Jai Mata Di
Jai Mata Di Mar 4, 2021

Jai Mata Di 🙏🙏🙏🙏 Suvichar 🥀🥀🥀 Shubh Prabhat 🌷🌷🌷🌷🌷

+69 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 38 शेयर

कामेंट्स

s.r.pareek rajasthan Mar 4, 2021
🥀जय श्री विष्णु देवाय🌾 आपका हर पल मंगलमय हो खूबसूरत हो जी🌿 सदा खुश रहें जी सुखी रहें जी🌹 प्रात:नमन् वंदन जी 🙏🏻🙏🏻🥀🌸💤🍒🌿💤🌠

Kavitaom Mar 4, 2021
Jay Shree Krisna 🌹🌹🙏🙏🙏🙏🙏🌿🌹🌿❤️🌿🌷🌿🌿 ❤️🙏❤️🌿❤️🙏❤️🌿❤️🙏 nice Bhajan👌👌👌👌👌👌🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🥞

Madhuben patel Mar 4, 2021
👌👌🌷👌👌 बहुत सुंदर भजन भाईजी 👌🌷👌 ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः शुभ गुरुवार की गुरूवंदना भाईजी श्रीहरि की कृपादृष्टि बनी रहेवे भाईजी

Mira nigam 7007454854 Mar 4, 2021
जय श्री लक्ष्मी नारायण भगवान की जय बाबा विश्वनाथ की जय श्री साईं नाथ भगवान की जय

Bhavana Gupta Apr 17, 2021

+20 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 7 शेयर
❤Dev❤ Apr 17, 2021

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
sarla rana Apr 17, 2021

. "जीवन दर्शन" एक आदमी प्रातःकाल तडके नदी की ओर जल लेकर जा रहा था। नदी के पास पहुँचने पर उसे आभास हुआ कि सूर्योदय अभी पूरी तरह नहीं निकला है और चारों ओर कुछ ज्यादा ही अंधकार फैला हुआ है। घने अंधेरे में वह मस्ती से टहलने लगा। तभी उसका पैर एक झोले से टकराया। उत्सुकतावश उसने झोले मे हाथ डाला तो पाया कि उसमें बहुत सारे पत्थर रखें है। समय बिताने के लिए वह झोले में से एक-एक पत्थर निकालकर नदी में फेंकता गया। धीरे-धीरे उसने पत्थर पानी में फेंक दिए। जब अंतिम पत्थर उसके हाथ में था तभी सूर्य की रोशनी धरती पर फैल गयी। रोशनी में देखा कि वह पत्थर बहुत तेज चमक रहा था। वह दंग रह गया। उसकी धडकने बंद होने लगीं क्योंकि जिसे वह साधारण पत्थर समझ रहा था, वह अनमोल हीरा था। वह फूट-फूटकर रोने लगा। अपने हाथों में अंतिम बचे कीमती पत्थर को देखकर अंधेरे को कोस रहा था। वह नदी किनारे शोकमग्न बैठा था तभी एक महात्मा वहाँ से गुजर रहे थे, उसका दुःख जानकर वे बोले- "बेटा ! तुम दुःखी मत हो। तुम अब भी भाग्यशाली हो कि अंतिम पत्थर फेंकने से पहले ही सूर्य की रोशनी फूट पड़ी, वरना यह कीमती पत्थर भी तुम्हारे हाथ से निकल जाता। यह कीमती हीरा अभी भी तुम्हारी जिन्दगी को संवार सकता है। जो चीज हाथ से निकल गई, उसे लेकर रोने के बजाय जो तुम्हारे हाथ में है, तुम्हें उसी में खुश होना चाहिए, आनन्द मनाना चाहिए और उज्जवल भविष्य के लिए प्रयास करना चाहिए, और ईश्वर का शुक्रिया अदा करना चाहिए।" महात्मा की बात सुनकर उसकी आँखें खुल गईं, और खुशी-खुशी घर आ गया। अर्थात जो बीत गया(चला गया), उसे भुलाकर आगे बढ़ना ही श्रेयस्कर है। ----------:::×:::---------- "जय जय श्री राधे" ******************************************* "श्रीजी की चरण सेवा" की सभी धार्मिक, आध्यात्मिक एवं धारावाहिक पोस्टों के लिये हमारे पेज से जुड़े रहें👇 https://www.facebook.com/%E0%A4%B6%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%80%E0%A4%9C%E0%A5%80-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%9A%E0%A4%B0%E0%A4%A3-%E0%A4%B8%E0%A5%87%E0%A4%B5%E0%A4%BE-724535391217853/

+9 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 23 शेयर

+12 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 4 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+77 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 39 शेयर
Nagaraju Maanu Apr 17, 2021

+7 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 12 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB