RAVI KUMAR
RAVI KUMAR Sep 11, 2017

One of the most beautiful painting of Radha Krishna by devotee Bharti Shirgurkar. Jay Shri Krishna🌺🌺🌺🌺

One of the most beautiful painting of Radha Krishna by devotee Bharti Shirgurkar. Jay Shri Krishna🌺🌺🌺🌺

+127 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 38 शेयर
❤Dev❤ Mar 1, 2021

+38 प्रतिक्रिया 12 कॉमेंट्स • 6 शेयर
Malti Bansal Mar 3, 2021

+48 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 203 शेयर

+161 प्रतिक्रिया 84 कॉमेंट्स • 194 शेयर

*🌹गुड़ चने के प्रसाद का प्रचलन ऐसे हुआ* *शुरू🌹* 💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐 *⭕पौराणिक मान्यता और प्रचलित धारणा के अनुसार गुड़ और चने के प्रसाद के प्रचलन की कुछ कथाएं प्रचलित हैं। उन्हीं कथाओं में से एक कथा यहां प्रस्तुत है।* देवर्षि नारद भगवान विष्णु से आत्मा का ज्ञान प्राप्त करना चाहते थे लेकिन जब भी वे विष्णुजी के पास जाते तो विष्‍णुजी कहते कि पहले उन्हें इस ज्ञान के योग्य बनना होगा। तब नारदजी ने कठोर तप किया लेकिन फिर भी बात नहीं बनी तब वे चल पड़े धरती की ओर। धरती पर उन्होंने एक मंदिर में साक्षात विष्णु को बैठे हुए देखा कि एक बूढ़ी महिला उन्हें अपने हाथों से कुछ खिला रही है। नारदजी ने विष्णुजी के जाने के बाद उस बूढ़ी महिला से पूछा कि उन्होंने नारायण को क्या खिलाया? तब उन्हें पता चला कि गुड़-चने का प्रसाद उन्होंने ग्रहण किया था। कहते हैं कि नारद तब वहां रुककर तप और व्रत करने लगे और गुड़-चने का प्रसाद सभी को बांटने लगे। एक दिन नारायण स्वयं प्रकट हुए और उन्होंने नारद से कहा कि सच्ची भक्ति वाला ही ज्ञान का अधिकारी होता है। भगवान विष्णु ने उस बूढ़ी महिला को वैकुंठ धाम जाने का आशीर्वाद दिया और कहा कि जब भी कोई भक्त गुड़ और चना अर्पित करेगा उसकी मनोकामना निश्चित ही पूरी होगी। माना जाता है कि तभी से सभी ऋषि, मुनि और भक्त अपने इष्ट को गुड़ और चने का प्रसाद चढ़ाकर प्रसन्न करते आ रहे हैं। *🚩प्रचलित प्रसाद :–* गुड़-चना, चना-मिश्री, नारियल-मिठाई, लड्डू, फल, दूध और सूखे मेवे। 💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐

+29 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 74 शेयर
Ramesh Agrawal Mar 4, 2021

+21 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 39 शेयर
Umesh Sharma Mar 3, 2021

+28 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 26 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB