ॐ सूर्य देवाय नमः ‼️🌞🌹🙏

+192 प्रतिक्रिया 35 कॉमेंट्स • 784 शेयर

कामेंट्स

Jagdish Prasad.Delhi 110040 Apr 21, 2019
@rrathod जी जय. माता दी ‼️🌹💐🙏 जय श्री राधे कृष्णा जी ‼️🌹👣🙏 ॐ श्री सूर्य देवाय नमः ‼️🌞🌹🙏 सुप्रभात वंदन जी ‼️🌹🌄🙏 आपका और आपके पुरे परिवार का हर पल शुभ एवं मंगलमय हो ‼️🌹💐🙏

Anjana Gupta Apr 21, 2019
Ram Ram bhai ji aap aur aapki family par ram ji ki kripa sda bani rahe aapka har pal Shubh aur mngalmye Ho Shubh parbhat Vandan happy Sunday Ji 🌹🙏🚩🚩🚩

Aruna..sharma..(अनु) Apr 21, 2019
👭👭👭👭👭👭👭👭👭👭. Happy Sunday .aap ka har pal Shubh Rahy Jai Shree Radhy . Krishna ji🙏🥀🥀🥀 👭 👭 👭 ⚓ _*जमीन अच्छी है*_ 👭 👭 _*खाद अच्छा हो*_ 👭 👭 _*परंतु 'पानी' अगर*_ 👭 👭 _*'खारा' हो तो*_ 👭 👭 _*फूल खिलते नहीं ।*_ 👭 👭 ⚓ _*भाव अच्छे हो*_ 👭 👭 _*कर्म भी अच्छे हो*_ 👭 👭 _*मगर 'वाणी' खराब हो तो*_ 👭 👭 _*सम्बन्ध' कभी टिकते नहीं।*_ 👭 💐💐 ❤ _*मन ऐसा रखो कि*_ _*किसी को बुरा न लगे।*_💕 _*दिल ऐसा रखो कि*_ _*किसी को दुःखी न करें।*_ _*रिश्ता ऐसा रखो कि*_ _*उसका अंत न हो*_ 👌_*कोई भी व्यक्ति हमारा मित्र या शत्रु बनकर संसार में नही आता.. हमारा व्यवहार और शब्द ही लोगो को मित्र और शत्रु बनाते है..*_ 🌹🌹🌺सुप्रभात 🌺🌹🌹

Akash Kumar Apr 21, 2019
🙏🕉🌹Jai Shree Suryadevaya Namaha Ji V V Very Nice Post Ji Have A Blessed Beautiful Sweet Morning and Happy Beautiful Day You and your family Ji Jai Mata Rani Ji 🙏🕉🌹🌹🌹🌻🌻🌱🌱🌹🌹🌻🌱🌱🌹🌹🌹

Jagdish Prasad.Delhi 110040 Apr 21, 2019
@anjanagupta4 जी राम राम जी ‼️🌹🌄🙏 ॐ श्री सूर्य देवाय नमः ‼️🌞🌹🙏 सुप्रभात वंदन जी ‼️🌹🌄🙏 आपका और आपके पुरे परिवार का हर पल शुभ एवं मंगलमय हो ‼️🌹💐🙏

Jagdish Prasad.Delhi 110040 Apr 21, 2019
@asharma4 जी जय श्री राधे कृष्णा जी ‼️🌹🌄🙏 ॐ श्री सूर्य देवाय नमः ‼️🌞🌹🙏 सुप्रभात वंदन जी ‼️🌹🌄🙏 आपका और आपके पुरे परिवार का हर पल शुभ एवं मंगलमय हो ‼️🌹💐🙏

Jagdish Prasad.Delhi 110040 Apr 21, 2019
@akashkumar81 👍जी ॐ श्री सूर्य देवाय नमः ‼️🌞🌹🙏 सुप्रभात वंदन जी ‼️🌹🌄🙏 आपका और आपके पुरे परिवार का हर पल शुभ एवं मंगलमय हो ‼️🌹💐🙏

Dr. Ratan Singh Apr 21, 2019
🌞 भगवान सूर्यदेव की कृपा से आपका रविवार का दिन सपरिवार खूबसूरत शुभआनन्दमय और मंगलमय हो भाई🙏 🚩🌞ॐ सूर्यदेवाय नमः🌞🚩

Neha Sharma Apr 21, 2019
Om Suraiya Namah Shubh prabhat and have a great day bhai ji 🙏🙏

Jagdish Prasad.Delhi 110040 Apr 21, 2019
@drratansingh जी ॐ श्री सूर्य देवाय नमः ‼️🌞🌹🙏 शुभ दोपहर वंदन जी ‼️🌹🌄🙏 आपका और आपके पुरे परिवार का हर पल शुभ एवं मंगलमय हो ‼️🌹💐🙏

Jagdish Prasad.Delhi 110040 Apr 21, 2019
@shriradhekishna जी ॐ श्री सूर्य देवाय नमः ‼️🌞🌹🙏 शुभ दोपहर वंदन जी ‼️🌹🌄🙏 आपका और आपके पुरे परिवार का हर पल शुभ एवं मंगलमय हो ‼️🌹💐🙏

Sandhya Nagar Apr 21, 2019
🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪🎪 *(((( गुलाब सखी का चबूतरा ))))* . गुलाब एक एक निर्धन व्यक्ति का नाम था। बरसाने की पवित्र धरती पर उसका जन्म हुआ। . ब्रह्मा आदि जिस रज की कामना करते हैं उसका उसे जन्म से ही स्पर्श हुआ था। . पढ़ा लिखा कुछ नहीं था पर सांरगी अच्छी बजा लेता था। श्री राधा रानी के मंदिर के प्रांगण में जब भी पदगान हुआ करता था उसमें वह सांरगी बजाया करता था। . यही उसकी अजीविका थी। मंदिर से जो प्रशाद और दान दक्षिणा प्राप्त होती उसी से वो अपना जीवन र्निवाह करता था। . उसकी एक छोटी लड़की थी। जब गुलाब मंदिर में सारंगी बजाता तो लड़की नृत्य करती थी। . उस लड़की के नृत्य में एक आकर्षण था, एक प्रकार का खिंचाव था। उसका नृत्य देखने के लिए लोग स्तंभ की भांति खड़े हो जाते। . गुलाब अपनी बेटी से वह बहुत प्यार करता था, उसने बड़े प्रेम से उसका नाम रखा राधा। . वह दिन आते देर न लगी जब लोग उससे कहने लगे, गुलाब लड़की बड़ी हो गई है। अब उसका विवाह कर दे। . राधा केवल गुलाब की बेटी न थी वह पूरे बरसाने की बेटी थी। सभी उससे प्यार करते और उसके प्रति भरपूर स्नेह रखते। . जब भी कोई गुलाब से उसकी शादी करवाने को कहता उसका एक ही उत्तर होता, शादी करूं कैसे ? शादी के लिए तो पैसे चाहिए न ? . एक दिन श्री जी के मंदिर के कुछ गोस्वामियों ने कहा, गुलाब तू पैसों की क्यों चिन्ता करता है ? उसकी व्यवस्था श्री जी करेंगी। तू लड़का तो देख ? . जल्दी ही अच्छा लड़का मिल गया। श्री जी ने कृपा करी पूरे बरसाने ने गुलाब को उसकी बेटी के विवाह में सहायता करी, धन की कोई कमी न रही, गुलाब का भण्डार भर गया, . राधा का विवाह बहुत धूम-धाम से हुआ। राधा प्रसन्नता पूर्वक अपनी ससुराल विदा हो गई। . क्योंकि गुलाब अपनी बेटी से बहुत प्रेम करता था और उसके जीवन का वह एक मात्र सहारा थी, अतः राधा की विदाई से उसका जीवन पूरी तरहा से सूना हो गया। . राधा के विदा होते ही गुलाब गुमसुम सा हो गया। तीन दिन और तीन रात तक श्री जी के मंदिर में सिंहद्वार पर गुमसुम बैठा रहा। . लोगो ने उसको समझाने का बहुत प्रेस किया किन्तु वह सुध-बुध खोय ऐसे ही बैठा रहा, न कुछ खाता था, ना पीता था बस हर पल राधा-राधा ही रटता रहता था। . चौथे दिन जब वह श्री जी के मंदिर में सिंहद्वार पर गुमसुम बैठा था तो सहसा उसके कानों में एक आवाज आई, बाबा ! बाबा ! मैं आ गई। सारंगी नहीं बजाओगे मैं नाचूंगी। . उस समय वह सो रहा था या जाग रहा था कहना कठिन था। मुंदी हुई आंखों से वह सांरगी बजाने लगा और राधा नाचने लगी . मगर आज उसकी पायलों में मन प्राणों को हर लेने वाला आकर्षण था। इस झंकार ने उसकी अन्तरात्मा तक को झकझोर दिया था। . उसके तन और मन की आंखे खुल गई। उसने देखा उसकी बेटी राधा नहीं बल्कि स्वयं राधारानी हैं, जो नृत्य कर रही हैं। . सजल और विस्फरित नेत्रों से बोला, बेटी ! बेटी ! और जैसे ही कुछ कहने की चेष्टा करते हुए स्नेह से कांपते और डगमगाते हुए वह उनकी अग्रसर ओर हुआ राधा रानी मंदिर की और भागीं। गुलाब उनके पीछे-पीछे भागा । . इस घटना के पश्चात गुलाब को कभी किसी ने नहीं देखा। उसके अदृश्य होने की बात एक पहेली बन कर रह गई। . कई दिनों तक जब गुलाब का कोई पता नहीं चला तो सभी ने उसको मृत मान लिया। . सभी लोग बहुत दुखी थे, गोसाइयों ने उसकी स्मृति में एक चबूतरे का निर्माण करवाया। . कुछ दिनों के पश्चात मंदिर के गोस्वामी जी शयन आरती कर अपने घर लौट रहे थे। तभी झुरमुट से आवाज आई, गोसाई जी ! गोसाई जी ! . गोसाई जी ने पूछा, कौन ? . गुलाब झुरमुट से निकलते हुए बोला, मैं आपका गुलाब। . गोसाई जी बोले, तू तो मर गया था। . गुलाब बोला, मुझे श्री जी ने अपने परिकर में ले लिया है। अभी राधा रानी को सांरगी सुना कर आ रहा हूं। देखिए राधा रानी ने प्रशाद के रूप में मुझे पान की बीड़ी दी है। . गोस्वामी जी उसके हाथ में पान की बीड़ी देखकर चकित रह गए क्योंकि यह बीड़ी वही थी जो वह राधा रानी के लिए अभी-अभी भोग में रखकर आ रहे थे। . गोसाई जी ने पूछा, तो तू अब रहता कहां है ? . उसने उस चबूतरे की तरफ इशारा किया जो वहां के गोसाइयों ने उसकी स्मृति में बनवाया था। . तभी से वह चबूतरा “गुलाब सखी का चबूतरा” के नाम से प्रसिद्द हो गया और लोगो की श्रद्धा का केंद्र बन गया। . राधा राधा रटते ही भाव बाधा मिट जाए कोटि जन्म की आपदा श्रीराधे नाम से जाय ~~~~~~~~~~~~~~~~~ *((((((( जय जय श्री राधे )))))))* ~~~~~~~~~~~~~~~~~

Anjana Gupta Apr 21, 2019
Ram Ram bhai ji aapki har mnokamna ram ji puri Kare Shubh dophar Vandan ji 🌹🙏🚩🚩

Jagdish Prasad.Delhi 110040 Apr 21, 2019
@༺राधेराधेभक्तों༻ जी जय श्री राधे कृष्णा जी ‼️🌹🙏 ॐ श्री सूर्य देवाय नमः ‼️🌞🌹🙏 शुभ रात्रि वंदन जी ‼️🌹🌄🙏 आपका और आपके पुरे परिवार का हर पल शुभ एवं मंगलमय हो ‼️🌹💐🙏

Jagdish Prasad.Delhi 110040 Apr 21, 2019
@sandhyanagar2 जी जय श्री राधे कृष्णा जी ‼️🌹🙏 ॐ श्री सूर्य देवाय नमः ‼️🌞🌹🙏 शुभ रात्रि वंदन जी ‼️🌹🌄🙏 आपका और आपके पुरे परिवार का हर पल शुभ एवं मंगलमय हो ‼️🌹💐🙏

Jagdish Prasad.Delhi 110040 Apr 21, 2019
@anjanagupta4 जी जय श्री राधे कृष्णा जी ‼️🌹🙏 ॐ श्री सूर्य देवाय नमः ‼️🌞🌹🙏 शुभ रात्रि वंदन जी ‼️🌹🌄🙏 आपका और आपके पुरे परिवार का हर पल शुभ एवं मंगलमय हो ‼️🌹💐🙏

Jagdish Prasad.Delhi 110040 Apr 21, 2019
@arveshmishra जी जय श्री राधे कृष्णा जी ‼️🌹🙏 ॐ श्री सूर्य देवाय नमः ‼️🌞🌹🙏 शुभ रात्रि वंदन जी ‼️🌹🌄🙏 आपका और आपके पुरे परिवार का हर पल शुभ एवं मंगलमय हो ‼️🌹💐🙏

+48 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 44 शेयर

+11 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 37 शेयर
neeta trivedi May 19, 2019

+116 प्रतिक्रिया 69 कॉमेंट्स • 123 शेयर

+116 प्रतिक्रिया 22 कॉमेंट्स • 131 शेयर
Shanti Pathak May 19, 2019

+23 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 82 शेयर
sarita May 19, 2019

+121 प्रतिक्रिया 24 कॉमेंट्स • 55 शेयर

+20 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 109 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB