Renu Singh
Renu Singh May 4, 2021

Jai Shree Ram 🌹🙏 Jai Bajrangbali Ji 🙏🌹🙏🌹🙏 Shubh Ratri Vandan Ji 🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏

Jai Shree Ram 🌹🙏 Jai Bajrangbali Ji 🙏🌹🙏🌹🙏 Shubh Ratri Vandan Ji 🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏

+440 प्रतिक्रिया 82 कॉमेंट्स • 281 शेयर

कामेंट्स

GOVIND CHOUHAN May 4, 2021
Jai Shree Ram Jai Ram Jai Jai Ram 🌷 Jai Siyaram 🌷 Jai Siyaram 🌷 Jai Jai Jai Bajarang bali 🌷 Subh Ratri Vandan Pranaam Jiii Didi 👏👏👏👏👏

🌷JK🌷 May 4, 2021
🌹🌹Radhe Radhe🌹🌹 Aap ka har pal mangalamay ho sistar ji🙏 subh ratri vandan ji 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

K L Tiwari May 4, 2021
🌹🌷🌼राम राम बहन,जय माता की बहन,सादर चरण स्पर्श करता हूँ मेरी प्यारी बहना,मातारानी आपको सदा स्वस्थ और प्रसन्न रखें दीर्घायु प्रदान करें बहन,जुग जुग जियो मेरी रानी बहन🌹🙏🌹शुभरात्रि वन्दन बहन🌹🙏🙏🙏🌹

Anju Mishra May 4, 2021
राम राम बहना शुभ रात्रि

S K Pandey 🌺🙏🏻🌺 May 4, 2021
🌹जय श्री राम🌹जय बजरंग बली🌹 🌹शुभ मंगलवार , शुभ रात्रि वंदन !🌹 आपका समय शुभ एवं मंगलमय हो!💐 🙏🏻घर पर रहें,स्वस्थ व सुरक्षित रहें! 🙏🏻

Mohan Patidar May 4, 2021
jai shree ram bhakt hanuman ji good night bahin ji thanks you ji

ಗಿರಿಜಾ ನೂಯಿ May 4, 2021
🙏🙏Good Night,Sweet Dreams Ji🌹🌹 🚩🚩🚩Jai Shri Ram☀️☀️☀️🚩🚩🚩 Jai Shri Hanuman Ji🌳🌳🌳 Super Post Ji👌👌👌👌👌 🚩 🚩🚩Jai Mata Di Ji🔱💐🐯 Have a happy sleep, Shri Ram Hanuman, Mata Di ji bless you & your family always be happy,healthy & wealthy dear sister ji🙏🙏🙏🙏🌷🌷🌷🌷💐💐💐💐🌸🌸🌸🌸✳️🌟✳️🌜✳️🌟✳️🌜✳️🌟✳️🌜✳️🌟✳️🌜✳️🌟✳️🌜✳️🌟✳️🌜✳️🌟✳️🌜✳️

Renu Singh May 4, 2021
@jaikaransharma2 Shubh Ratri Bhai Ji 🙏 Prabhu Ram Aur Hanuman Ji ki kripa Se Aàp aur Aapki Family Sadaiv Sukhi aur Swasth rahe Bhai ji 🙏🌹🙏

Naresh Rawat May 4, 2021
जय श्रीराम जय वीर बजरंगबली महाराज 🙏🚩राधे राधे जी जय श्रीकृष्ण 🙏🌹शुभ रात्रि स्नेह वंदन सिस्टर जी🙏🌙सदा स्वस्थ💪 रहिये सुरक्षित रहिये खुश रहो🙂श्रीराम भक्त हनुमान जी की असीम कृपा दृष्टि आशीर्वाद सदैव आप सपरिवार पर बना रहे सिस्टर जी🙏जय श्रीराम जय हनुमान 🙏🚩

🇮🇳🇮🇳GEETA DEVI🇮🇳🇮🇳 May 4, 2021
🌹🙏JAI SHREE RAM 🙏🌹 BEAUTIFUL GOOD NIGHT WITH SWEET DREAMS MY LOVELY SISTER JI... 🍫🍫🍹🍹🤗🤗STAY HEALTHY AT HOME... 🙏🙏ALWAYS KEEP SMILING MY DEAR SISTER JI... 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹💐💐💐💐💐💐💐

madan pal 🌷🙏🏼 May 4, 2021
जय श्री राम जी शूभ रात्रि वंदन जी पवन सुत हनुमान जी की कृपा आप व आपके परिवार पर बनीं रहे जी 👌🏼👌🏼👌🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🌹🌹🌹🌷🌷🌷🌷

Jawahar lal bhargava May 4, 2021
🚩 Jai Shree Ram ji Jai Veer Hanuman ji 🌹🌹 🙏🙏 🌹🌹 Shubh ratri Sister ji Aapka har pal Shubh Aur Mangalmaye ho 🙏🙏 Sister ji

EXICOM May 5, 2021
🌹🙏🌹 ऊँ 🌹🙏🌹 🌹🙏🌹शाँतिं🌹🙏🌹 🌹🙏🌹दीदी🌹🙏🌹 🌹🙏🌹 जी 🌹🙏🌹

Mukesh Patel May 5, 2021
जय माता जी जय श्री राम जय हनुमानजी

dhruv wadhwani May 5, 2021
जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम जय श्रीराम

dhruv wadhwani May 5, 2021
ओम हनुमते नमो हनुमते नमो हनुमते नमः हं हनुमते नमः हं हनुमते नमः हं हनुमते नमः ॐ हनुमते नमः

+49 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 272 शेयर
Shanti pathak May 14, 2021

**जय श्री राधे कृष्णा जी** **शुभरात्रि वंदन** *सदैव सकारात्मक रहें* महाराज दशरथ को जब संतान प्राप्ति नहीं हो रही थी तब वो बड़े दुःखी रहते थे...पर ऐसे समय में उनको एक ही बात से हौंसला मिलता था जो कभी उन्हें आशाहीन नहीं होने देता था... और वह था श्रवण के पिता का श्राप.... दशरथ जब-जब दुःखी होते थे तो उन्हें श्रवण के पिता का दिया श्राप याद आ जाता था... (कालिदास ने रघुवंशम में इसका वर्णन किया है) श्रवण के पिता ने ये श्राप दिया था कि ''जैसे मैं पुत्र वियोग में तड़प-तड़प के मर रहा हूँ वैसे ही तू भी तड़प-तड़प कर मरेगा.....'' दशरथ को पता था कि ये श्राप अवश्य फलीभूत होगा और इसका मतलब है कि मुझे इस जन्म में तो जरूर पुत्र प्राप्त होगा.... (तभी तो उसके शोक में मैं तड़प के मरूँगा) यानि यह श्राप दशरथ के लिए संतान प्राप्ति का सौभाग्य लेकर आया.... ऐसी ही एक घटना सुग्रीव के साथ भी हुई.... वाल्मीकि रामायण में वर्णन है कि सुग्रीव जब माता सीता की खोज में वानर वीरों को पृथ्वी की अलग - अलग दिशाओं में भेज रहे थे.... तो उसके साथ-साथ उन्हें ये भी बता रहे थे कि किस दिशा में तुम्हें कौन सा स्थान या देश मिलेगा और किस दिशा में तुम्हें जाना चाहिए या नहीं जाना चाहिये.... प्रभु श्रीराम सुग्रीव का ये भगौलिक ज्ञान देखकर हतप्रभ थे... तो सुग्रीव ने उनसे कहा कि..."मैं बाली के भय से जब मारा मारा फिर रहा था तब पूरी पृथ्वी पर कहीं शरण न मिली... और इस चक्कर में मैंने पूरी पृथ्वी छान मारी और इसी दौरान मुझे सारे भूगोल का ज्ञान हो गया..." अब अगर सुग्रीव पर ये संकट न आया होता तो उन्हें भूगोल का ज्ञान नहीं होता और माता जानकी को खोजना कितना कठिन हो जाता... इसीलिए किसी ने बड़ा सुंदर कहा है :- "अनुकूलता भोजन है ,प्रतिकूलता विटामिन है और चुनौतियाँ वरदान हैं और जो उनके अनुसार व्यवहार करें ...वही पुरुषार्थी है..." ईश्वर की तरफ से मिलने वाला हर एक पुष्प अगर वरदान है....तो हर एक कांटा भी वरदान ही समझें.... मतलब आज मिले सुख से आप खुश हो तो...कभी अगर कोई दुख,विपदा,अड़चन आ जाये ...तो घबरायें नहीं...क्या पता वो अगले किसी सुख की तैयारी हो....*एक दिन* *एक दिन* सभी न्यूज चैनल पर आप देखेंगे कि आज कोई भी कोरोना का केस पूरे देश में नहीं आया। *एक दिन* आप पढ़ेंगे कि आज कोरोना के कारण कोई नहीं मरा। *एक दिन* हम देखेंगे कि एयरपोर्ट/ रेलवे स्टेशन पर वही लम्बी कतारें। *एक दिन* हम देखेंगे कि हमारे बच्चे फिर से स्कूल बस और वैन से स्कूल जा रहे हैं । *एक दिन* हम फिर देखेंगे सिनेमा हाल पर लगा हाउस फूल का बोर्ड। *एक दिन* हम फिर एक दूसरे से गले लगेंगे और शादियों में समारोहों में नाचेंगे एक साथ। हम सबको बस उसी दिन का इंतजार है। हम सब मानव इतिहास के सबसे मुश्किल समय का सामना कर रहे हैं परंतु यह एक Time Phase है जो गुजर जायेगा। हमें बस अपने आपको प्रेरित करना है कि दूसरों कि मदद हम किस प्रकार करें या पहुंचाये या हम कम से कम कुछ ना भी करें तो गलत या बुरी खबरों को न फैलायें, या किसी भी तरह की कालाबाजारी में संलिप्त न हो। किसी कवि ने क्या खूब कहा है दिल नाउम्मीद नहीं, नाकाम ही तो है , लम्बी है गम की शाम, मगर शाम ही तो है, सदैव साकारात्मक रहें

+222 प्रतिक्रिया 60 कॉमेंट्स • 335 शेयर
Mamta Chauhan May 14, 2021

+186 प्रतिक्रिया 64 कॉमेंट्स • 210 शेयर
Renu Singh May 14, 2021

+447 प्रतिक्रिया 76 कॉमेंट्स • 307 शेयर

_*अक्षय तृतीया* (आखा तीज)_, [वैशाख ] उसका महत्व क्यों है और जानिए इस दिन कि कुछ महत्वपुर्ण जानकारियाँ: 🕉 ब्रह्माजी के पुत्र *अक्षय कुमार* का अवतरण। 🕉 *माँ अन्नपूर्णा* का जन्म।j 🕉 *चिरंजीवी महर्षी परशुराम* का जन्म हुआ था इसीलिए आज *परशुराम जन्मोत्सव* भी हैं। 🕉 *कुबेर* को खजाना मिला था। 🕉 *माँ गंगा* का धरती अवतरण हुआ था। 🕉 सूर्य भगवान ने पांडवों को *अक्षय पात्र* दिया। 🕉 महाभारत का *युद्ध समाप्त* हुआ था। 🕉 वेदव्यास जी ने *महाकाव्य महाभारत की रचना* गणेश जी के साथ शुरू किया था। 🕉 प्रथम तीर्थंकर *आदिनाथ ऋषभदेवजी भगवान* के 13 महीने का कठीन उपवास का *पारणा इक्षु (गन्ने) के रस से किया* था। 🕉 प्रसिद्ध तीर्थ स्थल *श्री बद्री नारायण धाम* का कपाट खोले जाते है। 🕉 बृंदावन के बाँके बिहारी मंदिर में *श्री कृष्ण चरण के दर्शन* होते है। 🕉 जगन्नाथ भगवान के सभी *रथों को बनाना प्रारम्भ* किया जाता है। 🕉 आदि शंकराचार्य ने *कनकधारा स्तोत्र* की रचना की थी। 🕉 *अक्षय* का मतलब है जिसका कभी क्षय (नाश) न हो!!! 🕉 *अक्षय तृतीया अपने आप में स्वयं सिद्ध मुहूर्त है कोई भी शुभ कार्य का प्रारम्भ किया जा सकता है....!!!* अक्षय रहे *सुख* आपका,😌 अक्षय रहे *धन* आपका,💰 अक्षय रहे *प्रेम* आपका,💕 अक्षय रहे *स्वास्थ* आपका,💪 अक्षय रहे *रिश्ता* हमारा 🌈 अक्षय तृतीया की आपको और आपके सम्पूर्ण परिवार को *हार्दिक शुभकामनाएं*

+172 प्रतिक्रिया 63 कॉमेंट्स • 182 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB