Ashok Sharma
Ashok Sharma May 18, 2022

💐🌹🙏 Jai Shri Radhe Krishna ji 🌹🌹 Good morning 🙏💐💐🌿🌿🌿

+11 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 22 शेयर

कामेंट्स

Ankit Kumar May 19, 2022
Jay Shree Radhe Radhe Ji . Jay Shree Krishna Ji .

Priya Singh Jul 3, 2022

+13 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 19 शेयर
Anupam Mohanta Jul 4, 2022

जीवन में सफल होने के लिए सबसे पहले फेंगशुई शास्त्रों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि घर में धन का प्रवेश हो, क्योंकि बिना पैसे के कुछ भी नहीं होता है! फेंगशुई शास्त्रों के अनुसार, यदि आप सड़क पर खड़े होकर घर का सामना करते हैं, तो सामने और केंद्र की ओर एक घर का प्रवेश द्वार होता है। इसलिए आर्थिक खुशहाली के लिए इन पहलुओं को हमेशा साफ सुथरा रखें। * मनी टॉड विंड चाइम को सामने के दरवाजे से घर के सामने लगाएं, चीनियों का मानना ​​है कि यह मनी विंड चाइम घर में धन लाने में मदद करता है। * सुख, शांति और सौभाग्य के लिए लाफिंग बुद्धा को घर के दरवाजे या खिड़की के विपरीत दिशा में रखें, जिससे जीवन सुख-समृद्धि से भर जाए। * तीन पैरों वाला मेंढक बदल सकता है आपका भाग्य, घर में सौभाग्य बढ़ाने के लिए, इसे घर के अंदर की ओर मुंह करके रखें, सामने के दरवाजे के बगल में, एक धातु तीन पैरों वाला मेंढक दुर्भाग्य को बदल देगा। * सामने वाले दरवाजे के सामने कालीन बिछाएं, इससे सौभाग्य की प्राप्ति होगी। * घर की भीतरी दीवार को कभी भी खाली न छोड़ें जिससे कि घर में दुर्भाग्य प्रवेश करे। ज्यादा नहीं तो घर की दीवारों पर अच्छी तस्वीर या कलैण्डर लगाएं। * वसंत ऋतु में एक बार अपने घर की सफाई करें और सुनिश्चित करें कि घर की सभी घड़ियों में एक ही समय हो। * फेंगशुई शास्त्रों के अनुसार ऐश्वर्या का रंग नीला, लाल और बैंगनी है, इसलिए घर में इन रंगों का प्रयोग करें। एक सफल करियर की कुंजी: एक सफल करियर बनाने के लिए, प्रत्येक छात्र को पढ़ाई में बहुत कुशल होना चाहिए। इसके लिए यहां कुछ फेंगशुई टिप्स दिए गए हैं। # वाचनालय के उत्तर दिशा में लटकी हुई सिक्स-रॉड मेटल विंड चाइम। विंड चाइम की छड़ें धातु की और सीधी होनी चाहिए। हवा के झोंके में विंड चाइम से आने वाली झुनझुनी की आवाज ध्यान बढ़ाएगी। # क्रिस्टल ग्लोब की एक जोड़ी छात्र के पढ़ने के वजन से मेल खाती है, इसलिए पढ़ने की मेज के उत्तर-पूर्व कोने में एक क्रिस्टल ग्लोब रखें और इस ग्लोब को अपने हाथ से पहले तीन बार घुमाएं क्योंकि आप प्रत्येक दिन पढ़ने के लिए बैठते हैं, इससे वृद्धि होगी छात्रों का आत्मविश्वास और मानसिक एकाग्रता। # रीडिंग टेबल के सामने दीवार पर सफलता के चीनी स्क्रॉल की तस्वीर लटकाएं। इसमें तीन मैचों के चित्र हैं, ये तीन मैच ज्ञान, अनुभव और इच्छा के सूचक हैं। फेंगशुई के अनुसार इस तस्वीर को टांगकर छात्र तुरंत पठन याद कर सकते हैं। # टेस्ट रीडिंग की तैयारी करते समय और टेस्ट के दौरान गोलगप्पे की एक बोतल अपने पास रखें यह गोल्डन डिस्क से भरी एक छोटी बोतल होती है। इससे एकाग्रता बढ़ेगी और परीक्षा देने में कोई कठिनाई नहीं होगी। # रीडिंग टेबल के विपरीत दिशा में शीशा न लगाएं, इससे आपका ध्यान भटकेगा। # फेंगशुई शास्त्रों के अनुसार करियर के रंग काले, नीले और भूरे हैं इसलिए छात्र इन रंगों का बहुत अधिक उपयोग करते हैं। For more info: www.swamijee.in #fengshuitips #fengshuilifestyle #fengshuihome #fengshuimaster #fengshui #fengshuiconsultant #AnupamKher #AnupamMohanta #astrologerinindia #AstroTalk #looking_for_job #vastuconsultant #vastuexpert #vastutips #vastushastra

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Runa Sinha Jul 3, 2022

+97 प्रतिक्रिया 26 कॉमेंट्स • 11 शेयर
HANUMAN SHARMA Jul 3, 2022

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर
Ramesh Agrawal Jul 3, 2022

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
Runa Sinha Jul 3, 2022

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

*जिन्दगी हंसाये तो समझना अच्छे कर्मो का फल है,* *जब रुलाये तो समझना अच्छे कर्म करने का समय आ गया।* *आत्म_संतुष्टी* पुराने समय की बात है, एक गाँव में दो किसान रहते थे। दोनों ही बहुत गरीब थे, दोनों के पास थोड़ी थोड़ी ज़मीन थी, दोनों उसमें ही मेहनत करके अपना और अपने परिवार का गुजारा चलाते थे। अकस्मात कुछ समय पश्चात दोनों की एक ही दिन एक ही समय पे मृत्यु हो गयी। यमराज दोनों को एक साथ भगवान के पास ले गए। उन दोनों को भगवान के पास लाया गया। भगवान ने उन्हें देख के उनसे पूछा, ”अब_तुम्हे_क्या_चाहिये, तुम्हारे इस जीवन में क्या कमी थी, और अब तुम्हें क्या बना के मैं पुनः संसार में भेजूं।” भगवान की बात सुनकर उनमे से एक किसान बड़े गुस्से से बोला, ” हे भगवान! आपने इस जन्म में मुझे बहुत कष्टमय ज़िन्दगी दी थी। आपने कुछ भी नहीं दिया था मुझे। पूरी ज़िन्दगी मैंने बैल की तरह खेतो में काम किया है, जो कुछ भी कमाया वह बस पेट भरने में लगा दिया, ना ही मैं कभी अच्छे कपड़े पहन पाया और ना ही कभी अपने परिवार को अच्छा खाना खिला पाया। जो भी पैसे कमाता था, कोई आकर के मुझसे लेकर चला जाता था और मेरे हाथ में कुछ भी नहीं आया। देखो कैसी जानवरों जैसी ज़िन्दगी जी है मैंने।” उसकी बात सुनकर भगवान कुछ समय मौन रहे और पुनः उस किसान से पूछा, ”तो_अब_क्या_चाहते_हो तुम, इस जन्म में मैं_तुम्हे_क्या_बनाऊँ।” भगवान का प्रश्न सुनकर वह किसान पुनः बोला, ”*भगवन आप कुछ ऐसा कर दीजिये, कि मुझे कभी किसी को कुछ भी देना ना पड़े। मुझे_तो_केवल_चारो_तरफ_से_पैसा_ही_पैसा_मिले।”* अपनी बात कहकर वह किसान चुप हो गया। भगवान से उसकी बात सुनी और कहा, *”तथास्तु,* तुम अब जा सकते हो मैं तुम्हे ऐसा ही जीवन दूँगा जैसा तुमने मुझसे माँगा है।” उसके जाने पर भगवान ने पुनः दूसरे किसान से पूछा, ”तुम_बताओ_तुम्हे_क्या_बनना_है, तुम्हारे जीवन में क्या कमी थी, *तुम_क्या_चाहते_हो?”* उस किसान ने भगवान के सामने हाथ जोड़ते हुए कहा, ”हे_भगवन_आपने_मुझे_सबकुछ_दिया_है मैं_आपसे_क्या_मांगू। आपने मुझे एक अच्छा परिवार दिया, मुझे कुछ जमीन दी जिसपे मेहनत से काम करके मैंने अपना परिवार को एक अच्छा जीवन दिया। खाने के लिए आपने मुझे और मेरे परिवार को भरपेट खाना दिया। मैं और मेरा परिवार कभी भूखे पेट नहीं सोया। बस एक ही कमी थी मेरे जीवन में, जिसका मुझे अपनी पूरी ज़िन्दगी अफ़सोस रहा और आज भी हैं। मेरे दरवाजे पे कभी कुछ भूखे और प्यासे लोग आते थे। भोजन माँगने के लिए, परन्तु कभी कभी मैं भोजन न होने के कारण उन्हें खाना नहीं दे पाता था, और वो मेरे द्वार से भूखे ही लौट जाते थे। ऐसा कहकर वह चुप हो गया।” प्रभुजी_इतना_दीजिये जा_में_कुटुम्ब_समाय ! मैं भी_भूखा_न_रहूँ साधू_भी_भूखा_न_जाये !! भगवान ने उसकी बात सुनकर उससे पूछा, ”तो_अब_क्या_चाहते_हो_तुम, इस जन्म में मैं_तुम्हें_क्या_बनाऊँ।” किसान भगवान से हाथ जोड़ते हुए विनती की, ” हे प्रभु! आप कुछ ऐसा कर दो कि मेरे द्वार से कभी कोई भूखा प्यासा ना जाये। ”भगवान_ने_कहा, “तथास्तु, तुम_जाओ_तुम्हारे_द्वार_से_कभी_कोई_भूखा_प्यासा_नहीं_जायेगा।” अब दोनों का पुनः उसी गाँव में एक साथ जन्म हुआ। दोनों बड़े हुए। पहला व्यक्ति जिसने भगवान से कहा था, कि उसे चारो तरफ से केवल धन मिले और मुझे कभी किसी को कुछ देना ना पड़े, वह व्यक्ति उस गाँव का सबसे बड़ा भिखारी बना। अब उसे किसी को कुछ देना नहीं पड़ता था, और जो कोई भी आता उसकी झोली में पैसे डालके ही जाता था। और दूसरा व्यक्ति जिसने भगवान से कहा था कि उसे कुछ नहीं चाहिए, केवल इतना हो जाये की उसके द्वार से कभी कोई भूखा प्यासा ना जाये, वह उस गाँव का सबसे अमीर आदमी बना। *कथा_सार👉* मित्रो_ईश्वर_ने_जो_भी_दिया_है_उसी_में_संतुष्ट_होना_बहुत_जरुरी_है। अक्सर देखा जाता है कि सभी लोगों को हमेशा दूसरे की चीज़ें ज्यादा पसंद आती हैं और इसके चक्कर में वो अपना जीवन भी अच्छे से नहीं जी पाते। मित्रों हर बात के दो पहलू होते हैं – सकारात्मक_और_नकारात्मक, अब ये आपकी सोच पर निर्भर करता है कि आप चीज़ों को नकारत्मक रूप से देखते हैं या सकारात्मक रूप से। अच्छा जीवन जीना है तो अपनी सोच को अच्छा बनाइये, चीज़ों में कमियाँ मत निकालिये बल्कि जो भगवान ने दिया है उसका आनंद लीजिये और हमेशा दूसरों के प्रति सेवा भाव रखिये !! मित्रो सब कुछ इकट्ठा भी उन्हीं के पास होता है जो बाँटनां जानते हैं वह चाहे भोजन हो धन हो या मान सम्मान हो !! 🙏🙏 *जो प्राप्त है-पर्याप्त है* *जिसका मन मस्त है* *उसके पास समस्त है!!*

+131 प्रतिक्रिया 70 कॉमेंट्स • 212 शेयर

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 59 शेयर

+119 प्रतिक्रिया 67 कॉमेंट्स • 91 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB