jitendra
jitendra Dec 4, 2018

आयुर्वेदिक काढ़ा

आयुर्वेदिक दवाओं की जानकारी के अंतर्गत इस बार हम आयुर्वेदिक काढ़े की जानकारी दे रहे हैं।

दशमूल काढ़ा : विषम ज्वर, मोतीझरा, निमोनिया का बुखार, प्रसूति ज्वर, सन्निपात ज्वर, अधिक प्यास लगना, बेहोशी, हृदय पीड़ा, छाती का दर्द, सिर व गर्दन का दर्द, कमर का दर्द दूर करने में लाभकारी है व अन्य सूतिका रोग नाशक है।

महामंजिष्ठादि काढ़ा : समस्त चर्म रोग, कोढ़, खाज, खुजली, चकत्ते, फोड़े-फुंसी, सुजाक, रक्त विकार आदि रोगों पर विशेष लाभकारी है।

महासुदर्शन काढ़ा : विषम ज्वर, धातु ज्वर, जीर्ण ज्वर, मलेरिया बुखार आदि समस्त ज्वरों पर विशेष लाभकारी है, भूख बढ़ाता है तथा पाचन शक्ति बढ़ाता है। श्वास, खांसी, पांडू रोगों आदि में हितकारी। रक्त शोधक एवं यकृत उत्तेजक ।

महा रास्नादि काढ़ा : समस्त वात रोगों में लाभकारी। आमवात, संधिवात, सर्वांगवात, पक्षघात, ग्रध्रसी, शोथ, गुल्म, अफरा, कटिग्रह, कुब्जता, जंघा और जानु की पीड़ा, वन्ध्यत्व, योनी रोग आदि नष्ट होते हैं।

रक्त शोधक : सब प्रकार की खून की खराबियां, फोड़े-फुंसी, खाज-खुजली, चकत्ते, व्रण, उपदंश (गर्मी), आदि रोगों पर लाभकारी है तथा खून साफ करता है।

सामान्य मात्रा : 10 से 25 मिली तक बराबर पानी मिलाकर भोजन करने के बाद दोनों समय पिए जाते हैं।

विविध
अर्क अजवायन : पेट व आंतों के दर्द में लाभकारी। बदहजमी, अफरा, अजीर्ण, मंदाग्नि में लाभप्रद। दीपक तथा पाचक व जिगर की बीमारियों को दूर करता है।

अर्क दशमलव : प्रसूत ज्वर एवं सब प्रकार के वात रोगों में लाभदायक है।

अर्क सुदर्शन : अनेक तरह के बुखारों में लाभदायक है। पुराने बुखार, विषम ज्वर, त्रिदोष ज्वर, इकतारा, तिजारी बुखारों को नष्ट करता है।

अर्क सौंफ : भूख बढ़ाता है। आंव-पेचिस आदि में लाभदायक है। मेदा व जिगर की बीमारियों में फायदेमंद है। प्यास व अफरा कम करता है। पित्त, ज्वर, बदहजमी, शूल, नेत्ररोग आदि में लाभकारी है।

खमीरा गावजवां : दिल-दिमाग को ताकत देता है। घबराहट व चित्त की परेशानी दूर करता है। प्यास कम करता है, नेत्रों को लाभदायक है। खांसी, श्वास (दमा), प्रमेह आदि में लाभकारी। मात्रा 10 से 25 ग्राम सुबह-शाम चाटना चाहिए।

खमीरा सन्दल : अंदरूनी गर्मी को कम करता है, प्यास को कम करता है, दिल को ताकत देता है व खास तौर पर दिल की धड़कन को कम करता है। पैत्तिक दाह, मुंह सूखना, घबराहट, जलन, गर्मी से जी मिचलाना तथा मूत्र दाह में लाभकारी। शीतल व शांतिदायक। गर्भवती स्त्रियों के लाभदायक। मात्रा 10 से 25 ग्राम सुबह, दोपहर व शाम अर्क गावजवां के साथ या केवल चाटना चाहिए।

गुलकन्द प्रवाल युक्त : अत्यंत शीतल है। कब्ज दूर करता है व पाचन शक्ति बढ़ाता है। दिल, फेफड़े, मैदा व दिमाग को ताकत देता है। जिगर की सूजन व हरारत कम करता है। गर्भवती स्त्रियों के लिए विशेष लाभदायक है। गर्मी के मौसम में बालक, वृद्ध, स्त्री, पुरुष सबको इसका सेवन करना चाहिए। मात्रा 10 से 25 ग्राम सुबह शीतल जल या दूध के साथ लेना चाहिए।

माजून मुलैयन : हाजमा करके दस्त साफ लाने के लिए प्रसिद्ध माजून है। बवासीर के मरीजों के लिए श्रेष्ठ दस्तावर दवा। मात्रा रात को सोते समय 10 ग्राम माजून दूध के साथ।

सिरका गन्ना : पाचक, रुचिकारक, बलदायक, स्वर शुद्ध करने वाला, श्वास, ज्वर तथा वात नाशक। मात्रा 10 से 25 मि.ली. सुबह व शाम भोजन के बाद।

सिरका जामुन : यकृत (लीवर) व मेदे को लाभकारी। खाना हजम करता है, भूख बढ़ाता है, पेशाब लाता है व तिल्ली के वर्म को दूर करने की प्रसिद्ध दवा। मात्रा 10 से 25 मि.ली. सुबह व शाम भोजन के बाद।

+9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 21 शेयर
Shyam Yadav May 15, 2021

*पूर्ण स्वास्थ्य के लिये खाने पीने में कौन कौन सी सावधानियां बरतें अन्यथा...* *जी हां कुछ चीज़े हमेशा याद रखें और नोट करके रख लें, बहुत काम की है। वरना अर्थ का अनर्थ हो सकता है...* ● चाय के साथ कोई भी नमकीन चीज नहीं खानी चाहिए। ● दूध और नमक का संयोग सफ़ेद दाग या किसी भी स्किन डिज़ीज को जन्म दे सकता है। ● बाल असमय सफ़ेद होना या बाल झड़ना भी स्किन डिजीज ही है। सबसे पहले ये जान लें कि... ● क्या कोई भी आयुर्वेदिक दवा खाली पेट खाई जाती है.? ● और दवा खाने से आधे घंटे के अंदर कुछ खाना अति आवश्यक होता है, नहीं तो दवा की गरमी आपको बेचैन कर देगी। ● दूध या दूध की बनी किसी भी चीज के साथ दही, नमक, इमली, खरबूजा, बेल, नारियल, मूली, तोरई,तिल, तेल, कुल्थी, सत्तू, खटाई नहीं खानी चाहिए। ● दही के साथ खरबूजा, पनीर, दूध और खीर नहीं खानी चाहिए। ● गर्म जल के साथ शहद कभी नही लेना चाहिए। ● ठंडे जल के साथ घी, तेल, खरबूज, अमरूद, ककड़ी, खीरा, जामुन, मूंगफली कभी नहीं। ● शहद के साथ मूली, अंगूर, गरम खाद्य या गर्म जल कभी नहीं। ● खीर के साथ सत्तू, शराब, खटाई, खिचड़ी, कटहल कभी नहीं। ● घी के साथ बराबर मात्रा में शहद भूल कर भी नहीं खाना चाहिए, ये तुरंत जहर का काम करेगा। ● तरबूज के साथ पुदीना या ठंडा पानी कभी नहीं। ● चावल के साथ सिरका कभी नहीं। ● चाय के साथ ककड़ी खीरा भी कभी मत खाएं। ● खरबूज के साथ दूध, दही, लहसून और मूली कभी नहीं। ■कुछ चीजों को एक साथ खाना अमृत का काम करता है जैसे.. ● खरबूजे के साथ ● चीनी, इमली के साथ गुड, ●गाजर और मेथी का साग, ● बथुआ और दही का रायता। ● मकई के साथ मट्ठा। ● अमरुद के साथ सौंफ। ● तरबूज के साथ गुड। ● मूली और मूली के पत्ते और ● अनाज या दाल के साथ दूध या दही। ● आम के साथ गाय का दूध। ● चावल के साथ दही। ● खजूर के साथ दूध। ● चावल के साथ नारियल की गिरी। ● केले के साथ इलायची। कभी कभी कुछ चीजें बहुत पसंद होने के कारण, हम ज्यादा या फिर बहुत ज्यादा खा लेते हैं। ऎसी चीजो के बारे में बताते हैं जो अगर आपने ज्यादा खा ली हैं तो कैसे पचाई जाएँ... ● केले की अधिकता में दो छोटी इलायची। ● आम पचाने के लिए आधा चम्म्च सोंठ का चूर्ण और गुड। ● जामुन ज्यादा खा लिया तो ३-४ चुटकी नमक। ● सेब ज्यादा हो जाए तो दालचीनी का चूर्ण एक ग्राम। ●खरबूज के लिए आधा कप चीनी का शरबत। ● तरबूज के लिए सिर्फ एक लौंग। ● अमरूद के लिए सौंफ। ● नींबू के लिए नमक। ● बेर के लिए सिरका। ● गन्ना ज्यादा चूस लिया हो तो 3-4 बेर खा लीजिये। ● चावल ज्यादा खा लिया है तो आधा चम्म्च अजवाइन पानी से निगल लीजिये। ● बैगन के लिए सरसो का तेल एक चम्म्च। ● मूली ज्यादा खा ली हो तो एक चम्म्च काला तिल चबा लीजिये। ● बेसन ज्यादा खाया हो तो मूली के पत्ते चबाएं। ● खाना ज्यादा खा लिया है तो थोड़ी दही खाइये। ●मटर ज्यादा खाई हो तो अदरक चबाएं। ● इमली या उड़द की दाल या मूंगफली या शकरकंद या जिमीकंद ज्यादा खा लीजिये तो फिर गुड खाइये। ● मुंग या चने की दाल ज्यादा खाये हों तो एक चम्म्च सिरका पी लीजिये। ● मकई ज्यादा खा गये हो तो मट्ठा पीजिये। ● घी या खीर ज्यादा खा गये हों तो काली मिर्च चबाएं। ● खुरमानी ज्यादा हो जाए तो ठंडा पानी पीयें। ● पूरी कचौड़ी ज्यादा हो जाए तो गर्म पानी पीजिये। अगर सम्भव हो तो भोजन के साथ ● दो नींबू का रस आपको जरूर ले लेना चाहिए ● या पानी में मिला कर पीजिये ● या भोजन में निचोड़ लीजिये, 80% बीमारियों से बचे रहेंगे।

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 10 शेयर
Shyam Yadav May 15, 2021

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Gopalchandra porwal May 15, 2021

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Madan Kaushik May 16, 2021

***अपना पोस्ट*** **नक्षत्रवाणी** *༺⊰०║|। ॐ ।|║०⊱༻*  गजाननं भूतगनादि सेवितम, कपित्थजम्बू फलचारु भक्षणम। उमासुतं शोकविनाशकारकम, नमामि विघ्नेश्वर पादपंकजम।। श्रीमते रघुवीराय सेतूल्लङ्घितसिन्धवे। जितराक्षसराजाय रणधीराय मङ्गलम्।। - भुजगतल्पगतं घनसुन्दरं गरुडवाहनमम्बुजलोचनम् । नलिनचक्रगदाकरमव्ययं भजत रे मनुजाः कमलापतिम् ।।  क्यों भटके मन बावरा, दर-दर ठोकर खाये...! शरण श्याम की ले ले प्यारे, जनम सफल हो जाये...!! 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 ~~~~~~~~~~~~~~~~~~ मित्रों...! सबसे पहले तो नित्यप्रति आपकी प्रिय पोस्ट "नक्षत्रवाणी" की पोस्टिंग में होने वाले विलंब के लिए आप सभी से हृदयपूर्वक क्षमा प्रार्थना सहित...🙏🙏 आप सभी परम प्रिय धर्मपारायण, ज्योतिषविद्या प्रेमी विद्वतजनों को आचार्य/पं.मदन तुलसीराम जी कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले) की ओर से सादर-सप्रेम 🌸 जय गणेश 🌸 जय अंबे 🌸 *जय श्री कृष्ण*🌷मंगल प्रभात🌷इसी के साथ आप सभी सनातनी, धर्म-उत्सवप्रेमी, राम-कृष्ण-हरि-शिवभक्त, शक्ति उपासक, मातृपितृ भक्त व राष्ट्रप्रेमियों को आज **वैशाख शुक्ल पक्ष/सुदी चतुर्थी/चौथ की एवं मातंगी जयंती उत्सव** की भी बहुत-बहुत हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं...!!!** ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ आइये...! अब चलें आपके प्रिय पोस्ट 'नक्षत्रवाणी' के अंतर्गत आज कुछ विशेष महत्वपूर्ण जानकारी, दृकपंचांग, चन्द्र राशिफल' एवं 'आरोग्य मंत्र' की ज्ञानयात्रा पर...🙏👇 ```༺⊰🕉⊱༻ ``` *༺⊰०║|। ॐ ।|║०⊱༻* ☘️🌸!! ॐ श्री गणेशाय नमः!! 🌸☘️ ****************************** 𴀽𴀊🕉श्री हरिहरौविजयतेतराम्🕉 🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार* :- आज दिनांक **१६ मई सन-२०२१/16-मे-ईस्वी सन 2021** रविवार/Sunday* *🇮🇳 राष्ट्रीय सौर वैशाख, दिनांक २६* *चैत्र (मधुमास)* प्रस्तुत है ««« *आज का दृकपंचांग* 👉 ध्यान दें **यहाँ दिये गए तिथि, नक्षत्र, योग व करण आदि के समय इनके समाप्ति काल हैं और सूर्योदयास्त व चंद्रोदय का गणना स्थल मुंबई हैं।** कलियुगाब्द......5122 (५१२२) विक्रम संवत्.....२०७८/2078 (आंनद नाम) शक संवत्......१९४३/1943 मास....वैशाख (सं./हिंदी)/बैसाख (मारवाड़ी/पं.) पक्ष........शुक्ल/चानण/सुदी/उतरतो बैशाख **तिथी...(०४/04) चतुर्थी/चौथ** *प्रातः 10.00 पर्यंत पश्चात पंचमी* **वार/दिन....रविवासर/रविवार/Sunday** **नक्षत्र........ आर्द्रा🌠** *अपराह्न 11.14 पर्यंत पश्चात पुनर्वसु* योग.............शूल रात्रि 02.52 पर्यंत पश्चात गंड करण............विष्टि प्रातः 10.00 पर्यंत पश्चात बव रात्रि 10.51 सूर्योदय.......प्रातः 06.04.00 पर सूर्यास्त........सांय 07.06.00 पर चंद्रोदय........प्रातः 09.23.00 पर। रवि(अयन-दृक)......उत्तरायण रवि(अयन-वैदिक)...उत्तरायण **ऋतु (दृक).....ग्रीष्म** **ऋतु वैदिक)...वसंत** **सूर्य राशि.......वृषभ** **चन्द्र राशि......मिथुन** **गुरु राशी.......कुंभ (पूर्व में उदय, मार्गी)** 🚦,🚗🚊*दिशाशूल*:-* **पश्चिम दिशा- यदि बहुत ही आवश्यक हो तो दलिया/घी या पान खाकर यात्रा प्रारंभ करें।** ☸ शुभ अंक....७/7 🔯 शुभ रंग......नारंगी/सिंदूरी/केसरिया ⚜️ *अभिजीत मुहूर्त :-* मध्याह्न 12.09 से 13.01 तक। 👁‍🗨 *राहुकाल :-* संध्या/सांय 05.28 से 07.06 तक । 👁‍🗨 *गुलिक काल (अशुभ) :-* अपराह्न 03.51 से 05.28 तक । ************************* 🌞 *उदय लग्न मुहूर्त :-* *वृषभ* 05:44:40 07:42:52 *मिथुन* 07:42:52 09:56:33 *कर्क* 09:56:33 12:12:43 *सिंह* 12:12:43 14:24:32 *कन्या* 14:24:32 16:35:12 *तुला* 16:35:12 18:49:49 *वृश्चिक* 18:49:49 21:05:59 *धनु* 21:05:59 23:11:38 *मकर* 23:11:38 24:58:46 *कुम्भ* 24:58:46 26:32:19 *मीन* 26:32:19 28:03:24 *मेष* 28:03:24 29:44:40 ✡ *चौघडिया :-* प्रात: 07.27 से 09.05 तक चंचल प्रात: 09.05 से 10.44 तक लाभ प्रात: 10.44 से 12.22 तक अमृत दोप. 02.00 से 03.39 तक शुभ सायं 06.55 से 08.17 तक शुभ संध्या 08.17 से 09.39 तक अमृत रात्रि 09.39 से 11.00 तक चंचल । *****""""""******"""*******"""******** आज के विशेष योगायोग/युति संयोग, वेध, ग्रहचार (ग्रहचाल), व्रत/पर्व/प्रकटोत्सव, जयंती/जन्मोत्सव व मोक्ष दिवस/स्मृतिदिवस/पुण्यतिथि आदि 🙏👇:- 👉 **आज वैशाख शुक्ल पक्ष/सुदी रविवासर/रविवार/Sunday को हिंदु नववर्ष/विक्रमी संवत् का 34 वाँ/चौंतीसवां दिन👉 बैशाख सुदी चतुर्थी/चौथ प्रातः प्रातः 10.00 पर्यंत पश्चात पंचमी प्रारंभ, भद्रा समाप्त 10:00, ग्रहयुति संयोग चंद्रमा से 2° दक्षिण में मंगल 10:45 बजे।** ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ 🙏📿**आज का आराधना मंत्र**🙏:- **🕉 ॐ ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः।।🎪🚩** **🕉 ॐ हिरण्यगर्भाय नमः ॥ 📿 *आज का उपासना मंत्र* *🚩🕉️ ॐ आदित्याय नमः ।। *********************** ⚜ 👉🙏☸*आज की तिथि विशेष :*🚩 **वैशाख शुक्ल पक्ष/सुदी चतुर्थी/चौथ, मातंगी जयंती उत्सव। 🙏 💥 **विशेष ध्यातव्य 👉 चतुर्थी/चौथ को मूली का सेवन शत्रुवृद्धिकारक व बुद्धिनाशक होने से पूर्णतः वर्जित है (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)।** साभार: 🌞 *~हिन्दू पंचांग ~* 🌞।** 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 👉 **🏡वास्तु टिप्स🏢🏡 1) गृहवास्तु विज्ञान के अनुसार घर का प्रवेश द्वार अत्यन्त सुशोभित होना चाहिए। इससे गृहस्वामी की प्रतिष्ठा और मान-सम्मान बढ़ता है। 2) गृहवास्तु के अनुसार यथासंभव शयनकक्ष में दर्पण न लगाएँ। इससे घर के सदस्यों के विचारों में मतभेद और कलह की स्थिति उत्पन्न होती रहती है।** 3) यदि आपके घर से अगर अकारण ही बरकत जा रही है या आपको नेगेटिव एनर्जी दिख रही है या परिवार में निरंतर कलह रहता है, तो कपूर और फिटकरी को पीस के गौझारण (गौमूत्र) जो बहुत ही आसानी से मिल जाता है (अन्यथा पतंजलि आदि का ले लें), इससे घर मे पोछा लगाने वाले क्लीनर या पानी मे मिला लें और रोज़ सुबह-शाम घर मे पोछा लगाये और गंगाजल का पूजा-आरती के बाद छिड़काव भी करें फिर चमत्कारिक परिवर्तन देखें। 4) **घर की मुख्य सीढ़ियाँ सदैव दक्षिण या पश्चिम की ओर होनी चाहिए। ईशान में कभी भी होनी चाहिए। विशेष परस्थिति में वायव्य तथा आग्नेय कोण में बना सकते हैं। *****""""""******"""*******"""********  *संस्कृत सुभाषितानि :-* एकेनापि सुपुत्रेण विद्यायुक्तेन भासते । कुलं पुरुषसिंहेन चन्द्रेणेव हि शर्वरी ॥ अर्थात :- जैसे अकेले चंद्र से रात्रि शोभा देती है, वैसे विद्यावान और पुरुषों में सिंह जैसे एक सत्पुत्र से कुल शोभा देता है। सुविचार भगवान हमारे पास में है ऐसा विश्वास न होने से ही भय लगता है।👍।** **💊💉आरोग्य मंत्र🌿🍃** *दाढ़ी के सफेद बालों का घरेलू उपचार -* *4. विटामिन बी 12 -* यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने भोजन पर ध्यान दें। बालों के भूरे रंग को रोकने के लिए विटामिन बी12 एक महत्वपूर्ण घटक है। यदि आपको लगता है कि आपको पर्याप्त विटामिन बी12 नहीं मिल रहा है, तो आप विटामिन बी कॉम्प्लेक्स सप्लीमेंट्स पर भी विचार कर सकते हैं। *****""""""******"""*******"""******** ⚜*🐑🐂🦔 आज का संभावित चन्द्र राशिफल🦂🐊🐟:- 👉 किंतु पहले सबसे एक करबद्ध निवेदन🙏 मित्रों सर्वप्रथम तो कुछ तकनीकी कारणों से आपको आपकी प्रिय पोस्ट नक्षत्रवानी विलंब से मिल पाती है इसके लिए मैं आप सभी से क्षमा प्रार्थी हूँ। तत्पश्चात मैं निवेदन करना चाहता हूँ कि आपकी इस परमप्रिय ज्ञानवर्धक 'अपना पोस्ट' *नक्षत्रवाणी* को आप जितना हो सकता हो उतना लाइक-शेयर तथा फॉरवर्ड तो करें ही, आलस्य त्याग कर कृपया इसपर अपनी बुद्धि व विवेक के अनुसार अपने सही-सही कमैंट्स भी अवश्य करें। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आप मुझे निराश नहीं करेंगे और अपने फीडबैक से व लाइक/सराहना करके भी अवश्य ही मेरा उत्साहवर्धन करेंगे। नक्षत्रवाणी के संदर्भ में आप सभी के बहुमूल्य सुझाव भी सदैव सादर आमंत्रित हैं।धन्यवाद...!!! **ख़ुशख़बर।। सबसे बड़ी ख़ुशख़बर।।**👇 Free!!! फ्री!! निःशुल्क!!! बिना मूल्य!!!! फ्री!!!!! 🙏👉 किसी भी जन्मलग्न या जन्मराशि या अपनी प्रसिद्ध राशि के लिए भाग्यशाली रत्न-रुद्राक्ष हमसे जानें फ्री ऑफ Charge यानि पूर्णतः निःशुल्क व निःसंकोच। इसके अलावा लैब टेस्टेड उच्चतम क्वालिटी के रत्न-रुद्राक्ष प्राप्त करने के लिए भी हमसे संपर्क करें :👇 9987815015 या 9991610514 पर। 🙏👉 प्रियवरों शिवकृपा प्राप्ति के सबसे बड़े शुभावसर 'महाशिरात्रि' के पावन पर्व पर (यानि कि 11 मार्च को) भगवान महाकालेश्वर शिव जो कि एकादश रुद्र रूपों में भी तीनों लोकों में प्रस्फुटित होते हैं, उनके साक्षात स्वरूप व कृपाप्रसाद *पंचमुखी 'रुद्राक्ष रत्न*" जिसे रुद्र के अक्ष या भगवान शिव के अक्ष के रूप में भी जाना जाता है, को इसबार फिर से इस परम शुभ अवसर पर विधिवत् *अभिमंत्रित* करके आपको आपके सभी दैहिक-दैविक-भौतिक कष्टों से मुक्ति दिलाने हेतु, विशेषतः इस **कोरोना काल** में बहुत अधिक बढ़ चुके मानसिक संताप (Mental stress/depression) तथा आर्थिक संताप को पूर्ण रूप से दूर करने के लिए, इस समय आपकी आर्थिक तँगीं की स्थिति को समझते हुए **केवल मात्र 111₹** में आप शिवभक्त सुधि पाठकों के लिए उपलब्ध करवाना प्रारंभ किया हैं। जिसे भी यह दिव्य सर्वसिद्ध **रुद्राक्ष रत्न** चाहिए, वे कृपया हमें इसी नम्बर पर व्हाट्सएप्प करें। ध्यान रखें यह योजना सीमित समय के लिए ही है, इसलिए इस सुनहरे अवसर को आप चूकें नहीं। 🙏 👉 **एक विशेष व अति शुभ सूचना:** **मित्रों हमारे 'ऐस्ट्रो वर्ल्ड' के दिव्य कोष में शुद्ध केसर (काश्मीरी व ईरानी A तथा B दोनों ग्रेड की), पारिजात, चम्पा, अनन्त, पुन्नाग, श्वेत/सफ़ेद ऊद, केसर, खस, भीना गुलाब व असली चंदन जैसे दिव्य इत्रों की पूरी रेंज, भीमसेनी कर्पूर, उत्तम क्वालिटी की शुद्ध गुग्गल व शुद्ध लोबान, शुद्ध राशि रत्न-उपरत्न, असली नेपाली रुद्राक्ष रत्न व गण्डकी नदी से प्राप्त असली शालिग्राम जी भी उपलब्ध हैं। इसके अलावा हमारे इस संग्रहालय में और भी कई दिव्य व चमत्कारिक वस्तुएं उपलब्ध हैं। ये सभी दिव्य वस्तुएं हम अपने ज्योतिष-वास्तु एवं वैदिक पूजा-अनुष्ठानों के नियमित यजमानों के लिए बहुत ही सही कीमत/रेट पर और बहुत ही कम मार्जिन पर आपको देते हैं तथा इनके असली होने की मनीबैक गारंटी भी। तो आप 'नक्षत्रवाणी' के सभी पाठक भी हमारे परमप्रिय होने से इसका लाभ निःसन्देह ले सकते हैं। इसके लिए आप हमें इसी नम्बर पर व्हाट्सएप्प करें। जल्दी रिप्लाई ना मिलने पर आप कॉल भी कर सकते हैं। धन्यवाद...!!!** 🙏ध्यान दें मित्रों 👉 **जिनका भी 'FB यानि फ़ेसबुक' अकाउंट नहीं है और जो पाठकगण हमारे द्वारा भेजे जा रहे 'FB लिंक' के माध्यम से 'नक्षत्रवाणी पोस्ट' नहीं देख या पढ़ पा रहे हों वे इसके बारे में हमें अविलंब बताएं ताकि उन्हें बिना FB लिंक वाली 'पूरी पोस्ट' भेजी जा सके। इसके अलावा जिन पाठक गणों को नक्षत्रवाणी पोस्ट एक से अधिक बार प्राप्त हो रही हो, वे भी हमें तुरंत सूचित करने की कृपा करें ताकि उन्हें हमारी एक से अधिक ब्रॉडकास्ट लिस्ट्स/BCLs से उन्हें रिमूव किया जा सके। आप हमें प्रतिक्रिया नहीं देते हैं तो हमें तो यही लगेगा कि आप को नक्षत्रवाणी केवल एक ही बार प्राप्त हो रही है। इसलिए हमें सूचित अवश्य करें। धन्यवाद...!!! *****""""""******"""*******"""******** देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत् ।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिंतयेत।। 🐐 *राशि फलादेश मेष :-* *(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)* बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। वरिष्ठ जन सहायता करेंगे। अप्रत्याशित लाभ होगा। यात्रा होगी। व्यावसायिक अथवा निजी काम से सुखद यात्रा हो सकती है। पठन-पाठन में रुचि बढ़ेगी। दूसरों से न उलझें। आर्थिक स्थिति अच्छी रहेगी। 🐂 *राशि फलादेश वृष :-* *(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)* अप्रत्याशित खर्च होंगे। तनाव रहेगा। दूसरों के झगड़ों में न पड़ें। वस्तुएं संभालकर रखें। जोखिम न लें। नए संबंधों के प्रति सतर्क रहें। भूल करने से विरोधी बढ़ेंगे। कार्यक्षेत्र का विकास एवं विस्तार होगा। उपहार मिल सकता है। संतान की चिंता दूर होगी। 👫🏻 *राशि फलादेश मिथुन :-* *(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)* रुका हुआ धन मिल सकता है। निवेश शुभ रहेगा। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। प्रसन्नता रहेगी। स्वयं के ही प्रयासों से जनप्रियता एवं मान-सम्मान मिलेगा। रुका काम समय पर पूरा होने से आत्मविश्वास बढ़ेगा। व्यवसाय लाभप्रद रहेगा, नई योजनाएं बनेंगी। 🦀 *राशि फलादेश कर्क :-* *(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)* वरिष्ठ जन सहायता करेंगे। रुके कार्यों में गति आएगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। रोजगार बढ़ेगा। सतर्कता से कार्य करें। संतान के व्यवहार से सामाजिक प्रतिष्ठा में कमी आ सकती है। व्यापार में नए अनुबंध आज नहीं करें। आर्थिक तंगी रहेगी। 🦁 *राशि फलादेश सिंह :-* *(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)* तंत्र-मंत्र में रुचि बढ़ेगी। यात्रा मनोरंजक रहेगी। निवेश शुभ रहेगा। बाहरी सहायता से काम होंगे। ईश्वर में रुचि बढ़ेगी। कामकाज की अनुकूलता रहेगी। व्यावसायिक श्रेष्ठता का लाभ मिलेगा। आपसी संबंधों को महत्व दें। पूंजी संचय की बात बनेगी। 🙎🏻‍♀️ *राशि फलादेश कन्या :-* *(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)* चोट व रोग से बचें। जल्दबाजी से हानि होगी। दूसरों पर विश्वास हानि देगा। कार्य में बाधा होगी। पत्नी से आश्वासन मिलेगा। स्वयं के निर्णय लाभप्रद रहेंगे। मानसिक संतोष, प्रसन्नता रहेगी। नए विचार, योजना पर चर्चा होगी। दूसरों की नकल न करें। ⚖ *राशि फलादेश तुला :-* *(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)* घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ होगा। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। कार्यों में विलंब से चिंता होगी। मानसिक उद्विग्नता रहेगी। पारिवारिक जीवन संतोषप्रद रहेगा। 🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-* *(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)* संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। प्रसन्नता बनी रहेगी। व्यापार में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। कार्य के विस्तार की योजनाएं बनेंगी। स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही न करें। पठन-पाठन में रुचि बढ़ेगी। 🏹 *राशि फलादेश धनु :-* *(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)* पार्टी व पिकनिक का आनंद मिलेगा। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। प्रसन्नता रहेगी। धनार्जन होगा। रोजगार में उन्नति एवं लाभ की संभावना है। लाभदायक समाचार मिलेंगे। सामाजिक एवं राजकीय ख्याति में अभिवृद्धि होगी। व्यापार अच्छा चलेगा। 🐊 *राशि फलादेश मकर :-* *(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)* शोक समाचार मिल सकता है। काम में मन नहीं लगेगा। विवाद से बचें। मेहनत अधिक होगी। आवास संबंधी समस्या हल होगी। आलस्य न करें। सोचे काम समय पर नहीं हो पाएंगे। व्यावसायिक चिंता रहेगी। संतान के व्यवहार से कष्ट होगा। 🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-* *(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)* घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। कार्य पूर्ण होंगे। आय बढ़ेगी। मनोरंजक यात्रा होगी। प्रसन्नता रहेगी। सहयोगी मदद नहीं करेंगे। व्ययों में कटौती करने का प्रयास करें। परिवार में प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। व्यापार के कार्य से बाहर जाना पड़ सकता है। 🐋 *राशि फलादेश मीन :-* *(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)* पुराने मित्र व संबंधी मिलेंगे। अच्‍छी खबर मिलेगी। प्रसन्नता रहेगी। जोखिम न लें। लाभ होगा। कार्यपद्धति में विश्वसनीयता बनाएं रखें। आर्थिक अनुकूलता रहेगी। रुका धन मिलने से धन संग्रह होगा। राज्यपक्ष से लाभ के योग हैं। नई योजनाओं की शुरुआत होगी। ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ *🎊🎉🎁 आज जिनका जन्मदिवस या विवाह की वर्षगांठ हैं, उन सभी प्रिय मित्रो को कोटिशः शुभकामनायें🎁🎊🎉* ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ और ज़रा इन बातों पर भी ज़रूर ध्यान दें मित्रों...! अगर...??? 1) खूब मेहनत के बाद भी या व्यापार-व्यवसाय में पर्याप्त इन्वेस्टमेंट करने के बाद भी आप अकारण आर्थिक दृष्टी से निरंतर पिछड़ते ही जा रहे हैं....? 2) एक ही नौकरी में लम्बे समय तक कार्य नहीं कर पाते हैं या वहां दिल से काम करते हुए भी आपको कोई पूछता ही नहीं है...? आपकी प्रमोशन ड्यू है कब से लेकिन आप बस दूसरों को आगे बढ़ते देख कर अपने नसीब को कोस रहे हैं...? आपके प्रतिद्वंदी अलग से परेशान करते रहते हैं...? 3) आपस में निरंतर अकारण क्लेश होता रहता है..? 4) शेयर मार्किट से कमाना चाहते हैं पर हर बार नुकसान उठा बैठते हैं...? 5) बीमारी आपको छोड़ ही नहीं रही है...? घर का हर एक व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से त्रस्त है...? आमदनी का एक बड़ा हिस्सा हमेशां इसी पर खर्च हो जाता है...? 6) अकारण ही विवाह योग्य बच्चों के विवाह में दिक्कतें आ रही हैं...? 7) शत्रुओं ने आपकी रात की नींद और दिन का चैन हराम किया हुआ है...? 8) पैतृक सम्पति विवाद सुलझ ही नहीं रहा है...? और संपति केवास्तविक हकदार आप हैं तथा आप इसे अपने हक में सुलझना चाहते हैं...? 9) विदेश यात्रा या विदेश में सेटलमेंट को लेकर बहुत समय से परेशान हैं...? 10) आपको डरावने सपने आते हैं..? सपने में सांप या भूत-प्रेत या ऐसे ही नींद उड़ाने वाले दृश्य दीखते हैं...? 11) फिल्म या मीडिया में बहुत समय से संघर्ष के बाद भी सफलता​ नहीं मिल रही...? 12) राजनीति को ही आप अपना कैरियर बनाना चाहते हैं पर आपको कुछ भी समझ नहीं आ रहा...? यदि हाँ...??? तो यह सब अकारण ही नहीं है...! इसके पीछे बहुत ठोस कारण हैं जो कि आपकी जन्म कुंडली या आपके घर-आफिस का वास्तु देखकर या आपकी जन्मकुंडली भी ना होने की स्थिति में हमारे दीर्घ अध्ययन और प्रैक्टिकल ज्योतिषीय अनुभव के आधार पर अन्य विधियों से जाने जा सकते हैं...? तो अब आप और देरी ना करें और तुरंत हमें फोन करें...! आपकी उन्नति निश्चित है और आपकी मंजिल अब दूर नहीं...! ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ प्रस्तुति: आचार्य मदन टी.कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले, मूल निकास: गौड़ बंगाल एवं तत्पश्चात ढाणी भालोट-झुंझनूँ-राज.) (चयनित/Appointed/) ज्योतिष एवं वास्तु शोध वैज्ञानिक एवं पूर्व विभागाध्यक्ष: TARF, Dadar-Mumbai साभार: बाँके बिहारी (धुरंधर वैदिक विद्वानों का अद्वितीय वैश्विकमंच) कार्यकारी अध्यक्ष: एस्ट्रो-वर्ल्ड मुंबई व सिरसा (सभी दैहिक दैविक भौतिक समस्याओं का एक ही जगह सटीक निदान व स्थायी समाधान) अध्यक्ष: सातफेरे डॉट कॉम मुंबई व सिरसा (आपके अपनों के दिव्य एवं सुसंस्कारी वैवाहिक जीवन की झटपट शुरूआत हेतु अनूठा संस्थान) नोट: हमारी या हमारे संस्थान 'एस्ट्रो-वर्ल्ड' तथा आपके अपनों के वैवाहिक जीवन सम्बन्धी सभी समस्याओं का एकमात्र हल एवं विश्व के इस सबसे अनूठे मंच 'सातफेरे डॉट कॉम' मुंबई या सिरसा की किसी भी प्रकार की गरिमापूर्ण सेवा जैसे वैज्ञानिकतापूर्ण ज्योतिष-वास्तु मार्गदर्शन, सभी प्रकार के मुहूर्त शोधन, नामकरण संस्कार, विवाह संस्कार या अन्य कोई भी वैदिक पूजा-अनुष्ठान आयोजित करवाने, रत्न अभिमन्त्रण, सभी राशिरत्न-उपरत्न, मणि-माणिक्य, दक्षिणावर्ती शँख (जो कि घर में विधिवत रखने मात्र से ही बदल दे आपका भाग्य हमेशां-2 के लिए...!), सियारसिंगी, भुजयुग्म (हत्थाजोड़ी, जो तिज़ोरी आपकी कभी ख़ाली ना होने दे), नागकेसर, विविध प्रकार के वास्तु पिरामिडज एवं अन्य कई प्रकार की सौभाग्यवर्धक वस्तुओं की प्राप्ति हेतु हमारे... सम्पर्क सूत्र: 9987815015 / 9991610514 ईमेल आई डी: [email protected] 🌺आपका सप्ताहांत आदि वैद्य (भगवान धन्वंतरि जी) की कृपा से परम मंगलमय हो मित्रो! *🚩जयतु जयतु हिन्दुराष्ट्रम🚩* 🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩 ।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।। ※══❖══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※

+9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
prakash patel May 16, 2021

💎 गोटू कोला के उपयोग.... . गोटू कोला (संतेला हल्दी) भारत, चीन में हजारों साल के लिए कई शर्तों का इलाज, और इंडोनेशिया के लिए इस्तेमाल किया गया है. यह घाव भर मानसिक स्पष्टता में सुधार, और इस तरह के कुष्ठ और सोरायसिस के रूप में त्वचा की स्थिति के इलाज के लिए इस्तेमाल किया गया था. 🌀 एक्यूप्रेशर 🔑ट्रीटमेंट अपनाये और हर गंभीर बिमारी मिटाये। 🌸 Face Book group 🌸 Acupressure Planet 🏡 स्वास्थ्य मंदिर 👉 https://www.facebook.com/groups/367351564605027/ कुछ लोगों को इस तरह के जुकाम जैसे श्वसन संक्रमण के इलाज के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं, और अतीत में यह चीन में उस के लिए इस्तेमाल किया गया था. कथा एक प्राचीन चीनी औषधि माहिर गोटू कोला लेने का एक परिणाम के रूप में 200 से अधिक वर्षों के लिए रहता है कि यह है क्योंकि यह "जीवन का सोता" बुलाया गया है. ऐतिहासिक, गोटू कोला भी उपदंश, हेपेटाइटिस, पेट के अल्सर, मानसिक थकान, मिर्गी, दस्त, बुखार, और अस्थमा के इलाज के लिए इस्तेमाल किया गया है. आज, अमेरिका और यूरोप गोटू कोला में सबसे अधिक बार, एक की हालत वैरिकाज़ नसों और क्रोनिक शिरापरक कमी के इलाज के लिए जहां पैरों में रक्त पूल. प्रयोग किया जाता है यह भी सोरायसिस का इलाज और मामूली घाव भरने में मदद करने के लिए मलहम में प्रयोग किया जाता है. गोटू कोला कोला नट (कोला नीतिदा) के रूप में ही नहीं है. कोला नट के विपरीत, गोटू कोला कैफीन नहीं, और एक उत्तेजक नहीं है. प्लांट विवरण गोटू कोला भारत, जापान, चीन, इंडोनेशिया, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका और दक्षिण प्रशांत के लिए एक बारहमासी पौधा मूल निवासी है. अजमोद परिवार के एक सदस्य, यह स्वाद या गंध नहीं है. यह पानी में और चारों ओर पनपती. यह सफेद या हल्के बैंगनी के लिए गुलाबी फूल, और छोटे अंडाकार फल के साथ छोटे पंखे के आकार हरे पत्तों है. गोटू कोला पौधे की पत्तियों और उपजी दवा के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं. औषधीय उपयोग करता है और संकेत उपचार शिरापरक कमी और वैरिकाज़ नसों रक्त वाहिकाओं रक्त वाहिकाओं के बाहर पैर और तरल पदार्थ लीक में उनके लोच, रक्त पूल खो देते हैं. पैर कि (शिरापरक कमी) प्रफुल्लित करने के लिए कारण बनता है. कई छोटे अध्ययन गोटू कोला सूजन को कम करने और रक्त के प्रवाह को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं सुझाव है. शिरापरक कमी के साथ 94 लोगों के एक अध्ययन में, गोटू कोला ले लिया जो लोग उनके लक्षण placebo ले लिया, जो उन लोगों की तुलना में सुधार देखा. वैरिकाज़ नसों के साथ लोगों की एक अन्य अध्ययन में, अल्ट्रासाउंड परीक्षण गोटू कोला लेने वाले लोगों के तरल पदार्थ के कम रिसाव है कि दिखाया. एक अध्ययन में भी उड़ान भरने से पहले गोटू कोला लेने वाले लोगों को यह नहीं ले गए थे, जो उन लोगों की तुलना में कम टखने और पैर की सूजन पड़ा मिला. घाव भरने और त्वचा के घावों गोटू कोला triterpenoids बुलाया रसायन है. जानवर और प्रयोगशाला अध्ययन में इन यौगिकों के घाव भरने में मदद करने लगते हैं. उदाहरण के लिए, कुछ अध्ययनों triterpenoids, त्वचा को मजबूत बनाने के घावों में एंटीऑक्सीडेंट को बढ़ावा देने, और क्षेत्र को रक्त की आपूर्ति बढ़ाने का सुझाव है कि. इन निष्कर्षों के आधार पर, गोटू कोला लघु जल, सोरायसिस, सर्जरी के बाद निशान को रोकने, और खिंचाव के निशान को रोकने या कम करने के लिए, त्वचा के लिए आवेदन किया है, या topically इस्तेमाल किया गया है. आप घाव भरने के लिए कई क्रीम में गोटू कोला पा सकते हैं. एक तुम्हारे लिए सही है अगर आपके स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से पूछो. 💎 खूबसूरत त्वचा, वजन कम करने के & हर गंभीर बिमारी के एक्यूप्रेशर पॉइंट की जानकारी के लिए हमारा संपर्क करें। ✅और हर गंभीर बिमारी मिटाये। https://www.facebook.com/એક્યુપ્રેશર-પ્લેનેટ-101139925132263/ चिंता ये वही रसायन - triterpenoids - चिंता कम होती है और चूहों में मानसिक समारोह बढ़ाने लगते हैं. एक मानव अध्ययन कोला गोटू लेने वाले लोगों placebo ले लिया, जो उन लोगों की तुलना में एक नया शोर से चौंका होने की संभावना थे. "शोर डराना" प्रतिक्रिया किसी उत्सुक है बताने के लिए अगर एक तरीका हो सकता है, शोधकर्ताओं गोटू कोला चिंता के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है कि आपको लगता है. लेकिन इस अध्ययन में इस्तेमाल खुराक बहुत अधिक था, इसलिए यह गोटू कोला चिंता के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है कि कैसे कहने के लिए असंभव है. त्वग्काठिन्य Scleroderma के साथ 13 महिलाओं के एक अध्ययन गोटू कोला जोड़ों के दर्द और त्वचा सख्त कमी हुई है, और उंगली आंदोलन में सुधार हुआ. अनिद्रा परीक्षण में जानवरों को दी जब गोटू कोला एक शामक के रूप में कार्य करता है. इस कारण से, यह कभी कभी अनिद्रा के साथ लोगों की मदद करने के लिए सुझाव दिया है. लेकिन कोई मानव अध्ययन से यह काम करता है और क्या यह सुरक्षित है या नहीं यह देखने के लिए किया गया है. ☘️सभी जानकारी, घरेलू और आयुर्वेदिक चिकित्सा के इस इलाज केवल शैक्षिक हेतु के लिए है.. उपचार के लिए हमेशा चिकित्सक की सलाह ले। 🌀 एक्यूप्रेशर 🔑ट्रीटमेंट की जानकारी के लिए हमारा संपर्क करें। और हर गंभीर बिमारी मिटाये। https://www.facebook.com/એક્યુપ્રેશર-પ્લેનેટ-101139925132263/

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 16 शेयर
prakash patel May 16, 2021

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 7 शेयर
prakash patel May 16, 2021

🏡 किडनी फ़ैल होने पर, घाव में फायदेमंद, कान के रोगों के लिए, अस्थमा रोग के लिए, गोमूत्र का प्रयोग.. 💎 🏡 किडनी फ़ैल होने पर मूत्र पिंड से जुड़े सभी रोग जैसे किडनी फ़ैल होने और किडनी की दूसरी तकलीफों को ठीक करने के लिए रोज सुबह आधा कप गौमूत्र का सेवन करें। पेशाब से संबंधित हर समस्या के लिए रोज सुबह खाली पेट आधा कप गौमूत्र का सेवन करें। जिनकी किडनी ख़राब है वो व्यक्ति कभी भी खड़ा होकर पानी नहीं पियें। और ऐसा भोजन न करें जिसमें हिप्रोटिन, चिकनाई युक्त वाला भोजन न करें। ऐसा करने से किडनी सही हो जाएगी। 🌀 एक्यूप्रेशर 🔑ट्रीटमेंट अपनाये और हर गंभीर बिमारी मिटाये। 🌸 Face Book group 🌸 Acupressure Planet 🏡 स्वास्थ्य मंदिर 👉 https://www.facebook.com/groups/367351564605027/ 🏡 घाव में फायदेमंद जिन लोगो के शरीर पर चोट लगने से उनके शरीर पर घाव बन जाते है। तो उसकी सबसे अच्छी दवा है गौ मूत्र। याद रहे की मूत्र देशी गौ माता का ही होना चाहिए। करना क्या की आपको गेंदे के एक फूल की चटनी बनानी है फिर उसमें थोडा सा गौ मूत्र मिलाना है। फिर ये एक लेप के रूप में आ जाएगा। फिर आपको ये लगाना है जहा पर घाव है। घाव बहुत जल्द ही ठीक हो जाएगा। 🏡 कान के रोगों के लिए जिन व्यक्तियों के कान में प्रॉब्लम है जेसे कान में दर्द रहना, कम सुनायी देना मवाद निकलना इत्यादि। जिनको भी ये सभी तकलीफें है वो लोग देशी गौ माता का मूत्र कान में एक – दो बूंद अवश्य डाले, कम से कम 5-6 दिन तक। और आधा गौ मूत्र कफ पियें बहुत जल्द ही ठीक हो जाएगा। याद रहे की गौ मूत्र तजा ही पियें। अगर बहुत पुराना है तो तो उसमें थोडा सा पानी मिलाकर पी सकते है। 🏡 अस्थमा रोग के लिए जिन भी लोगो को अस्थमा की बीमारी है वो लोग रोज सुबह-सुबह गौ मूत्र का सेवन करें। कम से कम 15 दिन तक इसका सेवन करें अस्थमा की बीमारी जड़ से खत्म हो जाएगी। ☘️सभी जानकारी, घरेलू और आयुर्वेदिक चिकित्सा के इस इलाज केवल शैक्षिक हेतु के लिए है.. उपचार के लिए हमेशा चिकित्सक की सलाह ले। https://www.facebook.com/એક્યુપ્રેશર-પ્લેનેટ-101139925132263/

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Shyam Yadav May 14, 2021

🥗 *स्वास्थ्य संजीवनी*🥗 *धनिये का जूस लीवर और किडनी करेगा साफ रहेंगीं बीमारियाँ दूर!* हमारी किडनी का काम है ब्लड को शुद्ध करना और शरीर के बेकार और विषैले पदार्थों को बाहर निकालना। पैन्क्रीयाज आंतो में कुछ पाचक एंजाइम का स्राव करके पाचन क्रिया में अहम भूमिका अदा करता है। इसके अलावा यह इन्सुलिन नामक एक हार्मोन भी स्रावित करता है जोकि शरीर के ग्लूकोस लेवल को नियंत्रित करने का काम करता है जिससे डायबिटीज नहीं होती है। कुछ ऐसी प्राकृतिक चीजें हैं जो हमारे शरीर के अंगो को साफ़ करके इन्हें ठीक ढंग से रखती हैं। उनमे से ही एक है धनिया या धनिये का जूस जोकि लिवर, किडनी और पैन्क्रीयाज को अच्छे से साफ़ करके इन्हें स्वस्थ रखता है। धनिया के और भी फायदे हैं जैसे लिवर से फैट को बाहर निकालना और शरीर के शुगर लेवल को नियंत्रित करना। इसके अलावा धनिया किडनी में स्टोन को बनने से रोकता है। इसमें वो सारे औषधीय गुण मौजूद हैं जो शरीर को डीटोक्सीफाई करने के लिए जरुरी होते हैं। धनिया की चटनी भी स्वस्थ लाभों से भरी होती है आज हम आपको इस धनिये के सही इस्तेमाल के बारे में बतायेगे जिससे, आपके लिवर, किडनी और पैन्क्रीयाज ठीक से काम कर सकें। 1. *धनिये का पानी* धनिये को अपने डाइट में इस्तेमाल करना कोई मुश्किल काम नहीं है। आप सबसे पहले पानी में धनिये के पत्ते को डालकर उसे कम से कम 15 मिनट तक उबालें और फिर उसे एक साफ़ बोतल में छानकर रख लें। इसके बाद इस पानी को आप रोज कुछ दिनों तक पियें फिर आप देखेंगे कि आपके हेल्थ में किस तरह से सुधार हो रहा है। 2. *नींबू धनिये का जूस* एक बर्तन में नींबू को दो हिस्सों में काटकर निचोड़ें। उसमें मसला हुआ धनिया और पानी मिला लें। अच्छी तरह से मिक्स करें। आपका हेल्दी जूस तैयार है। इस जूस को खाली पेट लगातार 5 दिन तक लें। हरा धनिया पाचन शक्ति तो बढ़ाता ही है साथ ही शरीर में प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है। यह खून की अशुद्धियों को दूर करता है। नींबू उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करता है। इस जूस को 5 दिन तक लगातार खाली पेट लेने से आप अपना वजन भी कम कर सकते हैं। इस तरह से आप अपने घर में ही इन प्राकृतिक चीजों के इस्तेमाल से अपने शरीर के अंगो को साफ़ रख सकते हैं जिससे कि वो सुचारू रूप से अपना काम कर सकें और आप स्वस्थ रह सकें।

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 14 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB