मायमंदिर फ़्री कुंडली
डाउनलोड करें

Jay.sri.ram

Jay.sri.ram

#सुप्रभात #सुविचार
Jay.sri.ram

+108 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 162 शेयर

कामेंट्स

Mysuvichar Jun 16, 2019

+18 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 20 शेयर

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 33 शेयर
Rohan Bhardwaj Jun 16, 2019

+21 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 15 शेयर
Shrikrishna Cholkar Jun 16, 2019

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Purvin kumar Jun 14, 2019

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 29 शेयर
Shrikrishna Cholkar Jun 15, 2019

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Shrikrishna Cholkar Jun 14, 2019

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

सत्य सनातन संस्कृति संस्कार धर्म की जय हो श्री सूर्य सुवन सुखधाम आपकी उपमा न्यारी है सत् सत् बार प्रणाम आपकी महिमा प्यारी है । श्री विधी का नेक विधान कभी टाले नहीं टलता है । रोज सुबह को उगता सूरज शाम को ढलता है ।। वीदना बाई ने लिखे छटी रात के अंक । राई धंटे न तिल बड़े , रे रे जीव निसंक ‌। हमेशा समय रहा बलवान यहां बस किसका चलता है । रोज सुबह को उगता सूरज रोज शाम को ढ़लता है अंतर कोन जन्म का था इस जन्म हुआ ये मेल । ब्याह सदी हम समझ रहे , यह कुदरत का खेल ।। खेल नहीं ये है नव निर्माण , ये जग इसी से चलता हैं । रोज सुबह को उगता सूरज रोज शाम को ढलता है। पांच तत्त्व संग्रह कीये छाले फोड़े तीन । ब्रह्मा विष्णु और सदाशिव ,आदि शक्ति सुत तीन ।। नेक श्रृष्टि का नवनिर्माण ,नेक जग में फलता है रोज सुबह को उगता सूरज रोज शाम को ढ़लता है

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 35 शेयर
Amar Jeet Mishra Jun 16, 2019

+38 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 146 शेयर
Mamta Chauhan Jun 16, 2019

+63 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 73 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB