श्री कृष्णः शरणम् ममः

श्री कृष्णः शरणम् ममः

शुभप्रभात दोस्तो

श्री कृष्णः शरणम् ममः

एक बार एक संत अपने चेलों के साथ किसी कीचड़ भरे रास्ते चले पर जा रहे थे, उसी रास्ते पर एक अमीरजादा भी अपनी प्रेमिका के साथ जा रहा था ।

जब संत उस के पास से गुजरे तो कीचड़ के कुछ छींटे अमीरजादे की प्रेमिका पर पड़ गए। *

अमीरजादे ने गुस्से में दो तीन चांटे उन संत को जड़ दिए ।

संत कुछ नही बोले और चुपचाप आगे चलते गये, इस पर संत के एक चेले ने नाराज होकर पूछा, आपने उसे कुछ कहा क्यों नहीं? संत फिर भी चुप रहे ।

कुछ ही समय बाद ही पीछे चल रहा अमीरजादा अचानक फिसल कर कीचड़ में गिर गया और बुरी तरह से कीचड़ में लिबड़ गया, साथ ही उसकी एक बाजु भी टूट गई !!

तब संत ने अपने चेले से कहा देखो, जैसे वो 'अमीरजादा' अपनी 'प्रेमिका' की तौहीन नहीं देख सका,

ठीक उसी तरह ऊपर बैठा वो मेरा *"मुरली वाला" भी अपने *'प्रेमी' (यानि भक्त / शरणागत) की तौहीन नहीं देख सकता ॥
🙏श्री वृन्दावन बिहारी लाल जी की जय🙏
🙏Shree Krishnah sharanam mamah🙏💐

+189 प्रतिक्रिया 16 कॉमेंट्स • 143 शेयर

कामेंट्स

Pashupati Nath Singh Nov 9, 2017
संत की यह सोच नहीं होती है । अच्छी और सत्यनिस्ठ कथा ही वताना चाहिये ।

Ravi pandey Nov 9, 2017
jai shree Krishna radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe radhe Radhe

Kanchan Bhagat Nov 9, 2017
श्री कृष्णः शरणम् मम्

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB