ILA SINHA
ILA SINHA Nov 26, 2021

🍭🍃 Jai Mata Di 🍃🍭 🌺🍭 Happy Friday 🍭🌺 🍭🍃 Good morning 🍃🍭

🍭🍃 Jai Mata Di 🍃🍭
🌺🍭 Happy Friday 🍭🌺
🍭🍃 Good morning 🍃🍭

+301 प्रतिक्रिया 50 कॉमेंट्स • 482 शेयर

कामेंट्स

Janardan Mishra Nov 26, 2021
जै माता दी ,सुप्रभात वंदन जी

umeshfatfatwale Nov 26, 2021
जय माता दी जय लक्ष्मी माता जय संतोषी माता सुप्रभात राम राम जी आपका दिन शुभ और मंगलमय हो जय माता का आशीर्वाद आप और आपके पूरे परिवार पर सदैव बना रहे राधे राधे

madan pal 🌷🙏🏼 Nov 26, 2021
जय माता दी शूभ प्रभात वंदन जी माता रानी जी की कृपा आप व आपके परिवार पर बनीं रहे जी 🌷🌷🌷🙏🏼🙏🏼🙏🏼

R.K.SONI (Ganesh Mandir) Nov 26, 2021
Radhe Radhe Ji🌹 🌈Suprabhat Vandan Ji🌈. V. nice post Ji👌👌🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌈🌈🌈🙏

Munesh Tyagi Nov 26, 2021
jai mata di shubh prabhat vandan Ji aapka har pal mangalmay ho mata rani ki kripa aap par sada bani rahe

Brajesh Sharma Nov 26, 2021
🌞🙏❤🇮🇳🎋🌞🚩🇮🇳🙏🌹🌞 जगतजननी माँ कल्याण करें जय माता दी..जय माता दी खुश रहें मस्त रहें स्वस्थ रहें व्यस्त रहें राम राम जी 🇮🇳🙏🎋🌞🚩🎋🌞🌹🚩🙏

Nitin Sharma Nov 26, 2021
🚩🙏 जय मातादी 🙏🚩 या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः। आप सबका दिन शुभ एवं मंगलमय हो 🌿🌺 शुभ प्रभात वंदन 🌺🌿

Ranveer Soni Nov 26, 2021
🌹🌹जय लक्ष्मी माता🌹🌹

Anup Kumar Sinha Nov 26, 2021
जय माता दी 🙏🏻🙏🏻शुभ प्रभात ,बेटी । माता रानी आपको सुख,शांति, समृद्धि और प्रसन्नता प्रदान करें ।आपका दिन शुभ और मंगलमय हो 🥀🥀

kishan tiwari Nov 26, 2021
🌹🙏🏼🌷जय श्री माता की🌷🙏🏼🌹

+14 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 86 शेयर
Rama Devi Sahu Jan 19, 2022

+34 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 123 शेयर

' " *[१२१ - ज्वरनाशन सूक्त (११६)]* " [ *ऋषि* - अथर्वाङ्गिरा। *देवता* - चन्द्रमा। *छन्द* - परोष्णिक, २ एकावसाना द्विपदा आर्ची अनुष्टुप्।] *इस सूक्त में मलेरिया जैसे ज्वर के निवारण की प्रार्थना की गई है। इस ज्वर के अनेक रूप कहे गये हैं, जो वैद्यक शास्त्र के अनुरूप है-* "२०२७. नमो रूराय च्यवनाय नोदनाय धृष्णवे। नमः शीताय पूर्वकामकृत्वने॥१॥" "तपाने वाले, हिलाने वाले, भड़काने वाले, डराने वाले,शीत लगकर आने वाले एवं शरीर को तोड़ने (कृश करने) वाले ज्वर को नमस्कार है॥१॥ "२०२८. यो अन्येद्युरुभयद्युरभ्येतीमं मण्डूकमभ्ये त्वव्रतः॥२॥" "जो ज्वर एक दिन छोड़कर आते हैं, जो दो दिन छोड़कर आते हैं तथा जो बिना किसी निश्चित समय के आते हैं, वे इस मेढक (संकीर्ण या आलसी व्यक्ति) के पास जाएँ॥२॥" (क्रमशः) "अथर्ववेद संहिता [सरल हिन्दी भावार्थ सहित]" - वेदमूर्ति तपोनिष्ठ पं० श्रीराम शर्मा आचार्य" ----------:::×:::---------- " जय माता दी " " कुमार रौनक कश्यप " **********************************************

+15 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 25 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 14 शेयर
Rama Devi Sahu Jan 20, 2022

+43 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 24 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB