Adhyatmik Dharmik
Adhyatmik Dharmik Dec 3, 2019

https://youtu.be/Uq1jSc-J0FA Tirupati Balaji Govinda

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

कामेंट्स

Archana Singh Dec 12, 2019

+179 प्रतिक्रिया 33 कॉमेंट्स • 70 शेयर
Meera Vaishnav Dec 12, 2019

+14 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
panditshayam999 Dec 12, 2019

+40 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 5 शेयर
Srichand Kanaujiya Dec 12, 2019

+13 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
maghar.s,p. Dec 12, 2019

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Rajeet Sharma Dec 12, 2019

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
anju Dec 12, 2019

+21 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 12 शेयर
Vinod Kumar Dec 12, 2019

+33 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 2 शेयर

#भगवान विष्णु पूजा मंत्र ब्रह्मदत्त #जय माता दी #🎤गीत एवं संगीत ब्रह्मा, विष्‍णु, महेश तीनों त्रिदेव में भगवान विष्णु को संसार के पालनहार का स्‍थान प्राप्‍त है और इनके भक्त वैष्णव कहलाते हैं। गुरू भगवान के भक्‍त उन्‍हें कई नामों से बुलाते हैं कोई उन्‍हें जगन्नाथ भगवान के रूप में पूजता है तो कोई कृष्ण के रूप में तो कोई पदमनाभ स्वामी के रूप में और कोई रंगनाथ स्वामी के रूप में पूजा करता है। इन सारे ही रूपों का मूल श्री विष्णु ही हैं। गुरूवार यानि ब्रहस्‍पतवार भगवान विष्णु को समर्पित दिन माना जाता है। इन्‍हें सत्य नारायण भगवान के नाम से भी पूजा जाता है, परंतु इस दिन इनकी पूजा और व्रत गुरू भगवान के रूप में की जाती है। ऐसे करते हैं पूजा गुरूवार को शुद्ध हो कर भगवान को स्‍नान करायें फिर, पूजा और मंत्र जाप के साथ विष्णु जी की धूप, दीप व कपूर से आरती करें। इसके बाद चरणामृत व प्रसाद ग्रहण करें। चातुर्मास, एकादशी, द्वादशी व पूर्णिमा तिथियों पर भगवान विष्णु की भक्ति, श्री विष्णु मंत्र का जाप और ध्यान के साथ की गई पूजा बड़ी मंगलकारी मानी गई है।- ब्रह्मदत्त त्यागी हापुड़

+25 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 30 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB