Mamta Chauhan
Mamta Chauhan Feb 22, 2021

Suvichar Radhey Radhey 🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌷🌿🌿🌿🌿🌿🌷🌿🌿🌿🌿🌿

Suvichar Radhey Radhey 🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌷🌿🌿🌿🌿🌿🌷🌿🌿🌿🌿🌿

+217 प्रतिक्रिया 64 कॉमेंट्स • 92 शेयर

कामेंट्स

Mansing bhai Sumaniya Feb 22, 2021
शुभ संध्या जी🌴🌿🍀 राधे राधे जी🌴🌿🍀

sushila Feb 22, 2021
Jay Shree Krishna Shubh ratri meri pyari bhnaji Om namo bhagvatey vasudevaya aap ka HR pal shubh v mangalmay ho bhnaji 🌻🌻🙏🏼🚩

M.S.Chauhan Feb 22, 2021
शुभ रात्रि वंदन जय श्रीकृष्ण गोविंद जय श्री राधे राधे जय भोलेनाथ सुखमय और मंगलमय सोमवार की रात्रि की हार्दिक शुभकामनायें जी अनंत अखंण अमर अविनाशी! कष्ट हरण हे शम्भू कैलाशी !! !! हर हर महादेव !!

Hemat Feb 22, 2021
Jai Shree Radhe Krishna Ji Namah, Radhe Radhe Ji, Beautiful Post, Anmol Massage, Dhanyawad Vandaniy Bahena Ji Pranam, Aap Aur Aapka Parivar Har Din Mangalmay Ho, Ishwar Aapko Sadaiv Prasanna Aur Swasth Rakhe, Shubh Ratri.

sanjay choudhary Feb 22, 2021
🙏🙏 जय श्री राम 🙏🙏 ।।। जय श्री कृष्णा ।।। आपकी रात्रि शुभ रहे।।।🙏🙏

Harpal bhanot Feb 22, 2021
jai Shree radhe Krishna ji 🌷🌷🌷 Beautiful good Night ji my Sister

madan pal 🌷🙏🏼 Feb 22, 2021
जय श्री राधे राधे कृष्णा ज़ी शूभ रात्रि वंदन ज़ी आपका हर पल शूभ मंगल हों ज़ी 🌷🙏🏼🌷🙏🏼🌷🙏🏼🌷

Ajit sinh Parmar Feb 22, 2021
शुभ र।त्रि र।धेकृषण 🌺🎋🌺🎋🌺🎋🌺

k l तिवारी Feb 22, 2021
🌻🌼🌻हर हर महादेव की बहन, श्री सत्यनारायण भगवान की जय, सादर प्रणाम करता हूँ बहन, शुभरात्रि वन्दन बहना🌹🙏🌹

🌀SOM DUTT SHARMA🌀 Feb 22, 2021
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 Sri Radhey 🙏 Radhey g good night ji sweet dreams ji nice 👍 beautiful thanks 👍 so sweet g ❤️💝 nice 👍🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

ललन कुमार-8696612797 Feb 22, 2021
दुःख जीवन में इसलिए आते हैं ताकि हम सुख का अनुभव कर सके जी।शुभ रात्रि वंदन जी।जय श्री राधे राधे जी।

सुभद्र कुमार Feb 23, 2021
🙏🏻🌷ऊँ🌷🙏🏻 🙏🏻🌷शाँतिं🌷🙏🏻 🙏🏻🌷दीदी🌷🙏🏻 🙏🏻🌷जी🌷🙏🏻

RAKESH SHARMA Feb 23, 2021
EXECTALY RIGHT VIEWS OF UR Post THANKS And APPEARCIAT Very Good AFTERNOON JI GOD BLESS U ALL HAPPINESS And MAKES DREAM TRUE 🙏🙏🙏🌹🌹🌹🇮🇳🇮🇳🇮🇳👌👌👌👌

🌹•°🔥°•💐•°🍂°•🥀°•☘️°•🌹 🔔°•🔔•°🔔°•🔔•°🔔°•🔔•°🔔 ॐ श्री गणेशाय नमः वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ। निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥ ॐ ऐं श्रीं श्रीं बुधायः नमः। ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः । एकदंष्ट्रोत्कटो देवो गजवक्त्रो महाबल:। नागयज्ञोपवीतेन नानाभरण भूषित:॥ सवार्थसम्पद् उध्दारो गणाध्यक्षो वरप्रद:। भीमस्य तनयो देवो नायकोsथ विनायक:॥ करोतु मे महाशांति भास्करार्चनतत्पर:॥ सुप्रभातम् अथ् पंचांगम् दिनाँक 24-02- 2021 बुधवार अक्षांश- 30°:36", रेखांश 76°:80" अम्बाला शहर, हरियाणा, पिन कोड- 134007 💐🥀🌹🌾🌷🍁🌹🍁🌾 🙏°•🙏•°🙏•°🙏 -------------समाप्तिकाल------------------ 📒 तिथि द्वादशी 18:07:29 ☄️ नक्षत्र पुनर्वसु 13:17:52 🛑 करण : 🛑 बालव 18:07:29 🛑 कौलव 29:49:42 🔓 पक्ष शुक्ल 🛑 योग सौभाग्य 27:08:37 📍 वार बुधवार 🌄 सूर्योदय 06:55:10 🌃 चन्द्रोदय 15:11:00 🌙 चन्द्र 👬🏼 मिथुन - 07:10:40 तक 🌌 सूर्यास्त 18:17:42 🌑 चन्द्रास्त 29:37:59 🔓 ऋतु वसंत 🛑 शक सम्वत 1942 शार्वरी 🛑 कलि सम्वत 5122 🛑 दिन काल 11:22:31 🛑 विक्रम सम्वत 2077 🛑 मास अमांत माघ 🛑 मास पूर्णिमांत माघ 🕳️ दुष्टमुहूर्त 12:13:41 - 12:59:11 🕳️ कंटक 16:46:41 - 17:32:11 🕳️ यमघण्ट 09:11:41 - 09:57:11 👹 राहु काल 12:36:26 - 14:01:45 🕳️ कुलिक 12:13:41 - 12:59:11 🕳️ कालवेला 07:40:41 - 08:26:11 🕳️ यमगण्ड 08:20:29 - 09:45:48 🕳️ गुलिक 11:11:07 - 12:36:26 🛑 दिशा शूल उत्तर 🚩🚩होरा 🛑बुध 06:55:10 - 07:52:03 🛑चन्द्रमा 07:52:03 - 08:48:56 🛑शनि 08:48:56 - 09:45:48 🛑बृहस्पति 09:45:48 - 10:42:41 🛑मंगल 10:42:41 - 11:39:33 🛑सूर्य 11:39:33 - 12:36:26 🛑शुक्र 12:36:26 - 13:33:19 🛑बुध 13:33:19 - 14:30:11 🛑चन्द्रमा 14:30:11 - 15:27:04 🛑शनि 15:27:04 - 16:23:56 🛑बृहस्पति 16:23:56 - 17:20:49 🛑मंगल 17:20:49 - 18:17:42 🛑सूर्य 18:17:42 - 19:20:44 🛑शुक्र 19:20:44 - 20:23:46 🛑बुध 20:23:46 - 21:26:48 🚩🚩 चोघडिया ⛩️लाभ 06:55:10 - 08:20:29 ⛩️अमृत 08:20:29 - 09:45:48 🕳️काल 09:45:48 - 11:11:07 ⛩️शुभ 11:11:07 - 12:36:26 👹रोग 12:36:26 - 14:01:45 🕳️उद्वेग 14:01:45 - 15:27:04 🛑चल 15:27:04 - 16:52:23 ⛩️लाभ 16:52:23 - 18:17:42 🕳️उद्वेग 18:17:42 - 19:52:15 ⛩️शुभ 19:52:15 - 21:26:48 🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴 🍁 ग्रह गोचर 🍁 🌞 सूर्य - कुम्भ ⚱️ 🌙 चन्द्र मिथुन 👬🏼7:10:40 तक 🥏 मंगल - वृष 🐂 🥏 बुध - मकर 🐊 🥏 बृहस्पति - मकर 🐊 🥏 शुक्र - कुम्भ ⚱️ 🥏 शनि मकर 🐊 🥏 राहु - वृष 🐂 🥏 केतु - वृश्चिक 🦞 --------------------------------------------- 🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴 व्रत त्यौहार 28 फरवरी तक 🔥🔥🔥 🛑 13 फरवरी चंद्र दर्शन मु.30, बाबा श्रीलाल दयाल जयंती (ध्यानपुर) 🛑14 फरवरी गुरु पूर्व में उदय 23:46 रज्जब मुस्लिम मास प्रारंभ, गौरी तृतीय गोंतरी व्रत , वक्री बुध पूर्व में उदय 🎇18:20 🛑 15 फरवरी भद्रा 14:49 से 27:38 तक, श्री गणेश तिल चतुर्थी के दिन श्री गणेश जी का व्रत पूजन गर्म वस्त्र फल गुड़ तिल के लड्डू आदि का भोग लगाकर प्रसाद बांटे तथा लाल वस्त्र धारण करके उत्तरा विमुख होकर "ॐ अंगारकाय भौमाय नमः" मंत्र का जाप शुभ होता है। वरद् कुंद चतुर्थी, मंगल कृतिका में 31:05, शुक्र धनिष्ठा में 18:30 🛑 16 फरवरी पंचक समाप्त 20:57, बसंत पंचमी- को पूर्वाह्न काल में भगवान श्री विष्णु सरस्वती, व श्रीकृष्ण- राधा, रति-कामदेव की पूजा, लाल पीले पुष्पों, गुलाल और अर्घ्य, नैवेद्य( भिगोकर छीली हुई हल्दी गुड़ शक्कर और घी )आदि द्वारा करके फिर पीले एवं मीठे चावलों एवं पीले हलुवा का भोग लगाने की परंपरा है। श्री पंचमी, सरस्वती पूजन, वागेश्वरी जयंती । 🛑 17 फरवरी गुरु बाल्ययत्व समाप्त 23:46 गंड मूल 23:49 तक 🛑 18 फरवरी गुरु श्रवण 4 में 13:13, सूर्य सायन मीन 🐋में 16 14 वसंत🌈 ऋतु प्रारंभ 🛑 19 फरवरी भद्रा 10:59 से 24:16 तक, रथ आरोग्य सप्तमी( पूर्व अरुणोदय वाली) को सूर्य भगवान को "ॐ घृणि सूर्याय नमः" मंत्र से तथा पुरुष सूक्त आदि से आह्वान आदि करके षोडशोपचार पूजन करने से स्वास्थ्य एवं आरोग्यता बनी रहती है ।यह व्रत सर्वारिष्ट निवारक है। पुत्र सप्तमी व्रत, अचला- भानु सप्तमी, सूर्य 🌞शतभिषा में 11:36, शनि श्रवण 2 में 29:51 🛑 20 फरवरी भीष्म अष्टमी, शुक्र ⚱️कुंभ में, 26:21, शक फाल्गुन प्रारंभ, बुध मार्गी 30:20 🛑20 फरवरी को भीष्म अष्टमी को भीष्मजी का श्राद्ध एवं तर्पण करने से मनोवांछित कामनाएं पूर्ण तथा पितृदोष आदि दूर होते हैं। 🛑21 फरवरी मंगल वृष 🐂 में 28:35, गुप्त नवरात्रे समाप्त। 🛑22 फरवरी भद्रा 29:42 से 🛑 23 फरवरी भद्रा 18:06 तक जया एकादशी व्रत- सब पापों को हरने वाली उत्तम तिथि है। पवित्र होने के साथ ही पापों का नाश करने वाली, भोग- मोक्ष प्रदान करती है। यह व्रत करने पर मनुष्यों को कभी प्रेत योनि में नहीं जाना पड़ता।यह तिथि ब्रह्म हत्या जैसे पाप तथा पिशाचत्त्व का भी विनाश करने वाली है। 🛑24 फरवरी प्रदोष व्रत भीष्म द्वादशी 🛑25 फरवरी मेला जैसलमेर राजस्थान प्रारंभ 3 दिन, गुरु पुष्य योग 13:17 तक 🛑26 फरवरी भद्रा 15:50 से 26:49 तक, शुक्र शतभिषा में 10:20, श्री सत्यनारायण व्रत 🛑27 फरवरी माघ पूर्णिमा- के दिन प्रातः स्नान आदि के बाद श्रीविष्णु जी का पूजन, पितरों का श्राद्ध,असमर्थों को भोजन वस्त्र और आश्रय दें। तिल कंबल गुड घी फल अनादि का दान करें। व्रत धारण कर ब्राह्मणों को भोजन करवाएं तथा कथा पढ़ें । इसी दिन माघ स्नान एवं माघ माह में पाठ की संपूर्ति होगी। माघ स्नान समाप्त, श्री गुरु रविदास जयंती, श्रीललिता जयंती, गण्ड मूल 11:18 तक 🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴🌴 व्यापार मंदा तेजी 28 फरवरी तक 🍀🍀🍀 🛑 13 फरवरी को शनिवारी चंद्र दर्शन रूई श्वेत वस्त्र चांदी सोना सरसों मूंगफली अन्नादी में तेजी रहे। 🛑 14 फरवरी को बुध एवं गुरु दोनों पूर्व में 🎇उदय होंगे। दोनों इस समय मकर🐊 राशि में है। सोना चांदी मूंग चना हल्दी तेल ज्वार जो रुई कपास में 📈तेजी बनेगी। 🛑15 फरवरी को शुक्र धनिष्ठा नक्षत्र में आकर सूर्य 🎇के साथ एक नक्षत्र संबंध बनाएगा। चावल मूंग मोठ उड़द ज्वार बाजरा सोना चांदी रुई कपास में 📈तेजी बनेगी। 🛑16 फरवरी को मंगल कृतिका नक्षत्र में आने से गेहूं मूंग मोठ चावल राई मसूर तिल तेल सरसों की चांदी सूट वस्त्र में तेजी रुई में पहले 📈तेजी फिर मंदी 📉बने। 🛑19 फरवरी को सूर्य🎇 शतभिषा नक्षत्र में आने से सोना चांदी मोती मणि आदि जवाहरात मूंग मसूर गेहूं आदि अनाजों अलसी रुई में तेजी 📈बनेगी। 🛑20 फरवरी को शुक्र कुंभ ⚱️राशि में आकर सूर्य 🎇के साथ मेल करेगा। रूई चांदी गुड खांड गेहूं चना जो मूंग ज्वार बाजरा आदि में मंदी के जगह तेजी 📈का ही रुख रहेगा। 🛑21 फरवरी को बुध मार्गी होने से रुई चांदी में घटा बढ़ी के बाद तेजी 📈होगी। गेहूं चना अनाज में तेजी बने। रेशम तेल अलसी एंड गुड बिनोला मूंगफली कपूर चंदन नगर आदि सुगंधित वस्तुओं में 📉मंदी बनेगी। 🛑27 फरवरी को मंगल वृष 🐂 राशि में आकर राहु के साथ योग करेगा। यह योग भी जोरदार तेजी 📈का है। शीघ्र ही लाल चंदन लाल रंग की वस्तुएं सभी प्रकार के अनाज रुई कपास सूत कुसुंभ चंदन कपूर केसर तेल सोना चांदी तांबा जस्ता आदि धातु तथा शेयरों में अच्छी जोरदार 📉 तेजी का झटका लगेगा। परंतु मंगल राहु पर गुरु की दृष्टि👁️ होने से शेयरों में अचानक मंदी का झटका 📉भी लग सकता है। घटा बढ़ी के मध्य तेजी का यह रुख तारीख 25 तक 👣चलेगा। 🛑26 फरवरी को शुक्र शतभिषा नक्षत्र में आकर सूर्य🎇 के साथ एक नक्षत्र संबंध बनाएगा। फलतः गेहूं गुड़ खांड चावल की सरसों रुई सोना चांदी में 📈तेजी बनेगा । घटा बढ़ी के मध्य तेजी का यह रूख मासान्त तक चलेगा👣। 🛑सर्वार्थसिद्धि योग फरवरी -14 -16- 20- 22 -25- 28 🛑 अमृत सिद्धि योग 16- 20- 22-25 फरवरी 🛑 रवि योग 14- 16- 21- 25 फरवरी 🛑 त्रिपुष्कर योग 13- 23- 28 फरवरी 🛑 गुरु पुष्य योग 25 फरवरी 💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮 🐐मेष बकाया वसूली समय पर होगी। नौकरी में उच्चाधिकारी की प्रसन्नता प्राप्त होगी। व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। निवेश शुभ रहेगा। भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। भाग्य अनुकूल है। समय का लाभ लें। प्रमाद न करें। 🐂वृष तंत्र-मंत्र में रुचि जागृत होगी। किसी जानकार व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। कोर्ट व कचहरी के कार्यों में गति आएगी। व्यापारी वर्ग लाभ की वृद्धि का आनंद ले सकता है। व्यस्तता के चलते स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। सावधानी आवश्यक है। धन प्राप्ति सुगम होगी। 👫मिथुन कोर्ट-कचहरी व सरकारी कार्यालयों में रुके कामों में अनुकूलता रहेगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। दांपत्य जीवन में आनंद बना रहेगा। मातहतों का सहयोग मिलेगा। किसी भी तरह के विवाद में न पड़ें। निवेश शुभ रहेगा। व्यापार-व्यवसाय में गति बनी रहेगी। प्रमाद न करें। 🦀कर्क पुराना रोग परेशानी का कारण रहेगा। सेहत पर विशेष ध्यान दें। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में लापरवाही न करें। दुष्टजनों से दूरी बनाए रखें। समय नेष्ट है। वाणी पर नियंत्रण आवश्यक है। कारोबारी लाभ में वृद्धि होगी। आय बनी रहेगी। निवेश में जल्दबाजी न करें। 🦁सिंह किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद मिलेगा। विद्यार्थी वर्ग अपने क्षेत्रों में सफलता प्राप्त करेगा। किसी प्रबुद्ध व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। सभी क्षेत्रों में सफलता प्राप्त होगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 👩🏻‍🦱कन्या धर्म-कर्म में आस्था बढ़ेगी। आर्थिक उन्नति व कार्यप्रणाली सुधारने के लिए नई योजना बनेगी। तत्काल लाभ नहीं होगा। सामाजिक सेवाकार्य करने के लिए प्रेरणा मिलेगी। मान-सम्मान मिलेगा। धन प्राप्ति सु्गम होगी। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं, सावधान रहें। ⚖️तुला आशा व निराशा के बीच समय गुजरेगा। आर्थिक परेशानी रहेगी। फालतू खर्च होगा। बजट बिगड़ेगा। दूसरों से अपेक्षा न करें। समय पर काम नहीं होने से तनाव रहेगा। महत्वपूर्ण निर्णय लेने में जल्दबाजी न करें। वाणी में हल्के शब्दों का प्रयोग न करें। 🦂वृश्चिक भूमि व भवन की खरीद-फरोख्त की योजना बनेगी। कारोबारी बड़ा लाभ हो सकता है। परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता मिलेगी। नौकरी में उच्चाधिकारियों की प्रसन्नता प्राप्त होगी। प्रशंसा मिलेगी। जल्दबाजी व अति उत्साह में कोई कार्य न करें। धनार्जन होगा। प्रसन्नता बनी रहेगी। 🏹धनु कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। बेवजह तनाव व चिंता रहेंगे। मामूली बात पर विवाद हो सकता है। कारोबार में लाभ होगा। मन में संवेदनशीलता बनी रहेगी। दु:खद समाचार मिल सकता है। नौकरी में कार्यभार रहेगा। विवाद से दूर रहें। पुरानी व्याधि परेशानी का कारण बन सकती है। 🐊मकर पुराने संगी-साथी तथा रिश्तेदारों से मुलाका‍त होगी। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होगी। किसी लंबी यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। बुद्धि का प्रयोग लाभ में वृद्धि तथा समस्या में कमी करेगा। व्यापार ठीक चलेगा। ⚱️कुंभ प्रयास सफल रहेंगे। काफी समय से लंबित कार्य पूर्ण होने के योग हैं। पारिवारिक सहयोग प्राप्त होगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। सामाजिक कार्य करने की प्रेरणा किसी वरिष्ठ व्यक्ति से प्राप्त होगी। आय में वृद्धि होगी। निवेश शुभ फल देगा। जीवनसाथी से सहयोग मिलेगा। 🐬मीन नवीन वस्त्राभूषण की प्राप्ति पर व्यय होगा। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। निवेश शुभ फल देगा। भाग्य का साथ मिलेगा। नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। प्रमाद से बचें। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। 🤝🏼श्रीसिद्धिविनायक केंद्र🤝🏼 ☎️ 8708012404 आपका दिन मंगलमय हो 🙏🙏🙏🙏 🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺

+60 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 163 शेयर
Vinay Mishra Feb 23, 2021

+50 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 158 शेयर
Renu Singh Feb 23, 2021

+408 प्रतिक्रिया 84 कॉमेंट्स • 319 शेयर
✨Shuchi Singhal✨ Feb 23, 2021

+208 प्रतिक्रिया 82 कॉमेंट्स • 124 शेयर

प्रसंग वश* *एक समय की बात हैं, एक राजा ने अपने महल में एक संत को सत्संग के लिए बुलाया। सत्संग पूरा होने के बाद राजा ने संत से कहा की गुरुवर राज्य की प्रगती और सुख शांति हेतु कोई मंत्र दीजिये। तब संत ने राजा को "राम" नाम का मंत्र दिया।* राजा को कुछ ठीक नही लगा तो उसने कुछ देर बाद फिर संत से कहा की कोई मंत्र भी दे दीजिये। संत ने गुस्से में आकर राजा से कहा अरे गधे इतना अच्छा मंत्र दिया फिर भी तू नही समझ पाया। अपने लिए गधे जैसा शब्द सुन राजा मन ही मन क्रोधित हो गया। राजा को क्रोधित देख कर संत ने कहा राजन तुमको गधा कहा इसलिए बुरा लगा, क्योंकि तुम जानते हो की गधा क्या है। गधे का नाम सुनते ही उसकी छवि तुम्हारे सामने आ गई। और उससे तुम्हारा क्रोध जाग गया। राजन जब गधे जैसे शब्द ने तुम्हे इतना लाल-पिला कर तुम्हारे क्रोध को जगा दिया और तुम्हारी मानसिक शांति को भंग कर दिया, तो सोचो "राम" के नाम में कितनी शक्ति और शान्ति होगी। *राजन शब्द ब्रम्ह हैं* "शब्दों" की उर्जा मन को प्रभावित कर तन को गति देती हैं। और संसार के सारे कार्य शब्दों से संचालित होते हैं। बुरे शब्दों का प्रयोग करने से आसुरी शक्तिया जाग्रत होकर मानसिक उर्जा का नाश करती हैं। और अच्छे शब्दों के प्रयोग से देविय शक्तिया जाग्रत होती हैं। जिससे मानसिक और सांसारिक दोनों सुख प्राप्त होते हैं। *मंत्र का मतलब जिसके जपने से जिसके मन तर जाये उसे कहते है मंत्र (मन+तर=मंत्र)। *इसलिए राजन "राम" नाम के मंत्र को जपते रहो इसी से कल्याण होगा..!* *जय सियाराम..

+91 प्रतिक्रिया 18 कॉमेंट्स • 390 शेयर

दो अक्षर की "मौत" और तीन अक्षर के "जीवन" में ढाई अक्षर का "दोस्त" हमेंशा बाज़ी मार जाता हैं.. क्या खुब लिखा है किसी ने ... "बक्श देता है 'खुदा' उनको, ... ! जिनकी 'किस्मत' ख़राब होती है ... !! वो हरगिज नहीं 'बक्शे' जाते है, ... ! जिनकी 'नियत' खराब होती है... !!" न मेरा 'एक' होगा, न तेरा 'लाख' होगा, ... ! न 'तारिफ' तेरी होगी, न 'मजाक' मेरा होगा ... !! गुरुर न कर "शाह-ए-शरीर" का, ... ! मेरा भी 'खाक' होगा, तेरा भी 'खाक' होगा ... !! जिन्दगी भर 'ब्रांडेड-ब्रांडेड' करने वालों ... ! याद रखना 'कफ़न' का कोई ब्रांड नहीं होता ... !! कोई रो कर 'दिल बहलाता' है ... ! और कोई हँस कर 'दर्द' छुपाता है ... !! क्या करामात है 'कुदरत' की, ... ! 'ज़िंदा इंसान' पानी में डूब जाता है और 'मुर्दा' तैर के दिखाता है ... !! 'मौत' को देखा तो नहीं, पर शायद 'वो' बहुत "खूबसूरत" होगी, ... ! "कम्बख़त" जो भी 'उस' से मिलता है, "जीना छोड़ देता है" ... !! 'ग़ज़ब' की 'एकता' देखी "लोगों की ज़माने में" ... ! 'ज़िन्दों' को "गिराने में" और 'मुर्दों' को "उठाने में" ... !! 'ज़िन्दगी' में ना ज़ाने कौनसी बात "आख़री" होगी, ... ! ना ज़ाने कौनसी रात "आख़री" होगी । मिलते, जुलते, बातें करते रहो यार एक दूसरे से ना जाने कौनसी "मुलाक़ात" "आख़री होगी" ... !

+84 प्रतिक्रिया 20 कॉमेंट्स • 160 शेयर

*एक बार गुरु जी अपने शिष्य के साथ अपनी कुटिया में लौट रहे थे कि अचानक बारीश तेज हो गई और नदी में पानी बढ़ गया, और लौटने का रास्ता एक ही था जो सकरा सा पुल था उस पर से पानी बह रहा था* *गुरु ने शिष्य से कहा- कि जल्दी से मेरा हाथ पकड़ो हम पार कर लेंगे, पर शिष्य ने हाथ नहीं पकड़ा जब गुरु जी के बार-बार कहने से भी शिष्य नहीं माना तो गुरु ने हाथ पकड़ा और खींचकर नदी के पार ले गए और बोले मै इतनी देर से बोल रहा हूँ मेरा हाथ पकड़ लो तो हाथ क्यों नहीं पकड़ा* ? *इस पर शिष्य ने बहुत ही प्यारा दिल को छू लेने वाला उत्तर दिया कि मेरे गुरूवर मै बहुत ही कमजोर और दुर्बल हूँ, मुझे खुद पर भरोसा नहीं है यदि मै हाथ पकड़ता तो छोड़ सकता था* *लेकिन मुझे आप पर पूरा भरोसा है कि यदि आपने हाथ पकड़ा तो कभी नहीं छोड़ोगे,* *इसलिए मैंने हाथ नहीं पकड़ा था* *हम सब भी मिलकर सबके लिए दुआ करें कि हमारा हाथ हमारे गुरु पकड़ ले, क्योंकि यदि गुरु ने एक बार हाथ पकड़ लिया तो मंजिल पर ले जाकर ही छोडेंगे* *।। जय सियाराम जी।।* *।। ॐ नमह शिवाय।।*

+9 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 4 शेयर
sukhadev awari Feb 23, 2021

+70 प्रतिक्रिया 17 कॉमेंट्स • 3 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB