*🛕🕉️ॐ श्री गणेशाय नमः🕉️🛕* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* ⛅ *दिनांक 20 जनवरी 2021* ⛅ *दिन - बुधवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - शिशिर* ⛅ *मास - पौष* ⛅ *पक्ष - शुक्ल* ⛅ *तिथि - सप्तमी दोपहर 01:16 तक तत्पश्चात अष्टमी* ⛅ *नक्षत्र - रेवती दोपहर 12:37 तक तत्पश्चात अश्विनी* ⛅ *योग - सिद्ध रात्रि 07:31 तक तत्पश्चात साध्य* ⛅ *राहुकाल - दोपहर 12:50 से दोपहर 02:13 तक* ⛅ *सूर्योदय - 07:19* ⛅ *सूर्यास्त - 18:20* ⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - बुधवारी अष्टमी (दोपहर 01:16 से 21 जनवरी सूर्योदय तक)* 💥 *विशेष - सप्तमी को ताड़ का फल खाने से रोग बढ़ता है तथा शरीर का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* 🌷 *करेला सेवन* 🌷 👉🏻 *हफ्ते में एक दिन करेला खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा है (कड़वा रस भी शरीर के स्वास्थ्य के लिए ज़रूरी है)* 🙏🏻 *पूज्य बापूजी - 1st March'09, Nanded* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* 🌷 *कालसर्प दोष से मुक्ति* 🌷 ➡ *‘ॐ नमो भगवते वासुदेवाय’ जप करें तो कालसर्प दोष की शांति हो जाती है |* 👉🏻 *विषम संख्या ३ बार, ७ बार, ११ बार, २१ बार, ३१ बार, ५१ बार, १०१ बार विषम संख्या में जप करने से – ‘ॐ नमो भगवते वासुदेवाय’, किसी को कालसर्प दोष हो तो उसी को बता देना |* 🙏🏻 *- Shri Sureshanandji Prayagraj 6th Feb' 2013* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* 🌷 *घर में शांति आने का अद्भुत चमत्कार* 🌷 🔥 *शुद्ध घी या तिल के तेल का दीपक जलाकर गहरा श्वास लेके रोकें फिर ‘ॐ तं नमामि हरिं परम् |’ मंत्र बोले | ऐसा १५ – २० मिनट नियत समय, नियत स्थान पर कुटुम्ब के सभी लोग करें | ३ – ४ दिन में अद्भुत चमत्कार होगा, घर में शांति होगी |* 🙏🏻 *ऋषिप्रसाद – जनवरी २०१९ से* *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪* *सिद्ध-सिदन, गज-बदन, विनायक*। *कृपा-सिंधु, सुंदर सब-लायक*॥ *मोदक-प्रिय, मुद-मंगल-दाता*। *विद्या-वारिध, बुद्धि-विधाता*॥ *माँगत तुलसिदास कर जोरे*। *बसहिं रामसिय मानस मोरे*॥ *🙏🙏हरि ॐ 🙏🙏* 🛕🛕🎪🎪🕉️🚩🕉️🎪🎪🛕🛕

*🛕🕉️ॐ श्री गणेशाय नमः🕉️🛕*
        *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪*
⛅ *दिनांक 20 जनवरी 2021* 
⛅ *दिन - बुधवार*
⛅ *विक्रम संवत - 2077*
⛅ *शक संवत - 1942*
⛅ *अयन - उत्तरायण*
⛅ *ऋतु - शिशिर*
⛅ *मास - पौष*
⛅ *पक्ष - शुक्ल* 
⛅ *तिथि - सप्तमी दोपहर 01:16 तक तत्पश्चात अष्टमी*
⛅ *नक्षत्र - रेवती दोपहर 12:37 तक तत्पश्चात अश्विनी*
⛅ *योग - सिद्ध रात्रि 07:31 तक तत्पश्चात साध्य*
⛅ *राहुकाल - दोपहर 12:50 से दोपहर 02:13 तक*
⛅ *सूर्योदय - 07:19* 
⛅ *सूर्यास्त - 18:20* 
⛅ *दिशाशूल - उत्तर दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण - बुधवारी अष्टमी (दोपहर 01:16 से 21 जनवरी सूर्योदय तक)*
 💥 *विशेष - सप्तमी को ताड़ का फल खाने से रोग बढ़ता है तथा  शरीर का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
              
       *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪*
🌷 *करेला सेवन* 🌷
👉🏻 *हफ्ते में एक दिन करेला खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा है (कड़वा रस भी शरीर के स्वास्थ्य के लिए ज़रूरी है)*
🙏🏻 *पूज्य बापूजी - 1st March'09, Nanded*
               
       *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪*
🌷 *कालसर्प दोष से मुक्ति* 🌷
➡ *‘ॐ नमो भगवते वासुदेवाय’ जप करें तो कालसर्प दोष की शांति हो जाती है |*
👉🏻 *विषम संख्या ३ बार, ७ बार, ११ बार, २१ बार, ३१ बार, ५१ बार, १०१ बार विषम संख्या में जप करने से – ‘ॐ नमो भगवते वासुदेवाय’, किसी को कालसर्प दोष हो तो उसी को बता देना |*
🙏🏻 *- Shri Sureshanandji Prayagraj 6th Feb' 2013*
          
        *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪*
🌷 *घर में शांति आने का अद्भुत चमत्कार* 🌷
🔥 *शुद्ध घी या तिल के तेल का दीपक जलाकर गहरा श्वास लेके रोकें फिर ‘ॐ तं नमामि हरिं परम् |’ मंत्र बोले | ऐसा १५ – २० मिनट नियत समय, नियत स्थान पर कुटुम्ब के सभी लोग करें | ३ – ४ दिन में अद्भुत चमत्कार होगा, घर में शांति होगी |*
🙏🏻 *ऋषिप्रसाद – जनवरी २०१९ से*

    *🎪🔥हिन्दू पंचांग🔥🎪*
*सिद्ध-सिदन, गज-बदन, विनायक*।
 *कृपा-सिंधु, सुंदर सब-लायक*॥
*मोदक-प्रिय, मुद-मंगल-दाता*।
 *विद्या-वारिध, बुद्धि-विधाता*॥
*माँगत तुलसिदास कर जोरे*।
 *बसहिं रामसिय मानस मोरे*॥ 
    *🙏🙏हरि ॐ 🙏🙏*

🛕🛕🎪🎪🕉️🚩🕉️🎪🎪🛕🛕

+14 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 6 शेयर

कामेंट्स

Ameet Jan 20, 2021
बोलो गणपति महाराज की जय

Ajay Awasthi Mar 6, 2021

🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *********|| जय श्री राधे ||********* 🌺🙏 *महर्षि पाराशर पंचांग* 🙏🌺 🙏🌺🙏 *अथ पंचांगम्* 🙏🌺🙏 *********ll जय श्री राधे ll********* 🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *दिनाँक -: 07/03/2021,रविवार* नवमी, कृष्ण पक्ष फाल्गुन """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि ----------नवमी 16:46:36 तक पक्ष ---------------------------कृष्ण नक्षत्र -------------मूल 20:58:04 योग -------------सिद्वि 15:50:02 करण -------------- गर 16:46:35 करण --------वणिज 28:12:42 वार -------------------------रविवार माह ------------------------ फाल्गुन चन्द्र राशि --------------------- धनु सूर्य राशि ------------------- कुम्भ रितु --------------------------वसन्त आयन --------------------उत्तरायण संवत्सर -----------------------शार्वरी संवत्सर (उत्तर) -------------प्रमादी विक्रम संवत ----------------2077 विक्रम संवत (कर्तक)------2077 शाका संवत ----------------1942 वृन्दावन सूर्योदय ---------------06:38:39 सूर्यास्त -----------------18:22:01 दिन काल --------------11:43:22 रात्री काल -------------12:15:33 चंद्रास्त ----------------12:34:03 चंद्रोदय -----------------27:00:57 लग्न ----कुम्भ 22°32' , 322°32' सूर्य नक्षत्र ----------पूर्वाभाद्रपदा चन्द्र नक्षत्र ----------------------मूल नक्षत्र पाया --------------------ताम्र *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* यो ---- मूल 09:15:01 भा ---- मूल 15:05:54 भी ----मूल 20:58:04 भू ----पूर्वाषाढा 26:51:29 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================== सूर्य= कुम्भ 22°52 ' पूo भा o, 1 से चन्द्र = धनु 05°23 ' ज्येष्ठा , 2 यो बुध = मकर 25°37' धनिष्ठा ' 1 गा शुक्र= कुम्भ 17 ° 55, शतभिषा ' 4 सू मंगल=वृषभ 06°30 ' कृतिका ' 4 ए गुरु=मकर 23°22 ' श्रवण , 4 खो शनि=मकर 13°43 ' श्रवण ' 2 खू राहू=(व)वृषभ 21°10 'मृगशिरा , 4 वु केतु=(व)वृश्चिक 21°10 ज्येष्ठा , 2 या *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 16:54 - 18:22 अशुभ यम घंटा 12:30 - 13:58 अशुभ गुली काल 15:26 - 16:54 अशुभ अभिजित 12:07 -12:54 शुभ दूर मुहूर्त 16:48 - 17:35 अशुभ 🚩गंड मूल 06:39 - 20:58 अशुभ 💮चोघडिया, दिन उद्वेग 06:39 - 08:07 अशुभ चर 08:07 - 09:34 शुभ लाभ 09:34 - 11:02 शुभ अमृत 11:02 - 12:30 शुभ काल 12:30 - 13:58 अशुभ शुभ 13:58 - 15:26 शुभ रोग 15:26 - 16:54 अशुभ उद्वेग 16:54 - 18:22 अशुभ 🚩चोघडिया, रात शुभ 18:22 - 19:54 शुभ अमृत 19:54 - 21:26 शुभ चर 21:26 - 22:58 शुभ रोग 22:58 - 24:30* अशुभ काल 24:30* - 26:02* अशुभ लाभ 26:02* - 27:34* शुभ उद्वेग 27:34* - 29:06* अशुभ शुभ 29:06* - 30:38* शुभ 💮होरा, दिन सूर्य 06:39 - 07:37 शुक्र 07:37 - 08:36 बुध 08:36 - 09:34 चन्द्र 09:34 - 10:33 शनि 10:33 - 11:32 बृहस्पति 11:32 - 12:30 मंगल 12:30 - 13:29 सूर्य 13:29 - 14:28 शुक्र 14:28 - 15:26 बुध 15:26 - 16:25 चन्द्र 16:25 - 17:23 शनि 17:23 - 18:22 🚩होरा, रात बृहस्पति 18:22 - 19:23 मंगल 19:23 - 20:25 सूर्य 20:25 - 21:26 शुक्र 21:26 - 22:27 बुध 22:27 - 23:29 चन्द्र 23:29 - 24:30 शनि 24:30* - 25:31 बृहस्पति 25:31* - 26:32 मंगल 26:32* - 27:34 सूर्य 27:34* - 28:35 शुक्र 28:35* - 29:36 बुध 29:36* - 30:38 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान---------------------पश्चिम* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा चिरौजी खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 15 + 9 + 1 + 1 = 26 ÷ 4 = 2 शेष आकाश लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 24 + 24 + 5 = 53 ÷ 7 = 4 शेष सभायां = सन्ताप कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* रात्रि 28:15 से प्रारम्भ पाताल लोक = धनलाभ कारक *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* * सर्वार्थसिद्धि सिद्धि योग 20:58 तक * रामदास नवमी * पंडित गोविन्द बल्लभ पंत पुo तिo *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* किं कुलेन विशालेन विद्याहीनेन देहिनाम् । दुष्कुलं चापि विदुषी देवैरपि हि पूज्यते ।। ।।चा o नी o।। क्या करना उचे कुल का यदि बुद्धिमत्ता ना हो. एक नीच कुल में उत्पन्न होने वाले विद्वान् व्यक्ति का सम्मान देवता भी करते है. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: कर्मयोग अo-3 नियतं कुरु कर्म त्वं कर्म ज्यायो ह्यकर्मणः।, शरीरयात्रापि च ते न प्रसिद्धयेदकर्मणः ॥, तू शास्त्रविहित कर्तव्यकर्म कर क्योंकि कर्म न करने की अपेक्षा कर्म करना श्रेष्ठ है तथा कर्म न करने से तेरा शरीर-निर्वाह भी नहीं सिद्ध होगा॥,8॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐂मेष धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। कोर्ट व कचहरी के काम मनोनुकूल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। कुबुद्धि हावी रहेगी। चिंता तथा तनाव रहेंगे। मित्रों से संबंध सुधरेंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। विरोधी सक्रिय रहेंगे। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रह सकता है। 🐏वृष व्यर्थ भागदौड़ रहेगी। लाभ के अवसर हाथ से निकलेंगे। बेवजह कहासुनी हो सकती है। पुराना रोग उभर सकता है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। व्यापार ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। प्रयास अधिक करना पड़ेंगे। धैर्य रखें। शत्रु हानि पहुंचा सकते हैं। दु:खद समाचार मिल सकता है। 👫मिथुन घर के सदस्यों के स्वास्थ्य व अध्ययन संबंधी चिंता रहेगी। विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का मौका मिलेगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। दुष्टजनों से दूरी बनाए रखें। निवेश शुभ रहेगा। व्यापार में वृद्धि होगी। नौकरी में उच्चाधिकारी सहयोग करेंगे। 🦀कर्क शत्रु पस्त होंगे। सुख के साधन जुटेंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। पराक्रम बढ़ेगा। लंब समय से रुके कार्य सहज रूप से पूर्ण होंगे। कार्य की प्रशंसा होगी। शेयर मार्केट में सफलता मिलेगी। व्यापार-व्यवसाय में वृद्धि होगी। नौकरी में अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। शुभ समय। 🐅सिंह किसी अपने के व्यवहार से स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। शारीरिक कष्ट संभव है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। शत्रु पस्त होंगे। वाणी पर नियंत्रण रखें। स्थायी संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। आर्थिक उन्नति के प्रयास सफल होंगे। निवेश शुभ रहेगा। व्यापार में वृद्धि होगी। 🙍‍♀️कन्या प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। परिवार के किसी सदस्य के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। बेवजह कहासुनी हो सकती है। कानूनी अड़चन दूर होगी। व्यापार में वृद्धि होगी। नौकरी में सहकर्मियों का साथ मिलेगा। निवेश शुभ रहेगा। प्रसन्नता रहेगी। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। ⚖️तुला पुराना रोग परेशानी का कारण रह सकता है। दूसरों के कार्य में दखल न दें। बड़ों की सलाह मानें। लाभ होगा। अपेक्षित कार्यों में विलंब होगा। मानसिक बेचैनी रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। धैर्य रखें। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में सावधानी रखें। 🦂वृश्चिक स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। किसी अप‍रिचित पर अतिविश्वास न करें। विवाद से क्लेश होगा। दूसरों के उकसाने में न आएं। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। व्यवसाय की गति धीमी रहेगी। कोई बड़ी समस्या आ सकती है। धैर्य रखें। शारीरिक कष्ट संभव है तथा तनाव रहेंगे। 🏹धनु घर में अतिथियों का आगमन होगा। व्यय होगा। दूर से शुभ समाचार प्राप्त होंगे। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। आय बनी रहेगी। अज्ञात भय रहेगा। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। घर-बाहर प्रसन्नता का माहौल रहेगा। 🐊मकर सुख के साधन प्राप्त होंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। लंबे समय से रुके कार्यों में गति आएगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। मित्रों का सहयोग मिलेगा। प्रसन्नता रहेगी। आय में निश्चितता रहेगी। 🍯कुंभ आराम तथा मनोरंजन के साधन उपलब्ध होंगे। यश बढ़ेगा। व्यापार वृद्धि होगी। नई योजना बनेगी जिसका तत्काल लाभ नहीं मिलेगा। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। विरोधी सक्रिय रहेंगे। नौकरी में उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। प्रमाद न करें। चोट व रोग से परेशानी संभव है। 🐟मीन आंखों का ख्याल रखें। अज्ञात भय सताएगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। कानूनी अड़चन आ सकती है। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। लॉटरी व सट्टे से दूर रहें। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। नौकरी में प्रमोशन प्राप्त हो सकता है। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। प्रसन्नता रहेगी। 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🌺

+55 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 138 शेयर

🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉 🌄सुप्रभातम🌄 🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓 🌻रविवार, ७ मार्च २०२१🌻 सूर्योदय: 🌄 ०६:४७ सूर्यास्त: 🌅 ०६:२१ चन्द्रोदय: 🌝 २७:०५ चन्द्रास्त: 🌜१२:२५ अयन 🌕 उत्तराणायने (दक्षिणगोलीय) ऋतु: 🌳 बसन्त शक सम्वत: 👉 १९४२ (शर्वरी) विक्रम सम्वत: 👉 २०७७ (प्रमादी) मास 👉 फाल्गुन पक्ष 👉 कृष्ण तिथि 👉नवमी (१६:४७ तक) नक्षत्र 👉 मूल (२०:५९ तक) योग 👉 सिद्धि (१५:५२ तक) प्रथम करण 👉 गर (१६:४७ तक) द्वितीय करण 👉 वणिज (२८:१३ तक) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ ॥ गोचर ग्रहा: ॥ 🌖🌗🌖🌗 सूर्य 🌟 कुम्भ चंद्र 🌟 धनु मंगल 🌟 वृषभ (उदित, पूर्व, मार्गी) बुध 🌟 मकर (उदित, पश्चिम, मार्गी) गुरु 🌟 मकर (उदय, पूर्व, मार्गी) शुक्र 🌟 कुम्भ (अस्त, पूर्व, मार्गी) शनि 🌟 मकर (उदय, पूर्व, मार्गी) राहु 🌟 वृष केतु 🌟 वृश्चिक 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभाशुभ मुहूर्त विचार ⏳⏲⏳⏲⏳⏲⏳ 〰〰〰〰〰〰〰 अभिजित मुहूर्त 👉 १२:०५ से १२:५१ अमृत काल 👉 १४:४६ से १६:१९ सर्वार्थसिद्धि योग 👉 ०६:३६ से २०:५९ विजय मुहूर्त 👉 १४:२५ से १५:१२ गोधूलि मुहूर्त 👉 १८:०८ से १८:३२ निशिता मुहूर्त 👉 २४:०३ से २४:५२ राहुकाल 👉 १६:५२ से १८:२० राहुवास 👉 उत्तर यमगण्ड 👉 १२:२८ से १३:५६ होमाहुति 👉 राहु दिशाशूल 👉 पश्चिम अग्निवास 👉 पाताल (१६:४७ से पृथ्वी) भद्रावास 👉 पाताल २८:१३ चन्द्रवास 👉 पूर्व 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ☄चौघड़िया विचार☄ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ॥ दिन का चौघड़िया ॥ १ - उद्वेग २ - चर ३ - लाभ ४ - अमृत ५ - काल ६ - शुभ ७ - रोग ८ - उद्वेग ॥रात्रि का चौघड़िया॥ १ - शुभ २ - अमृत ३ - चर ४ - रोग ५ - काल ६ - लाभ ७ - उद्वेग ८ - शुभ नोट-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभ यात्रा दिशा 🚌🚈🚗⛵🛫 पूर्व-उत्तर (पान का सेवन कर यात्रा करें) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 तिथि विशेष 🗓📆🗓📆 〰️〰️〰️〰️ समर्थ रामदास नवमी आदि। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज जन्मे शिशुओं का नामकरण 〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ आज २०:५९ तक जन्मे शिशुओ का नाम मूल नक्षत्र के द्वितीय तृतीय एवं चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (यो, भ, भी) नामाक्षर से तथा इसके बाद जन्मे शिशुओ का नाम पूर्वाषाढ़ नक्षत्र के प्रथम एवं द्वितीय चरण अनुसार क्रमश (भू, धा) नामाक्षर से रखना शास्त्रसम्मत है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 उदय-लग्न मुहूर्त कुम्भ २९:३४ से ०७:०० मीन - ०७:०० से ०८:२३ मेष - ०८:२३ से ०९:५७ वृषभ - ०९:५७ से ११:५२ मिथुन - ११:५२ से १४:०७ कर्क - १४:०७ से १६:२८ सिंह - १६:२८ से १८:४७ कन्या - १८:४७ से २१:०५ तुला - २१:०५ से २३:२६ वृश्चिक - २३:२६ से २५:४५ धनु - २५:४५ से २७:४९ मकर - २७:४९ से २९:३० 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 पञ्चक रहित मुहूर्त मृत्यु पञ्चक - ०६:३६ से ०७:०० अग्नि पञ्चक - ०७:०० से ०८:२३ शुभ मुहूर्त - ०८:२३ से ०९:५७ मृत्यु पञ्चक - ०९:५७ से ११:५२ अग्नि पञ्चक - ११:५२ से १४:०७ शुभ मुहूर्त - १४:०७ से १६:२८ रज पञ्चक - १६:२८ से १६:४७ शुभ मुहूर्त - १६:४७ से १८:४७ चोर पञ्चक - १८:४७ से २०:५९ शुभ मुहूर्त - २०:५९ से २१:०५ रोग पञ्चक - २१:०५ से २३:२६ शुभ मुहूर्त - २३:२६ से २५:४५+ मृत्यु पञ्चक - २५:४५+ से २७:४९+ अग्नि पञ्चक - २७:४९+ से २९:३०+ शुभ मुहूर्त - २९:३०+ से ३०:३५+ 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज का राशिफल 🐐🐂💏💮🐅👩 〰️〰️〰️〰️〰️〰️ मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) आज का दिन मिश्रीत फलदायी रहेगा आज आपके स्वभाव में क्रोध और दया का मिश्रित समावेश रहेगा। धन संबंधित मामलों को लेकर बेचैन रहेंगे मेहनत करने में आज कसर नही छोड़ेंगे फिर भी धन लाभ में विलंब होने पर क्रोध आएगा। आज किसी के द्वारा वादा खिलाफी का आरोप भी लगाया जा सकता है परोपकार की भावना प्रबल रहेगी लेकिन सीमित साधनों के कारण ठीक से कर नही पाएंगे फिर भी सामर्थ्य अनुसार किसी याचक को कुछ न कुछ अवश्य देंगे। भाई बंधु अथवा घर के अन्य सदस्य का जिद्दी व्यवहार कुछ समय के लिये परेशान करेगा। सरकार संबंधित कार्य भाग दौड़ के बाद आश्चर्य जनक परिणाम देंगे। रक्त अथवा पित्त संबंधित शिकायत हो सकती है। वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) आज का दिन विषम परिस्थिति वाला रहेगा। दिन के आरंभ से ही सेहत में गिरावट दर्ज होगी लेकिन फिर भी अनदेखी करेंगे जिसका प्रतिकूल परिणाम मध्यान बाद से देखने को मिलेगा। आज पराक्रम की कमी नही रहेगी अति आत्मविश्वास की भावना से भरे रहेंगे कुछ मामलों में इससे हानि ही होगी। कार्य क्षेत्र अथवा अन्य जगह शत्रु पक्ष से तकरार होने की सम्भवना मन मे भय उत्पन्न करेगी लेकिन किसी के बीच बचाव करने पर मामला गंभीर होने से पहले ही शांत हो जाएगा। आज अन्य लोगो के सहयोग की आवश्यकता अधिक पड़ेगी इसलिए व्यर्थ की बयान बाजी से बचें। धन लाभ के लिये प्रयास में कमी नही करेंगे फिर भी आशानुकूल नही हो पायेगा। घर अन्य सदस्यों के कारण दबाव अथवा घुटन अनुभव होगी। मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) आज के दिन परिस्थितियां लगभग प्रत्येक कार्य मे विजय दिलाने वाली बन रही है लेकिन आपकी मानसिक स्थित पल पल में बदलने के कारण विजय स्थायी नही रहेगी। दिन का आरंभिक भाग घरेलू और व्यावसायिक उलझनों की उधेड़ बुन में खराब होगा मध्यान के समय कही से शुभ समाचार मिलेगा अटके कार्यो में किसी अनुभवी का सहयोग भी मिलेगा लेकिन धन लाभ के लिये जब भी प्रयास करेंगे वह आगे के लिये लटकने से मन निराश होगा फिर भी खर्च लायक आय सहज मिल जाएगी। संकलन करने के विचार आज ना बनाये अन्यथा व्यर्थ मानसिक और शारीरिक कसरत करने पर भी हासिल कुछ नही होगा। स्त्री वर्ग चंचल और जिद्दी रहेंगी। कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) आज के दिन आपको पूर्व में कई गई किसी गलती अथवा शत्रु पक्ष के कारण मन मे भय बना रहेगा। कार्य क्षेत्र पर भी खुल कर काम नही कर पाएंगे संकोची प्रवृति हर काम में बाधक बनेगी अपनी ही आदतों पर क्रोध भी आएगा। अपना काम निकालने के लिये अनैतिक साधनों का सहारा भी ले सकते है धन की आमद कुछ व्यवधान के बाद सीमित मात्रा में ही होगी आज आप इसको लेकर ज्यादा भाग दौड़ के पक्ष में भी नही रहेंगे। नौकरी पेशा लोग अधिक कार्य भार के कारण परेशान होंगे। व्यवसायी वर्ग किसी महत्तवपूर्ण कार्य को लेकर संतोष में रहेंगे। घर के सदस्य आवश्यकता के समय सहयोग करेंगे। सेहत में थोड़ी बहुत नरमी बनी रहेगी। सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) आज का पिछले कुछ दिनों की तुलना में बेहतर रूप से व्यतीत करेंगे। आज आप जिस भी कार्य को करना आरंभ करेंगे परिस्थितियां स्वतः ही उसके अनुकूल बन जाएंगी लेकिन स्वभाव में आलस्य रहने के कारण कुछ ना कुछ अभाव भी रहेगा। नौकरी व्यवसाय में भाग्य का साथ मिलेगा अन्य प्रतिस्पर्धियों की तुलना में आपका काम अच्छा रहेगा आपकी कार्य प्रणाली भी लोगो को पसंद आएगी इस कारण मन मे अहम भाव उत्पन्न होगा। भाई बंधुओ का सुख भी अन्य दिनों की अपेक्षा ठीक रहेगा लेकिन मन मे स्वार्थ सिद्धि की भावना भी रहेगी। सरकारी कार्यो को आज टालने का प्रयास करें भागदौड़ एवं खर्च के बाद भी परिणाम निराश करेंगे। दांन्त अथवा हड्डियों में दर्द या मूत्राशय संबंधित शिकायत रह सकती है। कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो) आपके लिये आज का दिन प्रतिकूल रहेगा। आज आप अपने मन की बात किसी को समझाने में असफल रहेंगे उल्टे आपकी बात का अन्य अर्थ निकालने पर किसी से तकरार अथवा प्रेम सम्बंध में।खटास आसकती है। दिन के आरंभ से मध्यान बाद तक का समय कलह वाला बना है सोच समझ कर ही किसी से व्यवहार करें धन को लेकर भी उलझने लगी रहेंगी जोड़ तोड़ कर भी धन लाभ होने की जगह आज खर्च ही अधिक होगा। व्यवसायी वर्ग भी लेदेकर सौदे करेंगे जिससे धन लाभ तो होगा लेकिन हानि की भरपाई नही कर सकेंगे। घर मे महिला वर्ग आर्थिक उलझन सुलझाने में मदद कर सकती है लेकिन चार बाते सुनाने के बाद ही। सेहत ठीक रहेगी पर मानसिक तनाव के कारण अंदर ही अंदर कुढ़न लगी रहेगी। तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) आज के दिन आपका व्यक्तित्त्व निखारा रहेगा लेकिन फिर भी अपनी बातों को या पक्ष को अन्य के सामने रखने में परेशानी आएगी या तो आप किसी से बात ही नही करेंगे या सीधे ही अपना अधिकार जताएंगे। पराक्रम से बिगड़े कार्य और संबंधों को जोड़ने का प्रयास करेंगे इसमे काफी हद तक सफल भी रहेंगे लेकिन मन की चंचलता एक बात पर टिकने नही देगी। कार्य व्यवसाय से धन की आमद अवश्य होगी पारिवारिक सदस्यों से बना कर चले विशेष कर पैतृक कार्यो में किसी प्रकार की जोरजबरदस्ती ना करें लाभ की जगह हानि हो सकती है। भाग दौड़ का फल संध्या के समय असकमात मिलेगा। कोर्ट कचहरी अथवा शत्रु पक्ष के कारण धन खर्च होने की संभावना है। वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) आज के दिन आपका ध्यान खोई हुई प्रतिष्ठा को वापस पाने पर केंद्रित रहेगा इसके कारण बेतुकी हरकते करने से भी नही चूकेंगे। घर के सदस्य आपके रहस्यमयी स्वभाव से परेशान रहेंगे पल में स्नेह अगले ही पर गुस्सा करने पर परिजनो से मतभेद होंगे। माता पक्ष को छोड़कर अन्य किसी से कम ही बनेगी। नौकरी पेशा एवं व्यवसायी वर्ग अनुभव होने के बाद भी अनाड़ियों जैसे व्यवहार करेंगे। आज आप जिसे अपना शत्रु मानेंगे वही किसी न किसी रूप में धन लाभ कराएगा। थोड़ी भागदौड़ करने पर धन लाभ भी होगा लेकिन बचत नही हो सकेगी। पैतृक संपत्ति को लेकर किसी से ना उलझे मान भंग हो सकता है। व्यर्थ के खर्च में कमी लाये आगे धन संबंधित समस्या होगी। धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) आज के दिन आप शारीरिक रूप से तंदरुस्त रहेंगे लेकिन आलस्य के कारण उखड़े मन से कार्य करेंगे। आध्यात्म एवं भाग्य पक्ष प्रबल रहेगा परन्तु फिर भी धर्म-कर्म की तुलना में सुखोपभोग को अधिक महत्त्व देंगे। मध्यान तक कि दिनचर्या में उदासीनता रहेगी इसके बाद मन मे पैतृक कार्यो अथवा संसाधनों से लाभ पाने की युक्ति लगी रहेगी। नौकरी अथवा व्यवसायी वर्ग दोनो ही बुद्धि बल से आवश्यकता अनुसार धन की आमद कर लेंगे लेकिन तुरंत खर्च भी हो जाएगा छोटे भाई बहन से पैतृक मामलों या चुगली के कारण कहा सुनी हो सकती है। माता पक्ष से जो आशा लगाए है उसके पूरे होने में संदेह रहेगा। मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) आज का दिन आपके लिये विभिन्न उलझनों से भरा रहेगा पूर्व में किसी से किये वादे को पूरा ना कर पाने पर अपमानित होने की संभावना है।आज आप जो भी विचारेंगे या निर्णय लेंगे परिणाम उसके विपरीत ही रहने वाला है। विशेष कर आज धन संबंधित मामलों में स्पष्टता रखें टालमटोल करने पर कलह क्लेश होगा। कार्य व्यवसाय की गति मंद रहेगी इसके ठीक करना आज बहुत मुश्किल होगा। आध्यात्मिक कार्यो में लगाव रहेगा लेकिन उलझनों के कारण समय नही दे सकेंगे। जमीन संबंधित अथवा अन्य अचल संपत्ति के कार्यो से जुड़े लोगों को प्रयास करने पर अनुकूल परिणाम मिल सकते है लेकिन धन की लेन देन आज ना करें। घर मे किसी गलतफहमी के कारण मतभेद होंगे। कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) आज का दिन राज समाज से सम्मान दिलाएगा आपका नरम स्वभाव अन्य लोगो को आकर्षित करेगा लेकिन किसी की उद्दंडता को बख्शेंगे भी नही। कार्य क्षेत्र पर आज प्रतिस्पर्धी पराजित होंगे पुराने सौदों से धन लाभ होगा भविष्य के लिये नई योजना बनेगी परन्तु इस पर कार्य आज आरम्भ ना करें धन फंसने की संभावना है। आज किसी अन्य व्यवसायी को मिलने वाला अनुबंध आपकी झोली में आसकता है इसके लिए थोड़े अधिक व्यवहारिक होने की आवश्यकता है। माता पिता से स्नेह संबंध रहेंगे लेकिन पति पत्नी के बीच अहम अथवा जिद को लेकर खींचतान होगी संताने भी पिता का पक्ष लेंगी। मन व्यसनों की और शीघ्र आकर्षित होगा इससे बचें। सेहत लगभग सामान्य ही रहेगी। मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) आज के दिन आप अन्य लोगो को अपनी तुलना में कम आकेंगे घर और कार्य क्षेत्र पर संगी साथियो को दबा कर रखना आपसी मतभेद का कारण बनेगा। लेकिन आज किसी पुराने मुकदमे अथवा झगड़े के सुलझने पर राहत भी मिलेगी। कार्य व्यवसाय केवल बुद्धि बल और व्यवहारिकता से ही लाभ होगा वह भी आशानुकूल नही। सहकर्मी आपसे किसी न किसी बात पर नाराज ही रहेंगे। मध्यान के बाद विवेक होने के बाद भी मनमर्जी से कार्य करेंगे। लेखन अथवा अध्यापन से जुड़े लोग कई दिन की मेहनत का फल कम मिलने से उदास होंगे। आकस्मिक यात्रा के प्रसंग बनेंगे खर्च भी होगा लेकिन इसके बाद भी मन संतुष्ट ही रहेगा। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️

+170 प्रतिक्रिया 33 कॉमेंट्स • 310 शेयर

🌺🕉️ शुभ रविवार 🌺शुभ प्रभात् 🕉️🌺 2077-विजय श्री हिंदू पंचांग-राशिफल-1942 🌺-आज दिनांक--07.03.2021-🌺 श्री ज्योतिष सेवा संस्थान भीलवाड़ा (राज.) 74.30 - रेखांतर मध्य मान - 75.30 शिक्षा नौकरी आजीविका विवाह भाग्योन्नति (प्रामाणिक जानकारी--प्रभावी समाधान) --------------------------------------------------------- -विभिन्न शहरों के लिये रेखांतर(समय) संस्कार- (लगभग-वास्तविक समय के समीप) दिल्ली +10मिनट---------जोधपुर -6 मिनट जयपुर +5 मिनट------अहमदाबाद-8 मिनट कोटा +5 मिनट-------------मुंबई-7 मिनट लखनऊ +25 मिनट------बीकानेर-5 मिनट कोलकाता +54 मिनट-जैसलमेर -15 मिनट ___________________________________ _____________आज विशेष_____________ मां लक्ष्मी प्रसन्नार्थ धन संग्रह कारक कुछ प्रयोग ____________________________________ आज दिनांक...................... 07.03.2021 कलियुग संवत्.............................. 5122 विक्रम संवत................................ 2077 शक संवत....................................1942 संवत्सर.................................. श्री प्रमादी अयन..................................... उत्तरायण गोल......................................... .दक्षिण ऋतु.............................................वसंत मास...................................... फाल्गुन पक्ष.............................................कृष्ण तिथि..........नवमी. अपरा. 4.47 तक/ दशमी वार...........................................रविवार नक्षत्र..........मूल. रात्रि. 8.58 तक / पूर्वाषाढ़ा चंद्र राशि...................धनु. संपूर्ण. (अहोरात्र) योग......सिद्धि. अपरा. 3.50 तक / व्यतिपात् करण.......................गर. अपरा. 4.47 तक करण......... वणिज. रात्रि. 4.13* तक / विष्टि ____________________________________ सूर्योदय.............................6.49.56 पर सूर्यास्त..............................6.35.14 पर दिनमान............................... 11.45.18 रात्रिमान...............................12.13.42 चंद्रास्त................प्रातः 12.52.20 PM पर चंद्रोदय................ रात्रि. 3.08.06 AM पर सूर्य....................... (कुंभ) 10.22.32.08 चंद्रमा........................(धनु) 8.05.17.23 राहुकाल....... सायं. 5.07 से. 6.35 (अशुभ) यमघंट....... अपरा. 12.43 से 2.11 (अशुभ) अभिजित....... (मध्या)12.19 से 01.06 तक पंचक................................. आज नहीं है शुभ हवन मुहूर्त(अग्निवास)....... आज नहीं है दिशाशूल.............................. पश्चिम दिशा दोष निवारण........ घी का सेवन कर यात्रा करें ____________________________________ चौघड़िया (दिन-रात)........केवल शुभ कारक * चौघड़िया दिन * चंचल.................प्रातः 8.18 से 9.46 तक लाभ................प्रातः 9.46 से 11.14 तक अमृत...........पूर्वाह्न. 11.14 से 12.43 तक शुभ.................अपरा. 2.11 से 3.39 तक * चौघड़िया रात्रि * शुभ.......... सायं-रात्रि. 6.35 से 8.07 तक अमृत...............रात्रि. 8.07 से. 9.39 तक चंचल........... रात्रि. 9.39 से 11.10 तक लाभ....रात्रि. 2.14 AM से 3.46 AM तक शुभ.....रात्रि. 5.17 AM से 6.49 AM तक ___________________________________ *शुभ शिववास की तिथियां* शुक्ल पक्ष-2-----5-----6---- 9-------12----13. कृष्ण पक्ष-1---4----5----8---11----12----30. ____________________________________ जानकारी विशेष -यदि किसी बालक का जन्म गंड मूल(रेवती, अश्विनी, अश्लेषा, मघा, ज्येष्ठा और मूल) नक्षत्रों में होता है तो नक्षत्र शांति को आवश्यक माना गया है.. आज जन्मे बालकों का नक्षत्र के चरण अनुसार नामाक्षर.. 09.15 AM तक-------मूल---2-------(यो) 03.06 PM तक-------मूल---3--------(भ) 08.58 PM तक-------मूल---4-------(भी) 02.51 AM तक--पूर्वाषाढ़ा---1-------(भू) उपरांत रात्रि तक--पूर्वाषाढ़ा---2------ (धा) (पाया-ताम्र) _______सभी की राशि धनु रहेगी_________ ___________________________________ ____________आज का दिन____________ व्रत विशेष.....................................नहीं दिन विशेष............... समर्थ रामदास नवमी सर्वा.सि.योग..प्रातः6.50 से रात्रि. 8.58 तक सिद्ध रवियोग.................................नहीं ____________________________________ _____________कल का दिन_____________ दिनांक............................ .08.03.2021 तिथि........... फाल्गुन कृष्णा दशमी सोमवार व्रत विशेष..................................... नहीं दिन विशेष.................. विश्व महिला दिवस दिन विशेष.... पूर्वाभाद्रपदे शुक्र. रात्रि. 2.33* सर्वा.सि.योग.................................. नहीं सिद्ध रवियोग................................. नहीं ___________________________________ _____________आज विशेष ____________ धन प्राप्ति और संग्रह में सहायक प्रयोग.. धन की लालसा हर किसी को होती है। महिलाएं रात के समय इस विधि से माता लक्ष्मी की पूजा करती हैं तो उन्हें बहुत लाभ होता है और कभी पैसों की कमी नहीं होती है। ज्योतिषशास्त्र में लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने के कई ऐसे कारगर उपाय बताए गए हैं जो बहुत शानदार है और उन्हें करने के बाद आप लाभ पा सकते हैं। माँ लक्ष्मी की पूजा विधि: सबसे पहले एक शुद्ध दीपक जलाकर माता लक्ष्मी के सामने रख दें। इसके लिए रात को महिलाओं को चुपचाप शुद्ध होकर लक्ष्मी जी के समक्ष ध्यान लगाकर बैठ जाना चाहिए। उसके बाद लक्ष्मी जी की प्रतिमा पर फूल चढ़ा कर घी का दीपक प्रजवलित करें। अब इसके बाद लक्ष्मी जी की श्री लक्ष्मी चालीसा का पाठ करें। इसे नियमित रूप से इसे पढ़ने से मुसीबतों से छुटकारा मिलता है। इसी के साथ मां लक्ष्मी जी की चालीसा पढ़ने के बाद उनके समक्ष अपनी समस्याओं को रखें और उन समस्याओं का निवारण करने के लिए प्रार्थना करें। वहीं फिर श्री लक्ष्मी चालीसा का पाठ करने के बाद लक्ष्मी जी को देसी घी से बने हल्वे का भोग लगाना बहुत ही लाभकारी रहता है. आप मां लक्ष्मी जी की प्रसन्नता के लिए उनकी साधारण पूजा के उपरांत श्री सूक्त या कनकधारा स्तोत्र का पाठ भी कर सकते हैं.. इन प्रयोगों से धन संग्रह और परिवार की आय में चमत्कारिक वृद्धि देखने को मिलती है.. *संकलनकर्त्ता* श्री ज्योतिष सेवाश्रम सेवाश्रम संस्थान (राज) ___________________________________ ___________आज का राशिफल__________ मेष-(चू चे चो ला ली लू ले लो अ) आज आपके पास अपनी सेहत और लुक्स से जुड़ी चीज़ों को सुधारने के लिए पर्याप्त समय होगा। विवाहित दंपत्तियों को आज अपनी संतान की शिक्षा पर अच्छा खासा धन खर्च करना पड़ सकता है। किसी ऐसे के साथ परस्पर संवाद की कमी जिसका आपको बहुत ख़याल है, आपको तनाव दे सकती है। आज आप महसूस करेंगे कि प्यार दुनिया में हर मर्ज़ की दवा है। आपमें से कुछ लोगों को लंबा सफ़र करना पड़ सकता है - जो काफ़ी दौड़-भाग भरा होगा - लेकिन साथ ही बहुत फ़ायदेमंद भी साबित होगा। जीवनसाथी की वजह से आपको महसूस होगा कि उनके लिए दुनिया में आप ही सबसे महत्वपूर्ण हैं। अपनों का ख्याल रखना अच्छी बात है लेकिन उनका ख्याल रखते-रखते अपनी सेहत न बिगाड़ लें। वृषभ-(इ उ एओ वा वी वू वे वो) अब तक जो धुंध आपके चारों तरफ़ छायी हुई है और आपकी प्रगति को बाधित कर रही है, उससे बाहर निकलने का समय है। आज धन आपके हाथ में नहीं टिकेगा, आपको धन संचय करने में आज बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। किसी धार्मिक स्थान पर जाएँ या किसी संत से मिलें, इससे आपके मन को शांति और सुकून मिलेगा। आप आज प्यार की मनोदशा में होंगे- और आपके लिए काफ़ी मौक़े भी होंगे। जीवन का आनंद लेने के लिए आपको अपने दोस्तों को भी समय देना चाहिए। अगर आप समाज से कटकर रहेंगे तो आवश्यकता पड़ने पर आपके साथ भी कोई नहीं होगा। आपका जीवनसाथी आपको इतना बेहतरीन पहले कभी महसूस नहीं हुआ। आपको उनसे कोई बढ़िया सरप्राइज़ मिल सकता है। काम को करने से पहले ही उसके बारे में अच्छा बुरा न सोचें, बल्कि खुद को एकाग्र करने की कोशिश करें इससे सारे काम अच्छी तरह हो पाएंगे। मिथुन- (क की कू घ ङ छ के को ह) जो धुंध आपके चारों तरफ़ छायी हुई है और आपकी प्रगति को बाधित कर रही है, उससे बाहर निकलने का समय है। निवेश के लिए अच्छा दिन है, लेकिन उचित सलाह से ही निवेश करें। अपने परिवार की भलाई के लिए मेहनत करें। आपके कामों के पीछे प्यार और दूरदृष्टि की भावना होनी चाहिए, न कि लालच का ज़हर। रोमांस रोमांचक होगा- इसलिए उससे संपर्क करें जिससे आप प्रेम करते हैं और दिन का भरपूर लुत्फ़ लें। आप जिस प्रतियोगिता में भी क़दम रखेंगे, आपका प्रतिस्पर्धी स्वभाव आपको जीत दिलाने में सहयोग देगा। यह समय जीवन में आपको वैवाहिक जीवन का भरपूर आनन्द देगा। अगर आज के काम को आप कल पर टाल रहे हैं तो कल आपको इसका बुरा परिणाम भुगतना पड़ सकता है। कर्क- (ही हू हे हो डा डी डू डे डो) आज आपका ही कोई दोस्त आपकी सहनशक्ति और समझ की परीक्षा ले सकता है। अपने मूल्यों को दरकिनार करने से बचें और हर फ़ैसला तार्किक तरीक़े से लें। अपने जीवनसाथी के साथ मिलकर आज आप भविष्य के लिए कोई आर्थिक योजना बना सकते हैं और उम्मीद है कि यह योजना सफल भी होगी। कोई चिट्ठी या ई-मेल पूरे परिवार के लिए अच्छी ख़बर लाएगी। अगर आप अपने प्रिय को पर्याप्त समय न दें, तो वह नाराज़ हो सकता/सकती है। रात को ऑफिस से घर आते वक्त आज आपको सावधानी से वाहन चलाना चाहिए, नहीं तो दुर्घटना हो सकती है और कई दिनों के लिए आप बीमार पड़ सकते हैं। जीवनसाथी के साथ एक आरामदायक दिन बीतेगा। लोगोंं के बीच रहकर सबका सम्मान करना आपको आता है इसलिए आप भी सबकी नजरों में अच्छी छवि बना पाते हैं। सिंह- (मा मी मू मे मो टा टी टू टे) आज आउटडोर खेल आपको आकर्षित करेंगे- ध्यान और योग आपको फ़ायदा पहुँचाएंगे। बिना किसी अनुभवी शख्स की सलाह के आज ऐसा कोई भी काम न करें जिससे आपको आर्थिक हानि हो। बच्चे की तबियत परेशानी का कारण बन सकती है। जो अपने प्रिय के साथ छुट्टियाँ बिता रहे हैं, ये उनकी ज़िन्दगी के सबसे यादगार लम्हों में से होंगे। बिना किसी पूर्व सूचना के आज आपका कोई रिश्तेदार आपके घर पधार सकता है जिसकी वजह से आपका कीमती समय उनकी खातिरदारी में जाया हो सकता है। क्या आपको पता है कि आपका जीवनसाथी वाक़ई आपके लिए फ़रिश्ता है। उनपर ग़ौर करें, यह बात आपको ख़ुद-ब-ख़ुद दिख जाएगी। किसी पेड़ की छांव में बैठकर आज आपको सुकून मिलेगा। जीवन को आज आप नजदीक से जान पाएंगे। कन्या- (टो प पी पू ष ण ठ पे पो) दिन की शुरुआत आप योग ध्यान से कर सकते हैं। ऐसा करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा और सारे दिन आपमें ऊर्जा रहेगी। यह बात भली भांति समझ लें कि दुख की घड़ी में आपका संचित धन ही आपके काम आएगा इसलिए आज के दिन अपने धन का संचय करने का विचार बनाएं। परिवार की स्थिति आज वैसी नहीं रहेगी जैसा आप सोचते हैं। आज घर में किसी बात को लेकर कलह होने की संभावना है ऐसी स्थिति में खुद पर काबू रखें। जो अपने प्रिय के साथ छुट्टियाँ बिता रहे हैं, ये उनकी ज़िन्दगी के सबसे यादगार लम्हों में से होंगे। यात्रा और शिक्षा से जुड़े काम आपकी जागरुकता में वृद्धि करेंगे। आपका जीवनसाथी वाक़ई आपके लिए फ़रिश्तों की तरह है और आपको आज यह एहसास होगा। टीवी पर फ़िल्म देखना और अपने नज़दीकी लोगों के साथ गप्पें मारना - इससे बेहतर और क्या हो सकता है? अगर आप थोड़ी कोशिश करें तो आपका दिन कुछ इसी तरह गुज़रेगा। तुला- (रा री रू रे रो ता ती तू ते) आज तनाव के चलते आपको बीमारी से दो-चार होना पड़ सकता है। सुकून महसूस करने के लिए दोस्तों और परिवार के साथ कुछ समय बिताएँ। आज के दिन भूलकर भी किसी को पैसे उधार न दें और यदि देना जरुरी हो तो देने वाले से लिखित में लें कि वो पैसा वापस कब करेगा। आपकी पारिवारिक सदस्यों को क़ाबू में रखने और उनकी न सुनने प्रवृत्ति की वजह से बेवजह वादविवाद हो सकता है और आपको आलोचना का सामना भी करना पड़ सकता है। आपने बीते दिनों कार्यक्षेत्र में कई काम अधूरे छोड़े हैं जिसका भुगतान आज आपको करना पड़ सकता है। आज आपका खाली वक्त भी ऑफिस के काम को पूरा करने में ही लगेगा। अगर हाल में आप व आपका जीवनसाथी बहुत ख़ुश महसूस नहीं कर रहे थे, तो आज हालात बदल सकते हैं। आप दोनों आज बहुत मज़े करने वाले हैं। आपके दोस्त आपके काम नहीं आते यह शिकायत आज आपको हो सकती है। वृश्चिक- (तो ना नी नू ने नो या यी यू) आज के दिन आप बिना झंझट विश्राम कर सकेंगे। अपनी मांसपेशियों को आराम देने के लिए तैल से मालिश करें। दिन की शुुरुआत भले ही अच्छी हो लेकिन शाम के वक्त किसी वजह से आपका धन खर्च हो सकता है जिससे आप परेशान होंगे। किसी भी चीज़ को अंतिम रूप देने से पहले अपने परिवार की राय लीजिए। महज़ आपका अपना फ़ैसला कुछ दिक़्क़त खड़ी कर सकता है। बेहतर परिणाम पाने के लिए परिवार में तालमेल पैदा करें। आज आपकी मुस्कान बेमानी है, हँसी में वो खनक नहीं है, दिल धड़कने में आनाकानी कर रहा है; क्योंकि आप किसी ख़ास के साथ की कमी महसूस कर रहे हैं। आज आप अपना खाली समय अपनी माता की सेवा में बिताना चाहेंगे लेकिन ऐन मौके पर किसी काम के आ जाने की वजह से ऐसा नहीं हो पाएगा। इससे आपको परेशानी होगी। अपने जीवनसाथी की नुक़्ताचीनी से आप आज परेशान हो सकते हैं, लेकिन वह आपके लिए कुछ बढ़िया भी करने वाला है। दिन के पहले भाग में ख़ुद को थोड़ा अलसाहट भरा महसूस कर सकते हैं, लेकिन अगर आप घर से बाहर निकलने की हिम्मत जुटाएँ तो काफ़ी काम किया जा सकता है। धनु-ये यो भा भी भू धा फा ढ़ा भे) आज आप क्षणिक आवेग में बहकर कोई निर्णय न करें। यह आपके बच्चों के हितों को हानि पहुँचा सकता है। जो लोग अब तक पैसेे को बेवजह खर्च कर रहे थे आज उन्हें समझ आ सकता है कि पैसे की जीवन में क्या अहमियत है क्योंकि आज अचानक आपको पैसे की जरुरत पड़ेगी और आपके पास पर्याप्त धन नहीं होगा। ऐसे दोस्तों के साथ बाहर जाएँ जो आपके हालात और ज़रूरतों को समझते हैं। ज़िन्दगी की भाग-दौड़ में आप ख़ुद को ख़ुशनसीब पाएंगे, क्योंकि आपका हमदम वाक़ई सबसे बेहतरीन है। अपने व्यक्तित्व और रंग-रूप को बेहतर बनाने का कोशिश संतोषजनक साबित होगी। प्यार, नज़दीकी, मस्ती-मज़ा - जीवनसाथी के साथ यह एक अच्छा दिन रहेगा। आपका संंगी आज आपके लिए घर पर कोई सरप्राइज डिश बना सकता है जिससे आपके दिन की थकान मिट जाएगी। मकर- (भो जा जी खी खू खे खो गा गी) आज अपने शरीर की थकान मिटाने और ऊर्जा-स्तर को बढ़ाने के लिए आपको पूरे आराम की ज़रूरत है, नहीं तो शरीर की थकावट आपके मन में निराशावादिता को जन्म दे सकती है। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। अपने मेहमानों से ख़राब बर्ताव न करें। आपका ऐसा व्यवहार न केवल आपके परिवार को दुःखी कर सकता है, बल्कि संबंधों में दूरी भी पैदा कर सकता है। अपने प्रिय की ग़ैर-ज़रूरी भावनात्मक मांगों के सामने घुटने न टेकें। अगर आप अपनी चीज़ों का ध्यान नहीं रखेंगे, तो उनके खोने या चोरी होने की संभावना है। जीवनसाथी की वजह से आपकी कोई योजना या कार्य गड़बड़ हो सकता है; लेकिन धैर्य बनाए रखें। अपने पिता के साथ आज दोस्त की तरह आप बात कर सकते हैं। आपकी बातों को सुनकर उनको खुशी होगी। कुंभ- (गू गे गो सा सी सू से सो द) आज के दिन आपका व्यक्तित्व आज इत्र की तरह महकेगा और सबको आकर्षित करेगा। जो लोग अपने करीबियों या रिश्तेदारों के साथ मिलकर बिजनेस कर रहे हैं उन्हें आज बहुत सोच समझकर कदम रखने की जरुरत है नहीं तो आर्थिक नुक्सान हो सकता है। ऐसे विवादास्पद मुद्दों पर बहस करने से बचें, जो आपके और प्रियजनों के बीच गतिरोध पैदा कर सकते हैं। आज आपको अपने प्रिय का एक अलग ही अन्दाज़ देखने को मिल सकता है। लोगों के साथ बात करने में आज आप अपना बहुमूल्य समय बर्बाद कर सकते हैं। आपको ऐसा करने से बचना चाहिए। आपके और आपके जीवन साथी के बीच विश्वास की कमी रह सकती है। जिससे आज वैवाहिक जीवन में तनाव हो सकता है। दिवास्वप्न देखना इतना भी बुरा नहीं है - बशर्ते इसके माध्यम से आप कुछ रचनात्मक विचार हासिल कर सकें तो। ऐसा आज आप कर सकते हैं, क्योंकि आपके पास समय का अभाव नहीं होगा। मीन- (दी दू थ झ ञ दे दो च ची) आज के दिन मज़बूती और निडरता का गुण आपकी मानसिक क्षमताओं में इज़ाफ़ा करेगा। किसी भी तरह के हालात को क़ाबू में रखने के लिए इस रफ़्तार को बरक़रार रखिए। दिन बहुत लाभदायक नहीं है- इसलिए अपनी जेब पर नज़र रखें और ज़रूरत से ज़्यादा ख़र्चा न करें। आपके जीवन-साथी की सेहत तनाव और चिंता का कारण बन सकती है। अगर आप अपने प्रिय को पर्याप्त समय न दें, तो वह नाराज़ हो सकता/सकती है। घर के छोटे सदस्यों के साथ गप्पें लगाकर आज आप अपने खाली समय का अच्छा इस्तेमाल कर सकते हैं। जन्मदिन भूलने जैसी किसी छोटी-सी बात को लेकर जीवनसाथी से तक़रार मुमकिन है। लेकिन अन्ततः सब ठीक हो जाएगा। शांति का वास आपके दिल में रहेगा और इसीलिए आप घर में भी अच्छा माहौल बना पाने में कामयाब होंगे। __________________________________ 🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️ - संकलनकर्त्ता- ज्योतिर्विद् पं. रामपाल भट्ट श्री ज्योतिष सेवा संस्थान भीलवाड़ा (राज.) 🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️🏵️ __________________________________

+39 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 76 शेयर

🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞 ⛅ *दिनांक 07 मार्च 2021* ⛅ *दिन - रविवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - वसंत* ⛅ *मास - फाल्गुन (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार - माघ)* ⛅ *पक्ष - कृष्ण* ⛅ *तिथि - नवमी शाम 04:47 तक तत्पश्चात दशमी* ⛅ *नक्षत्र - मूल रात्रि 08:59 तक तत्पश्चात पूर्वाषाढा* ⛅ *योग - सिद्धि शाम 03:52 तक तत्पश्चात व्यतिपात* ⛅ *राहुकाल - शाम 05:16 से शाम 06:45 तक* ⛅ *सूर्योदय - 06:55* ⛅ *सूर्यास्त - 18:44* ⛅ *दिशाशूल - पश्चिम दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - समर्थ रामदासजी नवमी* 💥 *विशेष - नवमी को लौकी खाना गोमांस के समान त्याज्य है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* 💥 *रविवार के दिन तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)* 💥 *रविवार के दिन मसूर की दाल, अदरक और लाल रंग का साग नहीं खाना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75.90)* 💥 *रविवार के दिन काँसे के पात्र में भोजन नहीं करना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75)* 💥 *स्कंद पुराण के अनुसार रविवार के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करना चाहिए। इससे ब्रह्महत्या आदि महापाप भी नष्ट हो जाते हैं।* 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *व्यतिपात योग* 🌷 🙏🏻 *व्यतिपात योग की ऐसी महिमा है कि उस समय जप पाठ प्राणायम, माला से जप या मानसिक जप करने से भगवान की और विशेष कर भगवान सूर्यनारायण की प्रसन्नता प्राप्त होती है जप करने वालों को, व्यतिपात योग में जो कुछ भी किया जाता है उसका १ लाख गुना फल मिलता है।* 🙏🏻 *वाराह पुराण में ये बात आती है व्यतिपात योग की।* 🙏🏻 *व्यतिपात योग माने क्या कि देवताओं के गुरु बृहस्पति की धर्मपत्नी तारा पर चन्द्र देव की गलत नजर थी जिसके कारण सूर्य देव अप्रसन्न हुऐ नाराज हुऐ, उन्होनें चन्द्रदेव को समझाया पर चन्द्रदेव ने उनकी बात को अनसुना कर दिया तो सूर्य देव को दुःख हुआ कि मैने इनको सही बात बताई फिर भी ध्यान नही दिया और सूर्यदेव को अपने गुरुदेव की याद आई कि कैसा गुरुदेव के लिये आदर प्रेम श्रद्धा होना चाहिये पर इसको इतना नही थोडा भूल रहा है ये, सूर्यदेव को गुरुदेव की याद आई और आँखों से आँसु बहे वो समय व्यतिपात योग कहलाता है। और उस समय किया हुआ जप, सुमिरन, पाठ, प्रायाणाम, गुरुदर्शन की खूब महिमा बताई है वाराह पुराण में।* 💥 *विशेष ~ 07 मार्च 2021 रविवार को शाम 03:53 से 08 मार्च, सोमवार को दोपहर 01:51 तक तक व्यतीपात योग है।* 🙏🏻 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 🌷 *शनि की पनौती हो तो* 🌷 ➡ *कोई आप को बोले की शनि की पनौती है तो हनुमान चालीसा पढ़ो और गुरु मंत्र का जप अच्छी तरह से करो शनि देवता गुरु भक्त है..शिवजी के शिष्य हैं ..वे किसी गुरु भक्त पर क्यों नाराज होंगे ।* 🙏🏻 🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞 जय श्री राधे राधे 🙏🙏🚩🚩🚩

+43 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 51 शेयर

🍁🛕🌺👏🕉️👏🌺🛕🍁 🌞~*आज का हिन्दू पंचांग*~🌞 🚩✊जय हिंदुत्व✊🚩 ⛅ *दिनांक 06 मार्च 2021* ⛅ *दिन - शनिवार* ⛅ *विक्रम संवत - 2077* ⛅ *शक संवत - 1942* ⛅ *अयन - उत्तरायण* ⛅ *ऋतु - वसंत* ⛅ *मास - फाल्गुन (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार - माघ)* ⛅ *पक्ष - कृष्ण* ⛅ *तिथि - अष्टमी शाम 06:10 तक तत्पश्चात नवमी* ⛅ *नक्षत्र - ज्येष्ठा रात्रि 09:38 तक तत्पश्चात मूल* ⛅ *योग - वज्र शाम 06:10 तक तत्पश्चात सिद्धि* ⛅ *राहुकाल - सुबह 09:53 से सुबह 11:21 तक* ⛅ *सूर्योदय - 06:57* ⛅ *सूर्यास्त - 18:43* ⛅ *दिशाशूल - पूर्व दिशा में* ⛅ *व्रत पर्व विवरण - 💥 *विशेष - अष्टमी को नारियल का फल खाने से बुद्धि का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)* 💥 *अष्टमी तिथि के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)* 🌞~*आज का हिन्दू पंचांग*~🌞 🚩✊जय हिंदुत्व✊🚩 🌷 *लक्ष्मी माँ की प्रसन्नता पाने हेतु* 🌷 👉🏻 *समुद्र किनारे कभी जाएँ तो दिया जला कर दिखा दें ...समुद्र की बेटी है लक्ष्मी ... समुद्र से प्रगति है ...समुद्र मंथन के समय.... अगर दिया दिखा कर " ॐ वं वरुणाय नमः " जपें और थोड़ा गुरु मंत्र जपें मन में तो वरुण भगवान भी राजी होंगे और लक्ष्मी माँ भी प्रसन्न होंगी ।* 🌞~*आज का हिन्दू पंचांग*~🌞 🚩✊जय हिंदुत्व✊🚩 🌷 *तुलसी को पानी अर्पण से पुण्य* 🌷 🌿 *अपने घर में तुलसी का पौधा अवश्य लगाना चाहिए उसकी हवा से भी बहुत लाभ होते हैं और तुलसी को एक ग्लास पानी अर्पण करने से सवा मासा सुवर्ण दान का फल मिलता है ।* 🌞~*आज का हिन्दू पंचांग*~🌞 🚩✊जय हिंदुत्व✊🚩 🌷 *बलवर्धक* 🌷 🥛 *२ से ४ ग्राम शतावरी का चूर्ण गर्म दूध के साथ ३ माह तक सेवन करें इससे शरीर में बल आता है, साथ ही नेत्र ज्योति भी बढ़ती है ।* 🌞~*आज का हिन्दू पंचांग*~🌞 🚩✊जय हिंदुत्व✊🚩 ☀🏯!! श्री हरि: शरणम् !!🏯☀ 🍃🎋🍃🎋🕉️🎋🍃🎋🍃 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

+185 प्रतिक्रिया 22 कॉमेंट्स • 271 शेयर
white beauty Mar 6, 2021

+8 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 7 शेयर
Ajay Awasthi Mar 6, 2021

🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *********|| जय श्री राधे ||********* 🌺🙏 *महर्षि पाराशर पंचांग* 🙏🌺 🙏🌺🙏 *अथ पंचांगम्* 🙏🌺🙏 *********ll जय श्री राधे ll********* 🌺🌺🙏🙏🌺🌺🙏🙏🌺🌺 *दिनाँक -: 06/03/2021,शनिवार* अष्टमी, कृष्ण पक्ष फाल्गुन """""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि ---------अष्टमी 18:09:53 तक पक्ष ----------------------------कृष्ण नक्षत्र ----------ज्येष्ठा 21:37:05 योग ---------------वज्र 18:07:42 करण ----------बालव 06:59:21 करण ---------कौलव 18:09:53 करण -----------तैतुल 29:25:38 वार -------------------------शनिवार माह -------------------------फाल्गुन चन्द्र राशि ---- वृश्चिक 21:37:05 चन्द्र राशि --------------------- धनु सूर्य राशि ------------------- कुम्भ रितु ---------------------------वसन्त आयन --------------------उत्तरायण संवत्सर ----------------------शार्वरी संवत्सर (उत्तर) ------------प्रमादी विक्रम संवत ----------------2077 विक्रम संवत (कर्तक)------2077 शाका संवत ----------------1942 वृन्दावन सूर्योदय --------------- 06:39:42 सूर्यास्त -----------------18:21:27 दिन काल -------------11:41:44 रात्री काल -------------12:17:11 चंद्रास्त ----------------11:40:07 चंद्रोदय -----------------26:00:11 लग्न ---- कुम्भ 21°32' , 321°32' सूर्य नक्षत्र ----------पूर्वाभाद्रपदा चन्द्र नक्षत्र -------------------ज्येष्ठा नक्षत्र पाया --------------------ताम्र *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* या ----ज्येष्ठा 10:04:18 यी ----ज्येष्ठा 15:50:03 यू ----ज्येष्ठा 21:37:05 ये ----मूल 27:25:24 राहू काल 09:35 - 11:03 अशुभ यम घंटा 13:58 - 15:26 अशुभ गुली काल 06:40 - 08:07 अशुभ अभिजित 12:07 -12:54 शुभ दूर मुहूर्त 08:13 - 09:00 अशुभ 🚩गंड मूल अहोरात्र अशुभ 💮चोघडिया, दिन काल 06:40 - 08:07 अशुभ शुभ 08:07 - 09:35 शुभ रोग 09:35 - 11:03 अशुभ उद्वेग 11:03 - 12:31 अशुभ चर 12:31 - 13:58 शुभ लाभ 13:58 - 15:26 शुभ अमृत 15:26 - 16:54 शुभ काल 16:54 - 18:21 अशुभ 🚩चोघडिया, रात लाभ 18:21 - 19:54 शुभ उद्वेग 19:54 - 21:26 अशुभ शुभ 21:26 - 22:58 शुभ अमृत 22:58 - 24:30* शुभ चर 24:30* - 26:02* शुभ रोग 26:02* - 27:34* अशुभ काल 27:34* - 29:07* अशुभ लाभ 29:07* - 30:39* शुभ 💮होरा, दिन शनि 06:40 - 07:38 बृहस्पति 07:38 - 08:37 मंगल 08:37 - 09:35 सूर्य 09:35 - 10:34 शुक्र 10:34 - 11:32 बुध 11:32 - 12:31 चन्द्र 12:31 - 13:29 शनि 13:29 - 14:28 बृहस्पति 14:28 - 15:26 मंगल 15:26 - 16:24 सूर्य 16:24 - 17:23 शुक्र 17:23 - 18:21 🚩होरा, रात बुध 18:21 - 19:23 चन्द्र 19:23 - 20:24 शनि 20:24 - 21:26 बृहस्पति 21:26 - 22:27 मंगल 22:27 - 23:29 सूर्य 23:29 - 24:30 शुक्र 24:30* - 25:31 बुध 25:31* - 26:33 चन्द्र 26:33* - 27:34 शनि 27:34* - 28:36 बृहस्पति 28:36* - 29:37 मंगल 29:37* - 30:39 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान---------------------पूर्व* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो लौंग अथवा कालीमिर्च खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 15 + 8 + 7 + 1 = 31 ÷ 4 = 3 शेष मृत्यु लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 23 + 23 + 5 = 51 ÷ 7 = 2 शेष गौरि सन्निधौ = शुभ कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* * श्री जानकी व्रत * जानकी जन्मोत्सव *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* असंतुष्टा द्विजा नष्टाः संतुष्टाश्च महीभृतः । सलज्जागणिकानष्टाः निर्लज्जाश्च कुलांगनाः ।। ।।चा o नी o।। असंतुष्ट ब्राह्मण, संतुष्ट राजा, लज्जा रखने वाली वेश्या, कठोर आचरण करने वाली गृहिणी ये सभी लोग विनाश को प्राप्त होते है. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: कर्मयोग अo-3 असंतुष्टा द्विजा नष्टाः संतुष्टाश्च महीभृतः । सलज्जागणिकानष्टाः निर्लज्जाश्च कुलांगनाः ।।१८।। असंतुष्ट ब्राह्मण, संतुष्ट राजा, लज्जा रखने वाली वेश्या, कठोर आचरण करने वाली गृहिणी ये सभी लोग विनाश को प्राप्त होते है. *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष पार्टी व पिकनिक का कार्यक्रम बन सकता है। स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद प्राप्त होगा। विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। नौकरी में कार्य की प्रशंसा होगी। नए विचार दिमाग में आएंगे। भाग्य का साथ मिलेगा। धनार्जन होगा। 🐂वृष कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। काम में मन नहीं लगेगा। दूसरे आपसे अधिक की अपेक्षा करेंगे व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। दु:खद समाचार प्राप्त हो सकता है। वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। पुराना रोग उभर सकता है। 👫मिथुन प्रयास सफल रहेंगे। पराक्रम वृद्धि होगी। सामाजिक कार्य करने का अवसर प्राप्त होगा। मान-सम्मान मिलेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में कार्य की प्रशंसा होगी। आय में वृद्धि होगी। जल्दबाजी न करें। प्रतिद्वंद्विता में वृद्धि होगी। लाभ होगा। 🦀कर्क व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगा।अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। विवाद से स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। पुराना रोग उभर सकता है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। किसी भी अपरिचित व्यक्ति की बातों में न आएं। 🐅सिंह अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। नौकरी में अधिकार वृद्धि हो सकती है। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। निवेश मनोनकूल रहेगा। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण बनेगा। किसी कार्य के प्रति चिंता रहेगी। शारीरिक कष्ट संभव है। 🙍‍♀️कन्या दूर से शुभ समाचार प्राप्त होंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। घर में अतिथियों का आगमन होगा। प्रसन्नता तथा उत्साह बने रहेंगे। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। आलस्य हावी रहेगा। प्रमाद न करें। विवेक का प्रयोग करें। ⚖️तुला यात्रा में जल्दबाजी न करें। शारीरिक कष्ट संभव है। पुराना रोग उभर सकता है। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में सावधानी रखें। हंसी-मजाक में हल्कापन न हो, ध्यान रखें। कीमती वस्तुएं इधर-उधर हो सकती हैं, संभालकर रखें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। 🦂वृश्चिक धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। कोर्ट व कचहरी के काम मनोनुकूल लाभ देंगे। किसी बड़े काम की रुकावट दूर होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। पारिवारिक सहयोग प्राप्त होगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। 🏹धनु नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। मान-सम्मान मिलेगा। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। व्यापार-व्यवसाय में मनोनुकूल लाभ होगा। शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड इत्यादि से लाभ होगा। प्रेम-प्रसंग में जल्दबाजी न करें। थकान रहेगी। किसी कार्य की चिंता रहेगी। 🐊मकर बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। नौकरी में अनुकूलता रहेगी। भाग्य का साथ मिलेगा। कोई बड़ा काम करने की इच्‍छा जागृत होगी। चिंता तथा तनाव बने रहेंगे। प्रमाद न करें। 🍯कुंभ स्थायी संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। रोजगार में वृद्धि होगी। आय के नए साधन प्राप्त हो सकते हैं। भाग्योन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। जीवन सुखमय व्यतीत होगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। स्वास्थ्य में राहत मिलेगी। चिंता दूर होगी। नौकरी में रुतबा बढ़ेगा। 🐟मीन धनहानि की आशंका है। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। थकान व कमजोरी रह सकती है। व्यापार व व्यवसाय ठीक चलेगा। नौकरी में चैन रहेगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। राजकीय बाधा दूर होकर स्थिति अनुकूल बनेगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🌺

+51 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 68 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB