🕉श्री हरिहरो विजयतेतराम🕉 🌄सुप्रभातम🌄 🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓 🌻शनिवार, ६ मार्च २०२१🌻 सूर्योदय: 🌄 ०६:४८ सूर्यास्त: 🌅 ०६:२१ चन्द्रोदय: 🌝 २६:०४ चन्द्रास्त: 🌜११:३२ अयन 🌕 उत्तराणायने ऋतु: 🌳बसन्त शक सम्वत: 👉 १९४२ (शर्वरी) विक्रम सम्वत: 👉 २०७७ (प्रमादी) मास 👉 फाल्गुन पक्ष 👉 कृष्ण तिथि 👉 अष्टमी (१८:१० तक) नक्षत्र 👉 ज्येष्ठा (२१:३८ तक) योग 👉 वज्र (१८:१० तक) प्रथम करण 👉 बालव (०६:५९ तक) द्वितीय करण 👉 कौलव (१८:१० तक) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ ॥ गोचर ग्रहा: ॥ 🌖🌗🌖🌗 सूर्य 🌟 कुम्भ चंद्र 🌟 धनु (२१:३७ तक) मंगल 🌟 वृषभ बुध 🌟 मकर गुरु 🌟 मकर शुक्र 🌟 कुम्भ शनि 🌟 मकर राहु 🌟 वृष केतु 🌟 वृश्चिक 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभाशुभ मुहूर्त विचार ⏳⏲⏳⏲⏳⏲⏳ 〰〰〰〰〰〰〰 अभिजित मुहूर्त 👉 १२:०५ से १२:५२ अमृत काल 👉 १३:१२ से १४:४४ विजय मुहूर्त 👉 १४:२५ से १५:१२ गोधूलि मुहूर्त 👉 १८:०७ से १८:३१ निशिता मुहूर्त 👉 २४:०३ से २४:५२ राहुकाल 👉 ०९:३३ से ११:०१ राहुवास 👉 पूर्व यमगण्ड 👉 १३:५६ से १५:२४ होमाहुति 👉 गुरु (२१:३८ तक) दिशाशूल 👉 पूर्व नक्षत्र शूल 👉 पूर्व (२१:३८ तक) अग्निवास 👉 पृथ्वी चन्द्रवास 👉 उत्तर (पूर्व २१:३८ से) 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ☄चौघड़िया विचार☄ 〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️ ॥ दिन का चौघड़िया ॥ १ - काल २ - शुभ ३ - रोग ४ - उद्वेग ५ - चर ६ - लाभ ७ - अमृत ८ - काल ॥रात्रि का चौघड़िया॥ १ - लाभ २ - उद्वेग ३ - शुभ ४ - अमृत ५ - चर ६ - रोग ७ - काल ८ - लाभ नोट-- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 शुभ यात्रा दिशा 🚌🚈🚗⛵🛫 पूर्व-उत्तर (वाय विन्डिंग अथवा तिल मिश्रित चावल का सेवन कर यात्रा करें) 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 तिथि विशेष 🗓📆🗓📆 〰️〰️〰️〰️ सीताष्टमी व्रत आदि। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज जन्मे शिशुओं का नामकरण 〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️ आज २१:३८ तक जन्मे शिशुओ का नाम ज्येष्ठा नक्षत्र के द्वितीय तृतीय एवं चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (या, यी, यू) नामाक्षर से तथा इसके बाद जन्मे शिशुओ का नाम मूल नक्षत्र के प्रथम एवं द्वितीय चरण अनुसार क्रमश (ये, यो) नामाक्षर से रखना शास्त्रसम्मत है। 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 उदय-लग्न मुहूर्त कुम्भ २९:३८ से ०७:०४ मीन - ०७:०४ से ०८:२७ मेष - ०८:२७ से १०:०१ वृषभ - १०:०१ से ११:५६ मिथुन - ११:५६ से १४:११ कर्क - १४:११ से १६:३२ सिंह - १६:३२ से १८:५१ कन्या - १८:५१ से २१:०९ तुला - २१:०९ से २३:३० वृश्चिक - २३:३० से २५:४९ धनु - २५:४९ से २७:५३ मकर - २७:५३ से २९:३४ 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 पञ्चक रहित मुहूर्त शुभ मुहूर्त - ०६:३७ से ०७:०४ चोर पञ्चक - ०७:०४ से ०८:२७ रज पञ्चक - ०८:२७ से १०:०१ शुभ मुहूर्त - १०:०१ से ११:५६ चोर पञ्चक - ११:५६ से १४:११ शुभ मुहूर्त - १४:११ से १६:३२ रोग पञ्चक - १६:३२ से १८:१० शुभ मुहूर्त - १८:१० से १८:५१ मृत्यु पञ्चक - १८:५१ से २१:०९ अग्नि पञ्चक - २१:०९ से २१:३८ शुभ मुहूर्त - २१:३८ से २३:३० रज पञ्चक - २३:३० से २५:४९ शुभ मुहूर्त - २५:४९ से २७:५३ चोर पञ्चक - २७:५३ से २९:३४ शुभ मुहूर्त - २९:३४ से ३०:३६ 〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰 आज का राशिफल 🐐🐂💏💮🐅👩 〰️〰️〰️〰️〰️〰️ मेष🐐 (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) आज के दिन आपके घर मे किसी महिला का जिद्दी व्यवहार परेशानी में डालेगा अपनी जिद के कारण स्वयं शारीरिक एवं मानसिक कष्ट भोगेंगी साथ मे आपसे भी भागदौड़ करवाएंगी। मध्यान का समय आपकी सेहत में सुधार आने के बाद फिर से गिरावट लाएगा ज्यादा परिश्रम वाले कार्य से बचे अन्यथा अन्य के भरोसे रहना पड़ेगा। व्यावसायिक गतिविधियां आज सुस्त रहेंगी धन की आमद के लिये किसी की खुशामद करनी पड़ेगी जो होगा वह भी तुरंत व्यर्थ के कार्यो में खर्च हो जाएगा। किसी से पूर्व में किया वादा पूर्ण करने में असमर्थ रहेंगे मन मे अपमान का भय भी रहेगा। भाग्य पक्ष कमजोर होने के कारण कोई महत्तवपूर्ण निर्णय अनुभवी की सलाह के बाद ही ले आगे के लिये लाभदायक रहेगा। वृष🐂 (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) आज का दिन मिश्रित फलदायी रहेगा प्रयास करने पर की काम बनते नजर आएंगे थोड़ा भी आलस्य पहले की मेहनत पर भी पानी फेर सकता है। माता से आज विशेष बना कर चले आकस्मिक लाभ मिल सकता है। भूमि भवन संबंधित लेन देन अथवा कागजी कार्य आज करना शुभ रहेगा लेकिन निर्माण कार्य ना करें। व्यवसाय में धन की आमद सामान्य से कम रहेगी जो होगी वह भी उधारी अथवा अन्य खर्च के लिये पर्याप्त नही पड़ेगी आज किसी से अकस्मात उधार लेन देन के प्रसंग बनेंगे सम्भव हो तो आज ना ही करें वापसी में परेशानी होगी। संताने किसी धार्मिक पर्यटन की जिद करेंगी खर्च भी करवाएंगी घर मे पति अथवा पत्नी की सेहत अचानक नरम होगी। मिथुन👫 (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) आज के दिन आप अपनी छवि सुधारने का प्रयास करेंगे दिखावे की मानसिकता रहेगी जिससे व्यक्तित्त्व सुधारने की जगह लोग आपको चापलूस समझेंगे। संतान अथवा अन्य मित्र रिश्तेदार की बीमारी पर खर्च करना पड़ेगा। घर के सदस्यों को प्रसन्न रखने का हर संभव प्रयास करेंगे फिर भी इसमें सफल नही हो पाएंगे। पति अथवा पत्नी में आपसी तालमेल की कमी रहेगी गलतफहमी के कारण कलह भी हो सकती है। कार्य व्यवसाय की स्थिति भी असामान्य रहेगी जिस समय लाभ की आशा रहेगी तभी कोई न कोई टांग अड़ाकर इससे दूर करेगा धन लाभ की जगह खर्च अधिक होगा। शत्रु पक्ष आज प्रबल रहेगा अनैतिक कार्यो से बचे अन्यथा स्वयजनो से कलह कोर्ट कचहरी की नौबत आ सकती है। लंबी यात्रा आज ना करें आर्थिक हानि होगी। कर्क🦀 (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) आज के दिन आपके ऊपर आवेश हावी रहेगा। बुद्धि विवेक रहने के बाद भी अपनी बात मनवाने के लिये किसी पर भी अनैतिक दवाब डालेंगे विशेष लाभ आज माता अथवा किसी अन्य स्त्री के सहयोग से होने की संभावना है परंतु इसके लिए व्यवहार में नरमी रखनी पड़ेगी अन्यथा लाभ की जगह आपसी मन मुटाव हो सकता है। कार्य क्षेत्र से गुप्त युक्तियों के बल पर धन कमाएंगे अचल संपत्ति के कार्यो से भी लाभ होगा लेकिन आशा से कम ही। संतान से आज संबंध असमान्य रहेंगे एक दूसरे के प्रति राग द्वेष की भावना रहेगी। शत्रु पक्ष पीठ पीछे हानि पहुचाने का प्रयास करेंगे लेकिन सफल नही हो सकेंगे। यात्रा से लाभ होगा पुराने धन की वसूली होने की संभावना है। जोड़ो के पुराने दर्द अथवा गैस कब्ज की शिकायत से परेशानी होगी। सिंह🦁 (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) आज का दिन बीते कल की तुलना में विपरीत फलदायी रहेगा अपने रूखे व्यवहार के कारण जो लोग आपको सम्मान दे रहे थे वे ही मन ही मन कोसेंगे। कार्य क्षेत्र पर स्वतः बन रहे सौदों को नासमझी में बिगाड़ लेंगे। मध्यान के बाद परिस्थिति कुछ अनुकूल बनेगी धन की आमद किसी के सहयोग से हो जाएगी धार्मिक परोपकार के कार्य मे खर्च होगा संचित कोष में कमी आएगी व्यर्थ के कार्यो में खर्च ना हो इसका ध्यान रखें आगे आर्थिक विषमताओं से बचेंगे। संतान का सुख सहयोग मिलेगा लेकिन मन मे स्वार्थ सिद्धि की भावना भी रहेगी। माता से सुखदायक समाचार मिलेगा। स्त्री वर्ग से लाभ की संभावना है। सर्दी जुखाम अथवा त्वचा संबंधित रोग हो सकता है। कन्या👩 (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो) आज का दिन शुभ फलदायी रहेगा लेकिन आज आपको पूर्व में किसी की सहायता ना कर पाने का अफसोस भी होगा। स्वार्थ सिद्धि की भावना अधिक रहेगी प्रत्येक कार्य मे अपना लाभ देखेंगे सहकर्मी को आपका मतलबी स्वभाव अंदर से खलेगा विचारों में मतभेद रहने के कारण कुछ कार्य अधूरे रह सकते है लेकिन परिस्थिति जैसी भी हो आपका व्यवहार अन्य के प्रति रूढ़ ही रहेगा। कार्य व्यवसाय से अकस्मात धन मिलने की संभावना है लेकीन धन व्यवसाय से मिलकर व्यवसाय में ही लगाना पड़ेगा परिजनो की आवश्यकताओं को अनदेखा करने पर जिद बहस होगी। संकलन नही कर पाएंगे। घर मे भाई बहनों का स्वभाव जिद्दी रहेगा घर की तुलना में बाहर का वातावरण अधिक शांति देगा। तुला⚖️ (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) आज का दिन सावधानी से बिताए स्वभाव से संतोषी रहने पर भी लोगो को आपकी भले के लिये कही बात भी बुरी लगेगी स्वयं का पराक्रम भी आज कमजोर रहेगा जल्दी से किसी निर्णय लेने में परेशानी आएगी। पूर्व में किया कोई गलत कार्य सामने आने पर माता अथवा अन्य निकटस्थ व्यक्ति से कहा सुनी होने की संभावना है आज अपने विचारों को अपने तक ही सीमित रखें लोग आपकी गलती पकड़ने के प्रयास में रहेंगे। कार्य व्यवसाय की स्थित भी चंचल रहेगी नियमित आय में कमी आएगी आवश्यकता अनुसार लाभ कही न कहींसे हो ही जायेगा संचित कोष में अपनी संकीर्ण प्रवृति से वृद्धि करेंगे संतानों के ऊपर नजर रखें अनैतिक कार्यो में पड़ने की संभावना है। वृश्चिक🦂 (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) आज के दिन मानसिक रूप से चंचल रहेंगे दिन के आरंभिक भाग में अपने हास्य परिहास से घर का वातावरण खुशनुमा बनाएंगे लेकिन कार्य क्षेत्र पर लापरवाही के चलते अधिकारी वर्ग की फटकार सुन्नी पड़ेगी। मध्यान का समय व्यक्तित्त्व विकास करेगा लोगो से प्रसंशा सुनने को मिलेगी जिससे मन मे अहम का भाव आएगा। व्यवसाय से आज केवल जोड़ तोड़ के बाद ही धन की आमद हो सकेगी वह भी अनर्गल कार्यो में खर्च ना हो इसका ध्यान रखें। पैतृक संबंधी कार्यो अथवा वस्तु की हानि होने की सम्भवना है सतर्क रहने पर भी इससे बच नही पाएंगे। संध्या के समय भाग्य का साथ मिलेगा नए लाभ के संबंध जुड़ेंगे। सेहत में थोड़ी बहुत नरमी भी आएगी। धनु🏹 (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) आज का दिन किसी न किसी रूप में हानि देकर जाएगा विशेषकर व्यावसायिक कार्यो में जदबाजी ना करें धोखा होने की संभावना है। सरकारी कार्यो में थोड़ी बहुत राहत मिलेगी लेकिन विवाद के बाद ही। काम धंदा संभावनाओं पर केंद्रीत रहेगा लोग आश्वासन देंगे लेकिन काम के समय अपनी बात से फिर जाएंगे। धन संबंधित नई संमस्या बनेगी धन के डूबने या फंसने के आसार है लेन देन में कहासुनी से बचे बाद में पछताना पड़ेगा। स्वभाव में भावुकता अधिक रहेगी किसी की हास्य की बातों को भी दिल से लगाकर दुखी होंगे। परिवार में उदासीनता रहेगी आपस मे तालमेल की कमी रहेगी। यात्रा अतिआवश्यक होने पर ही करें सेहत खराब होगी धन भी व्यर्थ व्यय होगा। मकर🐊 (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) आज के दिन आपका व्यवहार अनाड़ियों जैसा रहेगा स्वयं को अन्य लोगो की तुलना में श्रेष्ठ दिखाने के चक्कर मे उल्टे हास्य के पात्र बनेंगे। आज आपका दिमाग धन संचय की जगह जमा पूंजी से शौक पूरे करने पर रहेगा। हृदय के साहस में वृद्धि होगी लेकिन इससे किसी न किसी को परेशान ही करेंगे। कार्य क्षेत्र पर अधिकारों को लेकर किसी से बहस हो सकती है आज अतिरिक्त आय बनाने के चक्कर मे हाथ आये लाभ से भी वंचित रह सकते है जितना मिले उसी में संतोष करे धन लाभ किसी न किसी रूप में अवश्य ही होगा। घर मे किसी परिजन से ईर्ष्या का भाव रहने के कारण वातावरण खराब रहेगा। असंयमित दिनचर्या अधिक थकान बनाएगी। किसी से किया वादा पूरा करने के लिए यात्रा करनी पड़ेगी। कुंभ🍯 (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) आज का दिन सफलता दायक है दिन के आरंभ से ही लक्ष्य बनाकर धर्य से कार्य करे जो भी कार्य करेंगे उसमे थोड़ी बहुत परेशानी के बाद सफलता अवश्य मिलेगी। किसी पुरानी योजना से धन की आमद निश्चित होगी कार्य व्यवसाय बेहतर चलेगा लेकिन उधारी के व्यवहार अधिक होने पर आर्थिक लाभ कम ही मिल सकेगा। आज सरल कार्यो की तुलना में जटिल अथवा अनैतिक मार्ग से लाभ की संभावना अधिक है लेकिन सरकार विरोधी गतिविधियों से बचे आगे मान हानि के साथ धन नाश हो सकता है। अपने खर्च में कमी लाकर पैतृक वस्तुओ और प्रतिष्ठा में वृद्धि करेंगे पति/पत्नी में थोड़ी अनबन के बाद भी आवश्यकता के समय सहयोग अवश्य मिलेगा। जोड़ो संबंधित समस्या बनी रहेगी। मीन🐳 (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) आज के दिन आपकी दिनचर्या अस्त व्यस्त रहेगी किसी भी कार्य मे बुद्धि विवेक का कम ही इस्तेमाल करेंगे। कार्य व्यवसाय में भी जोखिम लेने से डरेंगे जिसके फलस्वरूप सीमित साधनों से काम चलाना पड़ेगा। आज आप अपने कुतर्कों से आस पास के लोगो को परेशानी में डालेंगे बेतुकी बाते कर स्वयं की भी हंसी कराएंगे। कंजूस वृति के कारण परिजनों के साथ मित्रो से भी मन मुटाव होगा। परिवार में किसी सदस्य के अमर्यादित आचरण के कारण शर्मिंदा होना पड़ेगा। संतानों का मनमाना व्यवहार भी कुछ समय के लिये विचलित करेगा। संध्या से स्थिति अनुकूल बनेगी दुनियादारी की परवाह छोड़ खुद में मगन रहेंगे। शरीर के ऊपर खर्च होगा। 🌹🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏🌹

0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

पत्नियों के आदेश और सख्त ऑर्डर :— रसोई सुबह 7:00 से 8:00 तक दोपहर 12:00 से 1:00 और रात 8:00 से 9:00 तक ही खुली रहेगी । बाकी समय लॉकडाउन रहेगा । बार-बार फरमाइशें करके लॉकडाउन ना तोड़े अन्यथा 11,000 rs का जुर्माना और 8 दिन के लिए रसोई सील कर दी जाएगी । महिला एसोसिएशन द्वारा जनहित में जारी🙏🏻पत्नी क्या होती हैं ??? एक बार जरूर पढ़े... "मैं डरता नहीं उसकी कद्र करता हूँ उसका सम्मान करता हूँ |" "कोई फर्क नहीं पड़ता कि वो कैसी हैं पर मुझे सबसे प्यारा रिश्ता उसी का लगता हैं |" माँ बाप रिश्तेदार नहीं होते, वो भगवान होते हैं, उनसे रिश्ता नहीं निभाते उनकी पूजा करते हैं | भाई बहन के रिश्ते जन्मजात होते हैं, दोस्ती का रिश्ता भी मतलब का ही होता हैं, आपका मेरा रिश्ता भी जरूरत और पैसे का हैं | पर, पत्नी बिना किसी करीबी रिश्ते के होते हुए भी हमेशा के लिए हमारी हो जाती हैं, अपने सारे रिश्ते को पीछे छोड़कर, और हमारे हर सुख दुख की सहभागी बन जाती हैं आखिरी साँसो तक |" पत्नी अकेला रिश्ता नहीं हैं, बल्कि वो पूरा रिश्तों का भंडार हैं | ज़ब वो हमारी सेवा करती हैं, हमारी देखभाल करती हैं, हमसे दुलार करती हैं तो एक माँ जैसी होती हैं | ज़ब वो हमें ज़माने के उतार चढ़ाव से आगाह करती हैं और मैं अपनी कमाई उसके हाथ में रख देता हूँ क्यूंकि जनता हूँ वह हर हाल में मेरे घर का भला करेगी तब पिता जैसी होती हैं | ज़ब हमारा ख्याल रखती हैं, हमसे लाड़ करती हैं, हमारी गलती पर डांटती हैं, हमारे लिए ख़रीदारी करती हैं तब बहन जैसी होती हैं | ज़ब हमसे नयी नयी फरमाइस करती हैं, नखरे करती हैं, रूठती हैं, अपनी बात मनवाने की जिद करती हैं तब बेटी जैसी होती हैं | ज़ब हमसे सलाह करती हैं, मशवारा देती हैं,परिवार चलाने के लिए नसीहते देती हैं, झगडे करती हैं तब एक दोस्त जैसी होती हैं | ज़ब वह सारे घर का लेन देन, खरीदारी, घर चलाने की जिम्मेदारी उठाती हैं तो एक मालकिन जैसी होती हैं | और ज़ब वही सारी दुनिया को यहाँ तक की अपने बच्चों को भी छोड़कर हमारे बांहो में आती हैं तब वह पत्नी, प्रेमिका, अर्धांगिनी, हमारी प्राण और आत्मा होती हैं जो अपना सब कुछ सिर्फ हम पर न्योछावर करती हैं | मैं उसकी इज्जत करता हूँ तो गलत क्या करता हूँ...??? ❤❤❤🤗🤗🤗🥰🥰🥰😘😘😘❤❤❤🌹🌹🌹ਜੈ ਮਾਤਾ ਦੀ 🌹🌹🌹"ॐ जयंती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तु‍ते।।" || ओम ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै: || 🙏🌺#_जय_श्री_महाकाली_माँ सेवक भरत व्यास बांगा हिसार हरिद्वार वान_प्रस्थ ऋषिकेश,हरिद्वार ।

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
atul tiwari May 12, 2021

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
X7skr May 12, 2021

🕉️ namah shivay 🙏 @🌞 ~ आज का हिन्दू पंचांग ~ 🌞 ⛅ दिनांक 13 मई 2021 ⛅ दिन - गुरुवार ⛅ विक्रम संवत - 2078 (गुजरात - 2077) ⛅ शक संवत - 1943 ⛅ अयन - उत्तरायण ⛅ ऋतु - ग्रीष्म ⛅ मास - वैशाख ⛅ पक्ष - शुक्ल ⛅ तिथि - द्वितीया 14 मई प्रातः 05:38 तक तत्पश्चात तृतीया ⛅ नक्षत्र - रोहिणी 14 मई प्रातः 05:45 तक तत्पश्चात मॄगशिरा ⛅ योग - अतिगण्ड रात्रि 12:51 तक तत्पश्चात सुकर्मा ⛅ राहुकाल - दोपहर 02:14 से शाम 03:52 तक ⛅ सूर्योदय - 06:02 ⛅ सूर्यास्त - 19:07 ⛅ दिशाशूल - दक्षिण दिशा में ⛅ व्रत पर्व विवरण - 💥 विशेष - द्वितीया को बृहती (छोटा बैंगन या कटेहरी) खाना निषिद्ध है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34) 🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞 🌷 समस्याओं के समाधान का बढिया उपाय 🌷 👉🏻 कोई भी समस्या आये तो बड़ी ऊँगली (मध्यमा) और अँगूठा मिलाकर भ्रूमध्य के नीचे और तर्जनी ( अँगूठे के पासवाली पहली ऊँगली) ललाट पर लगा के शांत हो जायें | श्वास अंदर जाय तो ‘ॐ’ , बाहर आये तो ‘शांति’ – ऐसा कुछ समय तक करें | आपको समस्याओं का समाधान बढिया मिलेगा | 🙏🏻 ऋषिप्रसाद – मई २०२१ से 🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞 🌷 ससुराल मे कोई तकलीफ 🌷 👩🏻 किसी सुहागन बहन को ससुराल में कोई तकलीफ हो तो शुक्ल पक्ष की तृतीया को उपवास रखें …उपवास माने एक बार बिना नमक का भोजन कर के उपवास रखें..भोजन में दाल चावल सब्जी रोटी नहीं खाए, दूध रोटी खा लें..शुक्ल पक्ष की तृतीया को..अमावस्या से पूनम तक की शुक्ल पक्ष में जो तृतीया आती है उसको ऐसा उपवास रखें …नमक बिना का भोजन(दूध रोटी) , एक बार खाए बस……अगर किसी बहन से वो भी नहीं हो सकता पूरे साल का तो केवल 🙏🏻 माघ महीने की शुक्ल पक्ष की तृतीया, 🙏🏻 वैशाख शुक्ल तृतीया और 🙏🏻 भाद्रपद मास की शुक्ल तृतीया जरुर ऐसे ३ तृतीया का उपवास जरुर करें …नमक बिना का भोजन करें ….जरुर लाभ होगा… 🙏🏻 ..ऐसा व्रत वशिष्ठ जी की पत्नी अरुंधती ने किया था…. ऐसा आहार नमक बिना का भोजन…. वशिष्ठ और अरुंधती का वैवाहिक जीवन इतना सुंदर था कि आज भी सप्त ऋषियों में से वशिष्ठ जी का तारा होता है , उनके साथ अरुंधती का तारा होता है…आज भी आकाश में रात को हम उन का दर्शन करते हैं … 🙏🏻 .शास्त्रों के अनुसार शादी होती तो उनका दर्शन करते हैं ….. जो जानकार पंडित होता है वो बोलता है…शादी के समय वर-वधु को अरुंधती का तारा दिखाया जाता है और प्रार्थना करते हैं कि , “जैसा वशिष्ठ जी और अरुंधती का साथ रहा ऐसा हम दोनों पति पत्नी का साथ रहेगा..” ऐसा नियम है…. 🙏🏻 चन्द्रमा की पत्नी ने इस व्रत के द्वारा चन्द्रमा की यानी २७ पत्नियों में से प्रधान हुई….चन्द्रमा की पत्नी ने तृतीया के व्रत के द्वारा ही वो स्थान प्राप्त किया था…तो अगर किसी सुहागन बहन को कोई तकलीफ है तो ये व्रत करें ….उस दिन गाय को चंदन से तिलक करें … कुम-कुम का तिलक ख़ुद को भी करें उत्तर दिशा में मुख करके …. उस दिन गाय को भी रोटी गुड़ खिलाये॥ 🙏🏻 सुरेशानंदजी -19th May 08, Haridwar 🌞 ~ हिन्दू पंचांग ~ 🌞 🙏🏻🌷🌻🍀🌹🌼💐🌸🌺🙏🏻 http://T.me/Hindupanchang

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
uma prem singh verma May 12, 2021

+10 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 15 शेयर
pooja Sharma May 12, 2021

+26 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 36 शेयर
Beena Rani May 12, 2021

+4 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 1 शेयर
Namrata chhabra May 12, 2021

+26 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 19 शेयर
Rakesh Singh May 12, 2021

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
vandana May 12, 2021

+5 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 6 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB