Sri Jajodia
Sri Jajodia Sep 6, 2017

अपनी गलती को स्वीकार करें।

अपनी गलती को स्वीकार करें।

+172 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 67 शेयर

कामेंट्स

Gajrajg Feb 2, 2018
जीवन में ज्यादा रिश्ते होना जरुरी नहीं है, पर जो रिश्ते हैं उनमें जीवन होना जरुरी है सुप्रभातम

Shakti Oct 26, 2020

+28 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 23 शेयर
संकल्प Oct 26, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Ajay Awasthi Oct 26, 2020

💐💐वास्तविकता💐💐 एक बूढ़ी माता मंदिर के सामने भीख माँगती थी। एक संत ने पूछा - आपका बेटा लायक है, फिर यहाँ क्यों ?? बूढ़ी माता बोली - बाबा, मेरे पति का देहांत हो गया है। मेरा पुत्र परदेस नौकरी के लिए चला गया। जाते समय मेरे खर्चे के लिए कुछ रुपए देकर गया था, वे खर्च हो गये इसीलिए भीख माँग रही हूँ। संत ने पूछा - क्या तेरा बेटा तुझे कुछ नहीं भेजता ?? बूढ़ी माता बोली - मेरा बेटा हर महीने एक रंग-बिरंगा कागज भेजता है जिसे मैं दीवार पर चिपका देती हूँ। संत ने उसके घर जाकर देखा कि दीवार पर 60 बैंक ड्राफ्ट चिपकाकर रखे थे। प्रत्येक ड्राफ्ट ₹50,000 राशि का था। पढ़ी-लिखी न होने के कारण वह नहीं जानती थी कि उसके पास कितनी संपति है। संत ने उसे ड्राफ्ट का मूल्य समझाया। हमारी स्थिति भी उस बूढ़ी माता की भाँति ही है। हमारे पास धर्मग्रंथ तो हैं पर माथे से लगाकर अपने घर में सुसज्जित कर के रखते हैं। जबकि हम उनका वास्तविक लाभ तभी उठा पाएगें जब हम उनका अध्ययन, चिंतन, मनन करके उन्हें अपने जीवन में उतारेगें। हम हमारे धर्मग्रंथों की वैज्ञानिकता को समझे, हमारे त्यौहारो की वैज्ञानिकता को समझे और अनुसरण करे !!!! 🚩🚩जय श्री राम🚩🚩 सदैव प्रसन्न रहिये!! जो प्राप्त है वही पर्याप्त है!! 🙏🙏🙏🙏🙏🌳🌳🙏🙏🙏🙏🙏

+14 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 5 शेयर
संकल्प Oct 26, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
आशुतोष Oct 26, 2020

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 62 शेयर

+14 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 33 शेयर
संकल्प Oct 26, 2020

+9 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर

+7 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर
संकल्प Oct 25, 2020

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
Sonam didi Oct 24, 2020

* अहंकार, लोभ, लालच और अत्याचारी वृत्तियों को त्याग कर जीवन जीने की सीख देता हैं दशहरा पर्व    विजयादशमी (दशहरा) हमारा राष्ट्रीय पर्व है..., जिसे सभी भार‍तीय बड़े हर्षोल्लास एवं गर्व के साथ मनाते हैं। आश्विन मास में नवरात्रि का समापन होने के दूसरे दिन यानी दशमी तिथि को मनाया जाने वाला दशहरे का यह पर्व बहुत ही शुभ माना जाता है। इस दिन खास कर खरीददारी करना शुभ मानते है, जिसमें सोना, चांदी और वाहन की खरीदी बहुत ही महत्वपूर्ण है।    दशहरे पर पूरे दिन भर ही मुहूर्त होते है इसलिए सारे बड़े काम आसानी से संपन्न किए जा सकते हैं। यह एक ऐसा मुहूर्त वाला दिन है जिस दिन बिना मुहूर्त देखे आप किसी भी नए काम की शुरुआत कर सकते हैं। दशहरा_पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ... 🙏आप सभी भाईया बहनो को ।🙏

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 6 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB