Manjeet Sobti
Manjeet Sobti May 22, 2018

🌿🍃 God is one sabka maliek ek Jai shri radhey krishna ji Krishna blessnig all devotees 🍃🌿

❄️❄️❄️❄️❄️❄️❄️❄️ 💐🙏 राधे राधे राधे 🙏💐
🙌 हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे
हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे 🙌
❄️❄️❄️❄️❄️❄️❄️❄️
हो सावरे हो सावरे हो सावरे हो सावरे,
बनॉगे राधा तो यह जानोगे, बनॉगे राधा तो यह जानोगे,
के कैसा प्यार है मेरा,
बनॉगे राधा तो यह जानोगे, के कैसा प्यार है मेरा,🌹🙏🌿

बनॉगे राधा तो यह जानोगे, बनॉगे राधा तो यह जानोगे,
के कैसा प्यार है मेरा,
बनॉगे राधा तो यह जानोगे, के कैसा प्यार है मेरा,
हो सावरे हो सावरे हो सावरे हो सावरे,🌹🙏🌿

क्या होती प्रतीक्षा है, की पीड़ा होती है,
कितना जलता है दिल कब आँखे रोटी है,
बहेंगे आँसू, बहेंगे आँसू, तब यह जानोगे,
की कैसा प्यार है मेरा, की कैसा प्यार है मेरा,
हो सावरे हो सावरे हो सावरे हो सावरे,🌹🙏🌿

जब कोई सुनेगा ना, जब कोई सुनेगा ना,
तेरे मान के दुखड़े जब ताने सुन सुन के होंगे दिल के टुकड़े,
सुनोगे ताने तब यह जानोगे, सुनोगे ताने तब यह जानोगे,
की कैसा प्यार है मेरा, की कैसा प्यार है मेरा,
हो सावरे हो सावरे हो सावरे हो सावरे,🌹🙏🌿

पनघट मेी मधुबन मेी वो इंतेजर करना,
आए श्याम तेरी खातिर वो घुट घुट के मारना,
करोगे इंतजार जानोगे, करोगे इंतजार जानोगे,
की कैसा प्यार है मेरा, की कैसा प्यार है मेरा,
हो सावरे हो सावरे हो सावरे हो सावरे,🌹🙏🌿

तुम याद ना आया करो, तुम याद ना आया करो,
याद आने से पहले तुम ना जया करो,
तुम याद ना आया करो, तुम याद ना आया करो,
अब एक तमन्ना है, गर फिर से जानम मिले,
मई श्याम बनू तेरा तू राधा बन के जिए,🌹🙏🌿

बनॉगे राधा तो यह जानोगे, बनोगे राधा तो यह जानोगे,
के कैसा प्यार है मेरा,
बनॉगे राधा तो यह जानोगे, के कैसा प्यार है मेरा,
हो सावरे हो सावरे हो सावरे हो सावरे,
हो सावरे हो सावरे हो सावरे हो सावरे,🌹🙏🌿
🌼💐💐💐💐💐💐🌼
शुभ संध्या साथियों
जय श्री राधे कृष्णा जी
कृष्णा जी सबका कल्याण करें
हरि हरि बोल
🌼💐💐💐💐💐💐💐🌼
🌞🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌞
🔔🔔🔔🔔🔔🔔

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Smt Neelam Sharma Oct 22, 2020

मां दुर्गा का छठा स्वरूप माँ कात्यायनी ************************************** नवरात्र के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा की जाती है। कात्यायनी मां दुर्गा का छठा स्वरूप हैं। चार भुजाओं वाली कात्यायनी माता का वाहन सिंह है। इनका पूजन करने से भय और रोगों से निजात मिलता है। इसके अलावा विवाह की इच्छा रखने वाले लोगों के लिए भी मां कात्यायनी की पूजा शुभ फल देने वाली है। शिक्षा के क्षेत्र वाले लोगों को कात्यायनी का पूजन निश्चित रूप से करना चाहिए। कौन हैं मां कात्यायनी? =============== मां दुर्गा के छठें स्वरूप कात्यायनी का जन्म महर्षि कात्यायन के घर पर हुआ था। इसीलिए, इन्हें कात्यायनी कहा जाता है। कथा है कि कत नाम के एक प्रसिद्ध महर्षि के वंश में जन्मे कात्यायन ऋषि वे कई सालों तक घोर तपस्या के बल पर मां भगवती को प्रसन्न कर लिया। उन्होंने भगवती से उनके घर पुत्री के रूप में जन्म लेने का वरदान मांगा जिसे मां दुर्गा ने स्वीकार कर लिया। इसके बाद मां भगवती ने कात्यायन ऋषि के घर जन्म लिया। उन्होंने महिषासुर नाम के राक्षस का वध भी किया, इसलिए उन्हें महिषासुर मर्दिनी भी कहा जाता है। कैसे करें पूजा? =========== सबसे पहले फूलों से मां कात्यायनी को प्रणाम कर मंत्र का जाप करें। इसके अलावा इस दिन दुर्गा सप्तशती के 11वें अध्याय का पाठ करें। माता को पुष्प और जायफल अर्पित करें। देवी मां के साथ इस दिन भगवान शिव की भी पूजा की जाती है। पुराणों के मुताबिक इस दिन मां कात्यायनी की पूजा करने से गृहस्थ लोगों के जीवन में खुशहाली आती है। साथ ही विवाह के लिए प्रयत्नशील लोगों को भी शुभ फल प्राप्त होता है। इस मंत्र से माता होंगी प्रसन्न ==================== मां कात्यायनी को शहद तथा लाल रंग प्रिय है, इसलिए इस दिन लाल रंग वाले कपड़े पहने और माता को शहद का भोग लगाएं। कात्यायनी की पूजा के लिए इस मंत्र का उच्चारण करें- चंद्र हासोज्ज वलकरा शार्दूलवर वाहना। कात्यायनी शुभंदद्या देवी दानव घातिनि।। 🌹🙏जय माता दी 🙏🌹

+45 प्रतिक्रिया 5 कॉमेंट्स • 11 शेयर

+103 प्रतिक्रिया 18 कॉमेंट्स • 14 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
meena Oct 22, 2020

+9 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 2 शेयर
meena Oct 22, 2020

+10 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 1 शेयर
विन Oct 22, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
vandana Oct 22, 2020

+12 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 1 शेयर
santosh Oct 22, 2020

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB