी। 🐟मीन धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। महत्वपूर्ण व्यक्ति सहायता को आगे आएंगे। कार्यसिद्धि होगी। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। उत्साहपूर्वक व्यावसायिक योजनाओं को पूरा करेंगे। अचानक धन की प्राप्ति संभव है। कार्यक्षमता एवं कार्यकुशलता बढ़ेगी। अनुज सहयोग करेंगे। 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🌺

+73 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 304 शेयर

🍁🛕🌺👏🕉️👏🌺🛕🍁 🌞~*आज का हिन्दू पंचांग*~🌞 🚩✊जय हिंदुत्व✊🚩 ⛅ *दिनांक 25 फरवरी 2021* ⛅ *दिन - गुरुवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - वसंत* ⛅ *मास - माघ* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - त्रयोदशी शाम 05:18 तक तत्पश्चात चतुर्दशी* ⛅ *नक्षत्र - पुष्य दोपहर 01:17 तक तत्पश्चात अश्लेशा* ⛅ *योग - शोभन 26 फरवरी रात्रि 01:08 तक तत्पश्चात अतिगण्ड* ⛅ *राहुकाल - दोपहर 02:19 से शाम 03:47 तक* ⛅ *सूर्योदय - 07:03* ⛅ *सूर्यास्त - 18:40* ⛅ *दिशाशूल - दक्षिण दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - गुरुपुष्पामृत योग (सूर्योदय से दोपहर 01:17 तक)* 💥 *विशेष - त्रयोदशी को बैंगन खाने से पुत्र का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* 🌞~*आज का हिन्दू पंचांग*~🌞 🚩✊जय हिंदुत्व✊🚩 🌷 *पुष्य नक्षत्र योग* 🌷 ➡ *25 फरवरी 2021 गुरुवार को सूर्योदय से दोपहर 01:17 तक गुरुपुष्यामृत योग है ।* 🙏🏻 *१०८ मोती की माला लेकर जो गुरुमंत्र का जप करता है, श्रद्धापूर्वक तो २७ नक्षत्र के देवता उस पर खुश होते हैं और नक्षत्रों में मुख्य है पुष्य नक्षत्र, और पुष्य नक्षत्र के स्वामी हैं देवगुरु ब्रहस्पति | पुष्य नक्षत्र समृद्धि देनेवाला है, सम्पति बढ़ानेवाला है | उस दिन ब्रहस्पति का पूजन करना चाहिये | ब्रहस्पति को तो हमने देखा नहीं तो सद्गुरु को ही देखकर उनका पूजन करें और मन ही मन ये मंत्र बोले –* *ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम : |...... ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम : |* 🌞~*आज का हिन्दू पंचांग*~🌞 🚩✊जय हिंदुत्व✊🚩 🌷 *गुरुपुष्यामृत योग* 🌷 🙏🏻 *‘शिव पुराण’ में पुष्य नक्षत्र को भगवान शिव की विभूति बताया गया है | पुष्य नक्षत्र के प्रभाव से अनिष्ट-से-अनिष्टकर दोष भी समाप्त और निष्फल-से हो जाते हैं, वे हमारे लिए पुष्य नक्षत्र के पूरक बनकर अनुकूल फलदायी हो जाते हैं | ‘सर्वसिद्धिकर: पुष्य: |’ इस शास्त्रवचन के अनुसार पुष्य नक्षत्र सर्वसिद्धिकर है | पुष्य नक्षत्र में किये गए श्राद्ध से पितरों को अक्षय तृप्ति होती है तथा कर्ता को धन, पुत्रादि की प्राप्ति होती है |* 🙏🏻 *इस योग में किया गया जप, ध्यान, दान, पुण्य महाफलदायी होता है परंतु पुष्य में विवाह व उससे संबधित सभी मांगलिक कार्य वर्जित हैं | (शिव पुराण, विद्येश्वर संहिताः अध्याय 10)* 🌞~*आज का हिन्दू पंचांग*~🌞 🚩✊जय हिंदुत्व✊🚩 🌷 *माघ मास के महत्त्वपूर्ण 3 दिन* 🌷 🙏🏻 *पूरे माघ मास के पुण्यो की प्राप्ति सिर्फ तीन दिन में !* 👉🏻 *~ माघ मास में त्रयोदशी से पूनम तक के तीन दिन (25, 26 और 27 फरवरी 2021) गुरुवार, शुक्रवार और शनिवार को अत्यंत पुण्यदायी तिथियाँ हैं~* 🙏🏻 *माघ मास में सभी दिन अगर कोई स्नान ना कर पाए तो त्रयोदशी, चौदस और पूनम ये तीन दिन सुबह सूर्योदय से पूर्व स्नान कर लेने से पूरे माघ मास के स्नान के पुण्यो की प्राप्ति होती है l* 🙏🏻 *सकाम भावना से माघ महीने का स्नान करने वाले को मनोवांछित फल प्राप्त होता है लेकिन निष्काम भाव से कुछ नही चाहिए खाली भागवत प्रसन्नता, भागवत प्राप्ति के लिए माघ का स्नान करता है, तो उसको भगवत प्राप्ति में भी बहुत-बहुत आसानी होती है |* 🙏🏻 *‘पद्म पुराण’ के उत्तर खण्ड में माघ मास के माहात्म्य का वर्णन करते हुए कहा गया है कि व्रत, दान व तपस्या से भी भगवान श्रीहरि को उतनी प्रसन्नता नहीं होती, जितनी माघ मास में ब्रह्ममुहूर्त में उठकर स्नानमात्र से होती है।* 🙏🏻 *इन तीन दिन विष्णु सहस्रनाम पाठ और गीता का पाठ भी अत्यंत प्रभावशाली और पुण्यदायी है l* 🙏🏻 *माघ मास का इतना प्रभाव है की सभी जल गंगा जल के तीर्थ पर्व के समान हैं |* 🙏🏻 *पुष्कर, कुरुक्षेत्र, काशी, प्रयाग में 10 वर्ष पवित्र शौच, संतोष आदि नियम पालने से जो फल मिलता है माघ मास में 3 दिन स्नान करने से वो मिल जाता है, खाली ३ दिन | माघ मास प्रात:स्नान सब कुछ देता है | आयु, आरोग्य, रूप, बल, सौभाग्य, सदाचरण देता है |* 💥 *अतः माघ मास की त्रयोदश ( 25 फरवरी, गुरुवार ) चौदस ( 26 फरवरी, शुक्रवार ) पूर्णिमा (27 फरवरी, शनिवार ) को सूर्योदय से पूर्व स्नान ,विष्णु सहस्रनाम और श्रीमद भागवत गीता का पाठ विशेषतः करें और लाभ लें l* 🌞~*आज का हिन्दू पंचांग*~🌞 🚩✊जय हिंदुत्व✊🚩 ☀🏯!! श्री हरि: शरणम् !!🏯☀ 🍃🎋🍃🎋🕉️🎋🍃🎋🍃 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

+176 प्रतिक्रिया 22 कॉमेंट्स • 210 शेयर

https://youtu.be/ex5ohbL9wDQ 🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞 ⛅ *दिनांक 25 फरवरी 2021* ⛅ *दिन - गुरुवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - वसंत* ⛅ *मास - माघ* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - त्रयोदशी शाम 05:18 तक तत्पश्चात चतुर्दशी* ⛅ *नक्षत्र - पुष्य दोपहर 01:17 तक तत्पश्चात अश्लेशा* ⛅ *योग - शोभन 26 फरवरी रात्रि 01:08 तक तत्पश्चात अतिगण्ड* ⛅ *राहुकाल - दोपहर 02:19 से शाम 03:47 तक* ⛅ *सूर्योदय - 07:03* ⛅ *सूर्यास्त - 18:40* ⛅ *दिशाशूल - दक्षिण दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - गुरुपुष्पामृत योग (सूर्योदय से दोपहर 01:17 तक)* 💥 *विशेष - त्रयोदशी को बैंगन खाने से पुत्र का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *पुष्य नक्षत्र योग* 🌷 ➡ *25 फरवरी 2021 गुरुवार को सूर्योदय से दोपहर 01:17 तक गुरुपुष्यामृत योग है ।* 🙏🏻 *१०८ मोती की माला लेकर जो गुरुमंत्र का जप करता है, श्रद्धापूर्वक तो २७ नक्षत्र के देवता उस पर खुश होते हैं और नक्षत्रों में मुख्य है पुष्य नक्षत्र, और पुष्य नक्षत्र के स्वामी हैं देवगुरु ब्रहस्पति | पुष्य नक्षत्र समृद्धि देनेवाला है, सम्पति बढ़ानेवाला है | उस दिन ब्रहस्पति का पूजन करना चाहिये | ब्रहस्पति को तो हमने देखा नहीं तो सद्गुरु को ही देखकर उनका पूजन करें और मन ही मन ये मंत्र बोले –* *ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम : |...... ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम : |* 🙏🏻 *- Shri Sureshanandji Kharghar -Navi Mumbai 7th Apr'13* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *गुरुपुष्यामृत योग* 🌷 🙏🏻 *‘शिव पुराण’ में पुष्य नक्षत्र को भगवान शिव की विभूति बताया गया है | पुष्य नक्षत्र के प्रभाव से अनिष्ट-से-अनिष्टकर दोष भी समाप्त और निष्फल-से हो जाते हैं, वे हमारे लिए पुष्य नक्षत्र के पूरक बनकर अनुकूल फलदायी हो जाते हैं | ‘सर्वसिद्धिकर: पुष्य: |’ इस शास्त्रवचन के अनुसार पुष्य नक्षत्र सर्वसिद्धिकर है | पुष्य नक्षत्र में किये गए श्राद्ध से पितरों को अक्षय तृप्ति होती है तथा कर्ता को धन, पुत्रादि की प्राप्ति होती है |* 🙏🏻 *इस योग में किया गया जप, ध्यान, दान, पुण्य महाफलदायी होता है परंतु पुष्य में विवाह व उससे संबधित सभी मांगलिक कार्य वर्जित हैं | (शिव पुराण, विद्येश्वर संहिताः अध्याय 10)* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *माघ मास के महत्त्वपूर्ण 3 दिन* 🌷 🙏🏻 *पूरे माघ मास के पुण्यो की प्राप्ति सिर्फ तीन दिन में !* 👉🏻 *~ माघ मास में त्रयोदशी से पूनम तक के तीन दिन (25, 26 और 27 फरवरी 2021) गुरुवार, शुक्रवार और शनिवार को अत्यंत पुण्यदायी तिथियाँ हैं~* 🙏🏻 *माघ मास में सभी दिन अगर कोई स्नान ना कर पाए तो त्रयोदशी, चौदस और पूनम ये तीन दिन सुबह सूर्योदय से पूर्व स्नान कर लेने से पूरे माघ मास के स्नान के पुण्यो की प्राप्ति होती है l* 🙏🏻 *सकाम भावना से माघ महीने का स्नान करने वाले को मनोवांछित फल प्राप्त होता है लेकिन निष्काम भाव से कुछ नही चाहिए खाली भागवत प्रसन्नता, भागवत प्राप्ति के लिए माघ का स्नान करता है, तो उसको भगवत प्राप्ति में भी बहुत-बहुत आसानी होती है |* 🙏🏻 *‘पद्म पुराण’ के उत्तर खण्ड में माघ मास के माहात्म्य का वर्णन करते हुए कहा गया है कि व्रत, दान व तपस्या से भी भगवान श्रीहरि को उतनी प्रसन्नता नहीं होती, जितनी माघ मास में ब्रह्ममुहूर्त में उठकर स्नानमात्र से होती है।* 🙏🏻 *इन तीन दिन विष्णु सहस्रनाम पाठ और गीता का पाठ भी अत्यंत प्रभावशाली और पुण्यदायी है l* 🙏🏻 *माघ मास का इतना प्रभाव है की सभी जल गंगा जल के तीर्थ पर्व के समान हैं |* 🙏🏻 *पुष्कर, कुरुक्षेत्र, काशी, प्रयाग में 10 वर्ष पवित्र शौच, संतोष आदि नियम पालने से जो फल मिलता है माघ मास में 3 दिन स्नान करने से वो मिल जाता है, खाली ३ दिन | माघ मास प्रात:स्नान सब कुछ देता है | आयु, आरोग्य, रूप, बल, सौभाग्य, सदाचरण देता है |* 💥 *अतः माघ मास की त्रयोदश ( 25 फरवरी, गुरुवार ) चौदस ( 26 फरवरी, शुक्रवार ) पूर्णिमा (27 फरवरी, शनिवार ) को सूर्योदय से पूर्व स्नान ,विष्णु सहस्रनाम https://youtu.be/n28XhkKVKGk और श्रीमद भागवत गीता का पाठ विशेषतः करें और लाभ लें l* 🙏🏻 *पूज्य बापूजी* 📖 *हिन्दू पंचांग संपादक ~ अंजनी निलेश ठक्कर* 📒 *हिन्दू पंचांग प्रकाशित स्थल ~ सुरत शहर (गुजरात)* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🙏🏻🌷🌻🌹🍀🌺🌸🍁💐🙏🏻

+23 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 59 शेयर

🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞 ⛅ *दिनांक 25 फरवरी 2021* ⛅ *दिन - गुरुवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - वसंत* ⛅ *मास - माघ* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - त्रयोदशी शाम 05:18 तक तत्पश्चात चतुर्दशी* ⛅ *नक्षत्र - पुष्य दोपहर 01:17 तक तत्पश्चात अश्लेशा* ⛅ *योग - शोभन 26 फरवरी रात्रि 01:08 तक तत्पश्चात अतिगण्ड* ⛅ *राहुकाल - दोपहर 02:19 से शाम 03:47 तक* ⛅ *सूर्योदय - 07:03* ⛅ *सूर्यास्त - 18:40* ⛅ *दिशाशूल - दक्षिण दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - गुरुपुष्पामृत योग (सूर्योदय से दोपहर 01:17 तक)* 💥 *विशेष - त्रयोदशी को बैंगन खाने से पुत्र को हानि होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *पुष्य नक्षत्र योग* 🌷 ➡ *25 फरवरी 2021 गुरुवार को सूर्योदय से दोपहर 01:17 तक गुरुपुष्यामृत योग है ।* 🙏🏻 *१०८ मोती की माला लेकर जो गुरुमंत्र का जप करता है, श्रद्धापूर्वक तो २७ नक्षत्र के देवता उस पर खुश होते हैं और नक्षत्रों में मुख्य है पुष्य नक्षत्र, और पुष्य नक्षत्र के स्वामी हैं देवगुरु ब्रहस्पति | पुष्य नक्षत्र समृद्धि देनेवाला है, सम्पति बढ़ानेवाला है | उस दिन ब्रहस्पति का पूजन करना चाहिये | ब्रहस्पति को तो हमने देखा नहीं तो सद्गुरु को ही देखकर उनका पूजन करें और मन ही मन ये मंत्र बोले –* *ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम : |...... ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम : |* 🙏🏻 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *गुरुपुष्यामृत योग* 🌷 🙏🏻 *‘शिव पुराण’ में पुष्य नक्षत्र को भगवान शिव की विभूति बताया गया है | पुष्य नक्षत्र के प्रभाव से अनिष्ट-से-अनिष्टकर दोष भी समाप्त और निष्फल-से हो जाते हैं, वे हमारे लिए पुष्य नक्षत्र के पूरक बनकर अनुकूल फलदायी हो जाते हैं | ‘सर्वसिद्धिकर: पुष्य: |’ इस शास्त्रवचन के अनुसार पुष्य नक्षत्र सर्वसिद्धिकर है | पुष्य नक्षत्र में किये गए श्राद्ध से पितरों को अक्षय तृप्ति होती है तथा कर्ता को धन, पुत्रादि की प्राप्ति होती है |* 🙏🏻 *इस योग में किया गया जप, ध्यान, दान, पुण्य महाफलदायी होता है परंतु पुष्य में विवाह व उससे संबधित सभी मांगलिक कार्य वर्जित हैं | (शिव पुराण, विद्येश्वर संहिताः अध्याय 10)* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *माघ मास के महत्त्वपूर्ण 3 दिन* 🌷 🙏🏻 *पूरे माघ मास के पुण्यो की प्राप्ति सिर्फ तीन दिन में !* 👉🏻 *~ माघ मास में त्रयोदशी से पूनम तक के तीन दिन (25, 26 और 27 फरवरी 2021) गुरुवार, शुक्रवार और शनिवार को अत्यंत पुण्यदायी तिथियाँ हैं~* 🙏🏻 *माघ मास में सभी दिन अगर कोई स्नान ना कर पाए तो त्रयोदशी, चौदस और पूनम ये तीन दिन सुबह सूर्योदय से पूर्व स्नान कर लेने से पूरे माघ मास के स्नान के पुण्यो की प्राप्ति होती है l* 🙏🏻 *सकाम भावना से माघ महीने का स्नान करने वाले को मनोवांछित फल प्राप्त होता है लेकिन निष्काम भाव से कुछ नही चाहिए खाली भागवत प्रसन्नता, भागवत प्राप्ति के लिए माघ का स्नान करता है, तो उसको भगवत प्राप्ति में भी बहुत-बहुत आसानी होती है |* 🙏🏻 *‘पद्म पुराण’ के उत्तर खण्ड में माघ मास के माहात्म्य का वर्णन करते हुए कहा गया है कि व्रत, दान व तपस्या से भी भगवान श्रीहरि को उतनी प्रसन्नता नहीं होती, जितनी माघ मास में ब्रह्ममुहूर्त में उठकर स्नानमात्र से होती है।* 🙏🏻 *इन तीन दिन विष्णु सहस्रनाम पाठ और गीता का पाठ भी अत्यंत प्रभावशाली और पुण्यदायी है l* 🙏🏻 *माघ मास का इतना प्रभाव है की सभी जल गंगा जल के तीर्थ पर्व के समान हैं |* 🙏🏻 *पुष्कर, कुरुक्षेत्र, काशी, प्रयाग में 10 वर्ष पवित्र शौच, संतोष आदि नियम पालने से जो फल मिलता है माघ मास में 3 दिन स्नान करने से वो मिल जाता है, खाली ३ दिन | माघ मास प्रात:स्नान सब कुछ देता है | आयु, आरोग्य, रूप, बल, सौभाग्य, सदाचरण देता है |* 💥 *अतः माघ मास की त्रयोदश ( 25 फरवरी, गुरुवार ) चौदस ( 26 फरवरी, शुक्रवार ) पूर्णिमा (27 फरवरी, शनिवार ) को सूर्योदय से पूर्व स्नान ,विष्णु सहस्रनाम और श्रीमद भागवत गीता का पाठ विशेषतः करें और लाभ लें l* 🙏🏻 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 जय श्री राधे राधे🙏🙏 🚩🚩🚩🚩🚩

+31 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 107 शेयर

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉 🌄सुप्रभातम🌄 🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓 🌻गुरुवार, २५ फरवरी २०२१🌻 सूर्योदय: 🌄 ०६:५७ सूर्यास्त: 🌅 ०६:१४ चन्द्रोदय: 🌝 १६:०८ चन्द्रास्त: 🌜३०:१६ अयन 🌕 उत्तराणायने (दक्षिणगोलीय) ऋतु: ❄️ शिशिर शक सम्वत: 👉 १९४२ (शर्वरी) विक्रम सम्वत: 👉 २०७७ (प्रमादी) मास 👉 माघ पक्ष 👉 शुक्ल तिथि 👉 त्रयोदशी (१७:१८ तक) नक्षत्र 👉 पुष्य (१३:१७ तक) योग 👉 शोभन (२५:०८+ तक) प्रथम करण 👉 तैतिल (१७:१८ तक) द्वितीय करण 👉 गर (२८:३९+ तक) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ ॥ गोचर ग्रहा: ॥ 🌖🌗🌖🌗 सूर्य 🌟 कुम्भ चंद्र 🌟 कर्क मंगल 🌟 वृषभ (उदित, पूर्व, मार्गी) बुध 🌟 मकर (उदित, पश्चिम, मार्गी) गुरु 🌟 मकर (उदय, पूर्व, मार्गी) शुक्र 🌟 कुम्भ (अस्त, पूर्व, मार्गी) शनि 🌟 मकर (उदय, पूर्व, मार्गी) राहु 🌟 वृष केतु 🌟 वृश्चिक 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभाशुभ मुहूर्त विचार ⏳⏲⏳⏲⏳⏲⏳ 〰〰〰〰〰〰〰 अभिजित मुहूर्त 👉 १२:०७ से १२:५३ अमृत काल 👉 ०६:५३ से ०८:२९ गुरुपुष्य योग 👉 ०६:४७ से १३:१७ सर्वार्थसिद्धि योग 👉 ०६:४७ से १३:१७ अमृतसिद्धि योग 👉 ०६:४७ से १३:१७ रवि योग 👉 १३:१७ से ३०:४६+ विजय मुहूर्त 👉 १४:२४ से १५:१० गोधूलि मुहूर्त 👉 १८:०१ से १८:२५ निशिता मुहूर्त 👉 २४:०४+ से २४:५५+ राहुकाल 👉 १३:५६ से १५:२१ राहुवास 👉 दक्षिण यमगण्ड 👉 ०६:४७ से ०८:१३ होमाहुति 👉 शनि दिशाशूल 👉 दक्षिण अग्निवास 👉 पृथ्वी चन्द्रवास 👉 उत्तर 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ☄चौघड़िया विचार☄ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ॥ दिन का चौघड़िया ॥ १ - शुभ २ - रोग ३ - उद्वेग ४ - चर ५ - लाभ ६ - अमृत ७ - काल ८ - शुभ ॥रात्रि का चौघड़िया॥ १ - अमृत २ - चर ३ - रोग ४ - काल ५ - लाभ ६ - उद्वेग ७ - शुभ ८ - अमृत नोट-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभ यात्रा दिशा 🚌🚈🚗⛵🛫 उत्तर-पश्चिम (दही का सेवन कर यात्रा करें) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 तिथि विशेष 🗓📆🗓📆 〰️〰️〰️〰️ श्री विश्वकर्मा जन्म, गुरुगोरखनाथ जन्म आदि। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज जन्मे शिशुओं का नामकरण 〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ आज १३:१७ तक जन्मे शिशुओ का नाम पुष्य नक्षत्र के तृतीय एवं चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (हो, डा) नामाक्षर से तथा इसके बाद जन्मे शिशुओ का नाम आश्लेषा नक्षत्र के प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय चरण अनुसार क्रमश (डी, डू, डे) नामाक्षर से रखना शास्त्रसम्मत है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 उदय-लग्न मुहूर्त कुम्भ ३०:१३ से ०७:३९ मीन ०७:३९ से ०९:०३ मेष ०९:०३ से १०:३६ वृषभ १०:३६ से १२:३१ मिथुन १२:३१ से १४:४६ कर्क १४:४६ से १७:०८ सिंह १७:०८ से १९:२७ कन्या १९:२७ से २१:४४ तुला २१:४४ से २४:०५ वृश्चिक  २४:०५+ से २६:२५ धनु  २६:२५+ से २८:२८ मकर  २८:२८+ से ३०:०९ 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 पञ्चक रहित मुहूर्त मृत्यु पञ्चक - ०६:४७ से ०७:३९ अग्नि पञ्चक - ०७:३९ से ०९:०३ शुभ मुहूर्त - ०९:०३ से १०:३६ मृत्यु पञ्चक - १०:३६ से १२:३१ अग्नि पञ्चक - १२:३१ से १३:१७ शुभ मुहूर्त - १३:१७ से १४:४६ रज पञ्चक - १४:४६ से १७:०८ शुभ मुहूर्त - १७:०८ से १७:१८ चोर पञ्चक - १७:१८ से १९:२७ शुभ मुहूर्त - १९:२७ से २१:४४ रोग पञ्चक - २१:४४ से २४:०५+ शुभ मुहूर्त - २४:०५+ से २६:२५+ मृत्यु पञ्चक - २६:२५+ से २८:२८+ अग्नि पञ्चक - २८:२८+ से ३०:०९+ शुभ मुहूर्त - ३०:०९+ से ३०:४६+ 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज का राशिफल 🐐🐂💏💮🐅👩 〰️〰️〰️〰️〰️〰️ मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) आज के दिन का पूर्वार्ध आपको बेचैन कर सकता है। कुटुंब में अहम् को लेकर टकराव होने से वातावरण कलुषित होगा भाई बंधुओ में बचने पर भी किसी बात को टकराव होने की संभावना है ना चाहकर भी बीच बचाव में पड़ने से आपको भी पिसना पड़ेगा। आज जल्दबाजी में किसी की जिम्मेदारी ना लें अन्यथा परेशानी में पड़ सकते है। कार्य क्षेत्र पर भी जल्दबाजी के कारण गलत निर्णय नुक्सान कराएगा। सरकारी कार्य आज ना करें धन और समय व्यर्थ होंगे।आवश्यकता के अनुसार खर्च करें। मानसिक अशांति का असर सेहत पर भी देखने को मिलेगा थोड़े से परिश्रम में अधिक थकान हाथ पैर में शिथिलता आएगी। घर मे किसी स्त्री के कारण कोई नई समस्य बनेगी। आज धैर्य धारण करें कल से स्थिति में सुधार आएगा। वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) आज दिन के आरम्भ में आपके विचारे सभी कार्य ठीक से सिरे चढ़ेंगे धन लाभ की भी सम्भावना जगेगी परन्तु अकस्मात किसी अतिआवश्यक कार्य के आने से पूर्व नियोजित कार्यो को बीच में छोड़ना पड़ेगा मध्यान तक दिनचार्य अस्त व्यस्त होगी इसके बाद ही पुनः स्थिर हो सकेगी। आज धन लाभ तो अवश्य होगा परन्तु धन आने से पहले जाने का मार्ग बना लेगा मित्रो के साथ दुर्व्यसनो पर भी खर्च करेंगे किसी मित्र के साथ अप्रिय स्थल की यात्रा अथवा कार्य को करना पड़ेगा। संध्या के समय खर्च अधिक रहेंगे। घर के सदस्य आपसे डर के कारण मन के भेद बताने में संकोच करेंगे। परिजन की सेहत संध्या के आस पास अचानक खरब होने से भागदौड़ करनी पड़ेगी आपकी सेहत आज ठीक ठाक ही रहेगी। मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) आज भी दिन में कई बार लाभ के अवसर मिलेंगे। परन्तु आलस्य प्रमाद के कारण कार्यो को गंभीरता से नहीं लेंगे फलस्वरूप उम्मीद से कम में ही संतोष करना पड़ेगा। गुप्त शत्रु पीठ पीछे हानि पंहुचाने का हर संभव प्रयास करेंगे जान कर भी अनजान बनने के कारण आगे दुष्परिणाम हो सकते है सतर्क रहें। मौज-शौक में अधिक व्यय करने के कारण आर्थिक संतुलन बिगड़ सकता है। सेहत की लापरवाही करना ठीक नहीं ख़राब पेट के कारण कई बीमारियां बन सकती है। घर में शांति रहेगी फिर भी ज्यादा बोलने से बचे लोग सही बात का भी गलत अर्थ निकाल झगड़ा करेंगे। कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) आज दिन शुभ फलदायक रहने से मनचाहा कार्य कर सकेंगे। बड़े लोगो से भी आज आसानी से अपना स्वार्थ सिद्ध कर सकते है। दिन के प्रथम भाग में मानसिक रूप से चंचलता रहेगी बचकानी हरकतों से घर के लोगो को हंसने पर मजबूर करेंगे। कार्य क्षेत्र पर माथा पच्ची करनी पड़ेगी लेकिन सकारत्मक परिणाम भी मिलेंगे विदेशी वस्तुओ के व्यापार अथवा शेयर सम्बंधित कारोबार में निवेश का निकट भविष्य में लाभ मिलेगा। महिला के सहयोग से भाग्योन्नति के मार्ग खुलेंगे। लेन-देन में अधिक सावधानी बरतें। घर में पैतृक संपत्ति के बंटवारे अथवा अन्य समस्याओं को लेकर आपस में चर्चा हो सकती है। संतान से सुख मिलेगा। सेहत ठंड में लापरवाही के कारण नरम रहेगी। सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) आज ग्रह स्थिति में परिवर्तन होने से दिन दिन उठा पटक में बीतेगा। बने बनायी योजनाओं में व्यवधान आएंगे। किसी परिजन की जिद के कारण नई परेशानी खड़ी होगी। महिलाओ की जुबान फिसलने के कारण बैठे बिठाये आफत मोल लेने वाली स्थिति बनेगी। मध्यान बाद सामाजिक कार्य- क्रम में उपस्थिति देने के कारण मन मारके पूर्व नियोजित कार्यक्रम रद्द करना पड़ेगा। कार्य व्यवसाय में थोड़े समय के लिए ही आकस्मिक लाभ बनेगा इसके बाद उदासीनता रहेगी। सेहत लगभग सामान्य रहेगी। घरेलु सुख-सुविधा में वृद्धि होगी। पति - पत्नी में थोड़ी बहुत नोक-झोंक लगी रहेगी। संध्या बाद सेहत का ध्यान रखे लापरवाही बाद में भारी पड़ सकती है। कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो) आपका आज का दिन बीते कल से काफी बेहतर रहेगा। आज आप नीतिपूर्वक कार्य करना पसंद करेंगे जिससे धन मिले या न मिले सम्मान अवश्य बढेगा। सामाजिक कार्यो में अधिक समय देंगे। धार्मिक क्षेत्र पर दान-पुण्य के अवसर भी मिलेंगे। ज्योतिष अथवा तंत्र मंत्र आध्यात्म के गूढ़ रहस्यों को जानने की उत्सुकता रहेगी। संध्या के आस-पक़स आकस्मिक धन लाभ से उत्साह बढेगा। कार्य क्षेत्र पर सहकर्मी एवं नौकरों के मनमाने व्यवहार के कारण थोड़ी असुविधा हो सकती है । पति पत्नी के बीच थोड़े बहुत मतभेद को छोड़ घर में शांति रहेगी। उदर शूल एवं हड्डियों संबंधित समस्या हो सकती है। तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) आज का दिन भाग्योदय करने वाला रहेगा शरीर भी साथ देने से कार्यो को निष्ठां से करेंगे। किसी प्रतिष्ठित संस्था अथवा सरकारी क्षेत्र से लाभ के कार्यानुबंध मिल सकते है। विरोधी भी शांत रहने से सफलता सुनिश्चित रहेगी। परन्तु पारिवारिक वातावरण उथल पुथल वाला रहेगा। परिजन की सेहत पर खर्च करना पड़ेगा अधिक भागदौड़ के कारण आयवश्यक कार्यो में विलम्ब होगा परन्तु हानि से बचे रहेंगे। आज किसी भी कार्य में आलस्य ना करें अन्यथा भविष्य में इसका प्रभाव देखने को मिलेगा। आज किये कार्यो की पुनरावृत्ति शीघ्र ही देखने को मिलेगी जिससे जैसा व्यवहार करेंगे वैसा ही आपके साथ घटित होगा इसलिये सभी से प्रेम व्यवहार रखें। वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) कार्य क्षेत्र की कुछ परेशानियों को छोड़ अन्य सभी कार्यो के लिए आज दिन शुभ रहेगा। धार्मिक कार्यो में रुचि रहेगी लेकिन व्यस्तता के कारण ठीक से समय नही दे पाएंगे। व्यावसायिक स्थल पर अधिकारी वर्ग प्रसन्न रहेंगे परन्तु नौकरों अथवा सहकर्मियों का मनमाना व्यवहार रहने से परेशानी खड़ी हो सकती है अन्य व्यक्तियों का कार्य भी आपके जिम्मे आने से असहजता रहेगी। धन लाभ के प्रयासों में दोपहर तक सफलता मिल जायेगी लेकिन रुक रुक कर ही होगा। व्यापारी वर्ग कार्य क्षेत्र पर विस्तार की योजना बनाएंगे परन्तु आज इसकी सफलता संदिग्ध रहेगी। संध्या बाद परिजनों के साथ शांति से समय कटेगा। सेहत को लेकर थोड़े आशंकित रहेंगे लेकिन छोटी मोटी व्याधि होकर स्वतः शांत हो जाएगी। धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) कुछ परेशानियों के साथ आज के दिन की शुरुआत होगी। सेहत हल्की सी नरम रहेगी फिर भी कार्य व्यवसाय में जल्दी ही लग जाएंगे प्रातः काल ही छोटी यात्रा के योग भी बनेंगे इससे कुछ ना कुछ लाभ ही मिलेगा व्यवसाय में नए अनुबंध मिलने की संभावनाएं जगेगी परन्तु मध्यान के बाद ही मिलेंगी। गृहणियां मायके या अन्य रिश्तेदारी में जाने की योजना बनाएंगी खर्च पर नियंत्रण रखने में आज सफ़ल रहेंगी पर मितव्ययता आगे के खर्च को देखकर ही बरतेंगी। आर्थिक रूप से दिन मध्यम फिर भी संतोषजनक रहेगा दैनिक खर्च आसानी से निकल जाएंगे। अधिकारी वर्ग से मेलजोल होने से सरकारी कार्य आगे बढ़ेंगे। संध्या बाद का समय व्यर्थ की चिंताओं में खराब करेंगे मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) आपका आज का दिन मिश्रित फलदायक रहेगा। कार्य क्षेत्र पर दोपहर तक ही स्थिति आपके पक्ष में रहेगी इसके बाद धीरे-धीरे व्यवधान आने से धन की भी आमद रुकेगी निवेश से आज बचे अन्यथा फंस सकता है। आज विरोधी आपकी एक गलती के इन्तजार में बैठे है दिन भर संयम एवं विवेक का परिचय दें अन्यथा बिना बात मान हानि हो सकती है। प्रेम-प्रसंगों में अधिक निकटता रहने से थोड़ा मन शांत रहेगा। किसी पुराने विवाद के कारण गृहस्थ में तालमेल की कमी रहेगी घरेलू कार्यो में सहयोग भी कम ही करेंगे लेकिन सार्वजनिक क्षेत्र पर बिना मांगे सलाह और सहायता देने के लिये तैयार रहेंगे। सेहत में थोड़ा बहुत उतार चढ़ाव लगा रहेगा। कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) आपका आज का दिन मिश्रित फलदायक रहेगा। किसी अन्य व्यक्ति के कारण सरकारी उलझनों में फंसने की संभावना है किसी की जमानत लेनी पड़ेगी सम्भव हो तो बचने का प्रयास करे। अनैतिक कार्य भी ध्यान आकर्षित करेंगे लेकिन इनसे दूरी बनाए रखें आज भी वाद-विवाद के साथ मान-हानि के प्रबल योग बन रहे है। नौकरी पेशा जातक अपने कार्य से असंतुष्ट रहेंगे लेकिन अधिकारी अथवा सहकर्मी फिर भी कुछ न कुछ नुक्स निकालेंगे जिससे क्रोध आएगा थोड़ी बहुत बहस भी होगी। अधिकारी वर्ग से की मामूली गलती बखेड़ा खड़ा कर सकती है। सावधान रहें। गृहस्थ में थोड़े उतारचढ़ाव के बाद स्थिति आज नियंत्रण में रहेगी। मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) आज दिन भर आपके लिए शुभ योग बने रहेंगे। आपके विचारो में आत्मविश्वास एवं दया रहेगी परोपकार के कार्यो को बिना बोले करेंगे छोटे-बड़ो सबका साथ मिलने से कठिन कार्य भी आसन बनेंगे। गलत माध्यम से धन कमाने की सोच भी रहेगी इसमें पहले लाभ होगा बाद में हानि निश्चित रहेगी सोच समझ कर ही निर्णय लें। धन लाभ दोपहर के समय होने की सम्भवना है लापरवाही में टल भी सकता है। नौकरी पेशा एवं थोक के व्यापारी आज खुल कर कार्य नही कर पाएंगे कुछ सौदे हानि उठा कर भी करने पड़ेंगे इसके बाद भी लाभ के लिये इंतजार करना पड़ेगा। संतान के कारण चिंता रह सकती है। आरोग्य पेट अथवा सर्दी संबंधित कारणों से प्रतिकूल रहेगा। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️

+44 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 114 शेयर

🚩 🌷 *ॐ नमो नारायण* 🌷🚩 ☀️ ⚜️🌅 *सुप्रभातम्* 🌅☀️⚜️ 🙏🌺📜 *अथ पंचांगम्* 📜🌺🙏 🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *दिनाँक-: 25/02/2021,गुरुवार* त्रयोदशी, शुक्ल पक्ष माघ """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि -------त्रयोदशी 17:18:09 तक पक्ष ---------------------------शुक्ल नक्षत्र ------------पुष्य 13:16:16 योग ------------शोभन 25:06:18 करण -----------तैतुल 17:18:09 करण --------------गर 28:38:30 वार -------------------------गुरूवार माह -----------------------------माघ चन्द्र राशि -------------------- कर्क सूर्य राशि ------------------- कुम्भ रितु --------------------------शिशिर आयन ---------------------उत्तरायण संवत्सर -----------------------शार्वरी संवत्सर (उत्तर) -------------प्रमादी विक्रम संवत ----------------2077 विक्रम संवत (कर्तक) ----2077 शाका संवत ----------------1942 वृन्दावन सूर्योदय -----------------06:48:44 सूर्यास्त -----------------18:16:00 दिन काल ------------11:27:14 रात्री काल -------------12:31:48 चंद्रोदय ----------------16:15:37 चंद्रास्त -----------------30:13:41 लग्न ---- कुम्भ 12°30' , 312°30' सूर्य नक्षत्र ---------------शतभिषा चन्द्र नक्षत्र ---------------------पुष्य नक्षत्र पाया --------------------रजत *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* हो ----पुष्य 07:20:26 ड ----पुष्य 13:16:16 डी ----आश्लेषा 19:09:26 डू ----आश्लेषा 25:00:03 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================== सूर्य= कुम्भ 12°52 ' शतभिषा, 2 सा चन्द्र = कर्क 29°23 ' पुष्य , 3 हो बुध = मकर 17°37' श्रवण ' 3 खे शुक्र= कुम्भ 05 ° 55, धनिष्ठा ' 4 गे मंगल=वृषभ 01°30 ' कृतिका ' 2 ई गुरु=मकर 21°22 ' श्रवण , 4 खो शनि=मकर 13°43 ' श्रवण ' 2 खू राहू=(व)वृषभ 21°50 'मृगशिरा , 4 वु केतु=(व)वृश्चिक 21°50 ज्येष्ठा , 2 या *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 13:58 - 15:24 अशुभ यम घंटा 06:49 - 08:15 अशुभ गुली काल 09:41 - 11:06 अभिजित 12:09 -12:55 शुभ दूर मुहूर्त 10:38 - 11:24 अशुभ दूर मुहूर्त 15:13 - 15:59 अशुभ 🚩गंड मूल 13:16 - अहोरात्र अशुभ 💮चोघडिया, दिन शुभ 06:49 - 08:15 शुभ रोग 08:15 - 09:41 अशुभ उद्वेग 09:41 - 11:06 अशुभ चर 11:06 - 12:32 शुभ लाभ 12:32 - 13:58 शुभ अमृत 13:58 - 15:24 शुभ काल 15:24 - 16:50 अशुभ शुभ 16:50 - 18:16 शुभ 🚩चोघडिया, रात अमृत 18:16 - 19:50 शुभ चर 19:50 - 21:24 शुभ रोग 21:24 - 22:58 अशुभ काल 22:58 - 24:32* अशुभ लाभ 24:32* - 26:06* शुभ उद्वेग 26:06* - 27:40* अशुभ शुभ 27:40* - 29:14* शुभ अमृत 29:14* - 30:48* शुभ 💮होरा, दिन बृहस्पति 06:49 - 07:46 मंगल 07:46 - 08:43 सूर्य 08:43 - 09:41 शुक्र 09:41 - 10:38 बुध 10:38 - 11:35 चन्द्र 11:35 - 12:32 शनि 12:32 - 13:30 बृहस्पति 13:30 - 14:27 मंगल 14:27 - 15:24 सूर्य 15:24 - 16:21 शुक्र 16:21 - 17:19 बुध 17:19 - 18:16 🚩होरा, रात चन्द्र 18:16 - 19:19 शनि 19:19 - 20:21 बृहस्पति 20:21 - 21:24 मंगल 21:24 - 22:27 सूर्य 22:27 - 23:29 शुक्र 23:29 - 24:32 बुध 24:32* - 25:35 चन्द्र 25:35* - 26:37 शनि 26:37* - 27:40 बृहस्पति 27:40* - 28:43 मंगल 28:43* - 29:45 सूर्य 29:45* - 30:48 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान---------------------दक्षिण* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा केशर खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 13 + 5 + 1 = 19 ÷ 4 = 3 शेष मृत्यु लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 13 + 13 + 5 = 31 ÷ 7 = 3 शेष वृषभारूढ़ = शुभ कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* * सर्वार्थसिद्धि एवं अमृत सिद्धि योग13:16 तक * गुरुपुष्य योग 13:16 तक * श्री गुरु गोरखनाथ जयन्ती * विश्वकर्मा जयन्ती *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* वृध्द्काले मृता भार्या बन्धुहस्ते गतं धनम् । भाजनं च पराधीनं स्त्रिः पुँसां विडम्बनाः ।। ।।चा o नी o।। वह आदमी अभागा है जो अपने बुढ़ापे में पत्नी की मृत्यु देखता है. वह भी अभागा है जो अपनी सम्पदा संबंधियों को सौप देता है. वह भी अभागा है जो खाने के लिए दुसरो पर निर्भर है. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: कर्मसंन्यासयोग अo-04 अज्ञश्चश्रद्दधानश्च संशयात्मा विनश्यति ।, नायं लोकोऽस्ति न परो न सुखं संशयात्मनः ॥, विवेकहीन और श्रद्धारहित संशययुक्त मनुष्य परमार्थ से अवश्य भ्रष्ट हो जाता है।, ऐसे संशययुक्त मनुष्य के लिए न यह लोक है, न परलोक है और न सुख ही है॥,40॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष मेहनत रंग लाएगी। कार्य की प्रशंसा होगी। यात्रा सफल रहेगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। लाभ होगा। वाहन क्रय करने के योग बनेंगे। इच्छाशक्ति का लाभ मिलेगा। पारिवारिक वातावरण से आशान्वित रहेंगे। स्थायी संपत्ति, क्रय-विक्रय से लाभ की संभावना है। 🐂वृष पुराना रोग उभर सकता है। शोक समाचार मिल सकता है, धैर्य रखें। मेहनत अधिक होगी। थकान रहेगी। व्यर्थ खींचतान में नुकसान संभव है। आर्थिक मामलों में विश्वास, भरोसे में नहीं रहें। दिन प्रतिकूल रहेगा। स्वभावगत चंचलता में कमी करना होगी। 👫मिथुन विवेक से कार्य करें। लाभ होगा। सतर्कता एवं सावधानीपूर्वक व्यापारिक योजनाओं को अंजाम दें। विद्यार्थी शिक्षा में उल्लेखनीय सफलता अर्जित करेंगे। यात्रा न करें। पुराना रोग उभर सकता है। कार्य में लापरवाही व जल्दबाजी न करें। कुसंगति से बचें। 🦀कर्क विवेक से कार्य करें। दूसरों पर विश्वास न करें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। व्यापारिक प्रतिष्ठा, लेन-देन अन्य कानूनी परेशानी संभव है। परिवार में किसी से विवाद होने की आशंका है। अनिश्चितता का वातावरण रहेगा। अपने कार्य-निर्णय गुप्त रखें। व्ययवृद्धि होगी। 🐅सिंह उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। व्यवसाय ठीक चलेगा। बड़े एवं प्रतिष्ठित लोगों से संबंधों का लाभ मिल सकेगा। जोखिम, जवाबदारी के कामों में सावधानी आवश्यक है। पारिवारिक वातावरण खुशनुमा रहेगा। 🙍‍♀️कन्या पुराने मित्र व संबंधियों से मुलाकात होगी। शुभ समाचार मिलेंगे। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। उत्तेजित न हों। लाभ होगा। रोजगार की संभावनाएँ बढ़ेंगी। महत्व के मामले सुलझेंगे। घर में मूल्यवान वस्तुओं को संभालना होगा। विरोधी, शत्रु शांत रहेंगे। ⚖️तुला स्वादिष्ट भोजन का आनंद मिलेगा। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। यात्रा, निवेश व नौकरी मनोनुकूल लाभ देंगे। व्यापार अच्छा चलेगा। आशानुरूप आमदनी होगी। व्यापार-व्यवसाय में अनुभव, निवेश में सफलता मिलेगी। समय का सदुपयोग होगा। 🦂वृश्चिक बेरोजगारी दूर होगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। नौकरी, रोजगार में उन्नति, सहयोग संभव है। आवश्यक मार्गदर्शन मिलेगा। संतान पक्ष के स्थायित्व की बात बनेगी। अपने व्यसनों पर नियंत्रण रखना होगा। 🏹धनु परिवार का सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। यात्रा, निवेश व नौकरी मनोनुकूल लाभ देंगे। कानूनी बाधा दूर होगी। अपरिचित व्यक्तियों के सहयोग से आत्मविश्वास का संचार होगा। खर्चों में कमी का प्रयास करना होगा। लाभकारी निवेश बढ़ेगा। 🐊मकर रुका हुआ धन प्राप्त होगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। थकान रहेगी। यात्रा सफल रहेगी। प्रसन्नता रहेगी। नौकरी में पद, स्थिति से लाभान्वित हो पाएँगे। परिश्रम की अधिकता रहेगी। आर्थिक मामलों में लोभ, प्रलोभन से बचें। कार्यक्षेत्र का विस्तार होगा। 🍯कुंभ कार्यस्‍थल पर सुधार होगा। नए अनुबंध हो सकते हैं। मान-सम्मान बढ़ेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। प्रमाद न करें। कार्य में प्रगति, उत्साह रहेगा। दूसरों की दखलंदाजी पसंद नहीं आएगी। कर्ज, लेन-देन कम होगा। भेंट, उपहार की प्राप्ति होगी। 🐟मीन धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। महत्वपूर्ण व्यक्ति सहायता को आगे आएंगे। कार्यसिद्धि होगी। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। उत्साहपूर्वक व्यावसायिक योजनाओं को पूरा करेंगे। अचानक धन की प्राप्ति संभव है। कार्यक्षमता एवं कार्यकुशलता बढ़ेगी। अनुज सहयोग करेंगे। दिव्य ज्योतिष केंद्र वाट्स्अप👉9450786998 कालिंग👉8840618684 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🌺

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 21 शेयर

🌺🕉️ शुभ गुरुवार 🌺शुभ प्रभात् 🕉️🌺 2077-विजय श्री हिंदू पंचांग-राशिफल-1942 🌺-आज दिनांक--25.02.2021-🌺 श्री ज्योतिष सेवा संस्थान भीलवाड़ा (राज.) 74.30 - रेखांतर मध्य मान - 75.30 शिक्षा नौकरी आजीविका विवाह भागयोन्नति (प्रामाणिक जानकारी--प्रभावी समाधान) ____________________________________ -विभिन्न शहरों के लिये रेखांतर(समय) संस्कार- (लगभग-वास्तविक समय के समीप) दिल्ली +10मिनट---------जोधपुर -6 मिनट जयपुर +5 मिनट------अहमदाबाद-8 मिनट कोटा +5 मिनट-------------मुंबई-7 मिनट लखनऊ +25 मिनट------बीकानेर-5 मिनट कोलकाता +54 मिनट-जैसलमेर -15 मिनट ____________________________________ _____________आज विशेष______________ बुरे सपने, नींद में चलना, बड़बड़ाने की समस्या हो तो लाभदायक हो सकते हैं 10 उपाय ____________________________________ आज दिनांक...................... 25.02.2021 कलियुग संवत्.............................. 5122 विक्रम संवत.................................2077 शक संवत................................... 1942 संवत्सर..................................श्री प्रमादी अयन..................................... उत्तरायण गोल......................................... .दक्षिण ऋतु............................................वसंत मास.............................................माघ पक्ष............................................शुक्ल तिथि.....त्रयोदशी. सायं. 5.18 तक / चतुर्दशी वार..........................................गुरुवार नक्षत्र.......पुष्य. अपरा. 1.16 तक / अश्लेषा चंद्र राशि.................कर्क. संपूर्ण (अहोरात्र) योग........शोभन. रात्रि. 1.06 तक / अतिगंड करण.................. तैत्तिल. सायं. 5.18 तक करण............गर. रात्रि. 4.38 तक / वणिज ___________________________________ सूर्योदय..............................6.59.18 पर सूर्यास्त...............................6.29.59 पर दिनमान............................... 11.30.40 रात्रिमान................................12.28.25 चंद्रोदय............... अपरा. 4.32.58 PM पर चंद्रास्त...........उत्तर रात्रि. 6.22.20 AM पर सूर्य........................(कुंभ) 10.12.31.22 चंद्रमा.....................(कर्क) 03.13.08.16 राहुकाल......अपरा. 2.11 से. 3.37 (अशुभ) यमघंट...........प्रातः 6.59 से 8.26 (अशुभ) अभिजित..... .(मध्या)12.22 से 01.08 तक पंचक.................................आज नहीं है शुभ हवन मुहूर्त(अग्निवास)............. आज है दिशाशूल.............................दक्षिण दिशा दोष निवारण......दही का सेवन कर यात्रा करें ____________________________________ चौघड़िया (दिन-रात)........केवल शुभ कारक * चौघड़िया दिन * शुभ..................प्रातः 6.59 से 8.26 तक चंचल..........पूर्वाह्न. 11.18 से 12.45 तक लाभ.............अपरा. 12.45 से 2.11 तक अमृत..............अपरा. 2.11 से 3.37 तक शुभ..................सायं. 5.04 से 6.30 तक * चौघड़िया रात्रि * अमृत.........सायं-रात्रि. 6.30 से 8.04 तक चंचल..............रात्रि. 8.04 से. 9.37 तक लाभ..रात्रि.12.44 AM से 2.18 AM तक शुभ.....रात्रि. 3.51 AM से 5.25 AM तक अमृत...रात्रि. 5.25 AM से 6.58 AM तक ___________________________________ *शुभ शिववास की तिथियां* शुक्ल पक्ष-2-----5-----6---- 9-------12----13. कृष्ण पक्ष-1---4----5----8---11----12----30. ____________________________________ जानकारी विशेष -यदि किसी बालक का जन्म गंड मूल(रेवती, अश्विनी, अश्लेषा, मघा, ज्येष्ठा और मूल) नक्षत्रों में होता है तो नक्षत्र शांति को आवश्यक माना गया है.. आज जन्मे बालकों का नक्षत्र के चरण अनुसार नामाक्षर.. 07.20 AM तक-----पुष्य---3------(हो) 01.16 PM तक-----पुष्य---4------(डा) 07.09 PM तक--अश्लेषा---1-----(डी) 01.00 AM तक--अश्लेषा---2-----(डू) 06.48 AM तक--अश्लेषा---3-----(डे) उपरांत रात्रि तक--अश्लेषा---4-----(डो) (पाया-रजत्) _______सभी की राशि कर्क रहेगी________ __________________________________ ____________आज का दिन____________ व्रत विशेष......................................नहीं व्रत विशेष.................. माघ स्नान व्रत जारी दिन विशेष......................विश्वकर्मा जयंती दिन विशेष................गुरु गोरखनाथ जयंती गुरुपुष्य योग.. प्रातः 7.00 से 1.16 PM तक सर्वा.सि.योग..................................नहीं सिद्ध रवियोग......अपरा. 1.16 से रात्रि पर्यंत ___________________________________ _____________कल का दिन____________ दिनांक............................. 26.02.2021 तिथि.............. माघ शुक्ला चतुर्दशी शुक्रवार व्रत विशेष......................................नहीं व्रत विशेष.................. माघ स्नान व्रत जारी दिन विशेष......श्री रामचरण राम स्नेही जयंती दिन विशेष.भद्रा. अपरा.3.49 से रात्रि. 2.51 सर्वा.सि.योग..................................नहीं सिद्ध रवियोग.... प्रातः 6.58 से 12.34 PM ___________________________________ _____________आज विशेष ____________ कई लोगों को रात में ढंग से नींद नहीं आती और आती भी है तो बुरे बुरे सपनों के कारण नींद खुल जाती है। अक्सर सांप के सपने, भूत प्रेत के सपने आते हैं या कुछ ऐसे सपने आते हैं जिसके चलते डर लगा रहता है। सभी तरह के बुरे सपनों से मुक्त के यहां पर दिए जा रहे हैं 10 उपाय। 1. आप सोने वाले बिस्तर के नीचे काले कपड़े में फिटकरी बांधकर रखें। इससे बुरे स्वप्न आना, नींद में चमकना या किसी अनजान भय से व्यक्ति मुक्त हो जाता है। किसी भी मंगलवार या रविवार के दिन फिटकरी का एक टुकड़ा बच्चे के सिरहाने रख दें। रात में बच्चे को सोते समय बुरे स्वप्न नहीं आएंगे और न ही बच्चा चमकेगा या चिखेंगा। 2. प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करते रहें। धीरे-धीरे आपको बुरे स्वप्न आना दूर हो जाएंगे। 3. सोने से पूर्व प्रतिदिन कर्पूर जलाकर सोएंगे तो आपको बेहद अच्‍छी नींद आएगी और साथ ही हर तरह का तनाव खत्म हो जाएगा। कर्पूर के और भी कई लाभ होते हैं। 4. आप सोने जा रहे हैं तो यह भी तय करें कि आपके पैर किस दिशा में हैं। दक्षिण और पूर्व में कभी पैर न रखें। पैरों को दरवाजे की दिशा में भी न रखें। इससे सेहत और समृद्धि का नुकसान होता है। पूर्व दिशा में सिर रखकर सोने से ज्ञान में बढ़ोतरी होती है। दक्षिण में सिर रखकर सोने से शांति, सेहत और समृद्धि मिलती है। 5. शनि मंदिर में जाकर पांच शनिवार छाया दान कर दें। छाया दान अर्थात एक कटोरी में तेल भरकर उसमें अपना चेहरा देखकर उसे शनि मंदिर में दान कर दें। 6. अपने सिर के आसपास से 7 बार एक पानीदार नारियल वार कर उसे किसी देवस्थान पर जला दें। मंदिर में सीदा दान कर दें। 7. सिरहाने यानि तकीये के नीचे चाकू या कोई धारदार औजार रखकर सोएं। 8. काल और सफेद कंबल अपने उपर से 21 बार वार कर उसे किसी गरीब को दान कर दें। 9. सोने से 2 घंटे पूर्व रात का खाना खा लेना चाहिए। रात का खाना हल्का और सात्विक होना चाहिए। अच्छी नींद के लिए खाने के बाद वज्रासन करें, फिर भ्रामरी प्राणायाम करें और अंत में शवासन करते हुए सो जाएं। 10. शनिवार के दिन हनुमानजी का नाम लेकर पैरों में अंगुठे के पास वाली अंगुली में या तर्जनी अंगुली में काला धागा बांध लें इससे मस्तिष्क को ताकत मिलेगे और बुरे या डरावने सपने नहीं आएंगे। *संकलनकर्त्ता* श्री ज्योतिष सेवाश्रम सेवाश्रम संस्थान (राज) ___________________________________ ___________आज का राशिफल__________ मेष-(चू चे चो ला ली लू ले लो अ) आज आपकी इच्छा-शक्ति को प्रोत्साहन मिलेगा, क्योंकि आप बहुत पेचीदा हालात से निकलने में क़ामयाब रहेंगे। भावुक फ़ैसला लेते वक़्त अपनी तार्किकता न छोड़ें। आज बिना किसी की मदद के ही आप धन कमा पाने में सक्षम होंगे। ऐसे काम करें जिनसे आपको ख़ुशी मिले, लेकिन दूसरों के मामलों में दख़लअंदाज़ी से बचें। आपकी शोहरत बढ़ेगी और आप आसानी से दूसरे लिंग के लोगों को अपनी तरफ़ आकर्षित करेंगे। आपमें बहुत-कुछ हासिल करने की क्षमता है- इसलिए अपने रास्ते में आने वाले सभी मौक़ों को झट-से दबोच लें। दिन की शुरुआत भले ही थोड़ी थकाऊ रहे लेकिन जैसे-जैसे दिन आगे बढ़ेगा आपको अच्छे फल मिलने लगेंगे। दिन के अंत में आपको अपने लिए समय मिल पाएगा और आप किसी करीबी से मुलाकात करके इस समय का सदुपयोग कर सकते हैं। वैवाहिक जीवन में निजता का ध्यान रखना भी आवश्यक है। लेकिन आज के दिन आप दोनों ज़्यादा-से-ज़्यादा एक-दूसरे के क़रीब जाना चाहेंगे। वृषभ-(इ उ एओ वा वी वू वे वो) आज के दिन आप नफ़रत को दूर करने के लिए संवेदना का स्वभाव अपनाएँ, क्योंकि नफ़रत की आग बहुत ज़्यादा ताक़तवर है और मन के साथ शरीर पर भी बुरा असर डालती है। याद रखें कि बुराई अच्छाई से ज़्यादा आकर्षक ज़रूर दिखाई देती है, लेकिन उसका असर ख़राब ही होता है। अगर आप लोन लेने वाले थे और काफी दिनों से इस काम में लगे थे तो आज के दिन आपको लोन मिल सकता है। जिन्हें आप चाहते हैं, उनके साथ उपहारों का लेन-देन करने के लिए अच्छा दिन है। अपने प्रिय की पुरानी बातों को माफ़ करके आप अपनी ज़िंदगी में सुधार ला सकते हैं। अगर आप सही लोगों को अपनी क्षमताएँ और प्रतिभा दिखाएंगे, तो जल्दी ही लोगों की निगाहों में आपकी नयी और बेहतर छवि होगी। इस राशि के लोग बड़े ही दिलचस्प होते हैं। ये कभी लोगों के बीच रहकर खुश रहते हैं तो कभी अकेले में हालांकि अकेले वक्त गुजारना इतना आसान नहीं है फिर भी आज दिन में कुछ समय आप अपने लिए जरुर निकाल पाएंगे। आपका जीवनसाथी आपकी बहुत तारीफ़ करेगा और आप पर बहुत स्नेह उढ़ेलेगा। मिथुन- (क की कू घ ङ छ के को ह) आपके पिता आपको जायदाद से बेदख़ल कर सकते हैं। लेकिन निराश न हों। ध्यान रखें कि संपन्नता दिमाग़ को ज़ंग लगा देती है और कठिनाई उसे पैना करती है। आपको कई स्रोतों से आर्थिक लाभ होगा। दोस्तों और परिवार के साथ मज़ेदार समय बीतेगा। ज़िंदगी में एक नया मोड़ आ सकता है, जो प्यार और रोमांस को नयी दिशा देगा। योग्य कर्मियों को पदोन्नति या आर्थिक मुनाफ़ा हो सकता है। आज खाली वक्त का सही उपयोग करने के लिए आप अपने पुराने मित्रों से मिलने का प्लान बना सकते हैं। आपके आस-पास के लोग कुछ ऐसा कर सकते हैं, जिसके चलते आपका जीवनसाथी आपकी तरफ़ फिर से आकर्षित महसूस करेगा। कर्क- (ही हू हे हो डा डी डू डे डो) आज आप ख़ुद को किसी रचनात्मक काम में लगाएँ। मानसिक शांति के लिए आपकी खाली बैठने की आदत ख़तरनाक साबित हो सकती है। उधार मांगने वाले लोगों को नज़रअन्दाज़ करें। बढ़िया दिन है जब आप सबके ध्यान को अपनी तरफ़ खींचेंगे- आपके सामने चुनने के लिए कई चीज़ें होंगी और आपके सामने समस्या यह होगी कि किसे पहले चुना जाए। रोमांस का मौसम है। लेकिन अपने जज़्बात क़ाबू में रखें, नहीं तो रिश्ते में खटास पैदा हो सकती है। अपना बायोडाटा भेजने या किसी इंटरव्यू में जाने के लिए अच्छा समय है। जिंदगी में चल रही आपाधापी के बीच आज आपको अपने लिए पर्याप्त समय मिलेगा और और आप अपने पसंदीदा कामों को कर पाने में कामयाब हो पाएंगे। आज अपने जीवनसाथी का वह रुख़ देखने को मिलेगा, जो उतना अच्छा नहीं है। सिंह- (मा मी मू मे मो टा टी टू टे) आज सेहत से जुड़ी समस्याएँ आपके लिए परेशानी का सबब बन सकती हैं। अतिरिक्त धन को रिअल एस्टेट में निवेश किया जा सकता है। आपको ख़ुश रखने के लिए आपके बच्चे जो कुछ बन पड़ेगा, वह करेंगे। प्यार एक ऐसा जज़्बा है जिसे न सिर्फ़ महसूस किया जाना चाहिए, बल्कि अपने प्रिय के साथ बांटना भी चाहिए। सहकर्मियों और वरिष्ठों से मिला सहयोग आपके उत्साह में इज़ाफ़ा करेगा। आपमें से कुछ लोगों को लंबा सफ़र करना पड़ सकता है - जो काफ़ी दौड़-भाग भरा होगा - लेकिन साथ ही बहुत फ़ायदेमंद भी साबित होगा। आपका जीवनसाथी आज आपके लिए कुछ बहुत ख़ास करने वाला है। कन्या- (टो प पी पू ष ण ठ पे पो) आज आपको लंबे समय से महसूस हो रही थकान और तनाव से आराम मिलेगा। इन परेशानियों से स्थायी निजात पाने के लिए जीवन-शैली में बदलाव लाने का सही समय है। आज आपका सामना कई नई आर्थिक योजनाओं से होगा- कोई भी फ़ैसला करने से पहले अच्छाईयों और कमियों पर सावधानी से ग़ौर फ़रमाएँ। रिश्तेदारों और दोस्तों से अचानक उपहार मिलेगा। आपका काम दरकिनार हो सकता है- क्योंकि आप अपने प्रिय के साथ में ख़ुशी, आराम और उल्लास महसूस करेंगे। किसी लघु या मध्यावधि पाठ्यक्रम में दाखिला लेकर अपनी तकनीकी क्षमताओं में निखार लाएँ। दिक़्क़तों का तेज़ी से मुक़ाबला करने की आपकी क्षमता आपको ख़ास पहचान दिलाएगी। कोई पुराना दोस्त अपने साथ आपके जीवनसाथी के पुराने यादगार क़िस्से लेकर आ सकता है। तुला- (रा री रू रे रो ता ती तू ते) आज आपकी सेहत पूरी तरह अच्छी रहेगी। पैसा अचानक आपके पास अएगा, जो अपके ख़र्चों और बिल आदि को सम्हाल लेगा। शादी लायक़ युवाओं का रिश्ता तय हो सकता है। व्यक्तिगत मार्गदर्शन आपके रिश्ते में सुधार लाएगा। नए विचार फ़ायदेमंद साबित होंगे। आज खाली वक्त का सही उपयोग करने के लिए आप अपने पुराने मित्रों से मिलने का प्लान बना सकते हैं। आज से पहले शादीशुदा ज़िन्दगी इतनी अच्छी कभी नहीं रही। वृश्चिक- (तो ना नी नू ने नो या यी यू) आज अवांछित विचार आपके दिमाग़ में छा सकते हैं। ख़ुद को शारीरिक व्यायाम का मज़ा लेने दें, क्योंकि खाली दिमाग़ शैतान का घर होता है। निवेश करना कई बार आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होता है आज आपको यह बात समझ में आ सकती है क्योंकि किसी पुराने निवेश से आज आपको मुनाफा हो सकता है। अपने परिवार की भलाई के लिए मेहनत करें। आपके कामों के पीछे प्यार और दूरदृष्टि की भावना होनी चाहिए, न कि लालच का ज़हर। आपका प्रिय दिन भर आपको याद करने में समय बिताएगा। नए ग्राहकों से बात करने के लिए बेहतरीन दिन है। अगर आप किसी विवाद में उलझ जाएँ तो तल्ख़ टिप्पणी करने से बचिए। शादीशुदा ज़िन्दगी के मोर्चे पर हालात वाक़ई थोड़े मुश्किल रहे हैं, लेकिन अब आप सुधरते हालात महसूस कर सकते हैं। धनु-ये यो भा भी भू धा फा ढ़ा भे) आज के दिन आपका ऊर्जा-स्तर ऊँचा रहेगा। जो लोग शेयर बाजार में पैसा लगाते हैं आज उनका पैसा डूब सकता है। वक्त रहते सचेत हो जाएं तो आपके लिए बेहतर रहेगा। शाम के समय अपने जीवनसाथी के साथ बाहर खाना या फ़िल्म देखना आपको सुकून देगा और ख़ुशमिज़ाज बनाए रखेगा। आसमान ज़्यादा उजला नज़र आएगा, फूलों में ज़्यादा रंग दिखेंगे और आपके आस-पास सब कुछ चमक उठेगा - क्योंकि आप इश्क़ का सुरूर महसूस कर रहे हैं! यह उन उम्दा दिनों में से एक दिन है जब कार्यक्षेत्र में आप अच्छा महसूस करेंगे। आज आपके सहकर्मी आपके काम की तारीफ करेंगे और आपका बॉस भी आपके काम से खुश होगा। कारोबारी भी आज कारोबार में मुनाफा कमा सकते हैं। अपनी कमियों पर आपको काम करने की जरुरत है इसके लिए आपको अपने लिए समय निकालना चाहिए। जब आप अपने जीवनसाथी से भावनात्मक तौर पर जुड़ते हैं, तो नज़दीकी अपने आप महसूस की जा सकती है। मकर- (भो जा जी खी खू खे खो गा गी) आज आप आप खाली समय का आनंद ले सकेंगे। आज आप अच्छा पैसा कमाएंगे- लेकिन ख़र्च में इज़ाफ़ा आपके लिए बचत को और ज़्यादा मुश्किल बना देगा। जितना आपने सोचा है, आपके दोस्त उससे ज़्यादा मददगार साबित होंगे। अगर आप हुक़्म चलाने की कोशिश करेंगे, तो आपके और आपके प्रिय के बीच काफ़ी परेशानी खड़ी हो सकती है। नए ग्राहकों से बात करने के लिए बेहतरीन दिन है। सामाजिक और धार्मिक समारोह के लिए बेहतरीन दिन है। अपने जीवनसाथी को सरप्राइज़ देते रहें, नहीं तो वह ख़ुद को आपके जीवन में महत्वहीन समझ सकता है। कुंभ- (गू गे गो सा सी सू से सो द) आज आप मानसिक स्पष्टता के लिए भ्रम और निराशा से बचने की कोशिश करें। निवेश करना कई बार आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होता है आज आपको यह बात समझ में आ सकती है क्योंकि किसी पुराने निवेश से आज आपको मुनाफा हो सकता है। दोस्त आपके निजी जीवन में ज़रूरत से ज़्यादा दख़लअंदाज़ी करेंगे। आज अचानक किसी से रोमांटिक मुलाक़ात हो सकती है। आज कार्यक्षेत्र में आपके किसी पुराने काम की तारीफ हो सकती है। आपके काम को देखते हुए आज आपकी तरक्की भी संभव है। कारोबारी आज अनुभवी लोगों से करोबार को आगे बढ़ाने की सलाह ले सकते हैं। अपने ज़बरदस्त आत्मविश्वास का फ़ायदा उठाएँ, बाहर निकलें और कुछ नए सम्पर्क व दोस्त बनाएँ। जीवनसाथी के साथ हँसते-खिलखिलाते, हर पल आप महसूस करेंगे कि आप किशोरावस्था में लौट गए हैं। मीन- (दी दू थ झ ञ दे दो च ची) आज आपका विनम्र स्वभाव सराहा जाएगा। कई लोग आपकी ख़ासी तारीफ़ कर सकते हैं। आपकी कोई पुरानी बीमारी आज आपको परेशान कर सकती है जिसकी वजह से आपको हॉस्पिटल भी जाना पड़ सकता है और आपका काफी धन भी खर्च हो सकता है। अपने सामाजिक जीवन को दरकिनार न करें। अपनी व्यस्त दिनचर्या में से थोड़ा-सा समय निकालकर अपने परिवार के साथ किसी आयोजन में शिरकत करें। यह न सिर्फ़ आपका दबाव कम करेगा, बल्कि आपकी झिझक भी मिटा देगा। रोमांस का मौसम है। लेकिन अपने जज़्बात क़ाबू में रखें, नहीं तो रिश्ते में खटास पैदा हो सकती है। अगर आपको एक दिन की छुट्टी पर जाना है तो चिंता न करें, आपकी ग़ैरहाज़िरी में सभी काम ठीक से चलते रहेंगे। और अगर किसी ख़ास वजह से कोई परेशानी खड़ी भी हो जाए, तो आप लौटने पर उसे आसानी से हल कर लेंगे। यदि आपको व्यस्त दिनचर्या के बाद भी अपने लिए समय मिल पा रहा है तो आपको इस समय का सदुपयोग करना सीखना चाहिए। ऐसा करके अपने भविष्य को आप सुधार सकते हैं। जीवनसाथी की वजह से आपकी कोई योजना या कार्य गड़बड़ हो सकता है; लेकिन धैर्य बनाए रखें। __________________________________ 🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺. - संकलनकर्त्ता- ज्योतिर्विद् पं. रामपाल भट्ट श्री ज्योतिष सेवा संस्थान भीलवाड़ा (राज.) 🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺. __________________________________

+12 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 41 शेयर
white beauty Feb 24, 2021

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB