नवरात्रि हवन ग्राम डूडसी जिला जालौर राजस्थान में

नवरात्रि हवन ग्राम डूडसी जिला जालौर राजस्थान में

।।शतचंडी महायज्ञ का कल होगा समापन।।

नवरात्र के पावन अवसर पर जालोर जिले के बागरा के निकट डुडसी गांव में आयोजित श्रीशतचंडी महायज्ञ में आज अष्टम दिवस ब्रस्पतिवार को आचार्य तोयराज उपाध्याय ने विद्वान पंडितों के साथ वैदिक मंत्रोच्चार की गूंज, हवन, पूजन, आरती के भव्य आयोजन से सम्पूर्ण क्षेत्र देवीमय कर दिये। साथ ही मां महागौरी का भी पूजन पूर्ण विधि विधान से किया।इस अवसर पर अन्तर्राष्ट्रीय मंत्री श्री पंचदशनाम जूना अखाड़ा, एवं दूधेश्वर पीठाधीश्वर श्रीमहंत नारायण गिरि महाराज ने उपस्थित ग्रामीणों को मां महागौरी की महत्ता से परिचित कराया। उन्होंने बताया कि
नवरात्र के आठवें दिन माता आदि शक्ति के महागौरी स्वरूप की पूजा की जाती है। शिवपुराण के अनुसार, महागौरी को आठ साल की उम्र में ही अपने पूर्व जन्म की घटनाओं का आभास हो गया था। इसलिए उन्होंने आठ साल की उम्र से ही भगवान शिव को पति रूप में पाने के लिए तपस्या शुरू कर दी थी। इसलिए अष्टमी के दिन महागौरी का पूजन करने का विधान है। इस दिन मां की पूजा में दुर्गासप्तशती के मध्यम चरित्र का पाठ करना विशेष फलदायी होता है।महागौरी आदी शक्ति हैं इनके तेज से संपूर्ण विश्व प्रकाश-मान होता है,इनकी शक्ति अमोघ फलदायिनी है।माँ महागौरी की अराधना से भक्तों को सभी कष्ट दूर हो जाते हैं,तथा देवी का भक्त जीवन में पवित्र और अक्षय पुण्यों का अधिकारी बनता है।महागौरी की उपासना से पूर्वसंचित पाप नष्ट हो जाते हैं। महागौरी माता अन्नपूर्णा स्वरूप भी हैं। इसलिए कन्याओं को भोजन कराने और उनका पूजन-सम्मान करने से धन, वैभव और सुख-शांति की प्राप्ति होती है।माना जाता है कि माता सीता ने श्री राम की प्राप्ति के लिए इन्हीं की पूजा की थी। मां गौरी श्वेत वर्ण की हैं और श्वेत रंग में इनका ध्यान करना अत्यंत लाभकारी होता है।साथ ही महराज श्री ने बताया कि कल सुबह 9 बजे कन्या पूजन के साथ शतचंडी महायज्ञ को भी पूर्ण आहुति देकर सम्पूर्ण किया जाएगा, जिसमें विशेष रूप से महामंडलेश्वर स्वामी रामचरण गिरी जी इंद्रप्रस्थ पीठाधीश्वर दिल्ली, रणछोड़ भारती जी महाराज लेटा मठ, महेंद्र भारती जी महाराज जागनाथ मठ नारणावास,सैकड़ों साधु संत एवं समस्त ग्रामवासी भाग लेंगे।
यज्ञ में उपस्थित श्री दूधेश्वर नाथ मंदिर (गाजियाबाद)के मीडिया प्रभारी पिंटू सुथार ने बताया कि इस आयोजन में पारसनाथ जी रामेश्वर तमिलनाडु,श्रीमहंत पर्वत गिरि जी सुरेश्वर महादेव,भीमराज पुरोहित जी, रतन सिंह जी, नरेंद्र सिंह धानसा, संतम मोथा जालोर, विजय सिंह जी जालोर,अनिल शर्मा जी,बुधगिरि जालोर, ईश्वर सिंह भवरानी,शैतान सिंह पूर्व सरंपच डूडसी,एवं ग्राम धानसा, के अनेकों ग्रामीणों को महाराज श्री ने रूद्राक्ष की माला एवं पटका पहनाकर आशीर्वाद दिया।


निवेदक
धीरज कुमार
सह मीडिया प्रभारी
दुधेश्वर नाथ मन्दिर गाजियाबाद
उत्तर प्रदेश

+44 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+73 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 28 शेयर

+12 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 10 शेयर
dimpal dimpu Kumari May 11, 2021

+87 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 31 शेयर
Gd Bansal May 11, 2021

+30 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 10 शेयर
Radha Bansal May 11, 2021

+27 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 33 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Sidhartha Shukla May 11, 2021

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB