जय श्री शनि देव

जय श्री शनि देव

आज शनिश्चरी अमावस्या है , और उज्जैन में बहुत पारंपरीक विधी से मनाया जाता है , यहां दूर-दूर से भक्त आते हैं शनि पीड़ा से मुक्ति के लिए
मध्य प्रदेश की धार्मिक राजधानी उज्जैन को मंदिरों की नगरी भी कहा जाता है। यहां अनेक विश्व प्रसिद्ध मंदिर है, जिनमें से ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर का मंदिर सबसे प्रमुख है। नगर से थोड़ी दूर सांवेर रोड पर प्राचीन शनि मंदिर भी यहां का प्रमुख दर्शनीय स्थल है। ऐसी मान्यता है कि इस मंदिर का निर्माण उज्जैन के सम्राट विक्रमादित्य ने करवाया था।
इस मंदिर की खास बात यह है कि यहां शनि देव के साथ-साथ अन्य नवग्रह भी विराजमान हैं इसलिए इसे नवग्रह मंदिर भी कहा जाता है। यहां दूर-दूर से शनि भक्त तथा शनि प्रकोप से प्रभावित लोग दर्शन करने आते हैं और शनि देव की स्तुति करते हैं। यह मंदिर शिप्रा नदी के तट पर स्थित है, जिसे त्रिवेणी संगम भी कहा जाता है।यहां से शिप्रा नदी का नजारा बहुत ही सुंदर दिखाई देता है।प्रत्येक शनिवार को यहां श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है। शनिश्चरी अमावस्या पर तो यहां दर्शनार्थियों का सैलाब उमड़ पड़ता है, जिसके कारण प्रशासन को यहां अतिरिक्त व्यवस्थाएं करनी पड़ती है। हजारों श्रद्धालु लंबी कतारों में लगाकर शनि देव के दर्शन करते हैं।
कैसे पहुंचें-
भारत के किसी भी कोने से इंदौर पहुंचकर आसानी से सड़क या रेलमार्ग द्वारा उज्जैन पहुंचा जा सकता है।

+272 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 66 शेयर

कामेंट्स

Abhishek kumar Nov 18, 2017
जय श्री शनि देव नमन आपके चरणों में

kaka sen Nov 18, 2017
जय शनि देवाय नमः।।

Lakhi Jhunjhunwala Mar 27, 2020

+23 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 58 शेयर

+9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 17 शेयर

+11 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 29 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
Sanjay Kumar Mar 27, 2020

+9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
R.G.P.Bhardwaj Mar 27, 2020

+15 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 12 शेयर
R.G.P.Bhardwaj Mar 27, 2020

+14 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर
Molay Adhikari Mar 27, 2020

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 15 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB