Girish Chowdhari
Girish Chowdhari Sep 10, 2017

कर्म का महत्व

*आज का चिंतन*
*यह हमेशा ध्यान रखे*
1) *निम्बू-मिर्च* खाने के लिये है.. कही *टाँगने* के लिए नहीं है।
2) *बिल्लियाँ* जंगली या पालतू जानवर है, बिल्ली के *रास्ता काटने* से कुछ गलत नहीं होता.. बल्कि चूहों से होनेवाले नुक्सान को बचाया जा सकता है।
3) *छींकना* एक नैसर्गिक क्रिया है, छींकने से कुछ *अनहोनी* नहीं होती ना हि किसी काम में बाधा आती है। छींकने से शरीर की *सोई हुई मांसपेशियां* सक्रिय हो जाती है।
4) *भूत* पेड़ों पर नहीं रहते, पेड़ों पर *पक्षी* रहते है।
5) *चमत्कार* जैसी कोई चीज नहीं होती। हर घटना के पीछे *वैज्ञानिक* कारण होता है।
6) *भोपा, तंत्रिक, बाबा* जैसे लोग *झुठे* होते है, जिन्हें *शारारिक मेहनत* नहीं करनी ये वही लोग है।
7) *जादू टोणा*, या *किसी ने कराया* ऐसा कुछ नहीं होता, ये दुर्बल लोगोंके *मानसिक विकार* है।
जादू-टोणा करके आपके ग्रहो की दिशा बदलने वाले बाबा, हवा और मेघों की दिशा बदलकर बारिश नहीं ला सकते क्या?
8 ) *वास्तुशास्त्र* भ्रामक है। सिर्फ दिशाओ का *डर* दिखाकर लूटने का तरीक़ा है।
वास्तविक तो पृथ्वी ही खुद हर क्षण *अपनी दिशा* बदलती है। अगर *कुबेर जी* उत्तर दिशा में है तो एक ही स्थान या दिशा में *अमीर* और *गरीब* दोनों क्यों पाये जाते है?
9) *मन्नत के लिये बलि, टिप* या *चढ़ावे* से भगवान प्रसन्न होकर *फल* देते है, तो क्या भगवान् *रिश्वतखोर* है?
आध्यात्म *मोक्ष* के लिए है, *धन* कमाने के लिए नहीं।
यह मेसैज 15 दूसरे ग्रूप्स में भेजने से कोई *खुशखबरी* नहीं मिलेगी और इसको डिलीट करने पर कोई अनहोनी भी नहीं होगी।
परंतु इसे Farword करने से आपके कई मित्र *मेहनत* और *कर्म* का महत्त्व जरूर जान सकेंगे।

+102 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 190 शेयर

कामेंट्स

Shivam shaastri ji Sep 11, 2017
जब आप को कभी कोई दुख होगा तो किसको याद करोगे भगवान या खुद को इसलिए कुछ भी science नही सब गॉड मेड है तू भी समझे

Roshan Nawaval Suthar Sep 11, 2017
I'm not agree with you sir....#Asthaa hi hai koi galat nahi ,,,#Najria alag alag hota hai...

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB