+114 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 80 शेयर

कामेंट्स

Mohan Patidar Feb 20, 2021
jai shree Radhe krishna ji suhbh sandhya vandan ji thanks you ji 🌻🍃🌲🌾

RAJ RATHOD Feb 20, 2021
. 🙏जय शनिदेव 🙏 आपको शुभ दिन शनिवार की 🙏शुभ संध्या का सप्रेम राम राम 🙏 🌹आपका हर पल शुभ एवं मंगलमय हो 🌹

Seema soni Feb 20, 2021
good night ji 🙏 Jai shree krishna ji 🙏🙏🌹🌹🥱🥱🌺💞

madan pal 🌷🙏🏼 Feb 20, 2021
जय श्री राम जी शूभ रात्रि वंदन ज़ी पवन सुत हनुमान जी की कृपा आप व आपके परिवार पर बनीं रहे जी 💐💐🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼

B K Patel Feb 21, 2021
जय श्री राधे कृष्ण शुभ प्रभात स्नेह वंदन धन्यवाद 🌹🙏🙏

+67 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 21 शेयर
Neha Sharma, Haryana Feb 23, 2021

🙏*बुलालो वृन्दावन गिरधारी*...*बहुत ही सुंदर भजन*🌸 🙏*जय श्री राधेकृष्णा*🙏*शुभ संध्या नमन*🙏 🌹*बहुत सुंदर भाव*💞*बड़े प्यार से पढ़ें*🌹 🌹*एक दिन राधा जी सखियों संग जमुना किनारे बैठी सत्संग कर रही थीं , अचानक एक सखी की नजर उनके पैर पर चली गई, पैर में घाव से हलका हलका खून रिस रहा था, सबने चोंक कर पूछा"-यह चोट कैसे लगी राधे जू,,,बताइए ,जल्दी से बताइए। *राधा जी ने बहुत टालना चाहा,, पर इंसान प्रवृत्ति है आप जितना बात टालना चाहेंगें..लोग उतना ही जानना चाहेंगें!! राधा जी ने कहा- ये"एक पुराना घाव है,, सखी बोलीं-पुराना कैसे राधे जू "इसमें तो खून निकल रहा हैं,,"पुराना है तो अब तक सूखा क्यों नहीं..कैसे लगा ये घाव??? राधा जी ने कहा- सखियों एक दिन खेल-खेल में मेने कन्हैया" की बांसुरी छीन ली,, बांसुरी की छीना झपटी में उनके पैर का नाखून लग गया,, यह घाव उसी चोट से लगा.. गोपियों ने पूछा, "कन्हैया को मथुरा गए तो कई बरस हो गए हैं,, ये घाव अब तक सूखा क्यों नहीं है राधे जू, बोलो ???? राधा जी बोली," सूखता तो तब ना जब "मैं" सूखने देती. मैं रोज इसे कुरेदकर हरा कर देती हुं,, सखियां तो चोंकी, ऐसा क्यों करती हो राधे! राधे जी ने कहा वो इसलिए सखिओ....कन्हैया रोज सपने मे आकर इस जख्म का उपचार करते हैं,, उपचार के लिये ही सही "कन्हैया" मेरे सपनों में आते हैं,,, अगर घाव सूख गया तो क्या पता वो सपनो में आना ही छोड़ दें... सखियों की आंखों से प्रेमाश्रु की धारा बहने लगी जो रुकने का नाम ही नहीं ले रही थी😭😭😭😭😭 "ऐसा प्रेम था हमारे प्रेमाधार श्री राधे कृष्ण का... राधे राधे......... बोलिए हमारे प्राणाधार श्री राधे कृष्ण की जय जय।। ब्रजवासी_कौन ??? चार प्रकार के मनुष्य ब्रजवासी माने गए हैं 1) जिसका जन्म ब्रज मे हुआ हो चाहे रहता कहैं भी हो वो ब्रजवासी है। 2) जिसका जन्म कहीं भी हुआ लेकिन रहता ब्रज मे है वो ब्रजवासी है। 3) जिसका जन्म कही हुआ और रहता कहीं पर भी है पर प्रमुख त्योहारो पर ब्रज मे आता है वो ब्रजवासी है। 4) जिसका जन्म कहीं हुआ, रहता भी कहीं और है ,कभी भी ब्रज मै न आ पाया हो , लेकिन जिसका दिन पल पल ब्रज मे आने के लिए तडफता हो वही सबसे बडा ब्रजवासी है क्योकि उसका दिल सदैव ब्रज मे वास करता है। सूना लगे सारा देश वृंदावन कुटियॉ बनाउंगी. *श्री कुंज बिहारी श्री हरिदास 🙏 *जय श्री राधेकृष्णा*🙏🌸 🌹─⊱━━━━━⊱(🙏)⊰━━━━⊰─🌹 *कभी सोचा है भगवान कृष्ण का स्वरूप हमें क्या सिखाता है..? क्यों भगवान जंगल में पेड़ के नीचे खड़े बांसुरी बजा रहे हैं, मोरमुकुट पहने...तन पर पीतांबरी, गले में वैजयंती की माला, साथ में राधा....पीछे गाय...कृष्ण की यह छवि हमें क्या प्रेरणा देती है क्यों कृष्ण का रूप इतना मनोहर लगता है.....😊 दरअसल कृष्ण हमें जीवन जीना सिखाते हैं उनका यह स्वरूप अगर गहराई से समझा जाए तो इसमें हमें सफल जीवन के कई सूत्र मिलते हैं.....☘ विद्वानों सन्तों का मत है कि भगवान विरोधाभास में दिखते है आइए जानते हैं श्रीकृष्ण की छवि के हमारे जीवन में क्या मायने हैं, *1. #मोर_मुकुट * भगवान के मुकुट में मोर का पंख है...यह बताता है कि जीवन में विभिन्न रंग हैं ये रंग हमारे जीवन के भाव हैं...सुख है तो दुःख भी है, सफलता है तो असफलता भी....मिलन है तो बिछोह भी.....😔 जीवन इन्हीं रंगों से मिलकर बना है, जीवन से जो मिले उसे माथे लगाकर अंगीकार कर लो इसलिए मोर मुकुट भगवान के सिर पर है.....🦆 *2. #बांसुरी -* भगवान बांसुरी बजा रहे हैं...मतलब जीवन में कैसी भी घडी आए हमें घबराना नहीं चाहिए, भीतर से शांति हो तो संगीत जीवन में उतरता है ऐसे ही अगर भक्ति पानी है तो अपने भीतर शांति कायम करने का प्रयास करें.....☘ *3. #वैजयंती_माला * भगवान के गले में वैजयंती माला है...यह कमल के बीजों से बनती है इसके दो मतलब हैं कमल के बीज सख्त होते हैं, कभी टूटते नहीं...सड़ते नहीं...हमेशा चमकदार बने रहते हैं, भगवान कह रहे हैं जब तक जीवन है तब तक ऐसे रहो जिससे तुम्हें देखकर कोई दुःखी न हो, दूसरा यह माला बीज की है और बीज ही है जिसकी मंजिल होती है भूमि भगवान कहते हैं जमीन से जुड़े रहो..कितने भी बड़े क्यों न बन जाओ...हमेशा अपने अस्तित्व की असलियत के नजदीक रहो, *4. #पीतांबर * पीला रंग सम्पन्नता का प्रतीक है...भगवान कहते हैं ऐसा पुरुषार्थ करो कि सम्पन्नता खुद आप तक चल कर आए इससे जीवन में शांति का मार्ग खुलेगा.....☘ *5. #कमरबंद -* भगवान ने पीतांबर को ही कमरबंद बना रखा है इसका अर्थ है हमेशा चुनौतियों के लिए तैयार रहें धर्म के पक्ष में जब भी कोई कर्म करना पड़े हमेशा तैयार रहें, *6. #राधा * कृष्ण के साथ राधा भी है...इसका अर्थ है जीवन में स्त्रीयों का महत्व भी है उन्हें पूर्ण सम्मान दें...वे हमारी बराबरी में रहें हमसे नीचे नहीं..☘ *जब तक चलेगी जिंदगी की सांसे....कहीं प्यार कहीं टकराव मिलेगा * *कहीं बनेंगे संबंध अंतर्मन से तो...कहीं आत्मीयता का अभाव मिलेगा* *कहीं मिलेगी जिंदगी में प्रशंसा तो...कहीं नाराजगियों का बहाव मिलेगा* *कहीं मिलेगी सच्चे मन से दुआ तो...कहीं भावनाओं में दुर्भाव मिलेगा* *कहीं बनेंगे पराए रिश्तें भी अपने तो....कहीं अपनों से ही खिंचाव मिलेगा* *कहीं होगी खुशामदें चेहरे पर तो....कहीं पीठ पे बुराई का घाव मिलेगा* *तू चलाचल राही अपने कर्मपथ पे...जैसा तेरा भाव वैसा प्रभाव मिलेगा* *रख स्वभाव में शुद्धता का 'स्पर्श'....यकीनन् अवश्य ही ज़िंदगी का पड़ाव मिलेगा* *"कृष्णम् वन्दे जगद्गुरुम्"* ┅•••⊰❉‼श्री‼❉⊱•••┅ ༺🌹Զเधे Զเधे🌹༻ *जय-जय श्री राधेकृष्णा* 🌸🙏🌸🙏🌸🙏🌸

+132 प्रतिक्रिया 26 कॉमेंट्स • 43 शेयर

+61 प्रतिक्रिया 18 कॉमेंट्स • 39 शेयर
✨Shuchi Singhal✨ Feb 23, 2021

+36 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 36 शेयर
Raju Rai.. Feb 23, 2021

+11 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 39 शेयर
Jai Mata Di Feb 23, 2021

+31 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 22 शेयर
Ramesh Agrawal Feb 23, 2021

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB