🌿🌿|| महा मृत्‍युंजय मंत्र और अर्थ ||🌿🌿

🌺🌺🌺|| महा मृत्‍युंजय मंत्र ||🌺🌺🌺

🚩ॐ त्र्यम्‍बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् उर्वारुकमिव बन्‍धनान् मृत्‍योर्मुक्षीय मामृतात् 🚩

🌻🌻||संपुटयुक्त महा मृत्‍युंजय मंत्र ||🌻🌻

🚩ॐ हौं जूं सः ॐ भूर्भुवः स्वः ॐ त्र्यम्‍बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् उर्वारुकमिव बन्‍धनान् मृत्‍योर्मुक्षीय मामृतात् ॐ स्वः भुवः भूः ॐ सः जूं हौं ॐ !!🚩

महामृत्युंजय मंत्र ऋग्वेद का एक श्लोक है.शिव को मृत्युंजय के रूप में समर्पित ये महान मंत्र ऋग्वेद में पाया जाता है 

🚩🚩इस मंत्र का विस्तृत रूप से अर्थ ||हम भगवान शंकर की पूजा करते हैं, जिनके तीन नेत्र हैं, जो प्रत्येक श्वास में जीवन शक्ति का संचार करते हैं, जो सम्पूर्ण जगत का पालन-पोषण अपनी शक्ति से कर रहे हैं,उनसे हमारी प्रार्थना है कि वे हमें मृत्यु के बंधनों से मुक्त कर दें, जिससे मोक्ष की प्राप्ति हो जाए.जिस प्रकार एक ककड़ी अपनी बेल में पक जाने के उपरांत उस बेल-रूपी संसार के बंधन से मुक्त हो जाती है, उसी प्रकार हम भी इस संसार-रूपी बेल में पक जाने के उपरांत जन्म-मृत्यु के बन्धनों से सदा के लिए मुक्त हो जाएं, तथा आपके चरणों की अमृतधारा का पान करते हुए शरीर को त्यागकर आप ही में लीन हो जाएं.🚩🚩

🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺

+270 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 488 शेयर

कामेंट्स

Sushma Deheriya May 27, 2018
जी मै रोज इस मँत्र का जाप करती हूँ

Deepika May 27, 2018
अति सुंदर 🙏🙏

Sanjay Aggarwal May 27, 2018
jay Shree mahakal ki jay Har Har Mahadev om nham Shivay jay Bholenath

Meena Sharma May 10, 2020

+100 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 221 शेयर

+89 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 205 शेयर
Sanjay Singh May 10, 2020

+224 प्रतिक्रिया 21 कॉमेंट्स • 66 शेयर
TejasYadav May 10, 2020

+31 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 104 शेयर
Sanjay Singh May 10, 2020

+108 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 40 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB