Vibhor Mittal
Vibhor Mittal Aug 28, 2017

ek kahani

*एक बार एक केकड़ा समुद्र किनारे अपनी मस्ती में चला जा रहा था और बीच बीच में रुक कर अपने पैरों के निशान देख कर खुश होता*
*आगे बढ़ता पैरों के निशान देखता और खुश होता,,,,,*
*इतने में एक लहर आई और उसके पैरों के सभी निशान मिट गये*
*इस पर केकड़े को बड़ा गुस्सा आया, उसने लहर से कहा*

*"ए लहर मैं तो तुझे अपना मित्र मानता था, पर ये तूने क्या किया ,मेरे बनाये सुंदर पैरों के निशानों को ही मिटा दिया*
*कैसी दोस्त हो तुम"*

*तब लहर बोली "वो देखो पीछे से मछुआरे पैरों के निशान देख कर केकड़ों को पकड़ने आ रहे हैं*
*हे मित्र, तुमको वो पकड़ न लें ,बस इसीलिए मैंने निशान मिटा दिए*

*ये सुनकर केकड़े की आँखों में आँसू आ गये*


*सच यही है, कई बार हम सामने वाले की बातों को समझ नहीं पाते और अपनी सोच अनुसार उसे गलत समझ लेते हैं*
*जबकि हर सिक्के के दो पहलू होते हैं*
*अतः मन में बैर लाने से बेहतर है कि हम सोच समझ कर निष्कर्ष निकालें*

🙏🏻 🙏🏻

Like Flower Pranam +103 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 97 शेयर

कामेंट्स

Sumitra soni Oct 16, 2018

Pranam Belpatra Bell +275 प्रतिक्रिया 70 कॉमेंट्स • 549 शेयर
Dhananjay Pandey Oct 16, 2018

Pranam Jyot Milk +124 प्रतिक्रिया 14 कॉमेंट्स • 297 शेयर
harshita malhotra Oct 16, 2018

Flower Like Pranam +12 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 44 शेयर
Sangeeta yadav Oct 16, 2018

Flower Sindoor Pranam +134 प्रतिक्रिया 32 कॉमेंट्स • 149 शेयर
geeta rathi Oct 16, 2018

देवी दुर्गा का सातवां रूप है कालरात्रि और इनकी नवरात्र के सातवें दिन पूजा का महत्व है। देवी के इस नाम से ही ऐसा जाहिर होता है की देवी का यह रूप बहुत ही भयानक होगा। इस रूप में देवी के शरीर का रंग अंधकार की तरह काला है और उनके बाल बिखरे हुए हैं।

पू...

(पूरा पढ़ें)
Bell Pranam Dhoop +354 प्रतिक्रिया 59 कॉमेंट्स • 447 शेयर
Mohini Bishnoi Oct 16, 2018

Udisa me maa durga mahotsv prv

Bell Pranam Like +93 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 346 शेयर
Satish dubey Oct 16, 2018

Dhoop Jyot Flower +90 प्रतिक्रिया 11 कॉमेंट्स • 398 शेयर

Pranam Flower Lotus +214 प्रतिक्रिया 32 कॉमेंट्स • 62 शेयर
Vijay bahadur Pandey Oct 16, 2018

🚩🙏🌿🌻🌺जै माँ महाकाली जी 🌺🌻🌿
माँ के इस अद्भुत स्वरुप का दर्शन अत्यंत दुर्लभ है
इस स्वरुप की साधना करने वाला साधक, सदा के लिए निर्भय हाे जाता है। साधक का अंत:करण निर्मल हाे जाता है। और संसार के सारे बंधनाे से मुक्त होकर, अंत में परम धाम काे ...

(पूरा पढ़ें)
Jyot Flower Fruits +47 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 3 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB