*🌹शुभ प्रभात🌹* *भास्करस्य यथा तेजो मकरस्थस्य वर्धते,तथैव भवतां तेजो वर्धतामिति कामये।।मकरसंक्रांन्तिपर्वणः सर्वेभ्यः शुभाशयाः।* 🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞 *सूर्य देव के उत्तरायण होने पर भारतवर्ष के उजाले में वृद्धि के प्रतीक पर्व "मकर संक्रान्ति" पर्व के पावन अवसर पर* *आप सपरिवार का जीवन प्रकाशमान, सममृद्धिवान, आरोग्यवान और ऊर्जावान हों, हमारी ऐसी शुभेच्छा* *आप को सपरिवार लोहड़ी,खिचड़ी और मकर संक्रान्ति पर्व की हार्दिक बधाई एवं मंगलमय शुभकामनाएं* *🕉🕎ऊं घ्राणि: सूर्याय नम:🕎🕉*

*🌹शुभ प्रभात🌹*

*भास्करस्य यथा तेजो मकरस्थस्य वर्धते,तथैव भवतां तेजो वर्धतामिति कामये।।मकरसंक्रांन्तिपर्वणः सर्वेभ्यः शुभाशयाः।*
🌞🌞🌞🌞🌞🌞🌞

*सूर्य देव के उत्तरायण होने पर भारतवर्ष के उजाले में वृद्धि के प्रतीक पर्व "मकर संक्रान्ति" पर्व के पावन अवसर पर*

 *आप सपरिवार का जीवन प्रकाशमान, सममृद्धिवान, आरोग्यवान और ऊर्जावान हों, हमारी ऐसी शुभेच्छा*

*आप को सपरिवार लोहड़ी,खिचड़ी और मकर संक्रान्ति पर्व की हार्दिक बधाई एवं मंगलमय शुभकामनाएं* 

*🕉🕎ऊं घ्राणि: सूर्याय नम:🕎🕉*

+536 प्रतिक्रिया 119 कॉमेंट्स • 527 शेयर

कामेंट्स

SOM DUTT SHARMA Jan 14, 2021
jai sri Radhey Radhey ji good evening g nice 👍👌 beautiful thanks 👍👌 so sweet g ❤️ aap Ko makar sankranti ki bahut bahut shubhkamnaye g

sonu pathak Jan 14, 2021
Jai shri Radhe Krishna ji Radhe Radhe🌹🙏 🙏🌹Jai Mata rani di Namaskar Good evening my dear sweet sister ji 🌷🙏🌷

🔱🛕काशी विश्वनाथ धाम🛕🔱 Jan 14, 2021
🎳💐 शुभरात्रि वंदन दीदी💐🎳 🌞आप सभी को साल के पहले पर्व मकर संक्रान्ति (खिचड़ी )व सूर्य उत्तरायण की हार्दिक शुभकामनाएं🎎 🎎आप और आपके पूरे परिवार पर श्री विष्णु जी व सूर्य भगवान की कृपा सदा बनी रहे जी🍛 👏आपका रात्रि शुभ और मंगलमय व्यतीत हो🌹

cp pooranik Jan 14, 2021
जय श्री राधे कृष्ण जी शुभ रात्रि वन्दनजी 💐💐🙏🙏

OMG Jan 14, 2021
मकरसंक्रांति पर्व की आपको और आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनाएं🙏

bhagwan gupta Jan 14, 2021
aapko parivar makarsankranti ki hardik subhkamnaye saal ke pratham prav par desh m kai nai cheej mili co vaccines vaidik paint gay ke gover se tyar launch kiya desh m ese pm ko naman hai

Manoj manu Jan 14, 2021
🚩🙏जय श्री कृष्णा जी शुभ संक्राति - राधे राधे जी शुभ रात्रि मधुर मंगल वंदन जी दीदी 🌿🌺🙏

rakesh dubey Jan 14, 2021
ॐ साई राम🚩🚩 जय श्री राधे कृष्णा जी🌻 शुभ रात्रि जी 🌷☘️🌷 मकरसंक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं जी💐💐💐💐 💐

SOM DUTT SHARMA Jan 14, 2021
jai sri Radhey Radhey ji good night ji sweet dreams ji nice 👍 beautiful thanks 👍 so sweet g ❤️💝💖

Anilkumar Marathe Jan 14, 2021
जय श्रीकृष्ण नमस्कार खुशियोकी सदाबहार आदरणीय प्यारी प्रीती जी !! 👍चेहरे पे हँसी आँखों मे खुशी, गम का कही नाम ना हो, यह मकर सक्रांति लाए आपके जिंदगी मे बहुत सारी खुशियाँ, जिसके ढलने की कोई शाम ना हो और चारो तरफ आपका आदर सन्मान हो ऐवम सुख समृद्धि की बरसात हो !! 🌹गुलाबी ठंडी की मीठी मीठी रात्री का स्नेह भरा नमस्कार जी !!

🇮🇳🇮🇳Vijay💞Kumar🇮🇳🇮🇳 Jan 14, 2021
🙏🌹जय श्री महाकाल 🌹🙏मकर सक्रांति की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं 🍃🌼🙏🌼🍃Good night 🌃💞

Shah Mahesh Jan 15, 2021
🍀 💐જય શ્રી કૃષ્ણ 🍀 💐

Rajesh Lakhani Jan 15, 2021
JAI MATADI SHUBH PRABHAT BEHENA MATA RANI KI KRUPA AAP PER OR AAP KE PARIVAR PER SADA BANI RAHE AAP KA DIN SHUBH OR MANGALMAYE HO AAP OR AAP KA PARIVAR MAA KI KRUPA SE HAMESA KHUS RAHE SWASTH RAHE BEHENA PRANAM

सुरेश गौतम Jan 15, 2021
Good morning my sister apka din Subh or mangalmay ho Bahinapko प्रणाम Jai mata di बहिन जै जीनेद्र जी बहना

alok.tripathi Jan 15, 2021
शुभ makarsankranti ki शुभकामनाएं

🌈JK🌈 Jan 15, 2021
🌹🥀Radhe Radhe🥀🌹 Good Morning ji 🥀🥀🙏🏼🥀🥀

bhagwan gupta Jan 15, 2021
shubh arunodayam prabhat vandan ji pranam naman vandan ji

Jagdish Prasad Jan 15, 2021
om namo bhagwate bashudevay 🙏🌹🙏 makar Sankranti ki Hardik shubhkamanaye aapko bhi 🙏🌹🙏

Raj Singh Jan 16, 2021
🌹🌹🌹🙏🙏मकर सक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं बहना जी🌹🌹🌹🙏🙏🙏

*☝ईश्वर पर भरोसा☝* जाड़े का दिन था और शाम होने को आई। आसमान में बादल छाए थे। एक नीम के पेड़ पर बहुत से कौए बैठे थे। वे सब बार-बार कांव-कांव कर रहे थे और एक-दूसरे से झगड़ भी रहे थे। इसी समय एक मैना आई और उसी पेड़ की एक डाल पर बैठ गई। मैना को देखते हुए कई कौए उस पर टूट पड़े। बेचारी मैना ने कहा- “बादल बहुत हैं इसीलिए आज अंधेरा हो गया है। मैं अपना घोंसला भूल गई हूँ। *इसीलिए आज रात मुझे यहां बैठने दो।* “कौओं ने कहा- “नहीं यह पेड़ हमारा है तू यहां से भाग जा।“ मैना बोली- “पेड़ तो सब ईश्वर के बनाए हुए हैं। इस सर्दी में यदि वर्षा पड़ी और ओले पड़े तो ईश्वर ही हमें बचा सकते हैं। मैं बहुत छोटी हूँ, तुम्हारी बहन हूँ, तुम लोग मुझ पर दया करो और मुझे भी यहां बैठने दो।“ कौओं ने कहा- “हमें तेरी जैसी बहन नहीं चाहिए। तू बहुत ईश्वर का नाम लेती है तो ईश्वर के भरोसे यहां से चली क्यों नहीं जाती। तू नहीं जाएगी तो हम सब तुझे मारेंगे।“ कौओं को कांव-कांव करके अपनी ओर झपटते देखकर बेचारी मैना वहां से उड़ गई और थोड़ी दूर जाकर एक आम के पेड़ पर बैठ गई। रात को आंधी आई, बादल गरजे और बड़े-बड़े ओले बरसने लगे। कौए कांव-कांव करके चिल्लाए। इधर से उधर थोड़ा-बहुत उड़े परन्तु ओलों की मार से सबके सब घायल होकर जमीन पर गिर पड़े। बहुत से कौए मर गए। मैना जिस आम पर बैठी थी उसकी एक डाली टूट कर गिर गई। डाल टूटने पर उसकी जड़ के पास पेड़ में एक खोंडर हो गया। छोटी मैना उसमें घुस गई और उसे एक भी ओला नहीं लगा। सवेरा हुआ और दो घड़ी चढऩे पर चमकीली धूप निकली। मैना खोंडर में से निकली पंख फैला कर चहक कर उसने भगवान को प्रणाम किया और उड़ी। पृथ्वी पर ओले से घायल पड़े हुए कौए ने मैना को उड़ते देख कर बड़े कष्ट से पूछा- *“मैना बहन! तुम कहां रही तुम को ओलों की मार से किसने बचाया “मैना बोली- “मैं आम के पेड़ पर अकेली बैठी भगवान से प्रार्थना करती रही और भगवान ने मेरी मदद की।“* *दुख में पड़े असहाय जीव को ईश्वर के सिवाय कौन बचा सकता है। जो भी ईश्वर पर विश्वास करता है और ईश्वर को याद करता है, उसे ईश्वर सभी आपत्ति-विपत्ति में सहायता करते हैं और उसकी रक्षा करते हैं।* *ईश्वर के कृत्य अनोखे होते हैं। हमारे समझने में कमी हो सकती है, परंतु उनके करने में नहीं।* मेरा कान्हा....❤ तो वो फूल🌹 है जिसके पास पहुंचने में कांटे तो बहुत है मगर सौंदर्य की कमी नहीं है ! *राधे राधे*

+695 प्रतिक्रिया 166 कॉमेंट्स • 941 शेयर

(((( भगवान् के बंदे )))) .🙏🌹🙏 एक बुजुर्ग आदमी बुखार से ठिठुरता और भूखा प्यासा मंदिर के बाहर बैठा था। . तभी वहां पर नगर के सेठ अपनी सेठानी के साथ एक बहुत ही लंबी और मंहगी कार से उतरे। . उनके पीछे उनके नौकरों की कतार थी। . एक नौकर ने फल पकडे़ हुए थे, दूसरे नौकर ने फूल पकडे़ थे, तीसरे नौकर ने हीरे और जवाहरात के थाल पकडे़ हुए थे, चौथे नौकर ने पंडित जी को दान देने के लिए मलमल के 3 जोडी़ धोती कुरता और पांचवें नौकर ने मिठाईयों के थाल पकडे़ थे। . पंडित जी ने उन्हें आता देखा तो दौड़ के उनके स्वागत के लिए बाहर आ गए। . बोले आईये आईये सेठ जी, आपके यहां पधारने से तो हम धन्य हो गए। . सेठ जी ने नौकरों से कहा जाओ तुम सब अदंर जाके थाल रख दो। . हम पूजा पाठ सम्पन्न करने के बाद भगवान को सारी भेंट समर्पित करेंगें। . बाहर बैठा बुजुर्ग आदमी ये सब देख रहा था। . उसने सेठ जी से कहा - मालिक दो दिनों से भूखा हूंँ,थोडी़ मिठाई और फल मुझे भी दे दो खाने को। . सेठ जी ने उसकी बात को अनसुना कर दिया। . बुजुर्ग आदमी ने फिर सेठानी से कहा - ओ मेम साहिबा थोडा़ कुछ खाने को मुझे भी दे दो मुझे भूख से चक्कर आ रहे हैं। . सेठानी चिढ़ के बोली बाबा, ये सारी भेटें तो भगवान को चढानें के लिये हैं। तुम्हें नहीं दे सकते, अभी हम मंदिर के अंदर घुसे भी नहीं हैं और तुमने बीच में ही टोक लगा दी। . सेठ जी गुस्से में बोले, लो पूजा से पहले ही टोक लग गई, पता नहीं अब पूजा ठीक से संपन्न होगी भी या नहीं। . कितने भक्ती भाव से अंदर जाने कि सोच रहे थे और इसने अड़चन डाल दी। . पंडित जी बोले शांत हो जाइये सेठ जी, इतना गुस्सा मत होईये। . अरे क्या शांत हो जाइये पंडित जी . आपको पता है-पूरे शहर के सबसे महँंगे फल और मिठाईयां हमने खरीदे थे प्रभु को चढानें के लिए और अभी चढायें भी नहीं कि पहले ही अड़चन आ गई। . सारा का सारा मूड ही खराब हो गया,अब बताओ भगवान को चढानें से पहले इसको दे दें क्या ? . पंडितजी बोले अरे पागल है ये आदमी,आप इसके पीछे अपना मूड मत खराब करिये सेठजी चलिये आप अंदर चलिये, मैं इसको समझा देता हूँ। आप सेठानी जी के साथ अंदर जाईये। . सेठ और सेठानी बुजुर्ग आदमी को कोसते हुये अंदर चले गये। . पंडित जी बुजुर्ग आदमी के पास गए और बोले जा के कोने में बैठ जाओ, जब ये लोग चले जायेगें तब मैं तुम्हें कुछ खाने को दे जाऊंगा। . बुजुर्ग आदमी आसूं बहाता हुआ कोने में बैठ गया। . अंदर जाकर सेठ ने भगवान को प्रणाम किया और जैसे ही आरती के लिए थाल लेकर आरती करने लगे, तो आरती का थाल उनके हाथ से छूट के नीचे गिर गया। . वो हैरान रह गए . पर पंडित जी दूसरा आरती का थाल ले आये। . जब पूजा सम्पन्न हुई तो सेठ जी ने थाल मँगवाई भगवान को भेंट चढानें को, पर जैसे ही भेंट चढानें लगे वैसे ही तेज़ भूकंप आना शुरू हो गया और सारे के सारे थाल ज़मीन पर गिर गए। . सेठ जी थाल उठाने लगे, जैसे ही उन्होनें थाल ज़मीन से उठाना चाहा तो अचानक उनके दोनों हाथ टेढे हो गए मानों हाथों को लकवा मार गया हो। . ये देखते ही सेठानी फूट फूट कर रोने लगी, बोली पंडितजी देखा आपने, मुझे लगता है उस बाहर बैठे बूढे से नाराज़ होकर ही भगवान ने हमें दण्ड दिया है। . उसी बूढे़ की अडचन डालने की वजह से भगवान हमसे नाराज़ हो गए। . सेठ जी बोले हाँ उसी की टोक लगाने की वजह से भगवान ने हमारी पूजा स्वीकार नहीं की। . सेठानी बोली, क्या हो गया है इनके दोनों हाथों को, अचानक से हाथों को लकवा कैसे मार गया, इनके हाथ टेढे कैसे हो गए, अब क्या करूं मैं ? ज़ोर जो़र से रोने लगी- . पंडित जी हाथ जोड़ के सेठ और सेठानी से बोले-माफ करना एक बात बोलूँ आप दोनों से-भगवान उस बुजुर्ग आदमी से नाराज़ नहीं हुए हैं, बल्कि आप दोनों से रूष्ट होकर भगवान ने आपको यें दंड दिया है। . सेठानी बोली पर हमने क्या किया है ? . पंडितजी बोले क्या किया है आपने ? मैं आपको बताता हूं . आप इतने महँंगे उपहार ले कर आये भगवान को चढानें के लिये पर ये आपने नहीं सोचा के हर इन्सान के अंदर भगवान बसते हैं। . आप अन्दर भगवान की मूर्ती पर भेंट चढ़ाना चाहते थे, पर यहां तो खुद उस बुजुर्ग आदमी के रूप में भगवान आपसे प्रसाद ग्रहण करने आये थे। . उसी को अगर आपने खुश होकर कुछ खाने को दे दिया होता तो आपके उपहार भगवान तक खुद ही पहुंच जाते। . किसी गरीब को खिलाना तो स्वयं ईश्वर को भोजन कराने के सामान होता है। . आपने उसका तिरस्कार कर दिया तो फिर ईश्वर आपकी भेंट कैसे स्वीकार करते..... . सब जानते हैं किे श्री कृष्ण को सुदामा के प्रेम से चढा़ये एक मुटठी चावल सबसे ज़्यादा प्यारे लगे थे. . अरे भगवान जो पूरी दुनिया के स्वामी है, जो सबको सब कुछ देने वाले हैं, उन्हें हमारे कीमती उपहार क्या करने हैं, वो तो प्यार से चढा़ये एक फूल, प्यार से चढा़ये एक बेल पत्र से ही खुश हो जाते हैं। . उन्हें मंहगें फल और मिठाईया चढा़ के उन के ऊपर एहसान करने की हमें कोई आवश्यकता नहीं है। . इससे अच्छा तो किसी गरीब को कुछ खिला दीजिये, ईश्वर खुद ही खुश होकर आपकी झोली खुशियों से भर देगें। . और हाँं, अगर किसी माँंगने वाले को कुछ दे नहीं सकते तो उसका अपमान भी मत कीजिए क्यों कि वो अपनी मर्जी़ से गरीब नहीं बना है। . और कहते हैं ना-ईश्वर की लीला बडी़ न्यारी होती है, वो कब किसी भिखारी को राजा बना दे और कब किसी राजा को भिखारी कोई नहीं कह सकता। ~~~~~~~~~~~~~~~~~ ((((((( जय जय श्री राम ))))))) ~~~~~~~~~~~~~~~~~

+515 प्रतिक्रिया 135 कॉमेंट्स • 900 शेयर
ramkumarverma Jan 26, 2021

+77 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 393 शेयर
Mohan Jan 26, 2021

+92 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 213 शेयर

+58 प्रतिक्रिया 17 कॉमेंट्स • 75 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB