Yadav kumar
Yadav kumar Nov 9, 2017

🌹॥आज का हिंदू पंचांग॥🌹

🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞
⛅ *आज का दिनांक 09 नवम्बर 2017*
⛅ *दिन - गुरुवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2074*
⛅ *शक संवत -1939*
⛅ *अयन - दक्षिणायण*
⛅ *ऋतु - हेमंत*
⛅ *मास - मार्गशीष*
⛅ *गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार मास - कार्तिक*
⛅ *पक्ष - कृष्ण*
⛅ *तिथि - षष्ठी शाम 04:41 तक तत्पश्चात सप्तमी*
⛅ *नक्षत्र - पुनर्वसु दोपहर 01:39 तक तत्पश्चात पुष्य*
⛅ *योग - साध्य सुबह 08:46 तक तत्पश्चात शुभ*
⛅ *राहुकाल - दोपहर 01:46 से शाम 03:08 तक*
⛅ *सूर्योदय - 06:46*
⛅ *सूर्यास्त - 17:57*
⛅ *दिशाशूल - दक्षिण दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - गुरुपुष्पामृत योग (दोपहर 01:39 से 10 नवम्बर सूर्योदय तक)*
💥 *विशेष - षष्ठी को नीम की पत्ती, फल या दातुन मुँह में डालने से नीच योनियों की प्राप्ति होती है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *भैरव अष्टमी* 🌷
🙏🏻 *10 नवंबर,शुक्रवार को भैरव अष्टमी पर्व है। यह दिन भगवान भैरव और उनके सभी रूपों के समर्पित होता है। भगवान भैरव को भगवान शिव का ही एक रूप माना जाता है,इनकी पूजा-अर्चना करने का विशेष महत्व माना जाता है। 🙏🏻 भगवान भैरव को कई रूपों में पूजा जाता है। भगवान भैरव के मुख्य 8 रूप माने जाते हैं। उन रूपों की पूजा करने से भगवान अपने सभी भक्तों की रक्षा करते हैं और उन्हें अलग-अलग फल प्रदान करते हैं।*
➡ *भगवान भैरव के 8 रूप जानें कौन-सी मनोकामना के लिए करें किसकी पूजा*
1⃣ *कपाल भैरव*
*इस रूप में भगवान का शरीर चमकीला है, उनकी सवारी हाथी है । कपाल भैरव एक हाथ में त्रिशूल, दूसरे में तलवार तीसरे में शस्त्र और चौथे में पात्र पकड़े हैं। भैरव के इन रुप की पूजा अर्चना करने से कानूनी कारवाइयां बंद हो जाती है । अटके हुए कार्य पूरे होते हैं ।*
2⃣ *क्रोध भैरव*
*क्रोध भैरव गहरे नीले रंग के शरीर वाले हैं और उनकी तीन आंखें हैं । भगवान के इस रुप का वाहन गरुण हैं और ये दक्षिण-पश्चिम दिशा के स्वामी माने जाते ह । क्रोध भैरव की पूजा-अर्चना करने से सभी परेशानियों और बुरे वक्त से लड़ने की क्षमता बढ़ती है ।*
3⃣ *असितांग भैरव*
*असितांग भैरव ने गले में सफेद कपालों की माला पहन रखी है और हाथ में भी एक कपाल धारण किए हैं । तीन आंखों वाले असितांग भैरव की सवारी हंस है । भगवान भैरव के इस रुप की पूजा-अर्चना करने से मनुष्य में कलात्मक क्षमताएं बढ़ती है ।*
4⃣ *चंद भैरव*
*इस रुप में भगवान की तीन आंखें हैं और सवारी मोर है ।चंद भैरव एक हाथ में तलवार और दूसरे में पात्र, तीसरे में तीर और चौथे हाथ में धनुष लिए हुए है। चंद भैरव की पूजा करने से शत्रुओं पर विजय मिलता हैं और हर बुरी परिस्थिति से लड़ने की क्षमता आती है ।*
5⃣ *गुरू भैरव*
*गुरु भैरव हाथ में कपाल, कुल्हाडी, और तलवार पकड़े हुए है ।यह भगवान का नग्न रुप है और उनकी सवारी बैल है।गुरु भैरव के शरीर पर सांप लिपटा हुआ है।गुरु भैरव की पूजा करने से अच्छी विद्या और ज्ञान की प्राप्ति होती है ।*
6⃣ *संहार भैरव*
*संहार भैरव नग्न रुप में है, और उनके सिर पर कपाल स्थापित है ।इनकी तीन आंखें हैं और वाहन कुत्ता है । संहार भैरव की आठ भुजाएं हैं और शरीर पर सांप लिपटा हुआ है ।इसकी पूजा करने से मनुष्य के सभी पाप खत्म हो जाते है ।*
7⃣ *उन्मत भैरव*
*उन्मत भैरव शांत स्वभाव का प्रतीक है । इनकी पूजा-अर्चना करने से मनुष्य की सारी नकारात्मकता और बुराइयां खत्म हो जाती है । भैरव के इस रुप का स्वरूप भी शांत और सुखद है । उन्मत भैरव के शरीर का रंग हल्का पीला हैं और उनका वाहन घोड़ा हैं।*
8⃣ *भीषण भैरव*
*भीषण भैरव की पूजा-अर्चना करने से बुरी आत्माओं और भूतों से छुटकारा मिलता है । भीषण भैरव अपने एक हाथ में कमल, दूसरे में त्रिशूल, तीसरे हाथ में तलवार और चौथे में एक पात्र पकड़े हुए है ।भीषण भैरव का वाहन शेर है ।*
🌞 ~ *हिन्दू पंचांग* ~ 🌞

🌷 *कालभैरव अष्टमी* 🌷
🙏🏻 *धर्म ग्रंथों के अनुसार मार्गशीर्ष मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को कालभैरव अष्टमी का पर्व मनाया जाता है। मान्यता है कि इसी दिन भगवान शिव ने कालभैरव का अवतार लिया था। इसलिए इस पर्व को कालभैरव जयंती को रूप में मनाया जाता है। इस बार ये पर्व 10 नवंबर,शुक्रवार को है।*
🙏🏻 *भगवान कालभैरव को तंत्र का देवता माना गया है। तंत्र शास्त्र के अनुसार,किसी भी सिद्धि के लिए भैरव की पूजा अनिवार्य है। इनकी कृपा के बिना तंत्र साधना अधूरी रहती है। इनके 52 रूप माने जाते हैं। इनकी कृपा प्राप्त करके भक्त निर्भय और सभी कष्टों से मुक्त हो जाते हैं। कालभैरव जयंती पर कुछ आसान उपाय कर आप भगवान कालभैरव को प्रसन्न कर सकते हैं।*
➡ *ये हैं कालभैरव को प्रसन्न करने के 11 उपाय, कल कोई भी 1 करें*
🙏🏻 *1. कालभैरव अष्टमी को सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद कुश (एक प्रकार की घास) के आसन पर बैठ जाएं। सामने भगवान कालभैरव की तस्वीर स्थापित करें व पंचोपचार से विधिवत पूजा करें। इसके बाद रूद्राक्ष की माला से नीचे लिखे मंत्र की कम से कम पांच माला जाप करें तथा भैरव महाराज से सुख-संपत्ति के लिए प्रार्थना करें।*
🌷 *मंत्र- 'ॐ हं षं नं गं कं सं खं महाकाल भैरवाय नम:'*
🙏🏻 *2. कालभैरव अष्टमी पर किसी ऐसे भैरव मंदिर में जाएं, जहां कम ही लोग जाते हों। वहां जाकर सिंदूर व तेल से भैरव प्रतिमा को चोला चढ़ाएं। इसके बाद नारियल, पुए, जलेबी आदि का भोग लगाएं। मन लगाकर पूजा करें। बाद में जलेबी आदि का प्रसाद बांट दें। याद रखिए अपूज्य भैरव की पूजा से भैरवनाथ विशेष प्रसन्न होते हैं।*
🙏🏻 *3. कालभैरव अष्टमी को भगवान कालभैरव की विधि-विधान से पूजा करें और नीचे लिखे किसी भी एक मंत्र का जाप करें। कम से कम 11 माला जाप अवश्य करें।*
🌷 *- ॐ कालभैरवाय नम:।*
🌷 *- ॐ भयहरणं च भैरव:।*
🌷 *- ॐ ह्रीं बटुकाय आपदुद्धारणाय कुरूकुरू बटुकाय ह्रीं।*
🌷 *- ॐ भ्रां कालभैरवाय फट्*
🙏🏻 *4. कालभैरव अष्टमी की सुबह भगवान कालभैरव की उपासना करें और शाम के समय सरसों के तेल का दीपक लगाकर समस्याओं से मुक्ति के लिए प्रार्थना करें।*
🙏🏻 *5. कालभैरव अष्टमी पर 21 बिल्वपत्रों पर चंदन से ॐ नम: शिवाय लिखकर शिवलिंग पर चढ़ाएं। साथ ही, एकमुखी रुद्राक्ष भी अर्पण करें। इससे आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं।*
🙏🏻 *6. कालभैरव अष्टमी को एक रोटी लें। इस रोटी पर अपनी तर्जनी और मध्यमा अंगुली से तेल में डुबोकर लाइन खींचें। यह रोटी किसी भी दो रंग वाले कुत्ते को खाने को दीजिए। इस क्रम को जारी रखें, लेकिन सिर्फ हफ्ते के तीन दिन (रविवार, बुधवार व गुरुवार)। यही तीन दिन भैरवनाथ के माने गए हैं।*
🙏🏻 *7. अगर आप कर्ज से परेशान हैं तो कालभैरव अष्टमी की सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद भगवान शिव की पूजा करें। उन्हें बिल्व पत्र अर्पित करें। भगवान शिव के सामने आसन लगाकर रुद्राक्ष की माला लेकर इस मंत्र का जाप करें।*
🌷 *मंत्र- ॐ ऋणमुक्तेश्वराय नम:*
🙏🏻 *8. कालभैरव अष्टमी के एक दिन पहले (09 नवंबर, गुरुवार) उड़द की दाल के पकौड़े सरसों के तेल में बनाएं और रात भर उन्हें ढंककर रखें। सुबह जल्दी उठकर सुबह 6 से 7 बजे के बीच बिना किसी से कुछ बोलें घर से निकलें और कुत्तों को खिला दें।*
🙏🏻 *9. सवा किलो जलेबी भगवान भैरवनाथ को चढ़ाएं और बाद में गरीबों को प्रसाद के रूप में बांट दें। पांच नींबू भैरवजी को चढ़ाएं। किसी कोढ़ी, भिखारी को काला कंबल दान करें।*
🙏🏻 *10. कालभैरव अष्टमी पर सरसो के तेल में पापड़, पकौड़े, पुए जैसे पकवान तलें और गरीब बस्ती में जाकर बांट दें। घर के पास स्थित किसी भैरव मंदिर में गुलाब, चंदन और गुगल की खुशबूदार 33 अगरबत्ती जलाएं।*
🙏🏻 *11. सवा सौ ग्राम काले तिल, सवा सौ ग्राम काले उड़द, सवा 11 रुपए, सवा मीटर काले कपड़े में पोटली बनाकर भैरवनाथ के मंदिर में कालभैरव अष्टमी पर चढ़ाएं।*
🙏🏻 *12. कालभैरव अष्टमी की सुबह स्नान आदि करने के बाद भगवान कालभैरव के मंदिर जाएं और इमरती का भोग लगाएं। बाद में यह इमरती दान कर दें। ऐसा करने से भगवान कालभैरव प्रसन्न होते हैं।*
🙏🏻 *13. कालभैरव अष्टमी को समीप स्थित किसी शिव मंदिर में जाएं और भगवान शिव का जल से अभिषेक करें और उन्हें काले तिल अर्पण करें। इसके बाद मंदिर में कुछ देर बैठकर मन ही मन में ॐ नम: शिवाय मंत्र का जप करें।*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞
🙏🍀🌷🌻🌺🌸🌹🍁🙏 🚩🚩 *" ll जय श्री राम ll "* 🚩🚩

+56 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 51 शेयर

कामेंट्स

*⛳सनातन-धर्म की जय,हिंदू ही सनातनी है✍🏻* *👉🏻लेख क्र.- सधस/२०७७/आश./शु./१०* *सनातन धर्मरक्षक समिति की ओर से विजयादशमी पर्व की सभी को हार्दिक बधाई* 🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ *🗓आज का पञ्चाङ्ग एवम् राशिफल🗓* *🌻सोमवार, २६ अक्टूबर २०२०🌻* *सूर्योदय: 🌄 ०६:३०* *सूर्यास्त: 🌅 १७:५१* *चन्द्रोदय: 🌝 १५:१०* *चन्द्रास्त: 🌜२६:४६* *अयन 🌕 दक्षिणायने* *ऋतु: ❄️ शरद* *शक सम्वत: 👉 १९४२ (शर्वरी)* *विक्रम सम्वत: 👉 २०७७ (प्रमादी)* *मास 👉 आश्विन* *पक्ष 👉 शुक्ल* *तिथि: 👉 दशमी (०९:०० तक)* *नक्षत्र: 👉 शतभिषा (पूर्ण रात्रि)* *योग: 👉 वृद्धि (२४:३८ तक)* *प्रथम करण: 👉 गर (०९:०० तक)* *द्वितीय करण: 👉 वणिज (२१:५० तक)* 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ *॥ गोचर ग्रहा: ॥* 🌖🌗🌖🌗 *सूर्य 🌟 तुला* *चंद्र 🌟 कुम्भ* *मंगल 🌟 मीन (उदित, पूर्व, वक्री)* *बुध 🌟 तुला (अस्त, पश्चिम, मार्गी)* *गुरु 🌟 धनु (उदित, पश्चिम, मार्गी)* *शुक्र 🌟 कन्या (उदित, पूर्व, मार्गी)* *शनि 🌟 मकर (उदय, पूर्व, मार्गी)* *राहु 🌟 वृष* *केतु 🌟 वृश्चिक* 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 *शुभाशुभ मुहूर्त विचार* ⏳⏲⏳⏲⏳⏲⏳ 〰〰〰〰〰〰〰 *अभिजित मुहूर्त: 👉 ११:४८ से १२:३३* *अमृत काल: 👉 २२:४५ से २४:३०* *होमाहुति: 👉 शनि* *अग्निवास: 👉 आकाश* *दिशा शूल: 👉 पूर्व* *नक्षत्र शूल: 👉 ❌❌❌* *चन्द्र वास: 👉 पश्चिम* *दुर्मुहूर्त: 👉 १२:३३ से १३:१९* *राहुकाल: 👉 ०७:५५ से ०९:२०* *राहु काल वास: 👉 उत्तर-पश्चिम* *यमगण्ड: 👉 १०:४६ से १२:११* 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ *☄चौघड़िया विचार☄* 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ *॥ दिन का चौघड़िया ॥* १ - अमृत २ - काल ३ - शुभ ४ - रोग ५ - उद्वेग ६ - चर ७ - लाभ ८ - अमृत *॥ रात्रि का चौघड़िया ॥* १ - चर २ - रोग ३ - काल ४ - लाभ ५ - उद्वेग ६ - शुभ ७ - अमृत ८ - चर *नोट-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।* 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 *शुभ यात्रा दिशा* 🚌🚈🚗⛵🛫 *पश्चिम-दक्षिण (दर्पण देखकर अथवा खीर का सेवन कर यात्रा करें)* 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 *तिथि विशेष* 🗓📆🗓📆 〰️〰️〰️〰️ *भद्रावास मृत्युलोक में २१:५१ से आदि।* 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 *आज जन्मे शिशुओं का नामकरण* 〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ *आज ३०:३७ तक जन्मे शिशुओ का नाम* *शतभिषा नक्षत्र के प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (गो, सा, सी, सू) नामाक्षर से रखना शास्त्र सम्मत है।* 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 *आज का राशिफल* 🐐🐂💏💮🐅👩 〰️〰️〰️〰️〰️〰️ *मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ)* आज का दिन मिश्रित फलदायक रहेगा। सेहत में उतार-चढ़ाव आएंगे स्वास्थ्य नरम रहने पर भी कार्यो को प्रभावित नहीं होने देंगे। प्रातः काल के समय व्यवसाय में लाभ निकट आते-आते किसी विवाद की भेंट चढ़ सकता है। लेकिन हिम्मत बनाये रखे आर्थिक दृष्टिकोण से दिन संतोषजक रहने वाला है। महिलाये कार्य क्षेत्र पर पुरुषों से बेहतर प्रदर्शन करेंगी बीच-बीच में मन मुटाव के प्रसंग भी बनेंगे परन्तु कार्य में बाधक नही होंगे। परिवार के बुजुर्ग आज आपसे किसी कारण से नाराज होंगे। घर के अन्य सदस्य भी बड़ो का ही पक्ष लेंगे जिससे स्वयं को अकेला अनुभव करेंगे धैर्य के साथ मौन बनाये रखें। व्यवसायी बचत कर सकेंगे। *वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)* आज का दिन धन के साथ-साथ सुख शान्ति दायक भी रहेगा। व्यापारी वर्ग को लाभदायक सौदे मिलेंगे। भविष्य की योजनाओं पर भी धन का निवेश करेंगे साथ ही बचत भी कर पाएंगे। व्यवसाय में प्रतिस्पर्धा रहने पर भी आपके कार्य निर्विघ्न चलते रहेंगे परन्तु बीच-बीच में सहकर्मियो के कारण थोड़ी असुविधा बन सकती है। धन लाभ आशा के अनुरूप हो जाएगा कार्य के नए क्षेत्र मिलेंगे। मित्र स्वयजनो के साथ धार्मिक यात्रा के योग भी बनेंगे। महिला वर्ग सेहत को लेकर परेशान रह सकती है थकान अधिक रहेगी स्वभाव में भी चिड़चिड़ा पन रहने से घरेलु कार्य में विलंब होगा। विद्यार्थ पढ़ाई पर कम ध्यान देंगे। *मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा)* आज आपमे आध्यात्मिक उन्नति होगी। धर्म के गूढ़ रहस्यों को जानने में रुचि लेंगे। मानसिक रूप से प्रसन्न रहने के वातावरण बनते रहेंगे। सेहत में थोड़ी खराबी रह सकती है गले अथवा छाती सम्बंधित रोग एवं पेट मे दर्द से कष्ट होगा। धार्मिक स्थल के कार्यक्रमो में रूचि से हिस्सा लेंगे घर में भी पूजा पाठ का आयोजन करा सकते है। कल की अपेक्षा आज अधिकांश समय मौन रहना पसंद करेंगे जिससे आस पास संवादहीनता का वातावरण बनेगा। परिवार में आपकी आवश्यकता बढ़ेगी। कीमती सामान संभाल कर रखे चोरी अथवा नष्ट होने की संभावना है। विपरितलिंगीय के प्रति उदासीनता दिखाएंगे। *कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)* आज का दिन थोड़ा उठा पटक वाला रहेगा। सेहत प्रातः काल से नरम रहेगी मन अकारण ही अशांत रहेगा। भावुकता भी स्वभाव में अधिक रहेगी जिससे अन्य लोग आपकी भावनाओं का गलत लाभ उठा सकते है। आज किसी के ऊपर जल्दी विश्वास करना हानि कराएगा सावधान रहें। धन सम्बंधित व्यवहार देख-भालकर कर ही करें। व्यवसाय आज आशा के अनुकूल नहीं रहेगा परन्तु खर्च अधिक रहने से आर्थिक संतुलन प्रभावित होगा। गृहस्थ में भी धन खर्च करने पर ही सुख की प्राप्ति हो सकेगी विवाद की स्थिति से बचकर रहें। सायंकाल का समय अपेक्षाकृत आराम से बितायेंगे। थकान मिटाने के लिए मनोरंजन के अवसर उपलब्ध हो सकेंगे। *सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)* आज का दिन विविध क्षेत्रों में विजय दिलाने वाला रहेगा आज आप जिस भी कार्य को करेंगे उसमे आरम्भ में थोड़ी झिझक रहेगी परन्तु अंतिम फल शुभ ही रहेगा। सामाजिक क्षेत्र पर आपका दबदबा रहेगा। जिस किसी से भी कार्य निकालना चाहेंगे वह चाह कर भी मना नही कर सकेगा। कार्य क्षेत्र पर निर्णय लेने में थोड़ी परेशानी भी रहेगी फिर भी सोची गयी योजनाएं अवश्य फलीभूत होंगी। धन लाभ थोड़े इन्तजार के बाद होगा। शारीरिक स्वास्थ्य सामान्य रहेगा। घर में पूजा पाठ का आयोजन करवा सकते है। नए कार्य फिलहाल टालें। सुख के साधनों में वृद्धि होगी। विरोधी परास्त होंगे। परिवार में शांति रहेगी। *कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)* आपको आज का दिन मिलाजुला फल देगा। आज का दिन लाभ दिला सकता है परन्तु क्रोध को वश में रखना जरूरी है वरना बना बनाया काम बिगड़ सकता है। लोग आपको किसी ना किसी कारण क्रोध दिलाएंगे परन्तु अपने काम से काम रखें। समय धन के साथ साथ मान सम्मान में भी वृद्धि करने वाला है। विदेशी व्यापार अथवा जमीन सम्बंधित कार्यो में अधिक लाभ की संभावना है। आकस्मिक यात्रा आने से जरूरी कार्य निरस्त करने पड़ सकते है। रिश्तेदारो के द्वारा लाभ के मार्ग प्रशस्त होंगे। पारिवारिक वातावरण में थोड़ी नोंकझोंक चलती रहेगी फिर भी स्थिति गंभीर नही होगी। महिलाये सहयोगी रहेंगी। *तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)* आज के दिन भाग दौड़ अधिक रहेगी परन्तु परिणाम आशा के विपरीत रहने से मन मे नकारात्मक विचार बनेंगे। आर्थिक कारणों से कोई कार्य अधूरा रहेगा अथवा मनोकामना पूर्ति नही कर सकेंगे। कई कार्यो को एकसाथ करने के कारण दुविधा में पड़ेंगे। घर एवं व्यवसाय के कार्यो में तालमेल बैठाने में असहजता रहेगी। फिर भी धन लाभ थोड़े विलंब से हो जाने से कार्यो में अड़चन नहीं आएगी। महिलाओं से आर्थिक सहयोग मिल सकता है। सरकारी कार्य थोड़ी शिफारिश के बाद आगे बढ़ेंगे। शेयर सट्टे में आज निवेश से बचे हानि हो सकती है। अन्य दैनिक उपभोग के व्यावसायिक कार्यो में निवेश उत्तम रहेगा। दैनिक जीवन में कोई चमत्कार होने से आश्चर्य होगा। *वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)* आज का दिन सावधानी से बिताने की सलाह है आज राह चलते लोग भी आपके व्यक्तित्त्व पर छींटाकशी करेंगे जिससे मानसिक स्थिति खराब रहेगी। ना चाहकर भी कटु वचन बोलने पड़ेंगे जिसके कारण बाद में आत्मग्लानि रहेगी। कार्य क्षेत्र पर उधार वाले परेशान कर सकते है आज किसी से भी उधार के व्यवहार ना करें अन्यथा हानि में रहेंगे। असंयमित दिनचर्या के कारण शारीरिक स्वास्थ्य भी कार्यो में बाधक बनेगा रक्त-पित्त सम्बंधित समस्या रहेगी। विरोधी आपकी बातों को बढ़ा चढ़ा कर पेश करेंगे जिस वजह से मान हानि होगी। भाई-बंधुओ से वैर-विरोध रहने के कारण पारिवारिक वातावरण अशान्त रहेगा। धन संबंधित कार्य लटके रहेंगे। *धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे)* आज आप अधिकांश समय आराम में बिताना पसंद करेंगे। स्वास्थ्य सम्बंधित शिकायत पेट सम्बंधित समस्या मुख्यतः रहेगी। आकस्मिक कार्य आने से यात्रा करनी पड़ सकती है। धन लाभ दोपहर से पूर्व आसानी से होगा इसके बाद परिश्रम साध्य लाभ होगा सरकारी कार्य करना मध्यान से पहले उचित रहेगा बाद में लंबित रह सकता है। पुरानी उधारी चुकता होने से राहत मिलेगी। घर में महिलाओं एवं सन्तानो की फरमाइश पूरी करनी पड़ेगी। माता पिता से भावनात्मक सम्बन्ध रहेंगे इस कारण किसी अन्य सदस्य से क्लेश भी रह सकता है। संध्या का समय थकान वाला रहेगा फिर भी हास्य परिहास के अवसर मिलेंगें। *मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी)* आज के दिन आप अपना ध्यान आवश्यक कार्यो पर एकाग्र करने का प्रयास करें अन्यथा जहाँ लाभ होना है वहां हानि मिलेगी। मन अनर्गल कार्यो में अधिक भटकेगा। विष्योपभोग में अधिक रुचि रहने के कारण धन खर्च की परवाह नहीं करेंगे। मौज-शौक पर अधिक खर्च रह सकता है। धन लाभ लापरवाही के चलते आगे के लिए टलेगा। व्यवसाय में निवेश अतिआवश्यक होने पर ही करें। स्वयं अथवा परिजन की स्वास्थ्य सम्बंधित समस्याओं की अनदेखी आगे भारी पड़ सकती है। परिवार में आपके कारण खींच-तान रह सकती है किसी की बीमारी पर खर्च होगा। विवेकी व्यवहार अपनाए बेवजह की परेशानी से बचेंगे। *कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)* आज के दिन प्रातः काल से ही मन मौज मस्ती की ओर आकर्षित रहेगा यात्रा प्रवास के योग भी बन रहे है ना चाहकर भी करनी पड़ सकती है। दिनचर्या व्यवस्थित रहने पर भी कुछ ना कुछ फेर बदल करना पड़ेगा। सामाजिक व्यवहारों के कारण भाग-दौड़ करनी पड़ेगी। स्वास्थ्य उत्तम बना रहेगा लोगो को आज आपकी सहायता की आवश्यकता पड़ेगी। कार्य क्षेत्र पर प्रतिस्पर्धिओ पर विजय प्राप्त करेंगे विरोधियो को आज पनपने ही नहीं देंगे। जिस भी कार्य में निवेश करेंगे उसमे थोड़े विलम्ब से ही पर सफलता निश्चित मिलेगी। पूजा पाठ में सम्मिलित होने के अवसर आएंगे। घर का वातावरण भी मंगलकारी रहेगा। स्त्रीवर्ग आध्यत्म में ज्यादा भाव रखेंगी। *मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)* आज के दिन भी आपको विविध कष्टो का सामना करना पड़ेगा दिनचर्या अस्त व्यस्त रहेगी। आप पूर्वाग्रह से ग्रसित रहेंगे। अपने जिद्दी स्वभाव के कारण आसपास का वातावरण अशान्त बनाएंगे। मनमानी के चलते घर में भी तनाव का वातावरण बनेगा। सामाजिक क्षेत्र पर धन के साथ साथ मान हानि के योग है बेहतर रहेगा की आज कोई भी बड़ा कार्य ना करें यात्रा भी अति आवश्यक होने पर ही करें व्यर्थ समय एवं धन नष्ट होने की संभावनाएं अधिक है। परन्तु जोखिम वाले कार्यो में निवेश निकट भविष्य में अवश्य लाभ कराएगा। परिवारक वातावरण आपकी गलतियों के कारण पहले कलुषित होगा सामान्य होने में समय लगेगा। महिलाओं से सतर्क रहें। 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ *जनजागृति हेतु लेख प्रसारण अवश्य करें*⛳🙏🏻 *_नीलाम्बुजश्यामलकोमलाङ्गसीतासमारोपितवामभागम्। पाणौ महाशायकचारुचापंनमामि रामं रघुवंशनाथम्।।_* *_प्रभु श्री रामचन्द्र की जय_*⛳ _*⛳⚜️सनातन धर्मरक्षक समिति*_⚜⛳

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Ajay Awasthi Oct 25, 2020

🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *********|| जय श्री राधे ||********* 🌺🙏 *महर्षि पाराशर पंचांग* 🙏🌺 🙏🌺🙏 *अथ पंचांगम्* 🙏🌺🙏 *********ll जय श्री राधे ll********* 🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *दिनाँक -:26/10/2020,सोमवार* दशमी, शुक्ल पक्ष आश्विन """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि ----------दशमी 08:59:34 तक पक्ष ----------------------------शुक्ल नक्षत्र -------शतभिषा 30:35:36 योग --------------वृद्वि 24:37:32 करण --------------गर 08:59:34 करण ---------वणिज 21:49:44 वार ------------------------सोमवार माह ------------------------ आश्विन चन्द्र राशि -------------------कुम्भ सूर्य राशि -----------------------तुला रितु -----------------------------शरद आयन ------------------दक्षिणायण संवत्सर -----------------------शार्वरी संवत्सर (उत्तर) -------------प्रमादी विक्रम संवत ----------------2077 विक्रम संवत (कर्तक) ----2076 शाका संवत ----------------1942 वृन्दावन सूर्योदय ----------------06:27:08 सूर्यास्त -----------------17:38:39 दिन काल -------------11:11:31 रात्री काल -------------12:49:07 चंद्रोदय ----------------15:07:34 चंद्रास्त -----------------26:33:27 लग्न ----तुला 8°56' , 188°56' सूर्य नक्षत्र ------------------स्वाति चन्द्र नक्षत्र ----------------शतभिषा नक्षत्र पाया ---------------------ताम्र *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* गो ----शतभिषा 10:53:07 सा ----शतभिषा 17:25:47 सी ----शतभिषा 23:59:58 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================== सूर्य=तुला 08°52 ' स्वाति , 1 रू चन्द्र = कुम्भ 05°23 ' शतभिषा' 1 गो बुध = (व)तुला 08°57 ' स्वाति ' 1 रू शुक्र= कन्या 03°55,उ oफाo ' 3 पा मंगल=(व)मीन 23°30' रेवती ' 3 च गुरु=धनु 25°22 ' पू oषा o , 4 ढा शनि=मकर 01°43' उ oषा o ' 2 भो राहू=(व)वृषभ 28°30 'मृगशिरा , 2 वो केतु=(व)वृश्चिक 28°30 ज्येष्ठा , 4 यू *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 07:51 - 09:15 अशुभ यम घंटा 10:39 - 12:03 अशुभ गुली काल 13:27 - 14:51 अशुभ अभिजित 11:41 -12:25 शुभ दूर मुहूर्त 12:25 - 13:10 अशुभ दूर मुहूर्त 14:40 - 15:24 अशुभ 🚩पंचक अहोरात्र अशुभ 💮चोघडिया, दिन अमृत 06:27 - 07:51 शुभ काल 07:51 - 09:15 अशुभ शुभ 09:15 - 10:39 शुभ रोग 10:39 - 12:03 अशुभ उद्वेग 12:03 - 13:27 अशुभ चर 13:27 - 14:51 शुभ लाभ 14:51 - 16:15 शुभ अमृत 16:15 - 17:39 शुभ 🚩चोघडिया, रात चर 17:39 - 19:15 शुभ रोग 19:15 - 20:51 अशुभ काल 20:51 - 22:27 अशुभ लाभ 22:27 - 24:03* शुभ उद्वेग 24:03* - 25:39* अशुभ शुभ 25:39* - 27:16* शुभ अमृत 27:16* - 28:52* शुभ चर 28:52* - 30:28* शुभ 💮होरा, दिन चन्द्र 06:27 - 07:23 शनि 07:23 - 08:19 बृहस्पति 08:19 - 09:15 मंगल 09:15 - 10:11 सूर्य 10:11 - 11:07 शुक्र 11:07 - 12:03 बुध 12:03 - 12:59 चन्द्र 12:59 - 13:55 शनि 13:55 - 14:51 बृहस्पति 14:51 - 15:47 मंगल 15:47 - 16:43 सूर्य 16:43 - 17:39 🚩होरा, रात शुक्र 17:39 - 18:43 बुध 18:43 - 19:47 चन्द्र 19:47 - 20:51 शनि 20:51 - 21:55 बृहस्पति 21:55 - 22:59 मंगल 22:59 - 24:03 सूर्य 24:03* - 25:07 शुक्र 25:07* - 26:11 बुध 26:11* - 27:16 चन्द्र 27:16* - 28:20 शनि 28:20* - 29:24 बृहस्पति 29:24* - 30:28 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान-------------पूर्व* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 10 + 2 + 1 = 13 ÷ 4 = 1 शेष पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 10 + 10 + 5 = 25 ÷ 7 = 4शेष सभायां = सन्ताप कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* 21:53 से प्रारम्भ मृत्यु लोक = सर्वकार्य विनाशिनी *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* वित्तंदेहि गुणान्वितेष मतिमन्नाऽन्यत्रदेहि क्वचित् । प्राप्तं वारिनिधेर्जलं घनमुचां माधुर्ययुक्तं सदा जीवाः स्थावरजड्गमाश्च सकला संजीव्य भूमण्डलं । भूयः पश्यतदेवकोटिगुणितंगच्छस्वमम्भोनिधिम् ।। ।।चा o नी o।। हे विद्वान् पुरुष ! अपनी संपत्ति केवल पात्र को ही दे और दूसरो को कभी ना दे. जो जल बादल को समुद्र देता है वह बड़ा मीठा होता है. बादल वर्षा करके वह जल पृथ्वी के सभी चल अचल जीवो को देता है और फिर उसे समुद्र को लौटा देता है. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: ज्ञानविज्ञानयोग अo-07 यो यो यां यां तनुं भक्तः श्रद्धयार्चितुमिच्छति ।, तस्य तस्याचलां श्रद्धां तामेव विदधाम्यहम्‌ ॥, जो-जो सकाम भक्त जिस-जिस देवता के स्वरूप को श्रद्धा से पूजना चाहता है, उस-उस भक्त की श्रद्धा को मैं उसी देवता के प्रति स्थिर करता हूँ॥,21॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष मानसिक शांति के लिए किए गए प्रयास सफल रहेंगे। कोर्ट-कचहरी के कार्य मनोनुकूल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। प्रसन्नता रहेगी। किसी धार्मिक यात्रा की योजना बनेगी। पूजा-पाठ में मन लगेगा। 🐂वृष वाहन व मशीनरी इत्यादि के प्रयोग में लापरवाही न करें। वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। अपेक्षित कार्यों में विलंब होगा। चिंता तथा तनाव रहेंगे। व्यापार ठीक चलेगा। 👫मिथुन कार्यक्षेत्र के लिए नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। बिगड़े काम बन सकते हैं। समाजसेवा करने का मन बनेगा। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। व्यस्तता रहेगी। आराम का समय नहीं मिलेगा। थकान रहेगी। 🦀कर्क व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। किसी प्रभावशाली व्यक्ति का सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त होगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। 🐅सिंह समाजसेवा करने की प्रेरणा प्राप्त होगी। मान-सम्मान मिलेगा। खोई हुई वस्तु मिलने के योग हैं। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। नौकरी में उच्चाधिकारी की प्रसन्नता प्राप्त होगी। शत्रु सक्रिय रहेंगे। जोखिम व जमानत के कार्य बिलकुल न करें। 🙍‍♀️कन्या शुभ समाचार प्राप्त होंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। कारोबार अच्‍छा चलेगा। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। प्रतिद्वंद्विता में वृद्धि होगी। किसी आनंदोत्सव में भाग ले सकते हैं। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। ⚖️तुला किसी तरह से बड़ा लाभ होने की संभावना है। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। किसी तरह के विवाद में विजय प्राप्त होगी। स्वास्थ्य अच्‍छा रहेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। नौकरी में नया कार्य मिल सकता है। 🦂वृश्चिक कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। थकान व कमजोरी रह सकती है। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। कर्ज लेना पड़ सकता है। दूसरों से अधिक अपेक्षा न करें। बेवजह चिड़चिड़ापन रहेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। कार्य में मन नहीं लगेगा। 🏹धनु भावना में बहकर महत्वपूर्ण निर्णय न लें। नौकरी में कार्यभार रहेगा। लाभ होगा। स्वास्थ्य के संबंध में लापरवाही न करें। स्वास्थ्‍य पर व्यय होगा। दु:खद समाचार मिल सकता है। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। कुसंगति से हानि होगी। 🐊मकर मनपसंद व्यंजनों का आनंद प्राप्त होगा। विद्यार्थी वर्ग अपने कार्य उत्साह व लगन से कर पाएगा। किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त हो सकता है। धन प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। प्रमाद न करें। 🍯कुंभ घर, दुकान, फैक्टरी व शोरूम इत्यादि के खरीद-फरोख्त की योजना बनेगी। कारोबार में बड़ा लाभ हो सकता है। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। रुके काम बनेंगे। घर-बाहर उत्साह व प्रसन्नता से काम कर पाएंगे। 🐟मीन प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगा। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। कानूनी अड़चन दूर होकर स्थिति अनुकूल बनेगी। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में मातहत साथ देंगे। 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🌺

+69 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 251 शेयर

🚩🔱 *हर हर महादेव* 🔱🚩 🏵️ 🌅 *सुप्रभातम्* 🌅 🏵️ 🔱 📜 *अथ पंचांगम्* 📜🔱 🏵️🌼💮🏵️🌼💮🏵️🌼💮 *दिनाँक -:26/10/2020,सोमवार* दशमी, शुक्ल पक्ष आश्विन """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि ----------दशमी 08:59:34 तक पक्ष ----------------------------शुक्ल नक्षत्र -------शतभिषा 30:35:36 योग --------------वृद्वि 24:37:32 करण --------------गर 08:59:34 करण ---------वणिज 21:49:44 वार ------------------------सोमवार माह ------------------------ आश्विन चन्द्र राशि -------------------कुम्भ सूर्य राशि -----------------------तुला रितु -----------------------------शरद आयन ------------------दक्षिणायण संवत्सर -----------------------शार्वरी संवत्सर (उत्तर) -------------प्रमादी विक्रम संवत ----------------2077 विक्रम संवत (कर्तक) ----2076 शाका संवत ----------------1942 वाराणसी सूर्योदय ----------------06:27:08 सूर्यास्त -----------------17:38:39 दिन काल -------------11:11:31 रात्री काल -------------12:49:07 चंद्रोदय ----------------15:07:34 चंद्रास्त -----------------26:33:27 लग्न ----तुला 8°56' , 188°56' सूर्य नक्षत्र ------------------स्वाति चन्द्र नक्षत्र ----------------शतभिषा नक्षत्र पाया ---------------------ताम्र *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* गो ----शतभिषा 10:53:07 सा ----शतभिषा 17:25:47 सी ----शतभिषा 23:59:58 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================== सूर्य=तुला 08°52 ' स्वाति , 1 रू चन्द्र = कुम्भ 05°23 ' शतभिषा' 1 गो बुध = (व)तुला 08°57 ' स्वाति ' 1 रू शुक्र= कन्या 03°55,उ oफाo ' 3 पा मंगल=(व)मीन 23°30' रेवती ' 3 च गुरु=धनु 25°22 ' पू oषा o , 4 ढा शनि=मकर 01°43' उ oषा o ' 2 भो राहू=(व)वृषभ 28°30 'मृगशिरा , 2 वो केतु=(व)वृश्चिक 28°30 ज्येष्ठा , 4 यू *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 07:51 - 09:15 अशुभ यम घंटा 10:39 - 12:03 अशुभ गुली काल 13:27 - 14:51 अशुभ अभिजित 11:41 -12:25 शुभ दूर मुहूर्त 12:25 - 13:10 अशुभ दूर मुहूर्त 14:40 - 15:24 अशुभ 🚩पंचक अहोरात्र अशुभ 💮चोघडिया, दिन अमृत 06:27 - 07:51 शुभ काल 07:51 - 09:15 अशुभ शुभ 09:15 - 10:39 शुभ रोग 10:39 - 12:03 अशुभ उद्वेग 12:03 - 13:27 अशुभ चर 13:27 - 14:51 शुभ लाभ 14:51 - 16:15 शुभ अमृत 16:15 - 17:39 शुभ 🚩चोघडिया, रात चर 17:39 - 19:15 शुभ रोग 19:15 - 20:51 अशुभ काल 20:51 - 22:27 अशुभ लाभ 22:27 - 24:03* शुभ उद्वेग 24:03* - 25:39* अशुभ शुभ 25:39* - 27:16* शुभ अमृत 27:16* - 28:52* शुभ चर 28:52* - 30:28* शुभ 💮होरा, दिन चन्द्र 06:27 - 07:23 शनि 07:23 - 08:19 बृहस्पति 08:19 - 09:15 मंगल 09:15 - 10:11 सूर्य 10:11 - 11:07 शुक्र 11:07 - 12:03 बुध 12:03 - 12:59 चन्द्र 12:59 - 13:55 शनि 13:55 - 14:51 बृहस्पति 14:51 - 15:47 मंगल 15:47 - 16:43 सूर्य 16:43 - 17:39 🚩होरा, रात शुक्र 17:39 - 18:43 बुध 18:43 - 19:47 चन्द्र 19:47 - 20:51 शनि 20:51 - 21:55 बृहस्पति 21:55 - 22:59 मंगल 22:59 - 24:03 सूर्य 24:03* - 25:07 शुक्र 25:07* - 26:11 बुध 26:11* - 27:16 चन्द्र 27:16* - 28:20 शनि 28:20* - 29:24 बृहस्पति 29:24* - 30:28 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान-------------पूर्व* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 10 + 2 + 1 = 13 ÷ 4 = 1 शेष पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 10 + 10 + 5 = 25 ÷ 7 = 4शेष सभायां = सन्ताप कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* 21:53 से प्रारम्भ मृत्यु लोक = सर्वकार्य विनाशिनी *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* वित्तंदेहि गुणान्वितेष मतिमन्नाऽन्यत्रदेहि क्वचित् । प्राप्तं वारिनिधेर्जलं घनमुचां माधुर्ययुक्तं सदा जीवाः स्थावरजड्गमाश्च सकला संजीव्य भूमण्डलं । भूयः पश्यतदेवकोटिगुणितंगच्छस्वमम्भोनिधिम् ।। ।।चा o नी o।। हे विद्वान् पुरुष ! अपनी संपत्ति केवल पात्र को ही दे और दूसरो को कभी ना दे. जो जल बादल को समुद्र देता है वह बड़ा मीठा होता है. बादल वर्षा करके वह जल पृथ्वी के सभी चल अचल जीवो को देता है और फिर उसे समुद्र को लौटा देता है. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: ज्ञानविज्ञानयोग अo-07 यो यो यां यां तनुं भक्तः श्रद्धयार्चितुमिच्छति ।, तस्य तस्याचलां श्रद्धां तामेव विदधाम्यहम्‌ ॥, जो-जो सकाम भक्त जिस-जिस देवता के स्वरूप को श्रद्धा से पूजना चाहता है, उस-उस भक्त की श्रद्धा को मैं उसी देवता के प्रति स्थिर करता हूँ॥,21॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष मानसिक शांति के लिए किए गए प्रयास सफल रहेंगे। कोर्ट-कचहरी के कार्य मनोनुकूल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। प्रसन्नता रहेगी। किसी धार्मिक यात्रा की योजना बनेगी। पूजा-पाठ में मन लगेगा। 🐂वृष वाहन व मशीनरी इत्यादि के प्रयोग में लापरवाही न करें। वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। अपेक्षित कार्यों में विलंब होगा। चिंता तथा तनाव रहेंगे। व्यापार ठीक चलेगा। 👫मिथुन कार्यक्षेत्र के लिए नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। बिगड़े काम बन सकते हैं। समाजसेवा करने का मन बनेगा। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। व्यस्तता रहेगी। आराम का समय नहीं मिलेगा। थकान रहेगी। 🦀कर्क व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। किसी प्रभावशाली व्यक्ति का सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त होगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। 🐅सिंह समाजसेवा करने की प्रेरणा प्राप्त होगी। मान-सम्मान मिलेगा। खोई हुई वस्तु मिलने के योग हैं। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। नौकरी में उच्चाधिकारी की प्रसन्नता प्राप्त होगी। शत्रु सक्रिय रहेंगे। जोखिम व जमानत के कार्य बिलकुल न करें। 🙍‍♀️कन्या शुभ समाचार प्राप्त होंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। कारोबार अच्‍छा चलेगा। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। प्रतिद्वंद्विता में वृद्धि होगी। किसी आनंदोत्सव में भाग ले सकते हैं। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। ⚖️तुला किसी तरह से बड़ा लाभ होने की संभावना है। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। किसी तरह के विवाद में विजय प्राप्त होगी। स्वास्थ्य अच्‍छा रहेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। नौकरी में नया कार्य मिल सकता है। 🦂वृश्चिक कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। थकान व कमजोरी रह सकती है। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। कर्ज लेना पड़ सकता है। दूसरों से अधिक अपेक्षा न करें। बेवजह चिड़चिड़ापन रहेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। कार्य में मन नहीं लगेगा। 🏹धनु भावना में बहकर महत्वपूर्ण निर्णय न लें। नौकरी में कार्यभार रहेगा। लाभ होगा। स्वास्थ्य के संबंध में लापरवाही न करें। स्वास्थ्‍य पर व्यय होगा। दु:खद समाचार मिल सकता है। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। कुसंगति से हानि होगी। 🐊मकर मनपसंद व्यंजनों का आनंद प्राप्त होगा। विद्यार्थी वर्ग अपने कार्य उत्साह व लगन से कर पाएगा। किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त हो सकता है। धन प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। प्रमाद न करें। 🍯कुंभ घर, दुकान, फैक्टरी व शोरूम इत्यादि के खरीद-फरोख्त की योजना बनेगी। कारोबार में बड़ा लाभ हो सकता है। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। रुके काम बनेंगे। घर-बाहर उत्साह व प्रसन्नता से काम कर पाएंगे। 🐟मीन प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगा। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। कानूनी अड़चन दूर होकर स्थिति अनुकूल बनेगी। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में मातहत साथ देंगे। 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🚩🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🚩

+18 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 66 शेयर

*🕉🎪ॐ नमः शिवाय🎪🕉* *🛕🔔हिन्दू पंचांग🔔🛕* ⛅ *दिनांक 26 अक्टूबर 2020* ⛅ *दिन - सोमवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077 (गुजरात - 2076)* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - दक्षिणायन* ⛅ *ऋतु - हेमंत* ⛅ *मास - अश्विन* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - दशमी सुबह 09:00 तक तत्पश्चात एकादशी* ⛅ *नक्षत्र - शतभिषा 27 अक्टूबर प्रातः 06:33 तक तत्पश्चात पूर्व भाद्रपद* ⛅ *योग - वृद्धि 27 अक्टूबर रात्रि 12:40 तक तत्पश्चात ध्रुव* ⛅ *राहुकाल - सुबह 08:05 से सुबह 09:31 तक* ⛅ *सूर्योदय - 06:39* ⛅ *सूर्यास्त - 18:05* ⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण* - *26 अक्टूबर 2020 सोमवार को सुबह 09:01 से 27 अक्टूबर, मंगलवार को सुबह 10:46 तक एकादशी है ।* 💥 *विशेष* - *27 अक्टूबर, मंगलवार को एकादशी का व्रत (उपवास) रखें ।* *🛕🔔हिन्दू पंचांग🔔🛕* 🌷 *एकादशी व्रत के लाभ* 🌷 🙏🏻 *एकादशी व्रत के पुण्य के समान और कोई पुण्य नहीं है ।* 🙏🏻 *जो पुण्य सूर्यग्रहण में दान से होता है, उससे कई गुना अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है ।* 🙏🏻 *जो पुण्य गौ-दान सुवर्ण-दान, अश्वमेघ यज्ञ से होता है, उससे अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है ।* 🙏🏻 *एकादशी करनेवालों के पितर नीच योनि से मुक्त होते हैं और अपने परिवारवालों पर प्रसन्नता बरसाते हैं ।इसलिए यह व्रत करने वालों के घर में सुख-शांति बनी रहती है ।* 🙏🏻 *धन-धान्य, पुत्रादि की वृद्धि होती है ।* 🙏🏻 *कीर्ति बढ़ती है, श्रद्धा-भक्ति बढ़ती है, जिससे जीवन रसमय बनता है ।* 🙏🏻 *परमात्मा की प्रसन्नता प्राप्त होती है ।पूर्वकाल में राजा नहुष, अंबरीष, राजा गाधी आदि जिन्होंने भी एकादशी का व्रत किया, उन्हें इस पृथ्वी का समस्त ऐश्वर्य प्राप्त हुआ ।भगवान शिवजी ने नारद से कहा है : एकादशी का व्रत करने से मनुष्य के सात जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं, इसमे कोई संदेह नहीं है । एकादशी के दिन किये हुए व्रत, गौ-दान आदि का अनंत गुना पुण्य होता है ।* *🛕🔔हिन्दू पंचांग🔔🛕* 🌷 *एकादशी के दिन करने योग्य* 🌷 🙏🏻 *एकादशी को दिया जला के विष्णु सहस्त्र नाम पढ़ें .......विष्णु सहस्त्र नाम नहीं हो तो १० माला गुरुमंत्र का जप कर लें l अगर घर में झगडे होते हों, तो झगड़े शांत हों जायें ऐसा संकल्प करके विष्णु सहस्त्र नाम पढ़ें तो घर के झगड़े भी शांत होंगे l* 🙏🏻 *Sureshanandji Haridwar 11.02.2010* *🛕🔔हिन्दू पंचांग🔔🛕* 🌷 *एकादशी के दिन ये सावधानी रहे* 🌷 🙏🏻 *महीने में १५-१५ दिन में एकादशी आती है एकादशी का व्रत पाप और रोगों को स्वाहा कर देता है लेकिन वृद्ध, बालक और बीमार व्यक्ति एकादशी न रख सके तभी भी उनको चावल का तो त्याग करना चाहिए एकादशी के जो दिन चावल खाता है... तो धार्मिक ग्रन्थ से एक- एक चावल एक- एक कीड़ा खाने का पाप लगता है...ऐसा डोंगरे जी महाराज के भागवत में डोंगरे जी महाराज ने कहा* 🙏🏻 *- पूज्य बापूजी मुंबई 1/1/2012* *🛕🔔हिन्दू पंचांग🔔🛕* *ससि ललाट सुंदर सिर गंगा*। *नयन तीनि उपबीत भुजंगा*॥ *गरल कंठ उर नर सिर माला*। *असिव बेष सिवधाम कृपाला*॥ *🕉 हरि हरि ॐ🕉* 🎪🔥🚩⛳🔱🔔⚜🏹🌾💐🌹🌲🌲🌹💐🌾🏹⚜🔔🔱⛳🚩🔥🎪

+29 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 45 शेयर

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉 🌄सुप्रभातम🌄 🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓 🌻सोमवार, २६ अक्टूबर २०२०🌻 सूर्योदय: 🌄 ०६:३६ सूर्यास्त: 🌅 ०५:३५ चन्द्रोदय: 🌝 १५:०८ चन्द्रास्त: 🌜२६:२८ अयन 🌕 दक्षिणायने (उत्तरगोलीय) ऋतु: ❄️ शरद शक सम्वत: 👉 १९४२ (शर्वरी) विक्रम सम्वत: 👉 २०७७ (प्रमादी) मास 👉 आश्विन पक्ष 👉 शुक्ल तिथि: 👉 दशमी (०९:०० तक) नक्षत्र: 👉 शतभिषा (पूर्ण रात्रि) योग: 👉 वृद्धि (२४:४० तक) प्रथम करण: 👉 गर (०९:०० तक) द्वितीय करण: 👉 वणिज (२१:५० तक) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ ॥ गोचर ग्रहा: ॥ 🌖🌗🌖🌗 सूर्य 🌟 तुला चंद्र 🌟 कुम्भ मंगल 🌟 मीन (उदित, पूर्व, वक्री) बुध 🌟 तुला (अस्त, पश्चिम, मार्गी) गुरु 🌟 धनु (उदित, पश्चिम, मार्गी) शुक्र 🌟 कन्या (उदित, पूर्व, मार्गी) शनि 🌟 मकर (उदय, पूर्व, मार्गी) राहु 🌟 वृष केतु 🌟 वृश्चिक 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभाशुभ मुहूर्त विचार ⏳⏲⏳⏲⏳⏲⏳ 〰〰〰〰〰〰〰 अभिजित मुहूर्त: 👉 ११:३९ से १२:२३ अमृत काल: 👉 २२:४५ से २४:३० होमाहुति: 👉 शनि अग्निवास: 👉 आकाश दिशा शूल: 👉 पूर्व नक्षत्र शूल: 👉 ❌❌❌ चन्द्र वास: 👉 पश्चिम दुर्मुहूर्त: 👉 १२:२३ से १३:०७ राहुकाल: 👉 ०७:५३ से ०९:१५ राहु काल वास: 👉 उत्तर-पश्चिम यमगण्ड: 👉 १०:३८ से १२:०१ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ☄चौघड़िया विचार☄ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ॥ दिन का चौघड़िया ॥ १ - अमृत २ - काल ३ - शुभ ४ - रोग ५ - उद्वेग ६ - चर ७ - लाभ ८ - अमृत ॥रात्रि का चौघड़िया॥ १ - चर २ - रोग ३ - काल ४ - लाभ ५ - उद्वेग ६ - शुभ ७ - अमृत ८ - चर नोट-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभ यात्रा दिशा 🚌🚈🚗⛵🛫 पश्चिम-दक्षिण (दर्पण देखकर अथवा खीर का सेवन कर यात्रा करें) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 तिथि विशेष 🗓📆🗓📆 〰️〰️〰️〰️ भद्रावास मृत्युलोक में २१:५१ से आदि। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज जन्मे शिशुओं का नामकरण 〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ आज ३०:३७ तक जन्मे शिशुओ का नाम शतभिषा नक्षत्र के प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (गो, सा, सी, सू) नामाक्षर से रखना शास्त्र सम्मत है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 उदय-लग्न मुहूर्त: ०६:३० - ०८:०९ तुला ०८:०९ - १०:२८ वृश्चिक १०:२८ - १२:३२ धनु १२:३२ - १४:१३ मकर १४:१३ - १५:३९ कुम्भ १५:३९ - १७:०२ मीन १७:०२ - १८:३६ मेष १८:३६ - २०:३१ वृषभ २०:३१ - २२:४६ मिथुन २२:४६ - २५:०७ कर्क २५:०७ - २७:२६ सिंह २७:२६ - २९:४४ कन्या २९:४४ - ३०:३१ तुला 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 पञ्चक रहित मुहूर्त: ०६:३० - ०८:०९ शुभ मुहूर्त ०८:०९ - ०९:०० रोग पञ्चक ०९:०० - १०:२८ शुभ मुहूर्त १०:२८ - १२:३२ मृत्यु पञ्चक १२:३२ - १४:१३ अग्नि पञ्चक १४:१३ - १५:३९ शुभ मुहूर्त १५:३९ - १७:०२ रज पञ्चक १७:०२ - १८:३६ अग्नि पञ्चक १८:३६ - २०:३१ शुभ मुहूर्त २०:३१ - २२:४६ रज पञ्चक २२:४६ - २५:०७ शुभ मुहूर्त २५:०७ - २७:२६ चोर पञ्चक २७:२६ - २९:४४ शुभ मुहूर्त २९:४४ - ३०:३१ रोग पञ्चक 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज का राशिफल 🐐🐂💏💮🐅👩 〰️〰️〰️〰️〰️〰️ मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) आज का दिन मिश्रित फलदायक रहेगा। सेहत में उतार-चढ़ाव आएंगे स्वास्थ्य नरम रहने पर भी कार्यो को प्रभावित नहीं होने देंगे। प्रातः काल के समय व्यवसाय में लाभ निकट आते-आते किसी विवाद की भेंट चढ़ सकता है। लेकिन हिम्मत बनाये रखे आर्थिक दृष्टिकोण से दिन संतोषजक रहने वाला है। महिलाये कार्य क्षेत्र पर पुरुषों से बेहतर प्रदर्शन करेंगी बीच-बीच में मन मुटाव के प्रसंग भी बनेंगे परन्तु कार्य में बाधक नही होंगे। परिवार के बुजुर्ग आज आपसे किसी कारण से नाराज होंगे। घर के अन्य सदस्य भी बड़ो का ही पक्ष लेंगे जिससे स्वयं को अकेला अनुभव करेंगे धैर्य के साथ मौन बनाये रखें। व्यवसायी बचत कर सकेंगे। वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) आज का दिन धन के साथ-साथ सुख शान्ति दायक भी रहेगा। व्यापारी वर्ग को लाभदायक सौदे मिलेंगे। भविष्य की योजनाओं पर भी धन का निवेश करेंगे साथ ही बचत भी कर पाएंगे। व्यवसाय में प्रतिस्पर्धा रहने पर भी आपके कार्य निर्विघ्न चलते रहेंगे परन्तु बीच-बीच में सहकर्मियो के कारण थोड़ी असुविधा बन सकती है। धन लाभ आशा के अनुरूप हो जाएगा कार्य के नए क्षेत्र मिलेंगे। मित्र स्वयजनो के साथ धार्मिक यात्रा के योग भी बनेंगे। महिला वर्ग सेहत को लेकर परेशान रह सकती है थकान अधिक रहेगी स्वभाव में भी चिड़चिड़ा पन रहने से घरेलु कार्य में विलंब होगा। विद्यार्थ पढ़ाई पर कम ध्यान देंगे। मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) आज आपमे आध्यात्मिक उन्नति होगी। धर्म के गूढ़ रहस्यों को जानने में रुचि लेंगे। मानसिक रूप से प्रसन्न रहने के वातावरण बनते रहेंगे। सेहत में थोड़ी खराबी रह सकती है गले अथवा छाती सम्बंधित रोग एवं पेट मे दर्द से कष्ट होगा। धार्मिक स्थल के कार्यक्रमो में रूचि से हिस्सा लेंगे घर में भी पूजा पाठ का आयोजन करा सकते है। कल की अपेक्षा आज अधिकांश समय मौन रहना पसंद करेंगे जिससे आस पास संवादहीनता का वातावरण बनेगा। परिवार में आपकी आवश्यकता बढ़ेगी। कीमती सामान संभाल कर रखे चोरी अथवा नष्ट होने की संभावना है। विपरितलिंगीय के प्रति उदासीनता दिखाएंगे। कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) आज का दिन थोड़ा उठा पटक वाला रहेगा। सेहत प्रातः काल से नरम रहेगी मन अकारण ही अशांत रहेगा। भावुकता भी स्वभाव में अधिक रहेगी जिससे अन्य लोग आपकी भावनाओं का गलत लाभ उठा सकते है। आज किसी के ऊपर जल्दी विश्वास करना हानि कराएगा सावधान रहें। धन सम्बंधित व्यवहार देख-भालकर कर ही करें। व्यवसाय आज आशा के अनुकूल नहीं रहेगा परन्तु खर्च अधिक रहने से आर्थिक संतुलन प्रभावित होगा। गृहस्थ में भी धन खर्च करने पर ही सुख की प्राप्ति हो सकेगी विवाद की स्थिति से बचकर रहें। सायंकाल का समय अपेक्षाकृत आराम से बितायेंगे। थकान मिटाने के लिए मनोरंजन के अवसर उपलब्ध हो सकेंगे। सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) आज का दिन विविध क्षेत्रों में विजय दिलाने वाला रहेगा आज आप जिस भी कार्य को करेंगे उसमे आरम्भ में थोड़ी झिझक रहेगी परन्तु अंतिम फल शुभ ही रहेगा। सामाजिक क्षेत्र पर आपका दबदबा रहेगा। जिस किसी से भी कार्य निकालना चाहेंगे वह चाह कर भी मना नही कर सकेगा। कार्य क्षेत्र पर निर्णय लेने में थोड़ी परेशानी भी रहेगी फिर भी सोची गयी योजनाएं अवश्य फलीभूत होंगी। धन लाभ थोड़े इन्तजार के बाद होगा। शारीरिक स्वास्थ्य सामान्य रहेगा। घर में पूजा पाठ का आयोजन करवा सकते है। नए कार्य फिलहाल टालें। सुख के साधनों में वृद्धि होगी। विरोधी परास्त होंगे। परिवार में शांति रहेगी। कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो) आपको आज का दिन मिलाजुला फल देगा। आज का दिन लाभ दिला सकता है परन्तु क्रोध को वश में रखना जरूरी है वरना बना बनाया काम बिगड़ सकता है। लोग आपको किसी ना किसी कारण क्रोध दिलाएंगे परन्तु अपने काम से काम रखें। समय धन के साथ साथ मान सम्मान में भी वृद्धि करने वाला है। विदेशी व्यापार अथवा जमीन सम्बंधित कार्यो में अधिक लाभ की संभावना है। आकस्मिक यात्रा आने से जरूरी कार्य निरस्त करने पड़ सकते है। रिश्तेदारो के द्वारा लाभ के मार्ग प्रशस्त होंगे। पारिवारिक वातावरण में थोड़ी नोंकझोंक चलती रहेगी फिर भी स्थिति गंभीर नही होगी। महिलाये सहयोगी रहेंगी। तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) आज के दिन भाग दौड़ अधिक रहेगी परन्तु परिणाम आशा के विपरीत रहने से मन मे नकारात्मक विचार बनेंगे। आर्थिक कारणों से कोई कार्य अधूरा रहेगा अथवा मनोकामना पूर्ति नही कर सकेंगे। कई कार्यो को एकसाथ करने के कारण दुविधा में पड़ेंगे। घर एवं व्यवसाय के कार्यो में तालमेल बैठाने में असहजता रहेगी। फिर भी धन लाभ थोड़े विलंब से हो जाने से कार्यो में अड़चन नहीं आएगी। महिलाओं से आर्थिक सहयोग मिल सकता है। सरकारी कार्य थोड़ी शिफारिश के बाद आगे बढ़ेंगे। शेयर सट्टे में आज निवेश से बचे हानि हो सकती है। अन्य दैनिक उपभोग के व्यावसायिक कार्यो में निवेश उत्तम रहेगा। दैनिक जीवन में कोई चमत्कार होने से आश्चर्य होगा। वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) आज का दिन सावधानी से बिताने की सलाह है आज राह चलते लोग भी आपके व्यक्तित्त्व पर छींटाकशी करेंगे जिससे मानसिक स्थिति खराब रहेगी। ना चाहकर भी कटु वचन बोलने पड़ेंगे जिसके कारण बाद में आत्मग्लानि रहेगी। कार्य क्षेत्र पर उधार वाले परेशान कर सकते है आज किसी से भी उधार के व्यवहार ना करें अन्यथा हानि में रहेंगे। असंयमित दिनचर्या के कारण शारीरिक स्वास्थ्य भी कार्यो में बाधक बनेगा रक्त-पित्त सम्बंधित समस्या रहेगी। विरोधी आपकी बातों को बढ़ा चढ़ा कर पेश करेंगे जिस वजह से मान हानि होगी। भाई-बंधुओ से वैर-विरोध रहने के कारण पारिवारिक वातावरण अशान्त रहेगा। धन संबंधित कार्य लटके रहेंगे। धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) आज आप अधिकांश समय आराम में बिताना पसंद करेंगे। स्वास्थ्य सम्बंधित शिकायत पेट सम्बंधित समस्या मुख्यतः रहेगी। आकस्मिक कार्य आने से यात्रा करनी पड़ सकती है। धन लाभ दोपहर से पूर्व आसानी से होगा इसके बाद परिश्रम साध्य लाभ होगा सरकारी कार्य करना मध्यान से पहले उचित रहेगा बाद में लंबित रह सकता है। पुरानी उधारी चुकता होने से राहत मिलेगी। घर में महिलाओं एवं सन्तानो की फरमाइश पूरी करनी पड़ेगी। माता पिता से भावनात्मक सम्बन्ध रहेंगे इस कारण किसी अन्य सदस्य से क्लेश भी रह सकता है। संध्या का समय थकान वाला रहेगा फिर भी हास्य परिहास के अवसर मिलेंगें। मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) आज के दिन आप अपना ध्यान आवश्यक कार्यो पर एकाग्र करने का प्रयास करें अन्यथा जहाँ लाभ होना है वहां हानि मिलेगी। मन अनर्गल कार्यो में अधिक भटकेगा। विष्योपभोग में अधिक रुचि रहने के कारण धन खर्च की परवाह नहीं करेंगे। मौज-शौक पर अधिक खर्च रह सकता है। धन लाभ लापरवाही के चलते आगे के लिए टलेगा। व्यवसाय में निवेश अतिआवश्यक होने पर ही करें। स्वयं अथवा परिजन की स्वास्थ्य सम्बंधित समस्याओं की अनदेखी आगे भारी पड़ सकती है। परिवार में आपके कारण खींच-तान रह सकती है किसी की बीमारी पर खर्च होगा। विवेकी व्यवहार अपनाए बेवजह की परेशानी से बचेंगे। कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) आज के दिन प्रातः काल से ही मन मौज मस्ती की ओर आकर्षित रहेगा यात्रा प्रवास के योग भी बन रहे है ना चाहकर भी करनी पड़ सकती है। दिनचर्या व्यवस्थित रहने पर भी कुछ ना कुछ फेर बदल करना पड़ेगा। सामाजिक व्यवहारों के कारण भाग-दौड़ करनी पड़ेगी। स्वास्थ्य उत्तम बना रहेगा लोगो को आज आपकी सहायता की आवश्यकता पड़ेगी। कार्य क्षेत्र पर प्रतिस्पर्धिओ पर विजय प्राप्त करेंगे विरोधियो को आज पनपने ही नहीं देंगे। जिस भी कार्य में निवेश करेंगे उसमे थोड़े विलम्ब से ही पर सफलता निश्चित मिलेगी। पूजा पाठ में सम्मिलित होने के अवसर आएंगे। घर का वातावरण भी मंगलकारी रहेगा। स्त्रीवर्ग आध्यत्म में ज्यादा भाव रखेंगी। मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) आज के दिन भी आपको विविध कष्टो का सामना करना पड़ेगा दिनचर्या अस्त व्यस्त रहेगी। आप पूर्वाग्रह से ग्रसित रहेंगे। अपने जिद्दी स्वभाव के कारण आसपास का वातावरण अशान्त बनाएंगे। मनमानी के चलते घर में भी तनाव का वातावरण बनेगा। सामाजिक क्षेत्र पर धन के साथ साथ मान हानि के योग है बेहतर रहेगा की आज कोई भी बड़ा कार्य ना करें यात्रा भी अति आवश्यक होने पर ही करें व्यर्थ समय एवं धन नष्ट होने की संभावनाएं अधिक है। परन्तु जोखिम वाले कार्यो में निवेश निकट भविष्य में अवश्य लाभ कराएगा। परिवारक वातावरण आपकी गलतियों के कारण पहले कलुषित होगा सामान्य होने में समय लगेगा। महिलाओं से सतर्क रहें। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️

+88 प्रतिक्रिया 12 कॉमेंट्स • 105 शेयर
Garima Gahlot Rajput Oct 24, 2020

🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞 ⛅ *दिनांक 25 अक्टूबर 2020* ⛅ *दिन - रविवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077 (गुजरात - 2076)* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - दक्षिणायन* ⛅ *ऋतु - हेमंत* ⛅ *मास - अश्विन* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - नवमी सुबह 07:41 तक तत्पश्चात दशमी* ⛅ *नक्षत्र - धनिष्ठा 26 अक्टूबर प्रातः 04:23 तक तत्पश्चात शतभिषा* ⛅ *योग - गण्ड 26 अक्टूबर रात्रि 12:29 तक तत्पश्चात वृद्धि* ⛅ *राहुकाल - शाम 04:39 से शाम 06:07 तक* ⛅ *सूर्योदय - 06:37* ⛅ *सूर्यास्त - 18:05* ⛅ *दिशाशूल - पश्चिम दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - शारदिय नवरात्र समाप्त, विजयादशमी (पूरा दिन शुभ मुहूर्त), विजय मुहूर्त (दोपहर 02:18 से 03:04 तक), (संकल्प, शुभारंभ, नूतन कार्य, सीमोल्लंधन लिए), दशहरा, गुरु-पूजन, अस्त्र-शस्त्र-शमी वृक्ष-आयुध-वाहन पूजन* 💥 *विशेष - नवमी को लौकी खाना गोमांस के समान त्याज्य है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* 💥 *रविवार के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)* 💥 *रविवार के दिन मसूर की दाल, अदरक और लाल रंग का साग नहीं खाना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75.90)* 💥 *रविवार के दिन काँसे के पात्र में भोजन नहीं करना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75)* 💥 *स्कंद पुराण के अनुसार रविवार के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करना चाहिए। इससे ब्रह्महत्या आदि महापाप भी नष्ट हो जाते हैं।* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *बिना मुहूर्त के मुहूर्त (दशहरा)* 🌷 👉🏻 *विजयादशमी का दिन बहुत महत्त्व का है और इस दिन सूर्यास्त के पूर्व से लेकर तारे निकलने तक का समय अर्थात् संध्या का समय बहुत उपयोगी है। रघु राजा ने इसी समय कुबेर पर चढ़ाई करने का संकेत कर दिया था कि ‘सोने की मुहरों की वृष्टि करो या तो फिर युद्ध करो।’ रामचन्द्रजी रावण के साथ युद्ध में इसी दिन विजयी हुए। ऐसे ही इस विजयादशमी के दिन अपने मन में जो रावण के विचार हैं काम, क्रोध, लोभ, मोह, भय, शोक, चिंता – इन अंदर के शत्रुओं को जीतना है और रोग, अशांति जैसे बाहर के शत्रुओं पर भी विजय पानी है। दशहरा यह खबर देता है।* 👉🏻 *अपनी सीमा के पार जाकर औरंगजेब के दाँत खट्टे करने के लिए शिवाजी ने दशहरे का दिन चुना था – बिना मुहूर्त के मुहूर्त ! (विजयादशमी का पूरा दिन स्वयंसिद्ध मुहूर्त है अर्थात इस दिन कोई भी शुभ कर्म करने के लिए पंचांग-शुद्धि या शुभ मुहूर्त देखने की आवश्यकता नहीं रहती।) इसलिए दशहरे के दिन कोई भी वीरतापूर्ण काम करने वाला सफल होता है।* 👉🏻 *वरतंतु ऋषि का शिष्य कौत्स विद्याध्ययन समाप्त करके जब घर जाने लगा तो उसने अपने गुरुदेव से गुरूदक्षिणा के लिए निवेदन किया। तब गुरुदेव ने कहाः वत्स ! तुम्हारी सेवा ही मेरी गुरुदक्षिणा है। तुम्हारा कल्याण हो।’* 👉🏻 *परंतु कौत्स के बार-बार गुरुदक्षिणा के लिए आग्रह करते रहने पर ऋषि ने क्रुद्ध होकर कहाः ‘तुम गुरूदक्षिणा देना ही चाहते हो तो चौदह करोड़ स्वर्णमुद्राएँ लाकर दो।”* 👉🏻 *अब गुरुजी ने आज्ञा की है। इतनी स्वर्णमुद्राएँ और तो कोई देगा नहीं, रघु राजा के पास गये। रघु राजा ने इसी दिन को चुना और कुबेर को कहाः “या तो स्वर्णमुद्राओं की बरसात करो या तो युद्ध के लिए तैयार हो जाओ।” कुबेर ने शमी वृक्ष पर स्वर्णमुद्राओं की वृष्टि की। रघु राजा ने वह धन ऋषिकुमार को दिया लेकिन ऋषिकुमार ने अपने पास नहीं रखा, ऋषि को दिया।* 👉🏻 *विजयादशमी के दिन शमी वृक्ष का पूजन किया जाता है और उसके पत्ते देकर एक-दूसरे को यह याद दिलाना होता है कि सुख बाँटने की चीज है और दुःख पैरों तले कुचलने की चीज है। धन-सम्पदा अकेले भोगने के लिए नहीं है। तेन त्यक्तेन भुंजीथा….। जो अकेले भोग करता है, धन-सम्पदा उसको ले डूबती है।* 👉🏻 *भोगवादी, दुनिया में विदेशी ‘अपने लिए – अपने लिए….’ करते हैं तो ‘व्हील चेयर’ पर और ‘हार्ट अटैक’ आदि कई बीमारियों से मरते हैं। अमेरिका में 58 प्रतिशत को सप्ताह में कभी-कभी अनिद्रा सताती है और 35 प्रतिशत को हर रोज अनिद्रा सताती है। भारत में अनिद्रा का प्रमाण 10 प्रतिशत भी नहीं है क्योंकि यहाँ सत्संग है और त्याग, परोपकार से जीने की कला है। यह भारत की महान संस्कृति का फल हमें मिल रहा है।* 👉🏻 *तो दशहरे की संध्या को भगवान को प्रीतिपूर्वक भजे और प्रार्थना करें कि ‘हे भगवान ! जो चीज सबसे श्रेष्ठ है उसी में हमारी रूचि करना।’ संकल्प करना कि’आज प्रतिज्ञा करते हैं कि हम ॐकार का जप करेंगे।’* 👉🏻 *‘ॐ’ का जप करने से देवदर्शन, लौकिक कामनाओं की पूर्ति, आध्यात्मिक चेतना में वृद्धि, साधक की ऊर्जा एवं क्षमता में वृद्धि और जीवन में दिव्यता तथा परमात्मा की प्राप्ति होती है।* *स्रोतः ऋषि प्रसाद, सितम्बर 2011* 📖 *हिन्दू पंचांग संपादक ~ अंजनी निलेश ठक्कर* 📒 *हिन्दू पंचांग प्रकाशित स्थल ~ सुरत शहर (गुजरात)* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🙏🍀🌷🌻🌺🌸🌹🍁🙏

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर

*◆🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉◆🧉★🧉★🧉★* _*~💁🏻‍♂आजका हिन्दू पंचांग व राशिफल 💁🏻‍♀️➡️दिनांक :- 25अक्टूबर 2020 दिन :- रविवार ~*_👈🏾 ⏳📡⏳📡⏳📡 *_💁🏻‍♂आचार्य विनित कानूनगों✍🏻🙏🏻_* _*09826762293*_ 📿💥📿💥📿💥 *👉🏽🙏🏻सूचना🙏🏻👈🏼* *👉🏽हमारे इस ग्रुप में शीघ्र शामिल होव क्यो की अब शीघ्र ही हम शिर्फ़ पंचांग का प्रसारण यहां ही करेंगे।👇🏾👇🏾🙏🏻* *💁🏻‍♂व्हाट,पर पंचांग का प्रसारण बन्द करने जा रहे है🙏🏻* *_ टेलीग्राम चैनल की लिंक से जुड़ जाएं _* *_Join:-👇🏾लिकं👇🏾_* 🌹🌹🌹🌹🌹🌹 https://t.me/joinchat/IhwgMg7xuTTNxs7LjhKtKA ♥♠♥♠♥♠ *_✍🏼रोज 💁🏻‍♂➡आगे की पंचाग व राशि-फल पड़ने के लिये 👉🏿Read more👈🏿 को टच करे। ⬅_* 🛎🏮🛎🏮🛎🏮 _*💁🏻🙏🏻बेटी बचाओ, बेटी पढाओ बेटी है तो कल है ।💁🏻🙏🏻*_ 🌼👇🏾🌹🌹👇🏾🌼 _*नोट👉🏻 यदि राशिफल व पंचांग अच्छा लगा हो तो दूसरों को शेयर करें*_ _*👉🏿एक चेतावनी 🙏🏻*_ _*👉🏿इस कि बगैर छेड-छाड़ करे इसे शेयर करे।*_ 🚆🌻🚆🌻🚆🌻 _*💁🏻‍♂आज का सुविचार💁🏻*_ 🌐⚜🌐⚜🌐⚜ _*💁🏻‍♂*●▬▬▬ *ஜ۩۞۩ஜ*▬▬▬▬●💁🏻*_ *💁🏻‍♂️जब तक आप अपनी समस्याओ एवं कठिनाइयों की वजह दूसरों को मानते है, तब तक आप अपनी समस्याओ एवं कठनाइयो को मिटा नहीं सकते !!* *_💐𖡼•┄•𖣥𖣔𖣥•┄•𖡼💐_* *_💁🏻‍♂आचार्य विनित कानूनगों✍🏻🙏🏻_* *_09826762293,_* *_09926062293,_* *_09893480574_* 🐚☀🐚 *_~🐾स्नेह वंदन 😊🍀🙏~_* ~_*✒💐आप का दिन शुभ हो 💐✒*_~ 🙋🏼‍♂🙋🏻💁🏼💁🏼‍♂* *_●········••●◆❁3🕉✿🕉❁◆●••·········●_* *_🙏🚩🔱🌹🌼जय श्रीमन नारायण जी🔱🚩🙏🏻_* 🌙🔥🌙🔥🌙🔥 _*💁🏼‍♂💁🏼अकाल मृत्यु वो मरे जो काम करे चंडाल का काल भी उसका क्या करे जो भक्त है महाकाल का जय जय सियाराम जय श्री महाकाल📿🚩🙋🏼‍♂🙋🏻🙏🏻💐🌹*_ *👉🏽🙏🏼 _भगवान महाकाल के यह मंत्र का रोज नियमित जाप करें आप के सभी काम सफल होंगे_*👇🏾👇🏾👇🏾👇🏾 *_।। 🙏🏻ऊँ मृत्युंजयाय रूद्राय नीलकठांय शम्भवे । 🌹अमृतेशाय शर्वाय महादेवाय ते नमः_🙏🏻।।* *◆🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉◆🧉★🧉★🧉★* *_🙏🏻🚩🔱जय श्री महाकाल की आप सभी भक्तो को🔱🚩🙏🏻_* 🈸🈸🚩🚩🈸🈸 🔱🚩 _*ॐ यमाय धर्मराजाय श्री चित्रगुप्ताय वै नमः*🚩🔱_ 🙏🏼🙋🏼‍♂🙋🏻🙋🏼‍♂🙋🏻🙏🏼 _*🚩 जय हो प्रभु की🙏🏼🙋🏼‍♂🙋🏻🙏🏼*_ *_✹•⁘•💎•⁘•✹•⁘•💎•⁘•⁘•💎•⁘•✹•⁘•💎•⁘•✹_* ⬇ *_🙏🏻🚩💐ॐ नमो भगवते श्री चित्रगुप्ताय वै नमः💐🚩🙏🏻_* 👇🏿 💥💜💥💜💥💜 *_✍🏼रोज निःशुल्क पंचांग व राशि-फल के लिए हमारे ग्रुप में ऐड होने के लिए हमारे व्हाट,मो,न,जो नीचे लिखे है ➡⬇_* *_हमेअपनी सम्पूर्ण जानकारी के साथ लिखे पंचांग व राशि फल ग्रुप में ऐड करे या हमें काल करे हमारे मो,पर।।_*👇🏾👇🏾 _*💁🏻‍♂जिन्हें अपनी कुंडली विश्लेषण और भविष्य से संबंधित जानकारी चाहिये वे भी हम से संपर्क कर सकते है,हमारे मो,न,पर काल कर के।🤝🏻🙏🏻*_ *_💁🏻‍♂आचार्य विनित कानूनगों✍🏻🙏🏻_* ➡️👇🏾🤳📞💁🏻‍♂🙏🏻 *_09826762293,_* *_09926062293,_* *_09893480574_* *_🌹𖡼•┄•🛕𖣥𖣔𖣥🛕•┄•𖡼🌹_* *🛕विक्रम संवत🕉️- 2077 (2076)* *🈸शक संवत - 1942* *🌕अयन - दक्षिणायन* *⛈️ऋतु - हेमंत* *❄️मास - अश्विन* *💥पक्ष - शुक्ल* *📅तिथि - नवमी सुबह 07:41 तक तत्पश्चात दशमी* *🌎नक्षत्र - धनिष्ठा 26 अक्टूबर प्रातः 04:23 तक तत्पश्चात शतभिषा* *💥योग - गण्ड 26 अक्टूबर रात्रि 12:29 तक तत्पश्चात वृद्धि* *👺राहुकाल - शाम 04:39 से शाम 06:07 तक* *🌞सूर्योदय - 06:37* *🌞सूर्यास्त - 18:05* *🌙चन्द्रोदय: 14:34* *🌙चन्द्रास्त: 25:32* *🚔दिशाशूल - पश्चिम दिशा में* *✒️ व्रत पर्व विवरण - शारदिय नवरात्र समाप्त, विजयादशमी (पूरा दिन शुभ मुहूर्त), विजय मुहूर्त (दोपहर 02:18 से 03:04 तक), (संकल्प, शुभारंभ, नूतन कार्य, सीमोल्लंधन लिए), दशहरा, गुरु-पूजन, अस्त्र-शस्त्र-शमी वृक्ष-आयुध-वाहन पूजन* *_✹•⁘•💎•⁘•✹•⁘•💎•⁘•⁘•💎•⁘•✹•⁘•💎•⁘•✹_* _*༒۝༒🪔हिन्दू पांचाग व राशिफल🪔༒۝༒*_ *_✹•⁘•💎•⁘•✹•⁘•💎•⁘•⁘•💎•⁘•✹•⁘•💎•⁘•✹_* *➡️ विशेष - नवमी को लौकी खाना गोमांस के समान त्याज्य है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* *👩🏿‍🦰रविवार के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)* *➡️ रविवार के दिन मसूर की दाल, अदरक और लाल रंग का साग नहीं खाना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75.90)* *💁🏻‍♂️ रविवार के दिन काँसे के पात्र में भोजन नहीं करना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75)* *📘 स्कंद पुराण के अनुसार रविवार के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करना चाहिए। इससे ब्रह्महत्या आदि महापाप भी नष्ट हो जाते हैं।* *🪔 बिना मुहूर्त के मुहूर्त (दशहरा) 🪔* *✒️ विजयादशमी का दिन बहुत महत्त्व का है और इस दिन सूर्यास्त के पूर्व से लेकर तारे निकलने तक का समय अर्थात् संध्या का समय बहुत उपयोगी है। रघु राजा ने इसी समय कुबेर पर चढ़ाई करने का संकेत कर दिया था कि ‘सोने की मुहरों की वृष्टि करो या तो फिर युद्ध करो।’ रामचन्द्रजी रावण के साथ युद्ध में इसी दिन विजयी हुए। ऐसे ही इस विजयादशमी के दिन अपने मन में जो रावण के विचार हैं काम, क्रोध, लोभ, मोह, भय, शोक, चिंता – इन अंदर के शत्रुओं को जीतना है और रोग, अशांति जैसे बाहर के शत्रुओं पर भी विजय पानी है। दशहरा यह खबर देता है।* *🚩 अपनी सीमा के पार जाकर औरंगजेब के दाँत खट्टे करने के लिए शिवाजी ने दशहरे का दिन चुना था – बिना मुहूर्त के मुहूर्त ! (विजयादशमी का पूरा दिन स्वयंसिद्ध मुहूर्त है अर्थात इस दिन कोई भी शुभ कर्म करने के लिए पंचांग-शुद्धि या शुभ मुहूर्त देखने की आवश्यकता नहीं रहती।) इसलिए दशहरे के दिन कोई भी वीरतापूर्ण काम करने वाला सफल होता है।* *🏡 वरतंतु ऋषि का शिष्य कौत्स विद्याध्ययन समाप्त करके जब घर जाने लगा तो उसने अपने गुरुदेव से गुरूदक्षिणा के लिए निवेदन किया। तब गुरुदेव ने कहाः वत्स ! तुम्हारी सेवा ही मेरी गुरुदक्षिणा है। तुम्हारा कल्याण हो।’* *➡️ परंतु कौत्स के बार-बार गुरुदक्षिणा के लिए आग्रह करते रहने पर ऋषि ने क्रुद्ध होकर कहाः ‘तुम गुरूदक्षिणा देना ही चाहते हो तो चौदह करोड़ स्वर्णमुद्राएँ लाकर दो।”* *👉🏿 अब गुरुजी ने आज्ञा की है। इतनी स्वर्णमुद्राएँ और तो कोई देगा नहीं, रघु राजा के पास गये। रघु राजा ने इसी दिन को चुना और कुबेर को कहाः “या तो स्वर्णमुद्राओं की बरसात करो या तो युद्ध के लिए तैयार हो जाओ।” कुबेर ने शमी वृक्ष पर स्वर्णमुद्राओं की वृष्टि की। रघु राजा ने वह धन ऋषिकुमार को दिया लेकिन ऋषिकुमार ने अपने पास नहीं रखा, ऋषि को दिया।* *📿 विजयादशमी के दिन शमी वृक्ष का पूजन किया जाता है और उसके पत्ते देकर एक-दूसरे को यह याद दिलाना होता है कि सुख बाँटने की चीज है और दुःख पैरों तले कुचलने की चीज है। धन-सम्पदा अकेले भोगने के लिए नहीं है। तेन त्यक्तेन भुंजीथा….। जो अकेले भोग करता है, धन-सम्पदा उसको ले डूबती है।* *✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟* _*༒۝༒🛕हिन्दू पांचाग व राशिफल🛕༒۝༒*_ *✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟* *🪔 भोगवादी, दुनिया में विदेशी ‘अपने लिए – अपने लिए….’ करते हैं तो ‘व्हील चेयर’ पर और ‘हार्ट अटैक’ आदि कई बीमारियों से मरते हैं। अमेरिका में 58 प्रतिशत को सप्ताह में कभी-कभी अनिद्रा सताती है और 35 प्रतिशत को हर रोज अनिद्रा सताती है। भारत में अनिद्रा का प्रमाण 10 प्रतिशत भी नहीं है क्योंकि यहाँ सत्संग है और त्याग, परोपकार से जीने की कला है। यह भारत की महान संस्कृति का फल हमें मिल रहा है।* *💁🏻‍♂️ तो दशहरे की संध्या को भगवान को प्रीतिपूर्वक भजे और प्रार्थना करें कि ‘हे भगवान ! जो चीज सबसे श्रेष्ठ है उसी में हमारी रूचि करना।’ संकल्प करना कि’आज प्रतिज्ञा करते हैं कि हम ॐकार का जप करेंगे।’* *💁🏻‍♂️ ‘ॐ’ का जप करने से देवदर्शन, लौकिक कामनाओं की पूर्ति, आध्यात्मिक चेतना में वृद्धि, साधक की ऊर्जा एवं क्षमता में वृद्धि और जीवन में दिव्यता तथा परमात्मा की प्राप्ति होती है।* *✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟* 📖 _*🌈आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो 🌈।*_ _।। ~*🇮🇳शुभम भवतु कल्याणम*🇮🇳~।।_ 📖 *_।।➡⬇पंचांग व राशि-फल संपादक।।_* *⬇ _*~।। 📒आचार्य विंनित कानूनगो म,प्र,।।~*_ *_09826762293,_* *_09926062293,_* *_09893480574,_* 💥🌍💥🌍💥🌍 _~*🌐हिन्दू पांचाग व राशिफल🌐*~_ 💥🌍💥🌍💥🌍 *~_#👉🏿राशिफल👈🏿#_~* 🌹👇🏿🚀🚀👇🏿 ~_*दिनाक -25अक्टूबर 2020 दिन:-रविवार*_~ *_♟𖡼•┄•𖣥🎪𖣔🎪𖣥•┄•𖡼♟_* *🕉================🕉* *✿🥎✿🥎✿🥎✿🥎✿🥎✿🥎✿🥎* *_💁🏻‍♂आचार्य विनित कानूनगों✍🏻🙏🏻_* _*💁🏻‍♂जिन्हें अपनी कुंडली विश्लेषण और भविष्य से संबंधित जानकारी चाहिये वे भी हम से संपर्क कर सकते है,हमारे मो,न,पर काल कर के।🤝🏻🙏🏻👇🏾👇🏾*_ _*09826762293,*_ _*09926062293,*_ _*09893480574,*_ *✥🏀✥🏀✥🏀✥ 🏀✥🏀✥🏀✥🏀* *~_💁🏻‍♂दिन:-रविवार 25अक्टूबर 2020🙏🏻_~* *~_💁🏻‍♂आज का राशिफल👇🏾👇🏾_~* *❍🔥❍🔥❍🔥❍🔥❍🔥❍🔥❍* ️*_●▬🌎ஜ🌹۩۞۩ 🌹ஜ🌎▬▬●_* *🌻मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ)🌻आज का दिन कार्य सफलता वाला रहेगा। प्रातः काल जल्दी कार्यो में जुटने का फल शीघ्र ही धन लाभ के रूप में मिलेगा। अधिकांश कार्य थोड़े से परिश्रम से पूर्ण हो जाएंगे। अधिकारी वर्ग मुश्किल कार्यो में सहयोग करेंगे। आज आप जोड़ तोड़ वाली नीति अपना कर कठिन परिस्थितियों में भी अपना काम निकाल लेंगे। सरकारी कार्य मे भी सफलता की उम्मद जागेगी प्रयास करते रहे। दाम्पत्य जीवन मे छोटी-मोटी बातों को दिल पर ना लें स्थिति सामान्य ही रहेगी। मित्रो से कोई दुखद समाचार मिलेगा।* *🌻वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)🌻आज का दिन काफी उठा पटक वाला रहेगा। व्यावसायिक योजनाओं में अचानक बदलाव करना पड़ेगा। दिन के आरंभ में कार्यो की गति धीमी रहेगी समय पर वादा पूरा ना करने से व्यावसायिक संबंध खराब हो सकते है। कार्यो के प्रति नीरसत अधिक रहेगी। किसी भी कार्य को लेकर ठोस निर्णय नही ले पाएंगे परन्तु जिस भी कार्य में निवेश करेंगे उसमे विलंभ से ही सही सफल अवश्य होंगे धन लाभ भी आवश्यकता अनुसार हों जायेगा लेकिन संध्या पश्चात धन संबंधित कोई भी कार्य-व्यवहार ना करें। परिजन आपके टालमटोल वाले व्यवहार से दुखी रहेंगे।* *🌻मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा)🌻आज के दिन आप सम्भल कर ही कार्य करेंगे फिर भी सफलता में संशय बना रहेगा। व्यवहारिकता की कमी के कारण जितना लाभ मिलना चाहिए उतना नही मिल सकेगा। घर अथवा बाहर बेवजह कलह के प्रसंग बनेगे। व्यापार व्यवसाय में सहकर्मियो की।मनमानी के कारण असुविधा एवं अव्यवस्था बनेंगी लेकिन फिर भी स्वयं के पराक्रम से खर्च लायक धनार्जन कर ही लेंगे। आस-पड़ोसी एवं भाई बंधुओ से बात का बतंगड़ ना बने इसके लिए मौन रखने की जरूरत है फिर भी महिलाये स्वभावानुसार बनती बात बिगाड़ लेंगी। विपरीत लिंग के प्रति कामासक्त रहेंगे।* *🌻कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)🌻आज के दिन लाभ के अवसर आपकी तलाश में रहेंगे। दिन में जिस किसी के भी संपर्क में रहेंगे उससे कुछ ना कुछ लाभ अवश्य होगा। कार्य क्षेत्र पर भी एक से अधिक साधनो से आय होगी। व्यावसायिक क्षेत्र से जुड़ी महिलाओ को पदोन्नति के साथ प्रोत्साहन के रूप में आर्थिक सहायता भी मिल सकती है। सामाजिक कार्यो में रुचि ना होने पर भी सम्मिलित होना पड़ेगा मान-सम्मान बढेगा। परिजनों का मार्गदर्शन आज प्रत्येक क्षेत्र पर काम आएगा। महिलाओं का सुख सहयोग मिलेगा। प्रेम प्रसंगों में निकटता रहेगी।* *✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟* _*༒۝༒🛕हिन्दू पांचाग व राशिफल🛕༒۝༒*_ *✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟* *🌻सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)🌻आज का दिन भी आशानुकूल रहेगा। सेहत उत्तम रहने से कार्यो को मन लगाकर करेंगे लेकिन किसी के हस्तक्षेप करने से मन विक्षिप्त हो सकता है। किसी के ऊपर ध्यान ना दें एकाग्र होकर अपने कार्य मे लगे रहे धन एवं सम्मान दोनों मिलने के योग है। लेकिन उधार के व्यवहार बढ़ने से असुविधा भी होगी। व्यावसाय में वृद्धि के लिए निवेश करना शुभ रहेगा। भाई-बंधुओ का सहयोग आज अपेक्षाकृत कम ही रहेगा। महिलाओं को छोड़ घर के अन्य सदस्य आपसे ईर्ष्यालु व्यवहार रखेंगे। स्त्री से सुखदायक समाचार मिलेंगे।* *🌻कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)🌻आज के दिन आप बुद्धि विवेक से कार्य करेंगे परन्तु परिस्थिति हर तरह से कार्यो में बाधा डालेगी। कार्य व्यवसाय से मन ऊबने लगेगा धैर्य से कार्य करते रहें संध्या तक संतोषजक लाभ अवश्य मिलेगा पारिवारिक एवं सामाजिक क्षेत्र पर आपके विचारो की प्रशंसा होगी लेकिन केवल व्यवहार मात्र के लिए ही। आर्थिक विषयो को लेकर किसी से विवाद ना करें धन डूबने की आशंका है। गृहस्थ में प्रेम स्नेह तो मिलेगा परन्तु स्वार्थ सिद्धि की भावना भी अधिक रहेगी। महिलाये अधिक बोलने की समस्या से ग्रस्त रहेंगी।* *🌻तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)🌻आपको आज के दिन प्रत्येक कार्यो में सावधान रहने की आवश्यकता है। धन के पीछे भागने की प्रवृति पर आज लगाम लगाकर रखे अन्यथा धन के साथ-साथ मान हानि भी होगी। दोपहर से पहले के भाग में पुराने कार्य पूर्ण होने से थोड़ा बहुत धन मिलने से दैनिक खर्च निकल जाएंगे। इसके बाद का समय प्रतिकूल बनता जाएगा। कार्य व्यवसाय में प्रतिस्पर्धी हर प्रकार से आपके कार्यो में व्यवधान डालने का प्रयास करेंगे। परिजनों से भी मामूली बात पर झगड़ा होगा। वाणी एवं व्यवहार से संयम बरतें।* *🌻वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)🌻आज का दिन आर्थिक दृष्टिकोण से उन्नति वाला रहेगा। धन संबंधित समस्याएं काफी हद तक सुलझने पर दिन भर प्रसन्नता रहेगी। कार्य व्यवसाय से प्रारंभिक परिश्रम के बाद दोपहर के समय से धन की आमद शुरू हो जाएगी जो संध्या तक रुक रुक कर चलती रहेगी। मितव्ययी रहने के कारण खर्च भी हिसाब से करेंगे धन कोष में वृद्धि होगी। महिलाये किसी मनोकामना पूर्ति से उत्साहित होंगी। आज महिला वर्ग से कोई भी काम निकालना आसान रहेगा मना नही कर सकेंगी। दाम्पत्य सुख में भी वृद्धि होगी। पर्यटन की योजना बनेगी।* *◆🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉◆🧉★🧉★🧉★* _*༒۝༒👩🏿‍🦰हिन्दू पांचाग व राशिफल👨🏽‍🦰༒۝༒*_ *◆🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉◆🧉★🧉★🧉★* *🌻धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे)🌻आज के दिन आप किसी भी कार्य को लेकर ज्यादा भाग-दौड़ करने के पक्ष में नही रहेंगे। आसानी से जितना मिल जाये उसी में संतोष कर लेंगे। परन्तु महिलाये इसके विपरीत रहेंगी अल्प साधनो से कार्य करने पर भाग्य को दोष देंगी। व्यवसाय की गति पल पल में बदलेगी जिससे सुकून से बैठने का समय नही मिलेगा। किसी पुरानी घटना को याद करके दुखी रहेंगे। पारिवारिक खर्चो में अकस्मात वृद्धि होने से बजट गड़बड़ा सकता है। महिलाओं के मन मे आज उथल पुथल अधिक रहने के कारण बड़ी जिम्मेदारी का कार्य सौपना उचित नही रहेगा।* *🌻मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी)🌻आज के दिन मानसिक चंचलता के कारण बनते कार्यो को दुविधा के कारण आप स्वयं बिगाड़ लेंगे। सरकारी कार्य आज सावधानी से करें अन्यथा लंबित रखें हानि निश्चित रहेगी। संबंधो के प्रति भी आज ईमानदार नही रहेंगे। पारिवारिक वातावरण आपके गलत आचरण से कलुषित होगा। सामाजिक क्षेत्र पर लोग पीठ पीछे बुराई करेंगे। सेहत में मानसिक दबाव के चलते उतार चढ़ाव लगा रहेगा। घर के बुजुर्ग आपसे नाराज रहेंगे। धन लाभ अचानक होने से स्थिति संभाल नही सकेंगे रुपया आते ही हाथ से निकल भी जायेगा।* *🌻कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)🌻आज का दिन आशाओं के विपरीत रहने वाला है। सोची हुई योजनाए आरम्भ में सफल होती नजर आएंगी परन्तु मध्यान तक इनसे निराशा ही मिलेगी। आज आप जिससे भी सहायता मांगेंगे वो भ्रम की स्थिति में रखेगा। आज आप आत्मनिर्भर होकर अपने कार्यो को करें। भागीदारों से धन को लेकर अनबन हो सकती है। मीठा व्यवहार रखने पर भी लोग आपको केवल कार्य निकालने के लिए इस्तेमाल करेंगे। कार्य क्षेत्र की भड़ास घर पर निकालने से घर का माहौल भी बेवजह खराब होगा। पुराने कार्यो को पूर्ण करने की चिंता रहेगी। प्रेम प्रसंगों से निराश होंगे।* *🌻मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)🌻आज के दिन अनैतिक कार्यो से बच कर रहें मन भ्रमित रहने के कारण निषेधात्मक कार्यो में भटकेगा। लोग आपसे भावनात्मक संबंध बनाएंगे परन्तु आवश्यकता के समय कोई आगे नही आएगा। कार्य क्षेत्र पर भी सहकर्मियो का रूखा व्यवहार रहने से स्वयं के ऊपर ज्यादा निर्भर रहना पड़ेगा। लंबी यात्रा के प्रसंग बनेंगे संभव हो तो आज टालें। पेट अथवा स्वांस, छाती संबंधित व्याधि हो सकती है। अधिकांश समय मानसिक रूप से भी अशान्त रहेंगे। परिवार में अनावश्यक खर्च बढ़ेंगे किसी की गलती का विरोध करना भी बेवजह कलह का कारण बनेगा।* *◑͜͡◐💥◑͜͡◐💥◑͜͡◐💥◑͜͡◐💥◑͜͡◐💥◑͜͡◐💥◑͜͡◐💥◑͜͡◐* 📖 _*🌈आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो 🌈।*_ _।। *🇮🇳शुभम भवतु कल्याणम*🇮🇳।।_ 📖 *_।।➡⬇पंचांग व राशि-फल संपादक।।_* *⬇ _*।। ✍🏻आचार्य विंनित कानूनगो म,प्र,🙏🏻।।*_ _*09826762293,*_ _*09926062293,*_ _*09893480574,*_ 🪔🐚🪔🐚🪔🐚 _*༒۝༒🌻हिन्दू पांचाग व राशिफल🌻༒۝༒*_ 🪔🐚🪔🐚🪔🐚 *_♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛_*

+5 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
All_Bhkti_stetas Oct 24, 2020

*◆🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉◆🧉★🧉★🧉★* _*~💁🏻‍♂आजका हिन्दू पंचांग व राशिफल 💁🏻‍♀️➡️दिनांक :- 25अक्टूबर 2020 दिन :- रविवार ~*_👈🏾 ⏳📡⏳📡⏳📡 *_💁🏻‍♂आचार्य विनित कानूनगों✍🏻🙏🏻_* _*09826762293*_ 📿💥📿💥📿💥 *👉🏽🙏🏻सूचना🙏🏻👈🏼* *👉🏽हमारे इस ग्रुप में शीघ्र शामिल होव क्यो की अब शीघ्र ही हम शिर्फ़ पंचांग का प्रसारण यहां ही करेंगे।👇🏾👇🏾🙏🏻* *💁🏻‍♂व्हाट,पर पंचांग का प्रसारण बन्द करने जा रहे है🙏🏻* *_ टेलीग्राम चैनल की लिंक से जुड़ जाएं _* *_Join:-👇🏾लिकं👇🏾_* 🌹🌹🌹🌹🌹🌹 https://t.me/joinchat/IhwgMg7xuTTNxs7LjhKtKA ♥♠♥♠♥♠ *_✍🏼रोज 💁🏻‍♂➡आगे की पंचाग व राशि-फल पड़ने के लिये 👉🏿Read more👈🏿 को टच करे। ⬅_* 🛎🏮🛎🏮🛎🏮 _*💁🏻🙏🏻बेटी बचाओ, बेटी पढाओ बेटी है तो कल है ।💁🏻🙏🏻*_ 🌼👇🏾🌹🌹👇🏾🌼 _*नोट👉🏻 यदि राशिफल व पंचांग अच्छा लगा हो तो दूसरों को शेयर करें*_ _*👉🏿एक चेतावनी 🙏🏻*_ _*👉🏿इस कि बगैर छेड-छाड़ करे इसे शेयर करे।*_ 🚆🌻🚆🌻🚆🌻 _*💁🏻‍♂आज का सुविचार💁🏻*_ 🌐⚜🌐⚜🌐⚜ _*💁🏻‍♂*●▬▬▬ *ஜ۩۞۩ஜ*▬▬▬▬●💁🏻*_ *💁🏻‍♂️जब तक आप अपनी समस्याओ एवं कठिनाइयों की वजह दूसरों को मानते है, तब तक आप अपनी समस्याओ एवं कठनाइयो को मिटा नहीं सकते !!* *_💐𖡼•┄•𖣥𖣔𖣥•┄•𖡼💐_* *_💁🏻‍♂आचार्य विनित कानूनगों✍🏻🙏🏻_* *_09826762293,_* *_09926062293,_* *_09893480574_* 🐚☀🐚 *_~🐾स्नेह वंदन 😊🍀🙏~_* ~_*✒💐आप का दिन शुभ हो 💐✒*_~ 🙋🏼‍♂🙋🏻💁🏼💁🏼‍♂* *_●········••●◆❁3🕉✿🕉❁◆●••·········●_* *_🙏🚩🔱🌹🌼जय श्रीमन नारायण जी🔱🚩🙏🏻_* 🌙🔥🌙🔥🌙🔥 _*💁🏼‍♂💁🏼अकाल मृत्यु वो मरे जो काम करे चंडाल का काल भी उसका क्या करे जो भक्त है महाकाल का जय जय सियाराम जय श्री महाकाल📿🚩🙋🏼‍♂🙋🏻🙏🏻💐🌹*_ *👉🏽🙏🏼 _भगवान महाकाल के यह मंत्र का रोज नियमित जाप करें आप के सभी काम सफल होंगे_*👇🏾👇🏾👇🏾👇🏾 *_।। 🙏🏻ऊँ मृत्युंजयाय रूद्राय नीलकठांय शम्भवे । 🌹अमृतेशाय शर्वाय महादेवाय ते नमः_🙏🏻।।* *◆🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉◆🧉★🧉★🧉★* *_🙏🏻🚩🔱जय श्री महाकाल की आप सभी भक्तो को🔱🚩🙏🏻_* 🈸🈸🚩🚩🈸🈸 🔱🚩 _*ॐ यमाय धर्मराजाय श्री चित्रगुप्ताय वै नमः*🚩🔱_ 🙏🏼🙋🏼‍♂🙋🏻🙋🏼‍♂🙋🏻🙏🏼 _*🚩 जय हो प्रभु की🙏🏼🙋🏼‍♂🙋🏻🙏🏼*_ *_✹•⁘•💎•⁘•✹•⁘•💎•⁘•⁘•💎•⁘•✹•⁘•💎•⁘•✹_* ⬇ *_🙏🏻🚩💐ॐ नमो भगवते श्री चित्रगुप्ताय वै नमः💐🚩🙏🏻_* 👇🏿 💥💜💥💜💥💜 *_✍🏼रोज निःशुल्क पंचांग व राशि-फल के लिए हमारे ग्रुप में ऐड होने के लिए हमारे व्हाट,मो,न,जो नीचे लिखे है ➡⬇_* *_हमेअपनी सम्पूर्ण जानकारी के साथ लिखे पंचांग व राशि फल ग्रुप में ऐड करे या हमें काल करे हमारे मो,पर।।_*👇🏾👇🏾 _*💁🏻‍♂जिन्हें अपनी कुंडली विश्लेषण और भविष्य से संबंधित जानकारी चाहिये वे भी हम से संपर्क कर सकते है,हमारे मो,न,पर काल कर के।🤝🏻🙏🏻*_ *_💁🏻‍♂आचार्य विनित कानूनगों✍🏻🙏🏻_* ➡️👇🏾🤳📞💁🏻‍♂🙏🏻 *_09826762293,_* *_09926062293,_* *_09893480574_* *_🌹𖡼•┄•🛕𖣥𖣔𖣥🛕•┄•𖡼🌹_* *🛕विक्रम संवत🕉️- 2077 (2076)* *🈸शक संवत - 1942* *🌕अयन - दक्षिणायन* *⛈️ऋतु - हेमंत* *❄️मास - अश्विन* *💥पक्ष - शुक्ल* *📅तिथि - नवमी सुबह 07:41 तक तत्पश्चात दशमी* *🌎नक्षत्र - धनिष्ठा 26 अक्टूबर प्रातः 04:23 तक तत्पश्चात शतभिषा* *💥योग - गण्ड 26 अक्टूबर रात्रि 12:29 तक तत्पश्चात वृद्धि* *👺राहुकाल - शाम 04:39 से शाम 06:07 तक* *🌞सूर्योदय - 06:37* *🌞सूर्यास्त - 18:05* *🌙चन्द्रोदय: 14:34* *🌙चन्द्रास्त: 25:32* *🚔दिशाशूल - पश्चिम दिशा में* *✒️ व्रत पर्व विवरण - शारदिय नवरात्र समाप्त, विजयादशमी (पूरा दिन शुभ मुहूर्त), विजय मुहूर्त (दोपहर 02:18 से 03:04 तक), (संकल्प, शुभारंभ, नूतन कार्य, सीमोल्लंधन लिए), दशहरा, गुरु-पूजन, अस्त्र-शस्त्र-शमी वृक्ष-आयुध-वाहन पूजन* *_✹•⁘•💎•⁘•✹•⁘•💎•⁘•⁘•💎•⁘•✹•⁘•💎•⁘•✹_* _*༒۝༒🪔हिन्दू पांचाग व राशिफल🪔༒۝༒*_ *_✹•⁘•💎•⁘•✹•⁘•💎•⁘•⁘•💎•⁘•✹•⁘•💎•⁘•✹_* *➡️ विशेष - नवमी को लौकी खाना गोमांस के समान त्याज्य है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* *👩🏿‍🦰रविवार के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)* *➡️ रविवार के दिन मसूर की दाल, अदरक और लाल रंग का साग नहीं खाना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75.90)* *💁🏻‍♂️ रविवार के दिन काँसे के पात्र में भोजन नहीं करना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75)* *📘 स्कंद पुराण के अनुसार रविवार के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करना चाहिए। इससे ब्रह्महत्या आदि महापाप भी नष्ट हो जाते हैं।* *🪔 बिना मुहूर्त के मुहूर्त (दशहरा) 🪔* *✒️ विजयादशमी का दिन बहुत महत्त्व का है और इस दिन सूर्यास्त के पूर्व से लेकर तारे निकलने तक का समय अर्थात् संध्या का समय बहुत उपयोगी है। रघु राजा ने इसी समय कुबेर पर चढ़ाई करने का संकेत कर दिया था कि ‘सोने की मुहरों की वृष्टि करो या तो फिर युद्ध करो।’ रामचन्द्रजी रावण के साथ युद्ध में इसी दिन विजयी हुए। ऐसे ही इस विजयादशमी के दिन अपने मन में जो रावण के विचार हैं काम, क्रोध, लोभ, मोह, भय, शोक, चिंता – इन अंदर के शत्रुओं को जीतना है और रोग, अशांति जैसे बाहर के शत्रुओं पर भी विजय पानी है। दशहरा यह खबर देता है।* *🚩 अपनी सीमा के पार जाकर औरंगजेब के दाँत खट्टे करने के लिए शिवाजी ने दशहरे का दिन चुना था – बिना मुहूर्त के मुहूर्त ! (विजयादशमी का पूरा दिन स्वयंसिद्ध मुहूर्त है अर्थात इस दिन कोई भी शुभ कर्म करने के लिए पंचांग-शुद्धि या शुभ मुहूर्त देखने की आवश्यकता नहीं रहती।) इसलिए दशहरे के दिन कोई भी वीरतापूर्ण काम करने वाला सफल होता है।* *🏡 वरतंतु ऋषि का शिष्य कौत्स विद्याध्ययन समाप्त करके जब घर जाने लगा तो उसने अपने गुरुदेव से गुरूदक्षिणा के लिए निवेदन किया। तब गुरुदेव ने कहाः वत्स ! तुम्हारी सेवा ही मेरी गुरुदक्षिणा है। तुम्हारा कल्याण हो।’* *➡️ परंतु कौत्स के बार-बार गुरुदक्षिणा के लिए आग्रह करते रहने पर ऋषि ने क्रुद्ध होकर कहाः ‘तुम गुरूदक्षिणा देना ही चाहते हो तो चौदह करोड़ स्वर्णमुद्राएँ लाकर दो।”* *👉🏿 अब गुरुजी ने आज्ञा की है। इतनी स्वर्णमुद्राएँ और तो कोई देगा नहीं, रघु राजा के पास गये। रघु राजा ने इसी दिन को चुना और कुबेर को कहाः “या तो स्वर्णमुद्राओं की बरसात करो या तो युद्ध के लिए तैयार हो जाओ।” कुबेर ने शमी वृक्ष पर स्वर्णमुद्राओं की वृष्टि की। रघु राजा ने वह धन ऋषिकुमार को दिया लेकिन ऋषिकुमार ने अपने पास नहीं रखा, ऋषि को दिया।* *📿 विजयादशमी के दिन शमी वृक्ष का पूजन किया जाता है और उसके पत्ते देकर एक-दूसरे को यह याद दिलाना होता है कि सुख बाँटने की चीज है और दुःख पैरों तले कुचलने की चीज है। धन-सम्पदा अकेले भोगने के लिए नहीं है। तेन त्यक्तेन भुंजीथा….। जो अकेले भोग करता है, धन-सम्पदा उसको ले डूबती है।* *✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟* _*༒۝༒🛕हिन्दू पांचाग व राशिफल🛕༒۝༒*_ *✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟* *🪔 भोगवादी, दुनिया में विदेशी ‘अपने लिए – अपने लिए….’ करते हैं तो ‘व्हील चेयर’ पर और ‘हार्ट अटैक’ आदि कई बीमारियों से मरते हैं। अमेरिका में 58 प्रतिशत को सप्ताह में कभी-कभी अनिद्रा सताती है और 35 प्रतिशत को हर रोज अनिद्रा सताती है। भारत में अनिद्रा का प्रमाण 10 प्रतिशत भी नहीं है क्योंकि यहाँ सत्संग है और त्याग, परोपकार से जीने की कला है। यह भारत की महान संस्कृति का फल हमें मिल रहा है।* *💁🏻‍♂️ तो दशहरे की संध्या को भगवान को प्रीतिपूर्वक भजे और प्रार्थना करें कि ‘हे भगवान ! जो चीज सबसे श्रेष्ठ है उसी में हमारी रूचि करना।’ संकल्प करना कि’आज प्रतिज्ञा करते हैं कि हम ॐकार का जप करेंगे।’* *💁🏻‍♂️ ‘ॐ’ का जप करने से देवदर्शन, लौकिक कामनाओं की पूर्ति, आध्यात्मिक चेतना में वृद्धि, साधक की ऊर्जा एवं क्षमता में वृद्धि और जीवन में दिव्यता तथा परमात्मा की प्राप्ति होती है।* *✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟* 📖 _*🌈आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो 🌈।*_ _।। ~*🇮🇳शुभम भवतु कल्याणम*🇮🇳~।।_ 📖 *_।।➡⬇पंचांग व राशि-फल संपादक।।_* *⬇ _*~।। 📒आचार्य विंनित कानूनगो म,प्र,।।~*_ *_09826762293,_* *_09926062293,_* *_09893480574,_* 💥🌍💥🌍💥🌍 _~*🌐हिन्दू पांचाग व राशिफल🌐*~_ 💥🌍💥🌍💥🌍 *~_#👉🏿राशिफल👈🏿#_~* 🌹👇🏿🚀🚀👇🏿 ~_*दिनाक -25अक्टूबर 2020 दिन:-रविवार*_~ *_♟𖡼•┄•𖣥🎪𖣔🎪𖣥•┄•𖡼♟_* *🕉================🕉* *✿🥎✿🥎✿🥎✿🥎✿🥎✿🥎✿🥎* *_💁🏻‍♂आचार्य विनित कानूनगों✍🏻🙏🏻_* _*💁🏻‍♂जिन्हें अपनी कुंडली विश्लेषण और भविष्य से संबंधित जानकारी चाहिये वे भी हम से संपर्क कर सकते है,हमारे मो,न,पर काल कर के।🤝🏻🙏🏻👇🏾👇🏾*_ _*09826762293,*_ _*09926062293,*_ _*09893480574,*_ *✥🏀✥🏀✥🏀✥ 🏀✥🏀✥🏀✥🏀* *~_💁🏻‍♂दिन:-रविवार 25अक्टूबर 2020🙏🏻_~* *~_💁🏻‍♂आज का राशिफल👇🏾👇🏾_~* *❍🔥❍🔥❍🔥❍🔥❍🔥❍🔥❍* ️*_●▬🌎ஜ🌹۩۞۩ 🌹ஜ🌎▬▬●_* *🌻मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ)🌻आज का दिन कार्य सफलता वाला रहेगा। प्रातः काल जल्दी कार्यो में जुटने का फल शीघ्र ही धन लाभ के रूप में मिलेगा। अधिकांश कार्य थोड़े से परिश्रम से पूर्ण हो जाएंगे। अधिकारी वर्ग मुश्किल कार्यो में सहयोग करेंगे। आज आप जोड़ तोड़ वाली नीति अपना कर कठिन परिस्थितियों में भी अपना काम निकाल लेंगे। सरकारी कार्य मे भी सफलता की उम्मद जागेगी प्रयास करते रहे। दाम्पत्य जीवन मे छोटी-मोटी बातों को दिल पर ना लें स्थिति सामान्य ही रहेगी। मित्रो से कोई दुखद समाचार मिलेगा।* *🌻वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)🌻आज का दिन काफी उठा पटक वाला रहेगा। व्यावसायिक योजनाओं में अचानक बदलाव करना पड़ेगा। दिन के आरंभ में कार्यो की गति धीमी रहेगी समय पर वादा पूरा ना करने से व्यावसायिक संबंध खराब हो सकते है। कार्यो के प्रति नीरसत अधिक रहेगी। किसी भी कार्य को लेकर ठोस निर्णय नही ले पाएंगे परन्तु जिस भी कार्य में निवेश करेंगे उसमे विलंभ से ही सही सफल अवश्य होंगे धन लाभ भी आवश्यकता अनुसार हों जायेगा लेकिन संध्या पश्चात धन संबंधित कोई भी कार्य-व्यवहार ना करें। परिजन आपके टालमटोल वाले व्यवहार से दुखी रहेंगे।* *🌻मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा)🌻आज के दिन आप सम्भल कर ही कार्य करेंगे फिर भी सफलता में संशय बना रहेगा। व्यवहारिकता की कमी के कारण जितना लाभ मिलना चाहिए उतना नही मिल सकेगा। घर अथवा बाहर बेवजह कलह के प्रसंग बनेगे। व्यापार व्यवसाय में सहकर्मियो की।मनमानी के कारण असुविधा एवं अव्यवस्था बनेंगी लेकिन फिर भी स्वयं के पराक्रम से खर्च लायक धनार्जन कर ही लेंगे। आस-पड़ोसी एवं भाई बंधुओ से बात का बतंगड़ ना बने इसके लिए मौन रखने की जरूरत है फिर भी महिलाये स्वभावानुसार बनती बात बिगाड़ लेंगी। विपरीत लिंग के प्रति कामासक्त रहेंगे।* *🌻कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)🌻आज के दिन लाभ के अवसर आपकी तलाश में रहेंगे। दिन में जिस किसी के भी संपर्क में रहेंगे उससे कुछ ना कुछ लाभ अवश्य होगा। कार्य क्षेत्र पर भी एक से अधिक साधनो से आय होगी। व्यावसायिक क्षेत्र से जुड़ी महिलाओ को पदोन्नति के साथ प्रोत्साहन के रूप में आर्थिक सहायता भी मिल सकती है। सामाजिक कार्यो में रुचि ना होने पर भी सम्मिलित होना पड़ेगा मान-सम्मान बढेगा। परिजनों का मार्गदर्शन आज प्रत्येक क्षेत्र पर काम आएगा। महिलाओं का सुख सहयोग मिलेगा। प्रेम प्रसंगों में निकटता रहेगी।* *✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟* _*༒۝༒🛕हिन्दू पांचाग व राशिफल🛕༒۝༒*_ *✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟✿🌟* *🌻सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)🌻आज का दिन भी आशानुकूल रहेगा। सेहत उत्तम रहने से कार्यो को मन लगाकर करेंगे लेकिन किसी के हस्तक्षेप करने से मन विक्षिप्त हो सकता है। किसी के ऊपर ध्यान ना दें एकाग्र होकर अपने कार्य मे लगे रहे धन एवं सम्मान दोनों मिलने के योग है। लेकिन उधार के व्यवहार बढ़ने से असुविधा भी होगी। व्यावसाय में वृद्धि के लिए निवेश करना शुभ रहेगा। भाई-बंधुओ का सहयोग आज अपेक्षाकृत कम ही रहेगा। महिलाओं को छोड़ घर के अन्य सदस्य आपसे ईर्ष्यालु व्यवहार रखेंगे। स्त्री से सुखदायक समाचार मिलेंगे।* *🌻कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)🌻आज के दिन आप बुद्धि विवेक से कार्य करेंगे परन्तु परिस्थिति हर तरह से कार्यो में बाधा डालेगी। कार्य व्यवसाय से मन ऊबने लगेगा धैर्य से कार्य करते रहें संध्या तक संतोषजक लाभ अवश्य मिलेगा पारिवारिक एवं सामाजिक क्षेत्र पर आपके विचारो की प्रशंसा होगी लेकिन केवल व्यवहार मात्र के लिए ही। आर्थिक विषयो को लेकर किसी से विवाद ना करें धन डूबने की आशंका है। गृहस्थ में प्रेम स्नेह तो मिलेगा परन्तु स्वार्थ सिद्धि की भावना भी अधिक रहेगी। महिलाये अधिक बोलने की समस्या से ग्रस्त रहेंगी।* *🌻तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)🌻आपको आज के दिन प्रत्येक कार्यो में सावधान रहने की आवश्यकता है। धन के पीछे भागने की प्रवृति पर आज लगाम लगाकर रखे अन्यथा धन के साथ-साथ मान हानि भी होगी। दोपहर से पहले के भाग में पुराने कार्य पूर्ण होने से थोड़ा बहुत धन मिलने से दैनिक खर्च निकल जाएंगे। इसके बाद का समय प्रतिकूल बनता जाएगा। कार्य व्यवसाय में प्रतिस्पर्धी हर प्रकार से आपके कार्यो में व्यवधान डालने का प्रयास करेंगे। परिजनों से भी मामूली बात पर झगड़ा होगा। वाणी एवं व्यवहार से संयम बरतें।* *🌻वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)🌻आज का दिन आर्थिक दृष्टिकोण से उन्नति वाला रहेगा। धन संबंधित समस्याएं काफी हद तक सुलझने पर दिन भर प्रसन्नता रहेगी। कार्य व्यवसाय से प्रारंभिक परिश्रम के बाद दोपहर के समय से धन की आमद शुरू हो जाएगी जो संध्या तक रुक रुक कर चलती रहेगी। मितव्ययी रहने के कारण खर्च भी हिसाब से करेंगे धन कोष में वृद्धि होगी। महिलाये किसी मनोकामना पूर्ति से उत्साहित होंगी। आज महिला वर्ग से कोई भी काम निकालना आसान रहेगा मना नही कर सकेंगी। दाम्पत्य सुख में भी वृद्धि होगी। पर्यटन की योजना बनेगी।* *◆🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉◆🧉★🧉★🧉★* _*༒۝༒👩🏿‍🦰हिन्दू पांचाग व राशिफल👨🏽‍🦰༒۝༒*_ *◆🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉★🧉◆🧉★🧉★🧉★* *🌻धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे)🌻आज के दिन आप किसी भी कार्य को लेकर ज्यादा भाग-दौड़ करने के पक्ष में नही रहेंगे। आसानी से जितना मिल जाये उसी में संतोष कर लेंगे। परन्तु महिलाये इसके विपरीत रहेंगी अल्प साधनो से कार्य करने पर भाग्य को दोष देंगी। व्यवसाय की गति पल पल में बदलेगी जिससे सुकून से बैठने का समय नही मिलेगा। किसी पुरानी घटना को याद करके दुखी रहेंगे। पारिवारिक खर्चो में अकस्मात वृद्धि होने से बजट गड़बड़ा सकता है। महिलाओं के मन मे आज उथल पुथल अधिक रहने के कारण बड़ी जिम्मेदारी का कार्य सौपना उचित नही रहेगा।* *🌻मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी)🌻आज के दिन मानसिक चंचलता के कारण बनते कार्यो को दुविधा के कारण आप स्वयं बिगाड़ लेंगे। सरकारी कार्य आज सावधानी से करें अन्यथा लंबित रखें हानि निश्चित रहेगी। संबंधो के प्रति भी आज ईमानदार नही रहेंगे। पारिवारिक वातावरण आपके गलत आचरण से कलुषित होगा। सामाजिक क्षेत्र पर लोग पीठ पीछे बुराई करेंगे। सेहत में मानसिक दबाव के चलते उतार चढ़ाव लगा रहेगा। घर के बुजुर्ग आपसे नाराज रहेंगे। धन लाभ अचानक होने से स्थिति संभाल नही सकेंगे रुपया आते ही हाथ से निकल भी जायेगा।* *🌻कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)🌻आज का दिन आशाओं के विपरीत रहने वाला है। सोची हुई योजनाए आरम्भ में सफल होती नजर आएंगी परन्तु मध्यान तक इनसे निराशा ही मिलेगी। आज आप जिससे भी सहायता मांगेंगे वो भ्रम की स्थिति में रखेगा। आज आप आत्मनिर्भर होकर अपने कार्यो को करें। भागीदारों से धन को लेकर अनबन हो सकती है। मीठा व्यवहार रखने पर भी लोग आपको केवल कार्य निकालने के लिए इस्तेमाल करेंगे। कार्य क्षेत्र की भड़ास घर पर निकालने से घर का माहौल भी बेवजह खराब होगा। पुराने कार्यो को पूर्ण करने की चिंता रहेगी। प्रेम प्रसंगों से निराश होंगे।* *🌻मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)🌻आज के दिन अनैतिक कार्यो से बच कर रहें मन भ्रमित रहने के कारण निषेधात्मक कार्यो में भटकेगा। लोग आपसे भावनात्मक संबंध बनाएंगे परन्तु आवश्यकता के समय कोई आगे नही आएगा। कार्य क्षेत्र पर भी सहकर्मियो का रूखा व्यवहार रहने से स्वयं के ऊपर ज्यादा निर्भर रहना पड़ेगा। लंबी यात्रा के प्रसंग बनेंगे संभव हो तो आज टालें। पेट अथवा स्वांस, छाती संबंधित व्याधि हो सकती है। अधिकांश समय मानसिक रूप से भी अशान्त रहेंगे। परिवार में अनावश्यक खर्च बढ़ेंगे किसी की गलती का विरोध करना भी बेवजह कलह का कारण बनेगा।* *◑͜͡◐💥◑͜͡◐💥◑͜͡◐💥◑͜͡◐💥◑͜͡◐💥◑͜͡◐💥◑͜͡◐💥◑͜͡◐* 📖 _*🌈आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो 🌈।*_ _।। *🇮🇳शुभम भवतु कल्याणम*🇮🇳।।_ 📖 *_।।➡⬇पंचांग व राशि-फल संपादक।।_* *⬇ _*।। ✍🏻आचार्य विंनित कानूनगो म,प्र,🙏🏻।।*_ _*09826762293,*_ _*09926062293,*_ _*09893480574,*_ 🪔🐚🪔🐚🪔🐚 _*༒۝༒🌻हिन्दू पांचाग व राशिफल🌻༒۝༒*_ 🪔🐚🪔🐚🪔🐚 *_♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛🌹♛_*

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB