PDJOSHI
PDJOSHI Feb 26, 2021

*(🌹⚘भगवद्गीता, अध्याय 02, श्लोक 70🌹⚘)* *🌸🏵आपूर्यमाणमचलप्रतिष्ठं- समुद्रमापः प्रविशन्ति यद्वत्‌ ।* *तद्वत्कामा यं प्रविशन्ति सर्वे स शान्तिमाप्नोति न कामकामी ॥🌸🏵* *🍁🌺जैसे नाना नदियों के जल सब ओर से परिपूर्ण, अचल प्रतिष्ठा वाले समुद्र में उसको विचलित न करते हुए ही समा जाते हैं, वैसे ही सब भोग जिस स्थितप्रज्ञ पुरुष में किसी प्रकार का विकार उत्पन्न किए बिना ही समा जाते हैं, वही पुरुष परम शान्ति को प्राप्त होता है, भोगों को चाहने वाला नहीं॥70॥🍁🌺* *💮🌿🌻He attains peace into whom all desires enter as waters enter the ocean, which, filled from all sides, remains unmoved; but not the man who is full of desires💮🌿🌻* *🌹🌷🌸🏵🌺🍁🥀🌻⚘💐जय श्रीकृष्ण🙏🌴🌲🍀☘🌿🌳*

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 10 शेयर
Shivsanker Shukla Apr 23, 2021

शुभ गुरुवार की शुभ संध्या में मंदिर परिवार के सभी आदरणीय भगवत प्रेमी भाई बहन आप सभी को संध्या की राम राम यह मन हरि का दर्पण मन में इस बसा ले मेरे भाई बहन इस धरती पर युग युग से भगवत भक्तों का सम्मान होता आया है हृदय में अगर भगवत भक्ति निवास करती है तो ऐसे जनमानस को हर पल हर समाज में सम्मान मिलता है और इसके विपरीत अगर मन में को विचारों को स्थान दे रखा है बुरी भावनाएं निवास करती हैं तो ऐसा व्यक्ति हर जगह उपहास का पात्र बनता है इसलिए आप सभी से निवेदन करूं लोक और परलोक के कल्याण के लिए भगवान श्री हरि को हर पल अंता करण में स्थान दे मानव होने का सौभाग्य बार-बार नहीं मिलेगा और अगर मिल गया है तो इसका सदुपयोग करें

+69 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 9 शेयर
Nera Nagpal Apr 23, 2021

+14 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 16 शेयर
Kamlesh Apr 23, 2021

+19 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Kirten Kashyap ☑ Apr 23, 2021

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Guria Thakur Apr 23, 2021

+9 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Kirten Kashyap ☑ Apr 23, 2021

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
❤Dev❤ Apr 23, 2021

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 8 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB