*🌹कोरोना बचाव !! स्वस्ति प्रार्थना (मंत्र )🙏* 🌻🌸🌸🌻🌸🌸🌻 आप सभी से निवेदन है कि "स्वस्ति प्रार्थना" अपने घरों में प्रतिदिन जरूर करें !! कहा जाता है कि अथर्ववेद में, इस "श्लोक या मंत्र' का उपयोग प्राचीन काल में खराब वायरस - रोगाणुओं या किसी संक्रामक रोगों को मिटाने के लिए किया जाता था !! ईसमे सारे देवताओं की उपासना सभी बुरे ग्रहों का शमन एवं सभी के लिए 100 वर्षों के दीर्घायु होने का आशीर्वाद है !! 🌿🏵️🙏🙏🏵️🌿

+81 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 124 शेयर

कामेंट्स

Kamlesh Apr 16, 2021
जय श्री राधे राधे

Deokinandan Bhargava Apr 16, 2021
इदं भद्र सूक्तं अति शोभनंअस्ति

Kamlesh May 9, 2021

+55 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 64 शेयर
RANJAN ADHIKARI May 9, 2021

+2 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 4 शेयर
K L Tiwari May 8, 2021

🌺🚩🌺जय श्री माता की🌺🚩🌺 आप सभी भाई बहनों से निवेदन करता हूँ कि नियमों का पालन करें सतर्क रहें सुरक्षित रहें, आप सुरक्षित रहें दूसरों को भी सुरक्षित रखें।।जय श्री माता की🌹🌹🙏🌹🌹 आपके घर में कोई पुण्य शाली व्यक्ति होता है,तब तक आपके घर में कोई नुकसान नहीं कर सकता। जब तक विभीषणजी लंका में रहते थे,तब तक रावण ने कितना भी पाप किया परंतु विभीषणजी के पुण्य के कारण रावण सुखी रहा । परंतु जब रावण ने विभीषणजी जैसे भगवत वत्सल भक्त को लात मारी और लंका से निकल जाने के लिए कहा तब से रावण का विनाश होना शुरू हो गया और अंत में रावण की सोने की लंका का दहन हो गया और रावण के पीछे कोई रोने वाला भी नहीं बचा । ठीक इसी तरह हस्तिनापुर में जब तक विदुरजी जैसे भक्त रहते थे तब तक कौरवों को सुख ही सुख मिला । परंतु जैसे ही कौरवों ने विदुरजी का अपमान करके राज्यसभा से चले जाने के लिए कहा और विदुर जी का अपमान किया। तब भगवान श्री कृष्ण जी ने विदुरजी से कहा कि काका आप अभी तीर्थ यात्रा के लिए प्रस्थान करिए और भगवान के तीर्थ स्थानों पर यात्रा करिए और भगवान श्री कृष्णजी ने विदुरजी को तीर्थ यात्रा के लिए भेज दिए और जैसे ही विदुर जी ने हस्तिनापुर को छोड़ा कौरवों का पतन होना चालू हो गया और अंत में राज्य भी गया और कौरवों के पीछे कोई कौरवों का वंश भी नहीं बचा । इसी तरह हमारे भी परिवार में जब तक कोई भक्त और पुण्य शाली आत्मा होती है।तब तक हमारे घर में आनंद ही आनंद रहता है,इसलिए भगवान के भक्त जनों का अपमान कभी ना करें । और हां हम जो कमाई खाते हैं वह पता नहीं किसके पुण्य के द्वारा मिल रही है इसलिए हमेशा आनंद में रहे और कोई भक्त परिवार में भक्ति करता हो तो उसका अपमान ना करें और भक्तों का सम्मान करें और उनके मार्गदर्शन मे चलने की कोशिश करें पता नहीं संसार की गाड़ी किन के पुण्य से चलती हैं। देव,शास्त्र, गुरु के प्रति समर्पित रहे धर्म की जड़ जहाँ होगी वहाँ अशुभ कर्म आने से डरेंगे माता-पिता और बड़े बुजुर्गों और अतिथि का हमेशा सम्मान करें और सद्गुगुरू के बताए अनुसार जीवन जिए और भगवान की भक्ति करते रहें ।

+102 प्रतिक्रिया 22 कॉमेंट्स • 29 शेयर
Ravi Mishra 82796 May 9, 2021

+1 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 4 शेयर

+13 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 61 शेयर
Kamlesh May 7, 2021

+34 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 45 शेयर

आयुर्वेद के विशेषज्ञ वैद्य तेज बहादुर सिंह ने बताया कि कोविड काल के दौरान गिलोय व आयुर्वेदिक काढ़ा लोगों के लिए वरदान साबित हो रहा है। वैद्य तेज बहादुर ने लोगों को टिप्स देते हुए बताया कि गिलोय, तुलसी का काढ़ा बनाकर लगातार पीने से कोरोना को आसानी के साथ मात दिया जा सकता है। उन्होंने दावा कि अब तक सैकड़ों की संख्या लोग आयुर्वेदिक उपचार करके कोरोना को मात दे चुके हैं। वैद्य तेज बहादुर सिंह ने बताया कि अब गांवों में जगह-जगह पेड़ों पर लटकती गिलोय का अन्य जड़ी-बूटियों दालचीनी, सौंठ, काली मिर्च, लौंग, इलायची आदि के साथ बनने वाला काढ़ा कोरोना काल में जनसामान्य के लिए रामबाण औषधि साबित हो रहा है। इसके नियमित सेवन से कोरोना के अलावा अन्य बीमारियों कैंसर व मधुमेह जैसी जानलेवा बीमारी से छुटकारा मिल सकता है। इसके पीने से रक्त में प्लेटलेट्स की मात्रा में तेजी से इजाफा होता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होती है। खासकर नीम का गिलोय सर्वाधिक असरदार होती है। वैद्य तेज बहादुर सिंह ने बताया कि कोरोना से पीड़ितों पर आयुर्वेदिक दवाएं काफी असरदार साबित हो रही हैं। उन्होंने बताया कि गिलोय का वैज्ञानिक नाम टीनोस्पोरा कोर्डीफोलिया है। इसके खास गुणों के कारण इसे अमृता भी कहा जाता है। गिलोय में एल्केलाइड तत्व पाया जाता है, जो स्वाइन फ्लू व कोरोना जैसी घातक बीमारी को दूर करने में सहायक होता है। उनका कहना है कि डेंगू के लिए यह संजीवनी है। उन लोगों के लिए फायदेमंद है जिन्हें किसी कारणवश इलाज समय से नहीं हो रहा है। घट रहे प्लेटलेट्स की मात्रा पर अंकुश लगाता है। इंसुलिन की क्षमता बढ़ाने के साथ ही शक्ति संचरण के लिए भी उपयोगी है। नमस्कार शुभ 🌅 शुभ सोमवार हर हर महादेव जय श्री पार्वती माता की 🌹 नमस्कार 🙏 आपको सादर प्रणाम 🌹 जय श्री भोलेनाथ जय श्री पार्वती माता पार्वती माता की 🌹

+33 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Ramesh Agrawal May 7, 2021

+13 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 51 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB