रमाशंकर
रमाशंकर Sep 4, 2017

लौंग खाने के ख़ास 20 फायदे।

लौंग खाने के ख़ास 20 फायदे।

लौंग खाने के ख़ास 20 फायदे और लाभ

लोंग का धार्मिक दृष्टि से बहुत महत्त्व है क्योंकि किसी पूजा अनुष्ठान में लौंग का जोड़ा अर्पित किया जाता है | लौंग को घी के साथ मिलाकर दीपक के साथ मिलाकर पूजा करते है |

लौंग को सुगन्धित होने के कारण सभी स्त्री पुरुष पसंद नहीं करते हैं | लौंग से बहुत सी प्राकृतिक औषधीय (Natural Remedies) बनती है (clove laung benefits आइये जाने उनके बारे में | (fayadei)

Laung Khane Ke Fayde Or Labh
#1.लौंग को पानी के साथ पीसकर, shahad मिलाकर चाटने से खसरे के रोग में बहुत लाभ होता है |

#2. लौंग और हरड़ को पानी में खूब देर तक उबालकर कवाथ (काढ़ा) बनाकर थोड़ा-सा सेंधा नमक मिलाकर पिने से अजीर्ण में बहुत फायदा होता है |

#3. लौंग को पानी के साथ पीसकर सिर और कनपटियों पर लेप करने से स्नायविक (मस्तक शूल) ख़त्म होता है |
बस व रेल के लम्बे सफर में जी मचलने व उलटी होने की स्थिति में लौंग मुंह में रखकर चूसने से बहुत फायदा होता है |

#4. लौंग (clove) को 200 ग्राम पानी में देर तक उबालें | 50 ग्राम पानी बाकी रह जाने पर उसे छानकर पिने से वायु विकार (गैस) और पेट दर्द खत्म हो जाता है

#5. लौंग के तेल की सिर पर मालिश करने से सिरदर्द ख़त्म हो जाता है |

पानी पीने के 51 फायदे
#6. लौंग और हल्दी को पिसकर लगाने से नासूर में बहुत फायदा होता है |

#7. लौंग को जल में उबालकर, छानकर थोड़ा-थोड़ा पानी पिलाने से हैजे की विकृति में उलटी का प्रकोप शांत होता है | मूत्र अधिक निष्कासित होता है | -laung ke achuk benefits.

laung khane ke fayde labh benefits

#8. लौंग को आग पर भूनकर, कूट-पीसकर चूर्ण बनाकर मधु मिलाकर चटाने से कुक्कुर (काली) खांसी में बहुत लाभ होता है |

#9. शरीर के किसी भी भाग पर शोध होने पर लौंग का तेल मलने से भी चमत्कारी लाभ होता है |

#10. लौंग को मुंह में रख कर उसका रस चूसने से खांसी ख़त्म होती है | जब तक मुंह में लोंग रहती है तब तक खांसी बंद ही रहती है |

Vajan Badhane Ke Liye 21 Tarike
#11. लौंग को मुंह में रख कर चूसने से मुंह और श्वास की बदबू दूर हो जाती है | clove remedies in hindi

#12. लौंग के तेल की कुछ बुंदे किसी स्वच्छ कपडे के टुकड़े पर टपकाकर, उस कपडे को बार-बार सूंघने से प्रतिषय (जुकाम) की समस्या ठीक हो जाता है साथ ही नाक भी बंद नहीं होती है, और नाक अगर बंद हो तो खुल जाती है |

#13. लौंग को पानी के साथ पीसकर 100 ग्राम पानी में मिलाकर, छानकर मिश्री मिलाकर पिने से ह्रदय की जलन विकृति दूर होती है | पेट में जलन होना बंद हो जाती है | Laung ke achhe fayde

#14. वात विकार व सन्धिशुल (जोड़ों के दर्द) में लौंग का तेल मलने से पीड़ा ख़त्म होती है |

#15. लौंग को पानी के साथ पीसकर हलके गर्म पानी में मिलाकर पिने से जी मचलना बंद हो जाता है और ज्यादा प्यास लगना भी बंद हो जाती है |

#16. लौंग के तेल की एक दो बुंदे बताशे पर डालकर खाने से हैजे की विकृति दूर हो जाती है |

30 Din Me Weight Badhane Ke Liye 10 Aasana Tarike
#17. लौंग को बकरी के दूध में घीसकर, नेत्रों में काजल की तरह लगाने से रतोंधी रोग ठीक हो जाता है |

#18. लौंग और चिरायता दोनों बराबर मात्रा में पानी के साथ पीसकर पिलाने से बुखार (ज्वर) ख़त्म हो जाता है |

#19. एक रत्ती लौंग को पीसकर, मिश्री की चाशनी में मिलाकर चाटकर खिलाने से गर्भवती स्त्री की उल्टियां बंद हो जाती है
Laung ke fayde benefits – लौंग जीवनी शक्ति के कोशो का पोषण करता है | इसी कारण लौंग टी.बी और बुखार में एंटीबायोटिक का काम करता है | यह रक्तशोधक और कीटाणुनाशक होता है | लौंग में मुंह, आते और आमाशय में रहने वाले सूक्ष्म कीटाणुओं व सड़न को रोकने के गुण पाये जाते है |

+97 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 123 शेयर

कामेंट्स

Aneeta bajpai Sep 4, 2017
बहुत बढ़िया..राधे राधे

lucky rohila May 25, 2019

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर
Sanjay Gupta May 24, 2019

मोटी से मोटी तोंद को भी होना पड़ेगा फुटबॉल से गेंद, सिर्फ 1 ग्लास रात को पिए, फिर देखे कमाल....................... हम लोग अक्सर अपनी निकलती हुई तोंद (belly fat) से परेशान रहते हैं और उसे कम करने के लिए कई तरह के जतन करते हैं। लेकिन अब आपको बहुत ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है। हम आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे आप इस आसान से बनने वाले जूस का सोने से पहले सेवन करके कर सकते हैं तोंद को गुड-बाय। चाहे मोटी से मोटी तोंद ही क्यों ना हो सिर्फ 1 ग्लास रात को पीने से वो हो जायेगी फुटबॉल से गेंद। सोने से पहले खीरे के जूस का सेवन करें। खीरे का जूस पेट को साफ करता है। इसके साथ ही यह फैट भी नहीं बढ़ाता है। इसमें कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है और और आपकी निकलती हुई तोंद को कंट्रोल (weight loss) करने में काफी लाभदायक होता है। ➡ खीरे के जूस 🍹 की सामग्री : – दो खीरे 🍆🍆 – दो छोटे चम्मच नींबू का रस 🍋🍋 – अदरक का एक छोटा टुकड़ा 🍗🍗 – दो छोटे चम्मच चीनी 🍚 – एक छोटा चम्मच- भुना जीरा पाउडर 🍜 – तीन से चार पुदीना पत्ती 🌿 – काला व सफेद नमक स्वादानुसार 🍚 ➡ खीरे का जूस 🍹 बनाने की विधि : खीरे को धोलें और छोटा छोटा काट कर छिलके सहित जूसर में डालें। अदरक और पुदीना भी जूसर में डाल दें और जूस निकाल लें। इसमें चीनी, नींबू का रस, भुना जीरा पाउडर, काला व सफेद नमक स्वादानुसार डालकर अच्छी तरह हिलाएं। फिर 1 ग्लास झट से गटक (पीना) जाए और इसका कमाल देखे, देखते ही देखते तोंद हो जायेगी फिट एंड फाइन।

+5 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 29 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 12 शेयर
Madan Kaushik May 25, 2019

***अपना पोस्ट*** **नक्षत्रवाणी** गजाननं भूतगनादि सेवितम, कपित्थजम्बू फलचारु भक्षणम। उमासुतं शोकविनाशकारकम, नमामि विघ्नेश्वर पादपंकजम।। क्यों भटके मन बावरा, दर-दर ठोकर खाये...! शरण श्याम की ले ले प्यारे, जनम सफल हो जाये...!! 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 भुजगतल्पगतं घनसुन्दरं गरुडवाहनमम्बुजलोचनम् । नलिनचक्रगदाकरमव्ययं भजत रे मनुजाः कमलापतिम् ।। ~~~~~~~~~~~~~~~~~~ सर्वप्रथम आप सभी परम् प्रिय धर्मपारायण, ज्योतिषविद्या प्रेमी विद्वतजनों को आचार्य मदन तुलसीराम जी कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले) की ओर से सादर-सप्रेम 🌸*जय श्री कृष्ण* 🌸 मंगल प्रभात 🌻💐 इसी के साथ आप सभी को आज * श्री रासबिहारी बोस जयंती* एवं विश्व थाइराइड दिवस की भी कोटिशः हार्दिक शुभकामनाएं* एवं बधाई.....!!! *बुध ने किया अपनी अधिमित्र राशि 'वृषभ राशि' में गोचर। जानिये क्या होंगे आप पर और वैश्विक अर्थव्यवस्था और भारतीय राजनीति पर इसके प्रभाव*...??? *बुध के वृषभ राशि में परिवर्तन से होगी आपकी चाँदी ही चाँदी! कैसे...? तो इसके लिए हमसे संपर्क कर के जानें इस गोचर का प्रभाव*। *प्रतिकूल या निर्बल बुध से कौनसा रत्न-रुद्राक्ष करेगा आपका बचाव*....??? बुध को कुंडली में मजबूत बनाने के लिए हरा पन्ना धारण करना चाहिए। यह देखा गया है कि इसे धारण करने से बुध संबंधी सभी अशुभ फल समाप्त हो जाते हैं और जातक को बुध के अच्छे फलों की प्राप्ति होने लगती है। वहीं रुद्राक्ष की बात करें तो बुध का कारक रुद्राक्ष चार मुखी रुद्राक्ष को माना गया है। इसे भी धारण करने से अशुभ फल समाप्त हो जाते हैं और शुभ फलों में वृद्धि होने लगती है।  *बुध गोचर का समय*...??? बुध ग्रह 18 मई 2019, शनिवार को रात्रि 23:25 बजे मेष से वृषभ राशि में गोचर किया और 2 जून 2019, रविवार प्रातः 00:08 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेंगे। तो चलिए जानते हैं इसका प्रभाव हर राशि पर कैसा पड़ेगा। लेकिन इससे पहले आइये जानते हैं कि इस गोचर का देश-विदेश पर कैसा रहेगा प्रभाव:-  *लोकसभा चुनाव परिणामों में बुध दिखायेगा अपना प्रभाव* लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम कल यानि 23 मई को आ चुके हैं। ऐसे में बुद्धि, कम्युनिकेशन, नेटवर्किंग, यात्रा आदि के कारक ग्रह/देव 'बुध' के वृषभ राशि में आने से चुनाव परिणामों में कुछ बेहद रोचक बदलाव देखने को मिल सकते हैं। जैसा कि बताया था कि यह चुनाव राष्ट्रीय और क्षेत्रीय पार्टियों के लिए बेहद अहम हैं क्योंकि इस चुनाव के परिणाम से ही देश को उसका अगला प्रधानमंत्री मिलेगा और "इसलिए बुध देव के इस परिवर्तन से संभावना बन रही है कि भारतीय जनता पार्टी को गोचर का शुभ फल प्राप्त हो सकता है। नरेंद्र मोदी 300+सीटों के साथ देश के अगले प्रधानमंत्री बन सकते हैं।" तो राष्ट्रभक्तों आपके सामने अपनी नक्षत्रवानी में एग्जिट पोल्स से भी कई दिन पहले की गई हमारी यह भविष्यवाणी बिल्कुल सत्य सिद्ध हुई है। अकेले BJP को ही 303 और अपने सहयोगियों के साथ मतलब NDA को 353 सीटों जैसा बड़ा नम्बर मिला । एक ऐतिहासिक जीत भारतीय जनता पार्टी ने अपने सहयोगियों के साथ प्राप्त की है। माननीय मोदी जी व पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई एवं कोटिशः शुभकामनाएं....!!! *अब राशि विशेष के अनुसार इस गोचर विशेष का आप पर क्या शुभ या अशुभ प्रभाव पड़ेगा...?* यह विस्तारपूर्वक जानने के लिए हमें व्हाट्सएप्प करें...! मित्रों अभी भी 5 ग्रुप्स से ज्यादा ग्रुप्स में एक साथ में कोई भी पोस्ट फॉरवर्ड ना कर पाने की कंडीशन के चलते करीब 300+ ग्रूपस में भेजेते-2 आपकी प्रिय नक्षत्रवानी आपके पास या कुछ ग्रुपस में बहुत देर से पहुँच पाती है। तकनीकी प्रॉब्लम दूर नहीं हो पाने से विलंब हो जाता है, इसलिए क्षमा करना मित्रों। आपके पास एक साथ सभी ग्रुप्स में भेज पाने की कोई युक्ति हो तो मुझे तुरंत सूचित करें, आपकी बड़ी कृपा होगी। 💐💐 ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ आइये...! अब चलें आपके प्रिय पोस्ट 'नक्षत्रवाणी' के अंतर्गत आज कुछ विशेष महत्वपूर्ण जानकारी, दृकपंचांग, चन्द्र राशिफल' एवं 'आरोग्य मंत्र' की ज्ञानयात्रा पर... 𴀽𴀊🕉श्री हरिहरौविजयतेतराम्🕉 🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार* :- आज दिनांक 25 मई सन 2019 शनिवार प्रस्तुत है ««« *आज का दृकपंचांग:««« (दिनमान को छोड़ कर यहां दिए गए सभी तिथि, नक्षत्र आदि के समय समाप्ति काल हैं।). कलियुगाब्द........................5120 विक्रम संवत---------------------2076 वि. संवत्सर (उत्तर)--------परिधावी शक सम्वंत ............1941(विकारी) मास.................................ज्येष्ठ पक्ष...................................कृष्ण तिथी..................................षष्ठी प्रातः 06.25 पर्यंत पश्चात सप्तमी रवि..............................उत्तरायण सूर्योदय..........प्रातः 05.43.44 पर सूर्यास्त.........संध्या 07.04.19 पर चंद्रोदय............रात्रि 12.34.02 पर चंद्रास्त...........प्रातः 11.09.28 पर सूर्य राशि.............................वृषभ चन्द्र रशि............................मकर नक्षत्र..................................श्रवण प्रातः 10.06 पर्यंत पश्चात धनिष्ठा योग..................................ब्रह्मा प्रातः 10.51 पर्यंत पश्चात इंद्र करण................................वणिज प्रातः 06.25 पर्यंत पश्चात विष्टि ऋतु....................................ग्रीष्म दिन.................................शनिवार 🚦 *दिशाशूल :-* पश्चिमदिशा - यदि आवश्यक हो तो जौ का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें। ☸ शुभ अंक.......................7 🔯 शुभ रंग.......................काला/नीला 👁‍🗨 *राहुकाल :-* प्रात: 09.05 से 10.44 तक । 🌞 *उदय लग्न मुहूर्त :-* *वृषभ* 05:10:59 07:09:16 *मिथुन* 07:09:16 09:22:35 *कर्क* 09:22:35 11:38:23 *सिंह* 11:38:23 13:49:50 *कन्या* 13:49:50 16:00:09 *तुला* 16:00:09 18:14:24 *वृश्चिक* 18:14:24 20:30:12 *धनु* 20:30:12 22:35:30 *मकर* 22:35:30 24:22:21 *कुम्भ* 24:22:21 25:55:40 *मीन* 25:55:40 27:26:36 *मेष* 27:26:36 29:07:02 ✡ *चौघडिया :-* प्रात: 07.25 से 09.04 तक शुभ दोप. 12.22 से 02.02 तक चर दोप. 02.02 से 03.41 तक लाभ दोप. 03.41 से 05.20 तक अमृत संध्या 06.59 से 08.20 तक लाभ रात्रि 09.41 से 11.02 तक शुभ । 📿 *आज का मंत्र :-* || ॐ हं हनुमते नमः || 📢 *संस्कृत सुभाषितानि -* अथाहिंसा क्षमा सत्यं ह्रीश्रद्धेन्द्रिय संयमाः । दानमिज्या तपो ध्यानं दशकं धर्म साधनम् ॥ अर्थात :- अहिंसा, क्षमा, सत्य, लज्जा, श्रद्धा, इंद्रियसंयम, दान, यज्ञ, तप और ध्यान – ये दस धर्म के साधन है । 🍃 *आरोग्य मंत्र:-* *पुरुषों के लिए हेल्थ टिप्स -* *3. शराब को सीमित करें -* शराब पीते समय संयम रखना बहुत ही जरूरी है। शराब का सेवन स्वास्थ्य के लिए विनाशकारी है। ज्यादा शराब पीने लीवर और यकृत को नुकसान पहुंचता है। ज्यादा शराब पीने से कई अंगों पर बुरा असर डाल सकता है और 200 से ज्यादा बीमारियां पैदा कर सकता है। ⚜ *आज का चंद्र राशिफल :-* 🐏 *राशि फलादेश मेष :-* *(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)* मित्रों तथा रिश्तेदारों की सहायता करने का अवसर प्राप्त होगा। योजना फलीभूत होगी। कार्य का विस्तार होगा। कार्यसिद्धि से प्रसन्नता रहेगी। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। जल्दबाजी में निर्णय न लें। कारोबार अच्छा चलेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। 🐂 *राशि फलादेश वृष :-* *(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)* पूजा-पाठ में मन लगेगा। सत्संग का लाभ प्राप्त होगा। आय में वृद्धि होगी। कानूनी अड़चन दूर होगी। विवाद को तूल न दें। छोटी-मोटी यात्रा हो सकती है। लेन-देन में सावधानी रखें। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। 👫 *राशि फलादेश मिथुन :-* *(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)* क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। वाणी में कटु शब्दों के प्रयोग से बचें। चोट व दुर्घटना से शारीरिक हानि हो सकती है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। समय प्रतिकूल है। व्यापार में मनोनुकूल लाभ होगा। नौकरी में तनाव रहेगा। 🦀 *राशि फलादेश कर्क :-* *(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)* आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। स्वास्थ्य अच्‍छा रहेगा। उत्साह व प्रसन्नता से कार्य कर पाएंगे। भाग्य का साथ रहेगा। प्रतिद्वंद्वी सक्रिय रहेंगे। प्रमाद न करें। 🦁 *राशि फलादेश सिंह :-* *(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)* बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। समय की अनुकूलता रहेगी। भरपूर प्रयास करें। सफलता प्राप्त होगी। स्थायी संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। 👩🏻‍🦱 *राशि फलादेश कन्या :-* *(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)* बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। परीक्षा व प्रतियोगिता आदि में सफलता प्राप्त होगी। रचनात्मक कार्यों में रुचि रहेगी। नौकरी में नया कार्य कर पाएंगे। कार्य की प्रशंसा होगी। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। ⚖ *राशि फलादेश तुला :-* *(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)* किसी व्यक्ति विशेष से कहासुनी हो सकती है। स्वास्थ्‍य का पाया कमजोर रह सकता है। भावना में बहकर कोई निर्णय न लें। चिंता तथा तनाव रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ से निकल सकते हैं। आय में निश्चितता रहेगी। व्यापार ठीक चलेगा। 🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-* *(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)* पहले की गई मेहनत का फल मिलेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। समाजसेवा करने का अवसर प्राप्त होगा। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। आय में वृद्धि होगी। जल्दबाजी न करें। 🏹 *राशि फलादेश धनु :-* *(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)* व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। आत्मसम्मान बढ़ेगा। परिवार के साथ समय सुखमय व्यतीत होगा। पार्टनरों से मतभेद दूर होंगे। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। लाभ होगा। 🐊 *राशि फलादेश मकर :-* *(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)* यात्रा लाभदायक रहेगी। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। भाग्य की अनुकूलता का लाभ लें। कोई बड़ी समस्या उत्पन्न हो सकती है। बुद्धि का प्रयोग करें। आय में वृद्धि होगी। दूसरों के कार्य में दखल न दें। 🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-* *(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)* व्ययवृद्धि होगी। आर्थिक उन्नति के प्रयास असफल रहेंगे। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। लेन-देन में सावधानी रखें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। 🐠 *राशि फलादेश मीन :-* *(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)* व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। रुका हुआ धन मिल सकता है। व्यापार-व्यवसाय में उन्नति होगी। स्वास्थ्य अच्‍छा रहेगा। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। जल्दबाजी न करें। और ज़रा इस पर भी ज़रूर ध्यान दें मित्रों...! अगर...??? 1) खूब मेहनत के बाद भी या व्यापार-व्यवसाय में पर्याप्त इन्वेस्टमेंट करने के बाद भी आप अकारण आर्थिक दृष्टी से निरंतर पिछड़ते ही जा रहे हैं....? 2) एक ही नौकरी में लम्बे समय तक कार्य नहीं कर पाते हैं या वहां दिल से काम करते हुए भी आपको कोई पूछता ही नहीं है...? आपकी प्रमोशन ड्यू है कब से लेकिन आप बस दूसरों को आगे बढ़ते देख कर अपने नसीब को कोस रहे हैं...? आपके प्रतिद्वंदी अलग से परेशान करते रहते हैं...? 3) आपस में निरंतर अकारण क्लेश होता रहता है..? 4) शेयर मार्किट से कमाना चाहते हैं पर हर बार नुकसान उठा बैठते हैं...? 5) बिमारी आपको छोड़ ही रही है...? घर का हरएक व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से त्रस्त है...? आमदनी का एक बड़ा हिस्सा हमेशां इसी पर खर्च हो जाता है...? 6) अकारण ही विवाह योग्य बच्चों के विवाह में दिक्कतें आ रही हैं...? 7) शत्रुओं ने आपकी रात की नींद और दिन का चैन हराम किया हुआ है...? 8) पैतृक सम्पति विवाद सुलझ ही नहीं रहा है...? और संपति केवास्तविक हकदार आप हैं तथा आप इसे अपने हक में सुलझना चाहते हैं...? 9) विदेश यात्रा या विदेश में सेटलमेंट को लेकर बहुत समय से परेशान हैं...? 10) आपको डरावने सपने आते हैं..? सपने में सांप या भूत-प्रेत या ऐसे ही नींद उड़ाने वाले दृश्य दीखते हैं...? 11) फिल्म या मीडिया में बहुत समय से संघर्ष के बाद भी सफलता​ नहीं मिल रही...? 12) राजनीति को ही आप अपना कैरियर बनाना चाहते हैं पर आपको कुछ भी समझ नहीं आ रहा...? यदि हाँ...??? तो यह सब अकारण ही नहीं है...! इसके पीछे बहुत ठोस कारण हैं जो कि आपकी जन्म कुंडली या आपके घर-आफिस का वास्तु देखकर या आपकी जन्मकुंडली भी ना होने की स्थिति में हमारे दीर्घ अध्ययन और प्रैक्टिकल ज्योतिषीय अनुभव के आधार पर अन्य विधियों से जाने जा सकते हैं...? तो अब आप और देरी ना करें और तुरंत हमें फोन करें...! आपकी उन्नति निश्चित है और आपकी मंजिल अब दूर नहीं...! ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ प्रस्तुति: आचार्य मदन टी.कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले, मूल निकास: गौड़ बंगाल एवं तत्पश्चात ढाणी भालोट-झुंझनूँ-राज.) (चयनित/Appointed/) ज्योतिष एवं वास्तु शोध वैज्ञानिक एवं पूर्व विभागाध्यक्ष: TARF, Dadar-Mumbai साभार: बाँके बिहारी (धुरंधर वैदिक विद्वानों का अद्वितीय वैश्विकमंच) कार्यकारी अध्यक्ष: एस्ट्रो-वर्ल्ड मुंबई व सिरसा (सभी दैहिक दैविक भौतिक समस्याओं का एक ही जगह सटीक निदान व स्थायी समाधान) अध्यक्ष: सातफेरे डॉट कॉम मुंबई व सिरसा (आपके अपनों के दिव्य एवं सुसंस्कारी वैवाहिक जीवन की झटपट शुरूआत हेतु अनूठा संस्थान) नोट: हमारी या हमारे संस्थान 'एस्ट्रो-वर्ल्ड' तथा आपके अपनों के वैवाहिक जीवन सम्बन्धी सभी समस्याओं का एकमात्र हल एवं विश्व के इस सबसे अनूठे मंच 'सातफेरे डॉट कॉम' मुंबई या सिरसा की किसी भी प्रकार की गरिमापूर्ण सेवा जैसे वैज्ञानिकतापूर्ण ज्योतिष-वास्तु मार्गदर्शन, सभी प्रकार के मुहूर्त शोधन, नामकरण संस्कार, विवाह संस्कार या अन्य कोई भी वैदिक पूजा-अनुष्ठान आयोजित करवाने, रत्न अभिमन्त्रण, सभी राशिरत्न-उपरत्न, मणि-माणिक्य, सियारसिंगी, हत्थाजोड़ी, नागकेसर, विविध प्रकार के वास्तु पिरामिडज एवं अन्य कई प्रकार की सौभाग्यवर्धक वस्तुओं की प्राप्ति हेतु हमारे... सम्पर्क सूत्र: 9987815015 / 9991610514 ईमेल आई डी: [email protected] 🌺 आपका सप्ताहांत ईशकृपा से परम मंगलमय हो मित्रो...! *🚩जयतु जयतु हिन्दुराष्ट्रम🚩* 🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩 ।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।। ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 6 शेयर
Shakuntla May 24, 2019

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 13 शेयर
Madan Kaushik May 24, 2019

***अपना पोस्ट*** **नक्षत्रवाणी** गजाननं भूतगनादि सेवितम, कपित्थजम्बू फलचारु भक्षणम। उमासुतं शोकविनाशकारकम, नमामि विघ्नेश्वर पादपंकजम।। क्यों भटके मन बावरा, दर-दर ठोकर खाये...! शरण श्याम की ले ले प्यारे, जनम सफल हो जाये...!! 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 भुजगतल्पगतं घनसुन्दरं गरुडवाहनमम्बुजलोचनम् । नलिनचक्रगदाकरमव्ययं भजत रे मनुजाः कमलापतिम् ।। ~~~~~~~~~~~~~~~~~~ सर्वप्रथम आप सभी परम् प्रिय धर्मपारायण, ज्योतिषविद्या प्रेमी विद्वतजनों को आचार्य मदन तुलसीराम जी कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले) की ओर से सादर-सप्रेम 🌸*जय श्री कृष्ण* 🌸 मंगल प्रभात 🌻💐 इसी के साथ आप सभी को आज * श्री तारण तरण जयंती* की भी कोटिशः हार्दिक शुभकामनाएं* एवं बधाई.....!!! *बुध ने किया अपनी अधिमित्र राशि 'वृषभ राशि' में गोचर। जानिये क्या होंगे आप पर और वैश्विक अर्थव्यवस्था और भारतीय राजनीति पर इसके प्रभाव*...??? *बुध के वृषभ राशि में परिवर्तन से होगी आपकी चाँदी ही चाँदी! कैसे...? तो इसके लिए हमसे संपर्क कर के जानें इस गोचर का प्रभाव*। *प्रतिकूल या निर्बल बुध से कौनसा रत्न-रुद्राक्ष करेगा आपका बचाव*....??? बुध को कुंडली में मजबूत बनाने के लिए हरा पन्ना धारण करना चाहिए। यह देखा गया है कि इसे धारण करने से बुध संबंधी सभी अशुभ फल समाप्त हो जाते हैं और जातक को बुध के अच्छे फलों की प्राप्ति होने लगती है। वहीं रुद्राक्ष की बात करें तो बुध का कारक रुद्राक्ष चार मुखी रुद्राक्ष को माना गया है। इसे भी धारण करने से अशुभ फल समाप्त हो जाते हैं और शुभ फलों में वृद्धि होने लगती है।  *बुध गोचर का समय*...??? बुध ग्रह 18 मई 2019, शनिवार को रात्रि 23:25 बजे मेष से वृषभ राशि में गोचर किया और 2 जून 2019, रविवार प्रातः 00:08 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेंगे। तो चलिए जानते हैं इसका प्रभाव हर राशि पर कैसा पड़ेगा। लेकिन इससे पहले आइये जानते हैं कि इस गोचर का देश-विदेश पर कैसा रहेगा प्रभाव:-  *लोकसभा चुनाव परिणामों में बुध दिखायेगा अपना प्रभाव* लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम कल यानि 23 मई को आ चुके हैं। ऐसे में बुद्धि, कम्युनिकेशन, नेटवर्किंग, यात्रा आदि के कारक ग्रह/देव 'बुध' के वृषभ राशि में आने से चुनाव परिणामों में कुछ बेहद रोचक बदलाव देखने को मिल सकते हैं। जैसा कि बताया था कि यह चुनाव राष्ट्रीय और क्षेत्रीय पार्टियों के लिए बेहद अहम हैं क्योंकि इस चुनाव के परिणाम से ही देश को उसका अगला प्रधानमंत्री मिलेगा और "इसलिए बुध देव के इस परिवर्तन से संभावना बन रही है कि भारतीय जनता पार्टी को गोचर का शुभ फल प्राप्त हो सकता है। नरेंद्र मोदी 300+सीटों के साथ देश के अगले प्रधानमंत्री बन सकते हैं।" तो राष्ट्रभक्तों आपके सामने अपनी नक्षत्रवानी में एग्जिट पोल्स से भी कई दिन पहले की गई हमारी यह भविष्यवाणी बिल्कुल सत्य सिद्ध हुई है। 351सीटों जैसा महाशुभ आंकड़ा NDA को मिला । एक ऐतिहासिक जीत भारतीय जनता पार्टी ने अपने सहयोगियों के साथ प्राप्त की है। माननीय मोदी जी व पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं....!!! *अब राशि विशेष के अनुसार इस गोचर विशेष का आप पर क्या शुभ या अशुभ प्रभाव पड़ेगा...?* यह विस्तारपूर्वक जानने के लिए हमें व्हाट्सएप्प करें...! मित्रों अभी भी 5 ग्रुप्स से ज्यादा ग्रुप्स में एक साथ में कोई भी पोस्ट फॉरवर्ड ना कर पाने की कंडीशन के चलते करीब 300+ ग्रूपस में भेजेते-2 आपकी प्रिय नक्षत्रवानी आपके पास या कुछ ग्रुपस में बहुत देर से पहुँच पाती है। तकनीकी प्रॉब्लम दूर नहीं हो पाने से विलंब हो जाता है, इसलिए क्षमा करना मित्रों। आपके पास एक साथ सभी ग्रुप्स में भेज पाने की कोई युक्ति हो तो मुझे तुरंत सूचित करें, आपकी बड़ी कृपा होगी। 💐💐 ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ आइये...! अब चलें आपके प्रिय पोस्ट 'नक्षत्रवाणी' के अंतर्गत आज कुछ विशेष महत्वपूर्ण जानकारी, दृकपंचांग, चन्द्र राशिफल' एवं 'आरोग्य मंत्र' की ज्ञानयात्रा पर... 𴀽𴀊🕉श्री हरिहरौविजयतेतराम्🕉 🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार* :- आज दिनांक 24 मई सन 2019 शुक्रवार प्रस्तुत है ««« *आज का दृकपंचांग:««« (दिनमान को छोड़ कर यहां दिए गए सभी तिथि, नक्षत्र आदि के समय समाप्ति काल हैं।). कलियुगाब्द........................5120 विक्रम संवत---------------------2076 वि. संवत्सर (उत्तर)--------परिधावी शक सम्वंत ............1941(विकारी) मास.................................ज्येष्ठ पक्ष...................................कृष्ण तिथी................................षष्ठी दसूरे दिन प्रातः 06.25 पर्यंत पश्चात सप्तमी रवि............................उत्तरायण सूर्योदय........प्रातः 05.43.57 पर सूर्यास्त.......संध्या 07.04.22 पर चंद्रोदय..........रात्रि 11.53.00 पर चंद्रास्त.........प्रातः 10.17.24 पर सूर्य राशि...........................वृषभ चन्द्र रशि..........................मकर नक्षत्र.........................उत्तराषाढ़ा प्रातः 07.22 पर्यंत पश्चात श्रवण योग..................................शुक्ल प्रातः 10.06 पर्यंत पश्चात ब्रह्मा करण...............................गरज संध्या 05.21 पर्यंत पश्चात वणिज ऋतु..................................ग्रीष्म दिन................................शुक्रवार ☸ शुभ अंक.......................6 🔯 शुभ रंग...............श्वेत/आसमानी 👁‍🗨 *राहुकाल :-* प्रात: 10.44 से 12.23 तक । 🚦 *दिशाशूल :-* पश्चिमदिशा - यदि आवश्यक हो तो जौ का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें। 🌞 *उदय लग्न मुहूर्त -* *वृषभ* 05:14:55 07:13:12 *मिथुन* 07:13:12 09:26:31 *कर्क* 09:26:31 11:42:19 *सिंह* 11:42:19 13:53:46 *कन्या* 13:53:46 16:04:05 *तुला* 16:04:05 18:18:20 *वृश्चिक* 18:18:20 20:34:08 *धनु* 20:34:08 22:39:26 *मकर* 22:39:26 24:26:17 *कुम्भ* 24:26:17 25:59:35 *मीन* 25:59:35 27:30:32 *मेष* 27:30:32 29:10:58 ✡ *चौघडिया :-* प्रात: 07.25 से 09.04 तक लाभ प्रात: 09.04 से 10.43 तक अमृत दोप. 12.22 से 02.02 तक शुभ सायं 05.20 से 06.59 तक चंचल रात्रि 09.41 से 11.01 तक लाभ । 🇬🇧 *आज का मंत्र :-* || ॐ सुवर्णाय नमः || 📢 *संस्कृत सुभाषितानि -* धर्मस्य दुर्लभो ज्ञाता सम्यक् वक्ता ततोऽपि च । श्रोता ततोऽपि श्रद्धावान् कर्ता कोऽपि ततः सुधीः ॥ अर्थात :- धर्म को जाननेवाला दुर्लभ होता है, उसे श्रेष्ठ तरीके से बतानेवाला उससे भी दुर्लभ, श्रद्धा से सुननेवाला उससे दुर्लभ, और धर्म का आचरण करनेवाला सुबुद्धिमान सबसे दुर्लभ है । 🍃 *आरोग्य मंत्र:-* *पुरुषों के लिए हेल्थ टिप्स -* *2. खतरनाक ट्रांस वसा से बनाएं दूरी -* खतरनाक ट्रांस वसा से पुरुषों को दूरी बनाकर रखनी चाहिए। गहरे तले हुए खाद्य पदार्थ और हाइड्रोजनीकृत तेलों से बने ट्रांस वसा हृदय रोग के खतरे बढ़ाते हैं। केवल स्वस्थ वसा खाएं, जैसे कि जैतून का तेल और सैल्मन मछली में पाए जाने वाला ओमेगा -3 ऑइल जो वास्तव में हृदय रोग के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करते हैं। ⚜ *आज का चंद्र राशिफल :-* 🐏 *राशि फलादेश मेष :-* *(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)* आर्थिक उन्नति के लिए योजना बनेगी। सामाजिक कार्य करने की प्रेरणा प्राप्त होगी। मान-सम्मान मिलेगा। काफी समय से अटके काम पूरे होंगे। नए काम मिल सकते हैं। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। लाभ के अवसर प्राप्त होंगे। प्रसन्नता रहेगी। 🐂 *राशि फलादेश वृष :-* *(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)* किसी धार्मिक कार्य में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। कोर्ट व कचहरी के रुके कार्य मनोनुकूल रहेंगे। धन प्राप्ति सहज होगी। किसी से कहासुनी हो सकती है। यात्रा के योग हैं। सफलता प्राप्त होगी। धन संबंधी कार्य में जोखिम न लें। 👫 *राशि फलादेश मिथुन :-* *(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)* वाहन व मशीनरी के प्रयोग में लापरवाही न करें। शारीरिक क्षति हो सकती है। विवाद के अवसर आने न दें। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। आय बनी रहेगी। किसी कार्य के बारे में चिंता रहेगी। 🦀 *राशि फलादेश कर्क :-* *(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)* शत्रु सक्रिय रहेंगे। कानूनी अड़चन दूर होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। दूसरों से अपेक्षा पूरी होगी। प्रसन्नता रहेगी। 🦁 *राशि फलादेश सिंह :-* *(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)* भूमि, भवन, फैक्टरी व शोरूम इत्यादि की खरीद-फरोख्त लाभदायक रहेगी। रोजगार में वृद्धि होगी। भाग्य का साथ रहेगा। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। व्यापारिक मतभेद दूर होंगे। शारीरिक कष्ट की आशंका है। प्रमाद न करें। 👩🏻‍🦱 *राशि फलादेश कन्या :-* *(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)* किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त हो सकता है। छोटी-मोटी यात्रा हो सकती है। विद्यार्थी वर्ग अपने कार्य में सफलता प्राप्त करेगा। संगीत इत्यादि में रुचि रहेगी। नए विचार मन में आएंगे। मनपसंद भोजन का आनंद प्राप्त होगा। आय में वृद्धि होगी। प्रसन्नता रहेगी। ⚖ *राशि फलादेश तुला :-* *(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)* कोई पुराना रोग परेशानी का कारण बन सकता है। किसी अपने ही व्यक्ति से कहासुनी हो सकती है। चिड़चिड़ापन रहेगा। काम में मन नहीं लगेगा। किसी कार्य के होने न होने के बारे में शंका रहेगी। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। 🦂 *राशि फलादेश वृश्चिक :-* *(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)* किसी प्रकार से धनहानि हो सकती है, सावधान रहें। शारीरिक कष्ट की आशंका है। थोड़े प्रयास से ही कार्यसिद्धि होगी। असहाय लोगों की मदद करने का अवसर प्राप्त होगा। मान-सम्मान मिलेगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। जोखिम न उठाएं। 🏹 *राशि फलादेश धनु :-* *(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)* घर में अतिथियों का आगमन होगा। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगा। मनोरंजन का समय मिलेगा। किसी कार्य के बारे में चिंता हो सकती है। भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। वाणी में कटु शब्दों के प्रयोग से बचें। 🐊 *राशि फलादेश मकर :-* *(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)* भाग्योन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। रोजगार में वृद्धि होगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। नवीन वस्त्राभूषण पर व्यय हो सकता है। किसी अनचाही समस्या से सामना हो सकता है। विवेक से कार्य करें। सफलता मिलेगी। 🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-* *(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)* शारीरिक कष्ट की आशंका है। लापरवाही न करें। कोई बड़ा खर्च हो सकता है। कुसंगति से हानि होगी। अपरिचित व्यक्तियों पर अंधविश्वास न करें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। व्यापार ठीक चलेगा। 🐠 *राशि फलादेश मीन :-* *(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)* बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। किसी लंबी यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। नया काम मिलेगा, प्रयास करें। भाग्य का साथ रहेगा। आय में वृद्धि होगी। व्यस्तता रहेगी। स्वास्थ्‍य अच्छा रहेगा। प्रमाद न करें। और ज़रा इस पर भी ज़रूर ध्यान दें मित्रों...! अगर...??? 1) खूब मेहनत के बाद भी या व्यापार-व्यवसाय में पर्याप्त इन्वेस्टमेंट करने के बाद भी आप अकारण आर्थिक दृष्टी से निरंतर पिछड़ते ही जा रहे हैं....? 2) एक ही नौकरी में लम्बे समय तक कार्य नहीं कर पाते हैं या वहां दिल से काम करते हुए भी आपको कोई पूछता ही नहीं है...? आपकी प्रमोशन ड्यू है कब से लेकिन आप बस दूसरों को आगे बढ़ते देख कर अपने नसीब को कोस रहे हैं...? आपके प्रतिद्वंदी अलग से परेशान करते रहते हैं...? 3) आपस में निरंतर अकारण क्लेश होता रहता है..? 4) शेयर मार्किट से कमाना चाहते हैं पर हर बार नुकसान उठा बैठते हैं...? 5) बिमारी आपको छोड़ ही रही है...? घर का हरएक व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से त्रस्त है...? आमदनी का एक बड़ा हिस्सा हमेशां इसी पर खर्च हो जाता है...? 6) अकारण ही विवाह योग्य बच्चों के विवाह में दिक्कतें आ रही हैं...? 7) शत्रुओं ने आपकी रात की नींद और दिन का चैन हराम किया हुआ है...? 8) पैतृक सम्पति विवाद सुलझ ही नहीं रहा है...? और संपति केवास्तविक हकदार आप हैं तथा आप इसे अपने हक में सुलझना चाहते हैं...? 9) विदेश यात्रा या विदेश में सेटलमेंट को लेकर बहुत समय से परेशान हैं...? 10) आपको डरावने सपने आते हैं..? सपने में सांप या भूत-प्रेत या ऐसे ही नींद उड़ाने वाले दृश्य दीखते हैं...? 11) फिल्म या मीडिया में बहुत समय से संघर्ष के बाद भी सफलता​ नहीं मिल रही...? 12) राजनीति को ही आप अपना कैरियर बनाना चाहते हैं पर आपको कुछ भी समझ नहीं आ रहा...? यदि हाँ...??? तो यह सब अकारण ही नहीं है...! इसके पीछे बहुत ठोस कारण हैं जो कि आपकी जन्म कुंडली या आपके घर-आफिस का वास्तु देखकर या आपकी जन्मकुंडली भी ना होने की स्थिति में हमारे दीर्घ अध्ययन और प्रैक्टिकल ज्योतिषीय अनुभव के आधार पर अन्य विधियों से जाने जा सकते हैं...? तो अब आप और देरी ना करें और तुरंत हमें फोन करें...! आपकी उन्नति निश्चित है और आपकी मंजिल अब दूर नहीं...! ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※ प्रस्तुति: आचार्य मदन टी.कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले, मूल निकास: गौड़ बंगाल एवं तत्पश्चात ढाणी भालोट-झुंझनूँ-राज.) (चयनित/Appointed/) ज्योतिष एवं वास्तु शोध वैज्ञानिक एवं पूर्व विभागाध्यक्ष: TARF, Dadar-Mumbai साभार: बाँके बिहारी (धुरंधर वैदिक विद्वानों का अद्वितीय वैश्विकमंच) कार्यकारी अध्यक्ष: एस्ट्रो-वर्ल्ड मुंबई व सिरसा (सभी दैहिक दैविक भौतिक समस्याओं का एक ही जगह सटीक निदान व स्थायी समाधान) अध्यक्ष: सातफेरे डॉट कॉम मुंबई व सिरसा (आपके अपनों के दिव्य एवं सुसंस्कारी वैवाहिक जीवन की झटपट शुरूआत हेतु अनूठा संस्थान) नोट: हमारी या हमारे संस्थान 'एस्ट्रो-वर्ल्ड' तथा आपके अपनों के वैवाहिक जीवन सम्बन्धी सभी समस्याओं का एकमात्र हल एवं विश्व के इस सबसे अनूठे मंच 'सातफेरे डॉट कॉम' मुंबई या सिरसा की किसी भी प्रकार की गरिमापूर्ण सेवा जैसे वैज्ञानिकतापूर्ण ज्योतिष-वास्तु मार्गदर्शन, सभी प्रकार के मुहूर्त शोधन, नामकरण संस्कार, विवाह संस्कार या अन्य कोई भी वैदिक पूजा-अनुष्ठान आयोजित करवाने, रत्न अभिमन्त्रण, सभी राशिरत्न-उपरत्न, मणि-माणिक्य, सियारसिंगी, हत्थाजोड़ी, नागकेसर, विविध प्रकार के वास्तु पिरामिडज एवं अन्य कई प्रकार की सौभाग्यवर्धक वस्तुओं की प्राप्ति हेतु हमारे... सम्पर्क सूत्र: 9987815015 / 9991610514 ईमेल आई डी: [email protected] 🌺 आपका दिन ईशकृपा से परम मंगलमय हो मित्रो...! *🚩जयतु जयतु हिन्दुराष्ट्रम🚩* 🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩 ।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।। ※══❖═══▩ஜ ۩۞۩ ஜ▩═══❖══※

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 10 शेयर
Devendra Angira May 24, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भोजन सम्बन्धी कुछ नियम ... १ - पांच अंगो ( दो हाथ , २ पैर , मुख ) को अच्छी तरह से धो कर ही भोजन करे ! २. गीले पैरों खाने से आयु में वृद्धि होती है ! ३. प्रातः और सायं ही भोजन का विधान है ! ४. पूर्व और उत्तर दिशा की ओर मुह करके ही खाना चाहिए ! ५. दक्षिण दिशा की ओर किया हुआ भोजन प्रेत को प्राप्त होता है ! ६ . पश्चिम दिशा की ओर किया हुआ भोजन खाने से रोग की वृद्धि होती है ! ७. शैय्या पर , हाथ पर रख कर , टूटे फूटे वर्तनो में भोजन नहीं करना चाहिए ! ८. मल मूत्र का वेग होने पर , कलह के माहौल में , अधिक शोर में , पीपल ,वट वृक्ष के नीचे , भोजन नहीं करना चाहिए ! ९ परोसे हुए भोजन की कभी निंदा नहीं करनी चाहिए ! १०. खाने से पूर्व अन्न देवता , अन्नपूर्णा माता की स्तुति कर के ,उनका धन्यवाद देते हुए , तथा सभी भूखो को भोजन प्राप्त हो इस्वर से ऐसी प्राथना करके भोजन करना चाहिए ! ११. भोजन बनने वाला स्नान करके ही शुद्ध मन से , मंत्र जप करते हुए ही रसोई में भोजन बनाये और सबसे पहले ३ रोटिया अलग निकाल कर ( गाय , कुत्ता , और कौवे हेतु ) फिर अग्नि देव का भोग लगा कर ही घर वालो को खिलाये ! १२. इर्षा , भय , क्रोध , लोभ , रोग , दीन भाव , द्वेष भाव , के साथ किया हुआ भोजन कभी पचता नहीं है ! १३. आधा खाया हुआ फल , मिठाईया आदि पुनः नहीं खानी चाहिए ! १४. खाना छोड़ कर उठ जाने पर दुबारा भोजन नहीं करना चाहिए ! १५. भोजन के समय मौन रहे ! १६. भोजन को बहुत चबा चबा कर खाए ! १७. रात्री में भरपेट न खाए ! १८. गृहस्थ को ३२ ग्रास से ज्यादा न खाना चाहिए ! १९. सबसे पहले मीठा , फिर नमकीन ,अंत में कडुवा खाना चाहिए ! २०. सबसे पहले रस दार , बीच में गरिस्थ , अंत में द्राव्य पदार्थ ग्रहण करे ! २१. थोडा खाने वाले को --आरोग्य ,आयु , बल , सुख, सुन्दर संतान , और सौंदर्य प्राप्त होता है ! २२. जिसने ढिढोरा पीट कर खिलाया हो वहा कभी न खाए ! २३. कुत्ते का छुवा ,रजस्वला स्त्री का परोसा , श्राध का निकाला , बासी , मुह से फूक मरकर ठंडा किया , बाल गिरा हुवा भोजन ,अनादर युक्त , अवहेलना पूर्ण परोसा गया भोजन कभी न करे ! २४. कंजूस का , राजा का , वेश्या के हाथ का , शराब बेचने वाले का दिया भोजन कभी नहीं करना चाहिए !...

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 8 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB