✏️✏️ Jay Shri Krishna Radhe Radhe ji ✏️✏️ 🐚✏️🐚✏️bhakti Gyan ki baten ✏️🐚✏️🐚 ⚜️♾️⚜️♾️⚜️♾️⚜️♾️⚜️♾️⚜️♾️⚜️♾️⚜️ 🕎🕎 aaj ka gyan ✍️meetha bol Moti 🕎🕎 🕎🕎👩‍👧‍👧🕎🕎🕎🕎🕎🕎🕎🕎🕎🕎🕎🕎 💝💝Sanvariya ke aage🐚🐚🐚🐚🐚🐚🐚🐚🐚🐚🐚🐚🐚🐚 Girdhari ke aage khada 🦠🐾🦠🐾🦠hun Kar 🐚Jod🦠🐾🦠🐾🦠🦠🐾🦠 Jay Shri Krishna Radhe Radhe ji aaj ka din mangalmay ho good morning happy Monday Shubh Somwar bhole Baba ki kripa sada aap aur aapke🙏 pure Parivar per Bani 🧬🦠🧬🐚Rahe Radhe🖍️Radhe ji🐚🧬🦠🔱✍️🔱✍️🔱✍️🔱✍️🔱✍️🔱✍️🔱✍️🔱

+7 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 13 शेयर

कामेंट्स

Shefali Sharma Apr 6, 2020
good morning happy Monday Jai Shri Krishna Raadhe Raadhe ji aaj ka din shubh ho have a nice day God bless you be safe forever to bhajan bahut achcha hai

सरोज सिंह बघेल Apr 6, 2020
@shefalisharma1 👩‍👧‍👧 thanku ji..🧬🖍️ Jay Shri Krishna Radhe Radhe ji aaj ka din mangalmay ho happy Monday Shubh Somwar Bholenath ki kripa sada hi aap aur aapke Parivar per Bani rahe ji👩‍👧‍👧🧬🙏☑️

Sunita Pawar May 10, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 11 शेयर
shobha mayach May 9, 2020

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 20 शेयर

+22 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 11 शेयर
Narayan Tiwari May 10, 2020

सत्संग वाणी:संत की महिमा अपरंपार होती हैं! """"""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""" एक संत के पास 30 सेवक रहते थे । एक सेवक ने गुरुजी के आगे प्रार्थना की महाराज जी 🙏🏻 मेरी बहन की शादी है तो आज एक महीना रह गया है तो मैं दस दिन के लिए वहां जाऊंगा । कृपा करें ! आप भी साथ चले तो अच्छी बात है । गुरु जी ने कहा बेटा देखो टाइम बताएगा । नहीं तो तेरे को तो हम जानें ही देंगे उस सेवक ने बीच-बीच में इशारा गुरु जी की तरफ किया कि गुरुजी कुछ ना कुछ मेरी मदद कर दे ! आखिर वह दिन नजदीक आ गया सेवक ने कहा गुरु जी कल सुबह जाऊंगा मैं । गुरु जी ने कहा ठीक है बेटा ! *सुबह हो गई जब सेवक जाने लगा *तो गुरु जी ने उसे 5 किलो अनार दिए और कहा ले जा बेटा भगवान तेरी बहन की शादी खूब धूमधाम से करें दुनिया याद करें कि ऐसी शादी तो हमने कभी देखी ही नहीं और साथ में दो सेवक भेज दिये जाओ तुम शादी पूरी करके आ जाना । जब सेवक घर से निकले 100 किलोमीटर गए तो मन में आया जिसकी बहन की शादी थी वह सेवक से बोला गुरु जी को पता ही था कि मेरी बहन की शादी है और हमारे पास कुछ भी नहीं है फिर भी गुरु जी ने मेरी मदद नहीं की । दो-तीन दिन के बाद वह अपने घर पहुंच गया । उसका घर राजस्थान रेतीली इलाके में था वहां कोई फसल नहीं होती थी । वहां के राजा की लड़की बीमार हो गई तो वैद्यजी ने बताया कि इस लड़की को अनार के साथ यह दवाई दी जाएगी तो यह लड़की ठीक हो जाएगी । *राजा ने घोषणा करवा रखी थी अगर किसी के पास आनार है तो राजा उसे बहुत ही इनाम देंगे ।* *इधर घोषणा वाले ने आवाज लगाई *अगर किसी के पास आनार है तो जल्दी आ जाओ, राजा को अनारों की सख्त जरूरत है । जब यह आवाज उन सेवकों के कानों में पड़ी तो वह सेवक उस घोषणा करने वाले के पास गए और कहा कि हमारे पास आनार है, चलो राजा जी के पास ।* *राजाजी को अनार दिए गए अनार का जूस निकाला गया और लड़की को दवाई दी गई तो लड़की ठीक-ठाक हो गई । *राजा जी ने पूछा तुम कहां से आए हो, तो उसने सारी हकीकत बता दी तो राजा ने कहा ठीक है तुम्हारी बहन की शादी मैं करूंगा । राजा जी ने हुकुम दिया ऐसी शादी होनी चाहिए कि लोग यह कहे कि यह राजा की लड़की की शादी है सब बारातियों को सोने चांदी गहने के उपहार दिए गए बरात की सेवा बहुत अच्छी हुई लड़की को बहुत सारा धन दिया गया । लड़की के मां-बाप को बहुत ही जमीन जायदाद व आलीशान मकान और बहुत सारे रुपए पैसे दिए गए । लड़की भी राजी खुशी विदा होकर चली गई । *अब सेवक सोच रहे हैं कि गुरु की महिमा गुरु ही जाने । हम ना जाने क्या-क्या सोच रहे थे गुरु जी के बारे में । गुरु जी के वचन थे जा बेटा तेरी बहन की शादी ऐसी होगी कि दुनियां देखेगी ।* *_संत वचन हमेशा सच होते हैं ।_* *_शिक्षा......_ *संतों के वचन के अंदर ताकत होती है लेकिन हम नहीं समझते । जो भी वह वचन निकालते हैं वह सिद्ध हो जाता है ।* *हमें संतों के वचनों के ऊपर अमल करना चाहिए और विश्वास करना चाहिए ना जाने संत मोज में आकर क्या दे दे और रंक से राजा बना दे । 🙏🧘‍♂️ || जय गुरूदेव ||🧘‍♂️🙏

+213 प्रतिक्रिया 22 कॉमेंट्स • 138 शेयर

बोलना ही बंधन है 〰️〰️🌸🌸〰️〰️ एक राजा के घर एक राजकुमार ने जन्म लिया राजकुमार स्वभाव से ही कम बोलते थे। राजकुमार जब युवा हुआ तब भी अपनी उसी आदत के साथ मौन ही रहता था। राजा अपने राजकुमार की चुप्पी से परेशान रहते थे की आखिर ये बोलता क्यों नहीं है। राजा ने कई ज्योतिषियों,साधु-महात्माओ एवं चिकित्सकों को उन्हें दिखाया परन्तु कोई हल नहीं निकला। संतो ने कहा कि ऐसा लगता है पिछले जन्म में ये राजकुमार कोई साधु थे जिस वजह से इनके संस्कार इस जन्म में भी साधुओं के मौन व्रत जैसे हैं। राजा ऐसी बातों से संतुस्ट नहीं हुए। एक दिन राजकुमार को राजा के मंत्री बगीचे में टहला रहे थे। उसी समय एक कौवा पेड़ कि डाल पे बैठ कर काव - काव करने लगा। मंत्री ने सोचा कि कौवे कि आवाज से राजकुमार परेशान होंगे इसलिए मंत्री ने कौवे को गोली मार दी। गोली लगते ही कौवा जमीन पर गिर गया। तब राजकुमार कौवे के पास जा कर बोले कि यदि तुम नहीं बोले होते तो नहीं मारे जाते। इतना सुन कर मंत्री बड़ा खुश हुआ कि राजकुमार आज बोले हैं और तत्काल ही राजा के पास ये खबर पहुंचा दी। राजा भी बहुत खुश हुआ और मंत्री को खूब ढेर - सारा उपहार दिया। कई दिन बीत जाने के बाद भी राजकुमार चुप ही रहते थे। राजा को मंत्री कि बात पे संदेह हो गया और गुस्सा कर राजा ने मंत्री को फांसी पे लटकाने का हुक्म दिया। इतना सुन कर मंत्री दौड़ते हुए राज कुमार के पास आया और कहा कि उस दिन तो आप बोले थे परन्तु अब नहीं बोलते हैं। मैं तो कुछ देर में राजा के हुक्म से फांसी पे लटका दिया जाऊंगा। मंत्री कि बात सुन कर राजकुमार बोले कि यदि तुम भी नहीं बोले होते तो आज तुम्हे भी फांसी का हुक्म नहीं होता बोलना ही बंधन है। जब भी बोलो उचित और सत्य बोलो अन्यथा मौन रहो। जीवन में बहुत से विवाद का मुख्य कारन अत्यधिक बोलना ही है। एक चुप्पी हजारो कलह का नाश करती है। राजा छिप कर राजकुमार कि ये बातें सुन रहा था,उसे भी इस बात का ज्ञान हुआ और राजकुमार को पुत्र रूप में प्राप्त कर गर्व भी हुआ। उसने मंत्री को फांसी मुक्त कर दिया। 〰️〰️🌸〰️〰️🌸〰️〰️🌸〰️〰️🌸〰️〰️🌸〰️〰️

+40 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 78 शेयर
ManojC May 9, 2020

+3 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 2 शेयर
lndu Malhotra May 8, 2020

+31 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 6 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB