आशुतोष
आशुतोष Nov 23, 2020

सुप्रभात शुभ-मंगलवार

सुप्रभात
शुभ-मंगलवार

+34 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 174 शेयर

कामेंट्स

जितेन्द्र दुबे Nov 24, 2020
🚩🌹🥀जय श्री मंगलमूर्ति ऊँ हं हनुमंते नमः💐🌺🌻 🚩🌹🥀जय श्री मंगलमुर्ती गणेशाय नमः 🌺🌹💐🌺 शुभ प्रभात🌹 राम राम जी 🚩मंदिर के सभी भाई बहनों को राम राम जी परब्रह्म परमात्मा आप सभी की मनोकामना पूर्ण करें 🙏 🚩🔱🚩प्रभु भक्तो को सादर प्रणाम 🙏 🚩🔱🚩🕉️ श्री रामचंद्र कृपालु भजमन हरण भवभय दारुणम् नव कंज लोचन कंज मुख कर कंज पद कंजारुणं🌹 ॐ राम रामाय नमः 🌹 ॐ हं हनुमते नमःॐ हं हनुमते नमः ॐ शं शनिश्चराय नमः 🌹ऊँ महाकालेश्वाराय नमः🚩ऊँ नमः शिवाय 🚩ऊँ राधेकृष्णचंद्राय नमः🚩 श्री राम भक्त हनुमान जी महाराज की कृपा दृष्टि आप सभी पर हमेशा बनी रहे आप का हर पल मंगलमय हो 🚩जय श्री राम 🚩हर हर महादेव🚩राम राम जी🚩💐💐शुभ प्रभात स्नेह वंदन💐🌺🌻 🥀🌻🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏🌹🙏

आशुतोष Jan 20, 2021

+45 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 127 शेयर
आशुतोष Jan 20, 2021

+28 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 35 शेयर
आशुतोष Jan 20, 2021

+32 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 21 शेयर

+750 प्रतिक्रिया 133 कॉमेंट्स • 325 शेयर
Manoj manu Jan 20, 2021

🚩🙏🏵जय श्री सत्नाम वाहेगुरु जी 🏵🌿🙏 🌹आप सभी को श्री गुरु गोविंद सिंह जी की जयंति की अनेकानेक हार्दिक शुभकामनाएँ लख लख बधाईयाँ,🌹 गुरु गोबिंद सिंह जी सिखों के दसवें गुरु थे। कहा जाता है कि उनके पिता की मृत्यु के बाद उन्हें गुरु बनाया गया था। उन्होंने "खालसा पंथ "की स्थापना की जो कि सिखों के इतिहास की सबसे महत्वपूर्ण घटना थी। श्री गुरु गोबिंद सिंह जी एक महान योद्धा, कवी, भक्त और अध्यात्मिक नेता थे। गुरु ग्रंथ साहिब जी सिखों की पवित्र ग्रन्थ है। ये ग्रन्थ गुरु गोबिंद सिंह द्वारा ही पूरा किया गया था और उन्हें गुरु रूप में सुशोभित किया। विचित्र नाटक को उनकी आत्मकथा माना जाता है। यह दसम ग्रंथ का एक भाग है, गुरु गोबिंद सिंह जी द्वारा किये गए कार्यों का एक संकलन है। उन्होंने मुगलों व उनके साथियों के साथ 14 युद्ध लड़े। 🌹🌹उनका कहना था की धर्म का मार्ग ही सर्वोपरि है और सत्य का मार्ग है और सत्य की हमेशा ही जीत होती है। 🌹🌹बचन करकै पालना: -अगर आपने किसी को वचन दिया है तो उसे हर कीमत में निभाना होगा। 🌹🌹किसी दि निंदा, चुगली, अतै इर्खा नै करना : किसी की चुगली व निंदा करने से हमें हमेशा बचना चाहिए और किसी से ईर्ष्या करने के बजाय परिश्रम करने में फायदा है। 🌹🌹कम करन विच दरीदार नहीं करना : -काम में खूब मेहनत करें और काम को लेकर कोताही न बरतें। धर्म के लिए उन्होंने अपने पूरे परिवार का बलिदान भी किया जिसके कारण उन्हें “सर्वस्व्दानी” भी कहा जाता है। 🙏🏵🌿सत् सत् नमन जय श्री वाहेगुरु जी 🏵🌿🙏

+289 प्रतिक्रिया 53 कॉमेंट्स • 82 शेयर

+525 प्रतिक्रिया 107 कॉमेंट्स • 226 शेयर
white beauty Jan 20, 2021

+17 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 46 शेयर

+289 प्रतिक्रिया 46 कॉमेंट्स • 209 शेयर
hiren Jan 19, 2021

+427 प्रतिक्रिया 116 कॉमेंट्स • 270 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB