Veerbhadrasinh
Veerbhadrasinh May 21, 2018

🙏🌿ऊँ नमःशिवाय 🚩🕉🚩हर हर महादेव 🌿🙏देवो के देव महादेव ने नंदी को क्या आर्शीवाद दीया 🚩🕉🚩

🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩🕉
🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩🕉🚩

+49 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 9 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Sanjay Singh Apr 9, 2020

+12 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Sanjay Singh Apr 9, 2020

+15 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 3 शेयर

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Satyanand Mudaliar Apr 9, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर

🌾🌾🚩 *जय माता दी* 🚩🌾🌾 🌹🏵️🌅 *सुप्रभातम्* 🌅🏵️🌹 . 🔱📜 *अथ् पंचांगम्* 📜🔱🌸 🌿🌾🌸🏵️💮🌼🌸🌿🌾🌼 *दिनाँक -: 10/04/2020,शुक्रवार* तृतीया, कृष्ण पक्ष वैशाख """""""""""""""""""""""""""""""""""""(समाप्ति काल) तिथि ---------तृतीया 21:31:08 तक पक्ष ---------------------------कृष्ण नक्षत्र -------विशाखा 21:53:35 योग -------------सिद्वि 26:20:42 करण --------वाणिज 11:00:35 करण ------विष्टि भद्र 21:31:08 वार -------------------------शुक्रवार माह --------------------------वैशाख चन्द्र राशि ------- तुला 16:25:32 चन्द्र राशि -------------------वृश्चिक सूर्य राशि ---------------------- मीन रितु ----------------------------वसंत आयन --------------------उत्तरायण संवत्सर -----------------------शार्वरी संवत्सर (उत्तर) -------------प्रमादी विक्रम संवत ----------------2077 विक्रम संवत (कर्तक) ----2076 शाका संवत ----------------1942 वृन्दावन सूर्योदय -----------------06:00:54 सूर्यास्त -----------------18:40:15 दिन काल --------------12:39:20 रात्री काल -------------11:19:36 चंद्रास्त -----------------07:43:07 चंद्रोदय -----------------21:20:05 लग्न ----मीन 26°28' , 356°28' सूर्य नक्षत्र --------------------रेवती चन्द्र नक्षत्र ----------------विशाखा नक्षत्र पाया --------------------रजत *🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩* तू ----विशाखा 10:59:40 ते ----विशाखा 16:25:32 तो ----विशाखा 21:53:35 ना ----अनुराधा 27:23:59 *💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮* ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद ======================= सूर्य=मीन 26°22 ' रेवती, 3 च चन्द्र =तुला 23°23 ' विशाखा' 2 तू बुध = मीन 04°50 ' उ o भा o' 1 दू शुक्र= वृषभ 11°55, रोहिणी ' 1 ओ मंगल=मकर 12°30' श्रवण ' 1 खी गुरु=मकर 01°50 ' उ oषाo , 2 भो शनि=मकर 05°43' उ oषा o ' 3 जा राहू=मिथुन 08°59 ' आर्द्रा , 1 कु केतु=धनु 08 ° 59 ' मूल , 3 भा *🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩* राहू काल 10:46 - 12:21 अशुभ यम घंटा 15:30 - 17:05 अशुभ गुली काल 07:36 - 09:11 अभिजित 11:55 -12:46 शुभ दूर मुहूर्त 08:33 - 09:23 अशुभ दूर मुहूर्त 12:46 - 13:37 अशुभ 💮चोघडिया, दिन चर 06:01 - 07:36 शुभ लाभ 07:36 - 09:11 शुभ अमृत 09:11 - 10:46 शुभ काल 10:46 - 12:21 अशुभ शुभ 12:21 - 13:55 शुभ रोग 13:55 - 15:30 अशुभ उद्वेग 15:30 - 17:05 अशुभ चर 17:05 - 18:40 शुभ 🚩चोघडिया, रात रोग 18:40 - 20:05 अशुभ काल 20:05 - 21:30 अशुभ लाभ 21:30 - 22:55 शुभ उद्वेग 22:55 - 24:20* अशुभ शुभ 24:20* - 25:45* शुभ अमृत 25:45* - 27:10* शुभ चर 27:10* - 28:35* शुभ रोग 28:35* - 29:59* अशुभ 💮होरा, दिन शुक्र 06:01 - 07:04 बुध 07:04 - 08:07 चन्द्र 08:07 - 09:11 शनि 09:11 - 10:14 बृहस्पति 10:14 - 11:17 मंगल 11:17 - 12:21 सूर्य 12:21 - 13:24 शुक्र 13:24 - 14:27 बुध 14:27 - 15:30 चन्द्र 15:30 - 16:34 शनि 16:34 - 17:37 बृहस्पति 17:37 - 18:40 🚩होरा, रात मंगल 18:40 - 19:37 सूर्य 19:37 - 20:34 शुक्र 20:34 - 21:30 बुध 21:30 - 22:27 चन्द्र 22:27 - 23:23 शनि 23:23 - 24:20* बृहस्पति 24:20* - 25:17 मंगल 25:17* - 26:13 सूर्य 26:13* - 27:10 शुक्र 27:10* - 28:07 बुध 28:07* - 29:03 चन्द्र 29:03* - 29:59 *नोट*-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार । शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥ रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार । अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥ अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें । उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें । शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें । लाभ में व्यापार करें । रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें । काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है । अमृत में सभी शुभ कार्य करें । *💮दिशा शूल ज्ञान------------पश्चिम* परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l इस मंत्र का उच्चारण करें-: *शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l* *भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll* *🚩 अग्नि वास ज्ञान -:* *यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,* *चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।* *दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,* *नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्* *नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।* 15 + 3 + 6 + 1 = 25 ÷ 4 = 1 शेष पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l *💮 शिव वास एवं फल -:* 18 + 18 + 5 = 41 ÷ 7 = 6 शेष क्रीड़ायां = शोक,दुःख कारक *🚩भद्रा वास एवं फल -:* *स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।* *मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।* प्रातः 11:04 से रात्रि 21:31 तक पाताल लोक = धनलाभ कारक *💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮* * सर्वार्थ सिद्धि योग 21:54 तक * गुड़ फ्राइ डे *💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮* एकोऽपि गुणवान् पुत्रो निर्गुणैश्च शतैर्वरः । एकश्चन्द्रस्तमो हन्ति न च ताराः सहस्त्रशः ।। ।।चा o नी o।। सैकड़ों गुणरहित पुत्रों से अच्छा एक गुणी पुत्र है क्योंकि एक चन्द्रमा ही रात्रि के अन्धकार को भगाता है, असंख्य तारे यह काम नहीं करते. *🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩* गीता -: मोक्षसन्यासयोग अo-18 व्यासप्रसादाच्छ्रुतवानेतद्‍गुह्यमहं परम्‌ ।, योगं योगेश्वरात्कृष्णात्साक्षात्कथयतः स्वयम्‌॥, श्री व्यासजी की कृपा से दिव्य दृष्टि पाकर मैंने इस परम गोपनीय योग को अर्जुन के प्रति कहते हुए स्वयं योगेश्वर भगवान श्रीकृष्ण से प्रत्यक्ष सुना॥,75॥, *💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮* देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके। नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।। विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे। जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।। 🐏मेष शुभ समाचार मिलेंगे। प्रसन्नता रहेगी। रोजगार में वृद्धि होगी। चिंता रहेगी। संतान की प्रगति संभव है। वाहन चलाते समय सावधानी रखें। भूमि व संपत्ति संबंधी कार्य होंगे। पूर्व कर्म फलीभूत होंगे। क्रोध एवं उत्तेजना पर संयम रखें। ईष्ट मित्रों से मुलाकात होगी। 🐂वृष बेरोजगारी दूर होगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। प्रसन्नता रहेगी। परिवार में सुखद वातावरण रहेगा। व्यापार में इच्छित लाभ होगा। सत्कार्य में रुचि बढ़ेगी। प्रियजनों का पूर्ण सहयोग मिलेगा। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। 👫मिथुन अप्रत्याशित खर्च होंगे। कर्ज लेना पड़ सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। स्वास्थ्य कमजोर होगा। व्यावसायिक चिंताएं दूर होंगी। प्रयास में आलस्य व विलंब नहीं करना चाहिए। स्वयं के सामर्थ्य से ही भाग्योन्नति के अवसर आएंगे। विरोधी परास्त होंगे। 🦀कर्क यात्रा सफल रहेगी। लेनदारी वसूल होगी। आय में वृद्धि होगी। लेन-देन में सावधानी रखें। स्वास्थ्य के प्रति सावधानी रखें। संतान के कार्यों में उन्नति के योग हैं। कार्यक्षमता एवं कार्यकुशलता बढ़ेगी। रुके हुए काम समय पर होने की संभावना है। धन प्राप्ति के योग हैं। 🐅सिंह नई योजना बनेगी। रुके कार्य बनेंगे। कार्य की प्रशंसा होगी। व्ययवसाय ठीक चलेगा। लाभ होगा। प्रियजनों से पूरी मदद मिलेगी। यात्रा कष्टप्रद हो सकती है। धैर्य एवं संयम बना रहेगा। निजीजनों में असंतोष का वातावरण रहेगा। आर्थिक चिंता रहेगी। 🙎कन्या शत्रु भय रहेगा। शारीरिक कष्ट संभव है। कोर्ट व कचहरी के कार्य बनेंगे। अध्यात्म में रुचि रहेगी। भूमि-आवास की समस्याओं में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय सामान्य चलेगा। कर्म के प्रति पूर्ण समर्पण व उत्साह रखें। व्यापार में नई योजनाओं से लाभ होगा। ⚖तुला चोट, चोरी व विवाद आदि से हानि संभव है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। स्वास्थ्य कमजोर रहेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। बुद्धि एवं तर्क से कार्य के प्रति सफलता के योग बनेंगे। सकारात्मक विचारों के कारण प्रगति के योग आएंगे। ईश्वर पर आस्था बढ़ेगी। 🦂वृश्चिक जीवनसाथी से सहयोग मिलेगा। कोर्ट व कचहरी में अनुकूलता रहेगी। प्रसन्नता रहेगी। आय बढ़ेगी। कार्यपद्धति में विश्वसनीयता बनाएं रखें। मित्रों में वर्चस्व बढ़ेगा। आजीविका में नए प्रस्ताव मिलेंगे। जीवनसाथी के स्वास्थ्य की ओर ध्यान दें। मांगलिक आयोजन होंगे। 🏹धनु चोट व रोग से बाधा संभव है। बेरोजगारी दूर होगी। भूमि व भवन संबंधी बाधा दूर होगी। नौकरी में अधिकारियों का उचित सहयोग नहीं रहेगा। लेन-देन के विषय में विवाद हो सकता है। राजकीय क्षेत्र के व्यक्तियों से संबंध बढ़ेंगे जो आपको लाभ प्रदान करेंगे। 🐊मकर रोग व भय का माहौल बन सकता है। स्वादिष्ट भोजन का आनंद मिलेगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। उत्तम मनोबल से समस्याओं का हल निकलेगा। दिखावे एवं आडंबरों से दूर रहना चाहिए। दांपत्य जीवन शुभतापूर्ण रहेगा। लापरवाही की प्रवृत्ति का त्याग करें। 🍯कुंभ भागदौड़ रहेगी। शोक संदेश मिल सकता है। विवाद से क्लेश होगा। व्यवसाय सामान्य रहेगा। कार्य निर्णय बहुत ही शांति से विचार करके करना चाहिए। व्यापार में नए अनुबंध लाभकारी रहेंगे। व्यर्थ के कार्यों से तनाव की पूर्ण संभावना रह सकती है। 🐟मीन व्यापार में कर्मचारियों पर अधिक विश्वास न करें। आर्थिक स्थिति मध्यम रहेगी। संतान पर नजर रखें। समाज में प्रसिद्धि के कारण सम्मान में बढ़ोतरी होगी। अर्थ संबंधी काम होंगे। थोड़े प्रयास से ही कार्यसिद्धि होगी। मान-सम्मान मिलेगा। आय में वृद्धि होगी। चिंता रहेगी। दिव्य ज्योतिष केंद्र वाराणसी उत्तर प्रदेश वाट्स्अप👉9450786998 🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏 🏵️💮🌸🌹💐🌼💮🏵️💐🌼🌹🌸🌼🏵️💮

+18 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 2 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB