स्वामी विवेकानन्द के अनमोल वचन

स्वामी विवेकानन्द के अनमोल वचन

स्वामी विवेकानन्द के अनमोल वचन

‌"उत्तिष्ठत जाग्रत प्राप्य वरान्निबोधत।" अर्थात् उठो, जागो, और ध्येय की प्राप्ति तक रूको मत।
‌मैं सिर्फ और सिर्फ प्रेम की शिक्षा देता हूं और मेरी सारी शिक्षा वेदों के उन महान सत्यों पर आधारित है जो हमें समानता और आत्मा की सर्वत्रता का ज्ञान देती है।

‌सफलता के तीन आवश्यक अंग हैं-शुद्धता,धैर्य और दृढ़ता। लेकिन, इन सबसे बढ़कर जो आवश्यक है वह है प्रेम।

‌हम ऐसी शिक्षा चाहते हैं जिससे चरित्र निर्माण हो। मानसिक शक्ति का विकास हो। ज्ञान का विस्तार हो और जिससे हम खुद के पैरों पर खड़े होने में सक्षम बन जाएं।

‌खुद को समझाएं, दूसरों को समझाएं। सोई हुई आत्मा को आवाज दें और देखें कि यह कैसे जागृत होती है। सोई हुई आत्मा के जागृत होने पर ताकत, उन्नति, अच्छाई, सब कुछ आ जाएगा।

‌मेरे आदर्श को सिर्फ इन शब्दों में व्यक्त किया जा सकता हैः मानव जाति देवत्व की सीख का इस्तेमाल अपने जीवन में हर कदम पर करे।

‌शक्ति की वजह से ही हम जीवन में ज्यादा पाने की चेष्टा करते हैं। इसी की वजह से हम पाप कर बैठते हैं और दुख को आमंत्रित करते हैं।

‌पाप और दुख का कारण कमजोरी होता है। कमजोरी से अज्ञानता आती है और अज्ञानता से दुख।

‌अगर आपको तैतीस करोड़ देवी-देवताओं पर भरोसा है लेकिन खुद पर नहीं तो आप को मुक्ति नहीं मिल सकती। खुद पर भरोसा रखें, अडिग रहें और मजबूत बनें। हमें इसकी ही जरूरत है।

* स्वामीजी के उपदेशों का सूत्रवाक्य, "उत्तिष्ठत जाग्रत प्राप्य वरान्निबोधत" कठोपनिषद् के   एक मंत्र से प्रेरित है:

   उत्तिष्ठत जाग्रत प्राप्य वरान्निबोधत ।
   क्षुरस्य धारा निशिता दुरत्यया दुर्गं पथस्तत्कवयो वदन्ति ।।
   (कठोपनिषद्, अध्याय १, वल्ली ३, मंत्र १४)

जिसका अर्थ है - उठो, जागो, और जानकार श्रेष्ठ पुरुषों के सान्निध्य में ज्ञान प्राप्त करो । विद्वान् मनीषी जनों का कहना है कि ज्ञान प्राप्ति का मार्ग उसी प्रकार दुर्गम है जिस प्रकार छुरे के पैना किये गये धार पर चलना ।

 

+86 प्रतिक्रिया 8 कॉमेंट्स • 65 शेयर

कामेंट्स

Mani Rana Jan 8, 2018
radhe radhe g good afternoon g nice g

Babita Sharma Jan 8, 2018
हमेशा की तरह उत्कृष्ट पोस्ट भाई।राधे राधे

Dr Chandrashekhar Prasadi Jan 8, 2018
@babita.sharma.2 आप तो मेरी प्रशंसा करते है। धन्यवाद दिदी। जय श्रीराधेकृष्ण । शुभरात्रि।

Mamta Chauhan Feb 28, 2020

+23 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Neeru Chauhan Feb 28, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
SHANTI PATHAK Feb 28, 2020

+61 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 16 शेयर
Pooja Ji Feb 28, 2020

+30 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 4 शेयर
Shama Dadlani Feb 28, 2020

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Sanjay Singh Feb 28, 2020

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

*युद्ध से पहले तैयारी की गयी* *दूसरे राज्यों से रिश्तेदारों को बुलाया गया *फंड इकट्ठा किया गया *रणनीति बनाई गई *कुछ लोगों ने नेतृत्व अपने हाथ मे लिया *पत्थर इकट्ठे किये गये *हथियारों को धार दी गई *बंदूक भी तैयार की गई *पेट्रोल बम बनाये गये *तेजाब की थैलियां बनाई गई *बडी-बडी गुलैल बनाई गई * *एक ही कलर के हेलमेट लाखों की तादात मे खरीदे गये ताकि अपने लोगों मे पहचान रहे* अपनी दुकानों के शटर पर *NO NRC* लिख दिया ताकी *इन्हें आगजनी से बचाया जा सके* *हिन्दुओ के इलाके चिन्हित किये गये* *हिन्दुओ के घर, दूकानों को चिन्हित किया गया* रणनीति बनाई गई कि *हमला किस तरफ से किया जायेगा* हमले के बाद *किधर से बचकर भागना है* *वीडियो नही बनाये गये* सोशल मीडिया पर विक्टिम कार्ड खेला गया *ताकि अपने आप को पीड़ित बताया जा सके* फिर *भाईचारे की नौटंकी शुरू की गई* फिर अमन की *दुआएं मांगी गई* *मीडिया के सामने रोने लगे* ओसरीवालों हिन्दुओ *तुम बुरी तरह से मार खाये हो।* तुम कितनी भी ढींगे हांक लो लेकिन हकीकत ये है कि 80% हिन्दुओ को मार पडी है। तुम *कट्टर-झट्टर* हिन्दु बुरी तरह से पिटे हो। लेकिन तुम्हें क्या? *हमारे मोहल्ले में तो शांति रही*.......सोचते रहो यही,,, सोच अच्छी है ,उन्होंने तो अभी अपना और हमारा करंट चेक किया है, जिस दिन विरोधी पार्टियों और मस्जिदों के ऐलान के बाद लाखों की संख्या की भीड़ सड़कों पर होगी उस दिन पता चलेगा कि तुम्हारे इलाके में कितनी शांति है तुम्हें तो मुफ्तखोरी, कर्जमाफी, सब्सिडी चाहिए। ओसरीवालों हिन्दूओं कुछ दिनों बाद तुम्ही हिन्दु-मुस्लिम भाइचारे मे उनके यहां भंडारे मे पूरी-सब्जी ठुस आओगे।

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Sheela Sharma Feb 28, 2020

+19 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 0 शेयर
jeevan Feb 28, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB