Jasbir Singh nain
Jasbir Singh nain Dec 9, 2019

शुभ प्रभात जी राधे राधे जी 🙏🙏🙏 अनंग त्रयोदशी के व्रत से होती है संतान की प्राप्ति, जानिए महत्व और पूजा विधि अनंग त्रयोदशी के व्रत से होती है संतान की प्राप्ति, जानिए महत्व और पूजा विधि सुख-संपत्ति की कामना और सौभाग्य वृद्धि के लिए सनातन संस्कृति में कई व्रत-त्यौहार किए जाते हैं। ऐसा ही एक व्रत अनंग त्रयोदशी का है, जिसको संतान सुख की कामना के लिए देश के कई हिस्सों में मनाया जाता है। मान्यता है कि अनंग त्रयोदशी का व्रत कर विधि-विधान से पूजा करने पर दंपत्ति को संतान की प्राप्ति होती है। अनंग त्रयोदशी का व्रत मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि को रखा जाता है। इस बार अनंग त्रयोदशी 9 दिसंबर सोमवार को है। अनंग त्रयोदशी के दिन भक्त शिव-पार्वती की पूजा करते हैं, जिससे धन, संपदा, एश्वर्य और सुख, शांति मिलती है। इस तिथि को कामदेव और रति की भी पूजा की जाती है। अनंग त्रयोदशी का व्रत मुख्य रूप से महाराष्ट्र और गुजरात और उत्तर भारत के कुछ हिस्सों में मनाया जाता है। उत्तर भारत में यह व्रत दिसंबर के महीने में मनाया जाता है। अनंग त्रयोदशी की पूजा विधि अनंग त्रयोदशी के दिन सूर्योदय से पूर्व उठ जाएं और स्नान के जल में गंगाजल या पवित्र जल डालकर स्नान करें। श्वेत वस्त्र धारण करें और सबसे पहले श्रीगणेश की कुमकुम, अक्षत, गुलाल, मेंहदी, हल्दी, चंदन से पूजा करें। जनेऊ, वस्त्र, पंचमेवा, पंचामृत, ऋतुफल, मोदक, लड्डूओं का भोग लगाएं। घी का दीपक जलाएं और धूपबत्ती जलाएं। ओम गणेशाय नम: मंत्र का जाप करें। उत्तम स्वास्थ्य के लिए शिव पूजा करें। इसके लिए तांबे के लोटे में जल लेकर शिवलिंग पर समर्पित करें। शिवजी को सफ़ेद फूल, सफ़ेद मिठाई, बेलपत्र, केला, भांग, धतूरे, अमरूद आदि का भोग लगाएं। ओम नम: शिवाय का जाप करें और 13 सिक्के समर्पित करें। विवाह की मनोकामना पूरी करने के लिए शिवलिंग पर सिंदूर और सफेद फूल चढ़ाएं। 13 बेलपत्रों के साथ जल में गुड़ घोलकर शिव अभिषेक करें। इसके साथ ही 13 तुलसी दल और 13 बताशे चढ़ाएं।

शुभ प्रभात जी राधे राधे जी 🙏🙏🙏
अनंग त्रयोदशी के व्रत से होती है संतान की प्राप्ति, जानिए महत्व और पूजा विधि

अनंग त्रयोदशी के व्रत से होती है संतान की प्राप्ति, जानिए महत्व और पूजा विधि
 

 
सुख-संपत्ति की कामना और सौभाग्य वृद्धि के लिए सनातन संस्कृति में कई व्रत-त्यौहार किए जाते हैं। ऐसा ही एक व्रत अनंग त्रयोदशी का है, जिसको संतान सुख की कामना के लिए देश के कई हिस्सों में मनाया जाता है। मान्यता है कि अनंग त्रयोदशी का व्रत कर विधि-विधान से पूजा करने पर दंपत्ति को संतान की प्राप्ति होती है। अनंग त्रयोदशी का व्रत मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि को रखा जाता है। इस बार अनंग त्रयोदशी 9 दिसंबर सोमवार को है।



अनंग त्रयोदशी के दिन भक्त शिव-पार्वती की पूजा करते हैं, जिससे धन, संपदा, एश्वर्य और सुख, शांति मिलती है। इस तिथि को कामदेव और रति की भी पूजा की जाती है। अनंग त्रयोदशी का व्रत मुख्य रूप से महाराष्ट्र और गुजरात और उत्तर भारत के कुछ हिस्सों में मनाया जाता है। उत्तर भारत में यह व्रत दिसंबर के महीने में मनाया जाता है।

अनंग त्रयोदशी की पूजा विधि

अनंग त्रयोदशी के दिन सूर्योदय से पूर्व उठ जाएं और स्नान के जल में गंगाजल या पवित्र जल डालकर स्नान करें। श्वेत वस्त्र धारण करें और सबसे पहले श्रीगणेश की कुमकुम, अक्षत, गुलाल, मेंहदी, हल्दी, चंदन से पूजा करें। जनेऊ, वस्त्र, पंचमेवा, पंचामृत, ऋतुफल, मोदक, लड्डूओं का भोग लगाएं। घी का दीपक जलाएं और धूपबत्ती जलाएं। ओम गणेशाय नम: मंत्र का जाप करें। उत्तम स्वास्थ्य के लिए शिव पूजा करें। इसके लिए तांबे के लोटे में जल लेकर शिवलिंग पर समर्पित करें। शिवजी को सफ़ेद फूल, सफ़ेद मिठाई, बेलपत्र, केला, भांग, धतूरे, अमरूद आदि का भोग लगाएं। ओम नम: शिवाय का जाप करें और 13 सिक्के समर्पित करें। विवाह की मनोकामना पूरी करने के लिए शिवलिंग पर सिंदूर और सफेद फूल चढ़ाएं। 13 बेलपत्रों के साथ जल में गुड़ घोलकर शिव अभिषेक करें। इसके साथ ही 13 तुलसी दल और 13 बताशे चढ़ाएं।

+272 प्रतिक्रिया 35 कॉमेंट्स • 227 शेयर

कामेंट्स

Brajesh Sharma Dec 9, 2019
हर हर महादेव जय भोले नाथ की ॐ नमः शिवाय हर हर महादेव सुप्रभात जी___🙏 आपका दिन शुभ और मंगलमय हो।

Babita Sharma Dec 9, 2019
राधे राधे भाई 🙏 हर हर महादेव

preeti Gidwani Dec 9, 2019
🌹जय श्री राधे राधे जी 🌹 🌹ॐ नमः शिवाय जी🌹 प्रणाम भैया जी 🙏🙏🌹🌹 आपका बहुत बहुत धन्यवाद जी 🙏🙏🌹🌹 आपका हर पल हर दिन खुशियों से भरा मंगलमय और शुभ हो जी 🌹 बहुत सुंदर पोस्ट है जी 🙏🙏🌹🌹👌👍🌹🌹 सुप्रभात जी भैया जी 🙏🙏🌹🌹💐💐

sumitra Dec 9, 2019
राम-राम 🙏भाई जी ओम नमः शिवाय भोलेनाथ और मां पार्वती की कृपा आप और आपके परिवार पर हमेशा बनी रहे आपका दिन शुभ और मंगलमय हो भाई जी🙏🚩🌹

Ⓜ@Nisha Dec 9, 2019
*🙏🙏 हर हर महादेव🙏🙏* *सभी शब्दोंका अर्थ मिल सकता है* *परन्तु,,,,,* *जीवन का अर्थ जीवन जी कर* *और सबंध का अर्थ* *सबंध निभाकर ही मिल सकता है* *दर्द भी वही देते हैं* *जिन्हे हक दिया जाता है* *वर्ना अजनबी तो धक्का लगने पर भी* *माफी माँग लिया करते हैं* *कुछ ख्वाइशों का* *कत्ल करके मुस्कुरा दो* *जिंदगी खुद-ब-खुद* *बेहतर हो जायेगी..!* *एक दिया जरूर जलाना* *चाहे आपको ईश्वर मिले न मिले* *हो सकता है दीपक की रोशनी से* *किसी मुसाफिर को ठोकर न लगे* 🚩|| ओम नमः शिवाय ||🚩 🔮⌛🔮⌛⌛🔮⌛🔮⌛ ***आपका दिन मंगलमय हो ***

Dr.ratan Singh Dec 9, 2019
🔱🌿🌹 ॐ नमः शिवाय🌹🌿🔱 🌜🌲शुभ संध्या वंदन भाई🌲🌜 👏आप और आपके पूरे परिवार पर बाबा भोलेनाथ जी की कृपा दृष्टि सदा बनी रहे और सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो 🙏 🎎आपका सोमवार का संध्या काल शिवमय शान्तिमय शुभ और मंगलमय व्यतीत हो🙏

Deepak Parbakar Dec 9, 2019
🌷🌷Om Namah shivay Har Har mahadev ji jai Shree Radhe Krishna bhai ji 🙏🙏

Suman Lata Dec 9, 2019
🌷🙏Jai shree radhe krishna ji subh ratri vanden bhai ji 🙏🌷

+562 प्रतिक्रिया 80 कॉमेंट्स • 343 शेयर

+111 प्रतिक्रिया 18 कॉमेंट्स • 251 शेयर

+144 प्रतिक्रिया 13 कॉमेंट्स • 141 शेयर

+29 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 15 शेयर
Pt Vinod Pandey 🚩 Jan 26, 2020

🌞 *~ आज का हिन्दू #पंचांग* ~ 🌞 ⛅ *दिनांक 27 जनवरी 2020* ⛅ *दिन - सोमवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2076* ⛅ *शक संवत - 1941* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - शिशिर* ⛅ *मास - माघ* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - तृतीया पूर्ण रात्रि तक* ⛅ *नक्षत्र - शतभिषा पूर्ण रात्रि तक* ⛅ *योग - वरीयान् 28 जनवरी रात्रि 02:52 तक तत्पश्चात परिघ* ⛅ *राहुकाल - सुबह 08:34 से सुबह 09:56 तक* ⛅ *सूर्योदय - 07:18* ⛅ *सूर्यास्त - 18:24* ⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - तृतीया क्षय तिथि* 💥 *विशेष - तृतीया को परवल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* 🌷 *मंगलवारी चतुर्थी* 🌷 ➡ *28 जनवरी 2020 (सुबह 08:23 से 29 जनवरी सूर्योदय तक )* 🌷 *मंत्र जप व शुभ संकल्प की सिद्धि के लिए विशेष योग* 🙏🏻 *मंगलवारी चतुर्थी को किये गए जप-संकल्प, मौन व यज्ञ का फल अक्षय होता है ।* 👉🏻 *मंगलवार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना ... जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है...* 🌷 *मंगलवारी चतुर्थी* 🌷 🙏 *अंगार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना …जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है…* 🌷 *> बिना नमक का भोजन करें* 🌷 *> मंगल देव का मानसिक आह्वान करो* 🌷 *> चन्द्रमा में गणपति की भावना करके अर्घ्य दें* 💵 *कितना भी कर्ज़दार हो ..काम धंधे से बेरोजगार हो ..रोज़ी रोटी तो मिलेगी और कर्जे से छुटकारा मिलेगा |* 🌐 http://www.vkjpandey.in 🌷 *मंगलवार चतुर्थी* 🌷 👉 *भारतीय समय के अनुसार 28 जनवरी 2020 (सुबह 08:23 से 29 जनवरी सूर्योदय तक) चतुर्थी है, इस महा योग पर अगर मंगल ग्रह देव के 21 नामों से सुमिरन करें और धरती पर अर्घ्य देकर प्रार्थना करें,शुभ संकल्प करें तो आप सकल ऋण से मुक्त हो सकते हैं..* *👉🏻मंगल देव के 21 नाम इस प्रकार हैं :-* 🌷 *1) ॐ मंगलाय नमः* 🌷 *2) ॐ भूमि पुत्राय नमः* 🌷 *3 ) ॐ ऋण हर्त्रे नमः* 🌷 *4) ॐ धन प्रदाय नमः* 🌷 *5 ) ॐ स्थिर आसनाय नमः* 🌷 *6) ॐ महा कायाय नमः* 🌷 *7) ॐ सर्व कामार्थ साधकाय नमः* 🌷 *8) ॐ लोहिताय नमः* 🌷 *9) ॐ लोहिताक्षाय नमः* 🌷 *10) ॐ साम गानाम कृपा करे नमः* 🌷 *11) ॐ धरात्मजाय नमः* 🌷 *12) ॐ भुजाय नमः* 🌷 *13) ॐ भौमाय नमः* 🌷 *14) ॐ भुमिजाय नमः* 🌷 *15) ॐ भूमि नन्दनाय नमः* 🌷 *16) ॐ अंगारकाय नमः* 🌷 *17) ॐ यमाय नमः* 🌷 *18) ॐ सर्व रोग प्रहाराकाय नमः* 🌷 *19) ॐ वृष्टि कर्ते नमः* 🌷 *20) ॐ वृष्टि हराते नमः* 🌷 *21) ॐ सर्व कामा फल प्रदाय नमः* 🙏 *ये 21 मन्त्र से भगवान मंगल देव को नमन करें ..फिर धरती पर अर्घ्य देना चाहिए..अर्घ्य देते समय ये मन्त्र बोले :-* 🌷 *भूमि पुत्रो महा तेजा* 🌷 *कुमारो रक्त वस्त्रका* 🌷 *ग्रहणअर्घ्यं मया दत्तम* 🌷 *ऋणम शांतिम प्रयाक्ष्मे* 🙏 *हे भूमि पुत्र!..महा क्यातेजस्वी,रक्त वस्त्र धारण करने वाले देव मेरा अर्घ्य स्वीकार करो और मुझे ऋण से शांति प्राप्त कराओ..* 🌐 http://www.vkjpandey.in 🙏🏻🌹🌻☘🌷🌺🌸🌼💐🙏

+38 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 55 शेयर
Kalpana bist Jan 26, 2020

+82 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 14 शेयर

+8 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 6 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 5 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB