मीनाक्षी अम्मन मंदिर Meenakshi Amman temple

मीनाक्षी अम्मन मंदिर 
Meenakshi Amman temple
मीनाक्षी अम्मन मंदिर 
Meenakshi Amman temple

#देवीदर्शन
#ज्ञानवर्षा #मंदिर
मीनाक्षी अम्मन मंदिर एक इतिहासिक हिन्दू मंदिर है जो भारत के तमिलनाडु राज्य के मदुराई शहर की वैगई नदी के दक्षिण किनारे पर स्थित है। यह मंदिर माता पार्वती को समर्पित है जो मिनाक्षी के नाम से जानी जाती है और शिव जो सुन्दरेश्वर के नाम से जाने जाते है। यह मंदिर 2500 साल पुराने शहर मदुराई का दिल और जीवन रेखा है और साथ ही तमिलनाडु के मुख्य आकर्षणों में से भी एक है।

मीनाक्षी अम्मन मंदिर का इतिहास
Meenakshi Amman Temple History

कहा जाता है की इस मंदिर की स्थापना इंद्र ने की थी। जब वे अपने कुकर्मो की वजह से तीर्थयात्रा पर जा रहे थे तभी उन्होंने इस मंदिर का निर्माण करवाया था। जैसे ही वे मदुराई के स्वयंभू लिंग के पास पहुचे वैसे ही उन्हें लगा की उनका बोझ कोई उठाने लगा है। इसके बाद उन्होंने इस चमत्कार को देखते हुए स्वयं ही मंदिर में लिंग को प्रति प्रतिष्टापित किया। इंद्र भगवान शिव की पूजा करते थे और इसीलिए वहा पूल के आस-पास हमें कमल के फुल दिखाई देते है। तमिल साहित्य पिछली दो सदियों से इस मंदिर की बाते करते आ रहे है। सेवा दर्शनशास्त्र के प्रसिद्ध हिन्दू संत थिरुग्ननासम्बंदर ने इस मंदिर का वर्णन 7 वी शताब्दी से पहले ही कर दिया था और खुद को अलावी इरावियन का भक्त माना था। 1560 में विश्वनाथ नायक के वास्तविक आकार को थिरुमलाई नायक के अधीन विकसित किया गया था। उन्होंने मंदिर के अंदर दूसरी बहुत सी चीजो का निर्माण भी किया। उनका मुख्य सहयोगो में वसंत उत्सव मनाने के लिये वसंता मंडपम और किलिकूंदु मंडपम था। मंदिर के गलियारे में रानी मंगम्मल द्वारा मीनार्ची नायकर मंडपम का निर्माण किया गया था।

प्राचीन पांडियन राजा, मंदिर के निर्माण के लिये लोगो से कर (टैक्स) की वसूली करते थे। उस समय लोग सोने और चांदी के रूप में दान करते थे। लेकिन राजा भी स्थानिक लोगो से ज्यादा दान नही लेते थे, वे उतना ही दान दिया करते थे जीतना मंदिर बनाने वाले लोगो के खाने के लिये लगता हो। इसीलिए राजा हर दिन स्थानिक लोगो के घर जाकर चावल इकठ्ठा करते थे। ऐसा करने से महीने के अंत में उनके बाद चावल के बहुत से गट्ठे जमा हो जाते थे। और इसीलिए वहाँ के स्थानिक लोग मंदिर से भावनात्मक रूप से भी जुड़े हुए है।

इस मंदिर के वर्तमान स्वरुप को 1623 और 1655 CE के बीच बनाया गया था। कहा जाता है की असल में इस मंदिर का निर्माण छठी शताब्दी में कुमारी कंदम के उत्तरजीवी द्वारा बनाया गया था। 14 वी शताब्दी में मुघल मुस्लिम कमांडर मलिक काफूर ने मंदिर की लूट की थी और मंदिर से मूल्यवान आभूषण और रत्न लूटकर ले गया था।

बाद में 16 वी शताब्दी के आस-पास नायक शासक विश्वनाथ नायकर द्वारा इसे पुनर्निर्मित किया गया। विश्वनाथ नायक ने ही इसे शिल्प शास्त्र के अनुसार पुनः बनवाया था। जिनमे 14 प्रवेश द्वार, 45-50 मीटर की ऊँचाई के थे। जिसमे सबसे लंबा टावर दक्षिणी टावर था, जो 51.9 मीटर ऊँचा था और साथ ही मंदिर में दो तराशे गए प्राचीन विमान भी बनाये गए थे, और मुख्य देवी-देवताओ की मूर्तियाँ भी पुनर्स्थापित की गयी थी।

मीनाक्षी अम्मन मंदिर त्यौहार
Meenakshi amman temple festival

मंदिर से जुड़ा हुआ सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार “मीनाक्षी थिरुकल्याणम (मीनाक्षी का दिव्य विवाह)” है, जिसे स्थानिक लोग हर साल अप्रैल के महीने में मनाते है। दिव्य जोड़ो के इस विवाह प्रथा को अक्सर दक्षिण भारतीय लोग अपनाते है और इस विवाह प्रथा को “मदुराई विवाह” का नाम भी दिया गया है। पुरुष प्रधान विवाह को “चिदंबरम विवाह” कहा जाता है, जो भगवान शिव के चिदंबरम के प्रसिद्ध मंदिर के प्रभुत्व, अनुष्ठान और कल्पित कथा को दर्शाता है। इस विवाह के दौरान ग्रामीण और शहरी, देवता और मनुष्य, शिवास (जो भगवान शिव को पूजते है) और वैष्णव (जो भगवान विष्णु को पूजते है) वे सभी मीनाक्षी उत्सव मनाने के लिये एकसाथ आते है। इस एक महीने की कालावधि में, बहुत सारे पर्व होते है जैसे की “थेर थिरुविजहः” और “ठेप्पा थिरुविजहः” । महत्वपूर्ण हिन्दू त्यौहार जैसे की नवरात्री और शिवरात्रि का आयोजन भी बड़ी धूम-धाम से मंदिर में किया जाता है। तमिलनाडु के बहुत से शक्ति मंदिरों की तरह ही, तमिल आदी (जुलाई-अगस्त) और थाई (जनवरी-फरवरी) महीने के शुक्रवार को यहाँ श्रद्धालुओ की भारी मात्रा में भीड़ उमड़ी होती है।

हिन्दू पौराणिक मान्यताओं के अनुसार भगवान शिव अत्यन्त सुन्दर रूप में देवी मीनाक्षी से विवाह की इच्छा से पृथ्वीलोक पर आए थे। देवी मीनाक्षी पहले ही मदुराई के राजा की तपस्या से खुश होकर मदुराई में अवतार ले चुकीं थीं। भगवान शिव वहाँ प्रकट हुए और उन्होंने देवी मीनाक्षी से विवाह करने का प्रस्ताव रखा और उन्होंने स्वीकार किया।

हर दिन तक़रीबन 20,000 लोगो को यह मंदिर आकर्षित करता है और विशेषतः शुक्रवार के दिन 30,000 लोगो को आकर्षित करता है और मंदिर को इससे तक़रीबन 60 मिलियन रुपये सालाना मिलते है। कहा जाता है की मंदिर में कुल 33,000 मूर्तियाँ है। “न्यू सेवन वंडर्स ऑफ़ द वर्ल्ड” के लिये नामनिर्देशित की गयी 30 मुख्य जगहों की सूचि में यह मंदिर भी शामिल था। यह मंदिर शहर का सबसे मुख्य केंद्र और आकर्षण का केंद्र बिंदु रहा है। हर साल अप्रैल और मई के महीने में यहाँ 10 दिनों तक चलने वाला मीनाक्षी तिरुकल्याणम महोत्सव मनाया जाता है, जिसमे तक़रीबन 1 मिलियन से भी ज्यादा लोग आते है।

Pranam Jyot Agarbatti +266 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 29 शेयर

कामेंट्स

Aechana Mishra Aug 20, 2018

गीता का सार

• क्यों व्यर्थ की चिंता करते हो? किससे व्यर्थ डरते हो? कौन तुम्हें मार सकता है? आत्मा ना पैदा होती है, न मरती है।

• जो हुआ, वह अच्छा हुआ, जो हो रहा है, वह अच्छा हो रहा है, जो होगा, वह भी अच्छा ही होगा। तुम भूत का पश्चाताप न करो। भविष...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Belpatra Tulsi +393 प्रतिक्रिया 87 कॉमेंट्स • 234 शेयर
jagdish bijarnia Aug 20, 2018

Pranam Belpatra Like +42 प्रतिक्रिया 21 कॉमेंट्स • 183 शेयर
YT Pandit Ji Aug 20, 2018

💐💐💐💐💐💐💐💐
🔔*!!!! *जय माता दी जी!!!!*🔔
🙏🙏🙏🙏🙏🙏
⛳⛳ शुभ दिन जी ⛳⛳
माँ चिंतपुरणी जी के प्राकृतिक पिण्डी स्वरूप के आज *20-08-2018* के प्रातःकाल श्रृंगार के आलौकिक दर्शन
माँ भगवती आप की सभी मनोकामना पूर्ण करे जी
💞⛳🌺🌻👏💐🌸🍒...

(पूरा पढ़ें)
Like Pranam Bell +443 प्रतिक्रिया 42 कॉमेंट्स • 185 शेयर

Om Nilambuj-Syaml komlangam Sita Samaropit-wambhagam panau mahasayak charu chapm Namami Ramam Raghuwansh natham🕉️🌿🕉️🌿🕉️🌿🕉️🌿🕉️🌿🕉️🌿Ramshila parwat pe 🌿🕉️🌿🕉️🌿🕉️🌿🕉️Mata janki sabki🕉️🕉️🌿🕉️🌿🕉️🌿🌿🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️🕉️...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Flower Bell +59 प्रतिक्रिया 16 कॉमेंट्स • 2 शेयर

जहां कृष्ण राधा तहां जहं राधा तहं कृष्ण।
★🔔★🔔★🔔★🔔★🔔★🔔★🔔★🔔★
न्यारे निमिष न होत कहु समुझि करहु यह प्रश्न।?


इस नाम की महिमा अपरंपार है। श्री कृष्ण स्वयं कहते है- जिस समय मैं किसी के मुख से ‘रा’ सुनता हूं, उसे मैं अपना भक्ति प्रेम प्रदान करत...

(पूरा पढ़ें)
Pranam Like +8 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 15 शेयर
Aechana Mishra Aug 19, 2018

Like Pranam Belpatra +226 प्रतिक्रिया 84 कॉमेंट्स • 580 शेयर
Davindar Kumar Aug 20, 2018

🌺 जय मात भवानी की 🚩 कल्याण करे अपने भक्तों का 🚩

Pranam Flower Bell +11 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 11 शेयर

🔱🚩🔱🚩🔱🚩🔱🚩🔱🚩🔱
#गीता_सार।।
🌸🍃🌷💖🌼🌾🌹🙏💐🌷
*खाली हाथ अाए अौर खाली हाथ चले। जो अाज तुम्हारा है, कलअौर किसी का था, परसों किसी अौर का होगा। इसीलिए, जो कुछ भी तू करता है, उसे भगवान के अर्पण करता चल।*

*.क्यों व्यर्थ की चिंता करतेहो? किससे...

(पूरा पढ़ें)
Like Fruits Sindoor +40 प्रतिक्रिया 12 कॉमेंट्स • 62 शेयर
Anjana Gupta Aug 19, 2018

Shubh ratri friends 🌷🌷🌺🌺🌹🌹🍁🌻🌼🌼🌼

Belpatra Like Pranam +151 प्रतिक्रिया 55 कॉमेंट्स • 147 शेयर
Deepak kumar Aug 20, 2018

Flower Pranam Jyot +6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB