+24 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 28 शेयर

कामेंट्स

white beauty Jan 26, 2020

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 25 शेयर
S.G PANDA Jan 26, 2020

+18 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 14 शेयर
Sonali Kumar Jan 26, 2020

+84 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 6 शेयर
Payal Jan 26, 2020

+13 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 9 शेयर
Pt Vinod Pandey 🚩 Jan 24, 2020

🌞 *~ आज का हिन्दू पंचांग ~* 🌞 ⛅ *दिनांक 25 जनवरी 2020* ⛅ *दिन - शनिवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2076* ⛅ *शक संवत - 1941* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - शिशिर* ⛅ *मास - माघ* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - प्रतिपदा 26 जनवरी प्रातः 04:31 तक तत्पश्चात द्वितीया* ⛅ *नक्षत्र - श्रवण 26 जनवरी प्रातः 04:36 तत्पश्चात धनिष्ठा* ⛅ *योग - सिद्धि 26 जनवरी रात्रि 02:16 तक तत्पश्चात व्यतिपात* ⛅ *राहुकाल - सुबह 09:56 से सुबह 11:18 तक* ⛅ *सूर्योदय - 07:19* ⛅ *सूर्यास्त - 18:22* ⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में* 💥 *विशेष - प्रतिपदा को कूष्माण्ड (कुम्हड़ा, पेठा) न खाये, क्योंकि यह धन का नाश करने वाला है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* 🌷 *गुप्त नवरात्रि* 🌷 👉 *माघ मास, शुक्ल पक्ष की प्रथम नौ तिथियाँ गुप्त नवरात्रियाँ है जिसकी शुरुआत 25 जनवरी से होने जा रही है l* 🙏 *एक वर्ष में कुल चार नवरात्रियाँ आती हैं , जिनमे से सामान्यतः दो नवरात्रियो के बारे में आपको पता है ,पर शेष दो गुप्त नवरात्रियाँ हैं l* 🌷 *शत्रु को मित्र बनाने के लिए* 🌷 🙏 *नवरात्रि में शुभ संकल्पों को पोषित करने, रक्षित करने, मनोवांछित सिद्धियाँ प्राप्त करने के लिए और शत्रुओं को मित्र बनाने वाले मंत्र की सिद्धि का योग होता है।* 🙏 *नवरात्रि में स्नानादि से निवृत्त हो तिलक लगाके एवं दीपक जलाकर यदि कोई बीज मंत्र 'हूं' (Hum) अथवा 'अं रां अं' (Am Raam Am) मंत्र की इक्कीस माला जप करे एवं 'श्री गुरुगीता' का पाठ करे तो शत्रु भी उसके मित्र बन जायेंगे l* 👩 *माताओं बहनों के लिए विशेष कष्ट निवारण हेतु प्रयोग 1* 👵 *जिन माताओं बहनों को दुःख और कष्ट ज्यादा सताते हैं, वे नवरात्रि के प्रथम दिन (देवी-स्थापना के दिन) दिया जलायें और कुम-कुम से अशोक वृक्ष की पूजा करें ,पूजा करते समय निम्न मंत्र बोलें :* 🌷 *“अशोक शोक शमनो भव सर्वत्र नः कुले "* 🙏 *" ASHOK SHOK SHAMNO BHAV SARVATRA NAH KULE "* 🙏 *भविष्योत्तर पुराण के अनुसार नवरात्रि के प्रथम दिन इस तरह पूजा करने से माताओ बहनों के कष्टों का जल्दी निवारण होता है l* 👩 *माताओं बहनों के लिए विशेष कष्ट निवारण हेतु प्रयोग 2* 🙏 *माघ मास शुक्ल पक्ष तृतीया के दिन में सिर्फ बिना नमक मिर्च का भोजन करें l (जैसे दूध, रोटी या खीर खा सकते हैं l)* 🌷 • *" ॐ ह्रीं गौरये नमः "* 🌷 🙏 *"Om Hreem Goryaye Namah"* 🙏 *मंत्र का जप करते हुए उत्तर दिशा की ओर मुख करके स्वयं को कुमकुम का तिलक करें l* 🐄 *गाय को चन्दन का तिलक करके गुड़ ओर रोटी खिलाएं l* 💶 *श्रेष्ठ अर्थ (धन) की प्राप्ति हेतु* 💶 💥 *प्रयोग : नवरात्रि में देवी के एक विशेष मंत्र का जप करने से श्रेष्ठ अर्थ कि प्राप्ति होती है* 🙏 *मंत्र ध्यान से पढ़ें* 🙏 🌷 *"ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ऐं कमल-वासिन्ये स्वाह् "* 🌷 *" OM SHREEM HREEM KLEEM AIM KAMALVAASINYE SWAHA "* 👦 *विद्यार्थियों के लिए* 👦 🙏 *प्रथम नवरात्रि के दिन विद्यार्थी अपनी पुस्तकों को ईशान कोण में रख कर पूजन करें और नवरात्रि के तीसरे तीन दिन विद्यार्थी सारस्वत्य मंत्र का जप करें।* 🙏 *इससे उन्हें विद्या प्राप्ति में अपार सफलता मिलती है l* 🙏 *बुद्धि व ज्ञान का विकास करना हो तो सूर्यदेवता का भ्रूमध्य में ध्यान करें । जिनको गुरुमंत्र मिला है वे गुरुमंत्र का, गुरुदेव का, सूर्यनारायण का ध्यान करें।* 🙏 *अतः इस सरल मंत्र की एक-दो माला नवरात्रि में अवश्य करें और लाभ लें l* 🙏 *–(श्री वेद-व्यास जी , देवी भागवत)* 🌐 http://www.vkjpandey.in 🌷 *व्यतिपात योग* 🌷 🙏🏻 *व्यतिपात योग की ऐसी महिमा है कि उस समय जप पाठ प्राणायम, माला से जप या मानसिक जप करने से भगवान की और विशेष कर भगवान सूर्यनारायण की प्रसन्नता प्राप्त होती है जप करने वालों को, व्यतिपात योग में जो कुछ भी किया जाता है उसका १ लाख गुना फल मिलता है।* 🙏🏻 *वाराह पुराण में ये बात आती है व्यतिपात योग की।* 🙏🏻 *व्यतिपात योग माने क्या कि देवताओं के गुरु बृहस्पति की धर्मपत्नी तारा पर चन्द्र देव की गलत नजर थी जिसके कारण सूर्य देव अप्रसन्न हुऐ नाराज हुऐ, उन्होनें चन्द्रदेव को समझाया पर चन्द्रदेव ने उनकी बात को अनसुना कर दिया तो सूर्य देव को दुःख हुआ कि मैने इनको सही बात बताई फिर भी ध्यान नही दिया और सूर्यदेव को अपने गुरुदेव की याद आई कि कैसा गुरुदेव के लिये आदर प्रेम श्रद्धा होना चाहिये पर इसको इतना नही थोडा भूल रहा है ये, सूर्यदेव को गुरुदेव की याद आई और आँखों से आँसु बहे वो समय व्यतिपात योग कहलाता है। और उस समय किया हुआ जप, सुमिरन, पाठ, प्रायाणाम, गुरुदर्शन की खूब महिमा बताई है वाराह पुराण में।* 💥 *विशेष ~ 26 जनवरी 2020 रविवार को रात्रि 02:17 से 27 जनवरी रात्रि 02:26 तक (यानी 26 जनवरी रविवार को पूरा दिन) व्यतीपात योग है।* 🌐 http://www.vkjpandey.in 🙏🏻🌷💐🌸🌼🌹🍀🌺💐🙏🏻

+37 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 150 शेयर

*26/01/2020 को जो बच्चा 10:02 AM से 10:20 AM तक जन्म लेगा उसके पिताजी का भाग्य बदल जाएगा पैसा आने लगेगा।* *प्रत्येक एक दिन में चार शुभ मुहूर्त होते हैं जिनमें जन्म लेने पर बच्चे के परिवार का भाग्य बदल जाता है।शुभ मुहूर्त जानने के लिए सम्पर्क करें:-* *If a child is born between 10:02 AM - 10:20 AM on 26/01/2020, the fortune of the child's father will change for the better and the father's income will be boosted.* *To know more, contact (include contact information here)* *Astro Sunil Garg (Nail & Teeth)* *( First Time in The World )* W 9811332914 7981311549, 9911020152 *लाल किताब, वैदिक, वास्तु,हस्तरेखाविद, न्यूमेरोलॉजी , नाखून ,दांत, अंगुठे की छाप से वास्तु दोष ओर भविष्य, अंकशास्त्र, बाल से = Hair Astrology, टैरो कार्ड, जमीन में अन्न दबाकर, सादा कागज से सिर के नीचे लेकर सौना, दिवार की सफेदी से और सफेदी का गिरना यह भी आपके भाग्य का निर्माण करता है।* Astro Sunil Garg (Nail & Teeth) ( First Time in The World ) हस्ताक्षर से जाने अपना भविष्य । कुंडली मिलान की जगह तारीख और बार जाने शादी के लिए। अपने Thumb Impression से जाने अपने घर, दफ्तर, फैक्टरी या गोदाम का वास्तु दोष और साथ ही उसका उपाय जानकर अपनी मुशिक्लों का हल। मेरे व्याटसप नम्बर 9811332914 पर भेजें अपने Thumbs Impression किसी प्लेन पेपर पर शुगर की दवाई कितनी भी शुगर हो सही हो जाती है। सुबह शाम लेनी है ज्यादा शुगर वालो को। Any Level of Sugar will be cured by my Madicine High level Sugar patient can take it twice a Day Health Checkup by Nails and Teeth and Treatment only by Diet:- ( Specialist in Alternative Medicine ) कुंडली मिलान की जगह तारीख और बार जाने शादी के लिए। शादी की तारीख और वार भी महत्व पूर्ण होते है एक अच्छी लाइफ के लिए और अच्छी हैल्थ के लिए। गुण मिलान सब मै होता है पर गलत तारीख पर शादी होना भी एक कारण होता है। मैनें कई केस मै देखा है तारीख सही है पर वार सही नही है। वार सही है पर तारीख नही। किसी भी प्रकार के तीसरे चरण के कैंसर का ईलाज खानपान के द्वारा 40 से 100% तक ठीक Any type of third stage cancer can cure by 40/100% only through diet. सिर्फ खानपान में परिवर्तन के द्वारा किडनी का इलाज 50 से 100 % आराम Damage kidney can cure to 50/100% through diet only खान पान के द्वारा बिना ऑपरेशन घुटनों का इलाज 60 से 100% आराम Knee cap replacement problem or joint pain can cure to 60-100% only through diet, जब आप यह खान-पान शुरु करोगे उसके 72 घण्टे के बाद से ही आपको आराम मिलने लगेगा। अन्य किसी भी समस्या हेतु संपर्क करे:- Damage liver can cure to 40-80% through diet only Coma patients who are in for 10 days can cure within 2 hours only just through diet. Those who lost their memory due to accident it can also cure to 90% only through diet. In typhoid after my prescribed treatment, relief comes will be in 1 hour and person can easily take food Patients who are declare final for their end life of 3-4 days, they also will cure through diet within 2 hours to 1 week. Cancer, Kidney, Heart Problme , Joint Pain, Skin Desease Stomach Problme, Piles, Neurology In old age people feel weakness in walking, eating, doing activities. These all can be cured only through special diet. Blood level also cured only through special diet and make body healthy. In dengue after my prescribed treatment, relief comes will be in 10 minutes. In Dengue , Swine flue , Typhoid, and any other temperature after my prescribed treatment, relief comes will be in 10 minutes. In chickenguniya, after my prescribed treatment relief comes will be in 2 hours and person can able to walk and do movements. Health Checkup by Nails and Teeth and Treatment only by Diet:- ( Specialist in Alternative Medicine ) {Loose your extra weight only through diet in just 1-9 months completely. नियमित आहार को ही बनाऐ आर्युवेदिक आहार सिर्फ खान-पान के द्वारा बिना किसी दवाई के केंसर,डेंगू,चिकनगुनिया,*त्वचा रोग,मिर्गी,पेट से संबंधित रोग, ल्यूकोरिया, बवासीर,किडनी,जोडो के दर्द, गंठिया भाव (भादी) ( जॉइंट पैन ,कमर दर्द ,और फुल बदन दर्द की शिकायत (शरीर मे अकडन) ) , दमा (Asthma), भारत के प्रसिद्ध वशीकरण स्पेशलिस्ट सुनील गर्ग जी प्रेम-विवाह, मनचाहा प्यार, काम-कारोबार, पति - पत्नी में अनबन जैसी सभी समस्या के लिए सम्पर्क करे।ईधर उधर न भटके विशवाश है तो एक बार जरूर फोन करें Get Ur All Problems Solution सभी जगह से निराश प्रेमी-प्रेमिकाएं एक बार जरूर कॉल करें, आपका प्यार टूटने नहीं दिया जाएगा। NOTE- वशीकरण स्पेशलिस्ट सुनील गर्ग जी आगे पढ़ें- 1) Love problem solution, 2) Inter caste marriage solution, 3) Husband wife disputes, 4) Child problems, +91-9911020152, Paytm 7982311549 11AM to 07 PM 5) Diveroce problem solution, 6) Family problem, 7) Business problem, 8) Visa problem, 9) Job Problem, नोट :-Note–उपरोक्त समस्याओं के अलावा भी कोई और समस्या हो जिसका निवारण तंत्र-मंत्र व एस्ट्रोलॉजी के रिलेटेड हो तो आप हमें कॉल करके बताइयेगा। आपकी सभी समस्याओं का समाधान घर बैठे फ़ोन पर आपके द्वारा बताई गई जानकारी के अनुसार किया जाता है --अभी संपर्क करें :- सुनील गर्ग जी *“Powerful आल-इन-वन लक्ष्मी शनि यन्त्र ताबीज़”* *यह लक्ष्मी शनि यन्त्र है। यह यन्त्र पूरी उम्र काम करता है। घर में सुख सम्पत्ति के लिए अच्छा रहता है।* *Powerful All-in-One Laxmi Shani Yantr Tabiz* *This is Laxmi Shani Yantr & work for Good Health & Wealth full Life.* इस लक्ष्मी शनि यन्त्र को बनाने में दस दिन का समय लगता है इस एक ही यन्त्र में दस यन्त्रो का मिश्रण है यह पूर्णत: धार्मिक कवच है किसी तान्त्रिक विद्या द्वारा नहीं बनाया जाता है और इसमें सभी धर्मो का समावेश है किसी विशेष जाति या धर्म को लेकर नहीं बनाया जाता है इसलिए इसे कोई भी व्यक्ति धारण कर सकता है। यह हर क्षेत्र में व्यक्ति को फायदा देता है। यदि किसी की कुंडली में मंगल दोष, कालसर्प दोष, गंडमूल दोष, अंगारक दोष, पितृदोष, सर्पदोष, ग्रहणदोष, या फिर विष योग, गुरु चाण्डाल योग है तो इसे धारण करने से उसका भी निवारण हो जाता है। यह आपके नाम और उम्र के हिसाब से बनाया जाता है। इसे धारण करने पर किसी विशेष नियम या परहेज का पालन नही करना होता है। यह बच्चों की पढ़ाई में व्यापार नौकरी में, कोई गृह क्लेश हो, कोई समस्या हो सभी में फायदा करता है। वाद-विवाद, मुकदमे, बहस, समूह वार्तालाप, आपसी बातचीत में सामने वाला वश में हो, कर्मचारी चाहता है कि उसका बॉस उसके वश में हो, और जब चाहें उसे छुट्टी मिल जाए….. पत्नी सोचती है पति वश में रहें, यही सोच पति की भी होती है….. कोई सोचता है/सोचती है कि मेवैसा ही करें…… लड़कों को लड़कियों को वश में करे सभी दोस्त मेरे वश में हो, और जो मैं बोलूं सभी रना होता है और लड़कियों को लड़के अपने वश में चाहिए….. व्यापारी चाहता है कि ज्यादा से ज्यादा ग्राहक मेरे वश में हो, और उसके ग्राहक पड़ोसियों के पास न जाएं….. प्रेम विवाह करने वाले सोचते है कि उनके घर वाले उनके वश में हो, और उनकी शादी में कोई रुकावट न डाले….. माता-पिता सोचते हैं कि उनकी संतान उनके कहने से बाहर न हो, और उनके बताए गये अच्छे रास्तों को छोड़कर गलत रास्ते पर न जाएं। सामान्यतः ऐसीे ही सोच सभी की होती है। लक्ष्मी शनि यन्त्र का मतलब होता है किसी को अपने अनुकूल कर लेना। अगर प्रेमी या प्रेमिका मन बदल गया हो, या विवाह करने को राजी न हो रहे हो। या कोई अधिकारी आपके विरोध में कार्य कर रहा हो। या परिवार में कोई सदस्य गलत रास्ते पर जा रहा हो, तो “Powerful आल-इन-वन लक्ष्मी शनि यन्त्र ताबीज़” के प्रयोग से उसका मन बदला जा सकता है। वशीकरण का मतलब होता है किसी को अपने अनुकूल कर लेना। अगर प्रेमी या प्रेमिका मन बदल गया हो, या विवाह करने को राजी न हो रहे हो। या कोई अधिकारी आपके विरोध में कार्य कर रहा हो। या परिवार में कोई सदस्य गलत रास्ते पर जा रहा हो, तो “Powerful आल-इन-वन वशीकरण ताबीज़” के प्रयोग से उसका मन बदला जा सकता है। Pay to Paytm Number :- 7982311549 Mera A/C no State Bank of India, Sunil Kumar Garg SA/C no 10614925460, ( IFS Code: SBIN0000737 ) Pahar Ganj New Delhi 110055, mai Deposit karva sakte hain, Uski Receipt Whatsapp par dal kar pooch sakte hain Mera Whatsapp No hai 9811332914 Health Checkup by Nails and Teeth and Treatment only by Diet:- ( Specialist in Alternative Medicine ) कॉलिंग नंबर :- 9911020152 / 7982311549 Whatsapp no :- 9811332914 New Kaushal Furniture House Godrej Home Safe Kurl on Mattress Astro Sunil Garg (Nail & Teeth) 1/1,Panchkuian Road, Opposite metro pillar no.17, RK Ashram Marg metro station , New Delhi-110001,

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 11 शेयर
Krishna Singh Jan 26, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

अरिष्ट शनि शांति में पीपल पूजा का महत्त्व 〰️〰️🌼〰️〰️🌼🌼〰️〰️🌼〰️〰️ जब किसी इंसान पर शनिदेव की महादशा चल रही होती है तो उसे पीपल की पूजा का उपाय जरूर बताया जाता है। कई बार मन में यह सवाल उठता है कि ब्रम्‍हांड के सबसे शक्तिशाली और क्रूर ग्रह शनि का क्रोध मात्र पीपल वृक्ष की पूजा करने से कैसे शान्‍त हो जाता है।? आज हम आपको बताने जा रहे हैं शनि और पीपल से सम्‍बंधित वह पौराणिक कथा जिसके बारे में आपने शायद ही पहले कभी सुना हो। पुराणों की माने तो एक बार त्रेता युग मे अकाल पड़ गया था । उसी युग मे एक कौशिक मुनि अपने बच्चो के साथ रहते थे । बच्चो का पेट न भरने के कारण मुनि अपने बच्चो को लेकर दूसरे राज्य मे रोज़ी रोटी के लिए जा रहे थे । रास्ते मे बच्चो का पेट न भरने के कारण मुनि ने एक बच्चे को रास्ते मे ही छोड़ दिया था । बच्चा रोते रोते रात को एक पीपल के पेड़ के नीचे सो गया था तथा पीपल के पेड़ के नीचे रहने लगा था। तथा पीपल के पेड़ के फल खा कर बड़ा होने लगा था। तथा कठिन तपस्या करने लगा था । एक दिन ऋषि नारद वहाँ से जा रहे थे । नारद जी को उस बच्चे पर दया आ गयी तथा नारद जी ने उस बच्चे को पूरी शिक्षा दी थी तथा विष्णु भगवान की पूजा का विधान बता दिया था। अब बालक भगवान विष्णु की तपस्या करने लगा था । एक दिन भगवान विष्णु ने आकर बालक को दर्शन दिये तथा विष्णु भगवान ने कहा कि हे बालक मैं आपकी तपस्या से प्रसन्न हूँ । आप कोई वरदान मांग लो। बालक ने विष्णु भगवान से सिर्फ भक्ति और योग मांग लिया था । अब बालक उस वरदान को पाकर पीपल के पेड़ के नीचे ही बहुत बड़ा तपस्वी और योगी हो गया था। एक दिन बालक ने नारद जी से पूछा कि हे प्रभु हमारे परिवार की यह हालत क्यो हुई है । मेरे पिता ने मुझे भूख के कारण छोड़ दिया था और आजकल वो कहा है। नारद जी ने कहा बेटा आपका यह हाल शानिमहाराज ने किया है । देखो आकाश मे यह शनैश्चर दिखाई दे रहा है । बालक ने शनैश्चर को उग्र दृष्टि से देखा और क्रोध से उस शनैश्चर को नीचे गिरा दिया । उसके कारण शनैश्चर का पैर टूट गया । और शनि असहाय हो गया था। शनि का यह हाल देखकर नारद जी बहुत प्रसन्न हुए । नारद जी ने सभी देवताओ को शनि का यह हाल दिखाया था । शनि का यह हाल देखकर ब्रह्मा जी भी वहाँ आ गए थे । और बालक से कहा कि मैं ब्रह्मा हूँ आपने बहुत कठिन तप किया है। आपके परिवार की यह दुर्दशा शनि ने ही की है । आपने शनि को जीत लिया है । आपने पीपल के फल खाकर जीवंन जीया है । इसलिए आज से आपका नाम पिपलाद ऋषि के नाम जाना जाएगा।और आज से जो आपको याद करेगा उसके सात जन्म के पाप नष्ट हो जाएँगे। तथा पीपल की पूजा करने से आज के बाद शनि कभी कष्ट नहीं देगा । ब्रह्मा जी ने पिपलाद बालक को कहा कि अब आप इस शनि को आकाश मे स्थापित कर दो । बालक ने शनि को ब्रह्माण्ड मे स्थापित कर दिया । तथा पिपलाद ऋषि ने शनि से यह वायदा लिया कि जो पीपल के वृक्ष की पूजा करेगा उसको आप कभी कष्ट नहीं दोगे । शनैश्चर ने ब्रह्मा जी के सामने यह वायदा ऋषि पिपलाद को दिया था। उस दिन से यह परंपरा है जो ऋषि पिपलाद को याद करके शनिवार को पीपल के पेड़ की पूजा करता है उसको शनि की साढ़े साती , शनि की ढैया और शनि महादशा कष्ट कारी नहीं होती है । शनि की पूजा और व्रत एक वर्ष तक लगातार करनी चाहिए । शनि कों तिल और सरसो का तेल बहुत पसंद है इसलिए तेल का दान भी शनिवार को करना चाहिए । पूजा करने से तो दुष्ट मनुष्य भी प्रसन्न हो जाता है। तो फिर शनि क्यो नहीं प्रसन्न होगा ? इसलिए शनि की पूजा का विधान तो भगवान ब्रह्मा ने दिया है। जय महादेव सुनील गर्ग 9811332914 9911020152 7982311549

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB