NK Pandey
NK Pandey Jan 11, 2019

NK Pandey/Balya Kalakar

+259 प्रतिक्रिया 164 कॉमेंट्स • 85 शेयर

कामेंट्स

sita Jan 13, 2019
ram Ram bhai ji happy Lohri Shubh ratri ji

K K MORI Jan 13, 2019
jai jai shri radhe Krishna ji shubh ratri ji vandan Bhai Aap ko makar sankranti ki Hardik badhai ho🙏🌹🌷🌻

🕉️आरुषं जैन🕉️ Jan 13, 2019
जय श्री राधै राधेकृष्ण जी राधै राधै🌹 🌙शुभरात्री भैयाजी🌙😊🙏

Malkhan Singh Jan 13, 2019
*🌹🙏जय श्री कृष्णा🙏🌹 *शुभ लोहडी एव मकर संक्रांति। की आपको सपरिवार हार्दिक💕 शुभकामनाएँ।🍃राम राम जी🍃 *🌹आपकी रात्रि शुभ हो🌹*

Anjana Gupta Jan 13, 2019
ram ram bhai ji shubh ratri vandan ji god bless you and your family ji

🌷🌷🌷भोलाभैया🌷🌷🌷 Jan 14, 2019
जटाधारी देवों के देव महादेव की जय माता भवानी जगत कल्याणी रुद्र काली की जय जय श्री राधे माधव की भाई का जीवन मंगलमय हो परमपिता आपको और आपके परिवार को हमेशा खुश रख्खे भाई जय श्री राधे माधव की मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएँ भाई जय श्री राधे

sunil kumar saini Jan 14, 2019
जय श्री राधे कृष्णा जी🌹🌹🙏🙏 सुप्रभात वदंन🙏🙏 भाई जी आप और आपके परिवार को मकर संक्रांति की अनंत शुभकामनाएं💐💐 🌹🙏🙏राधे राधे जी 🙏🙏🌹🌹

Rakesh dubey Jan 14, 2019
Om Namah shivay 🚩🚩 Have a Wonderful MONDAY ALWAYS BE HAPPY JI GOD BLESS YOU AND YOUR FAMILY JI 🌸🌻🌿🌞

K K MORI Jan 14, 2019
happy Uttarayan makar sankranti ki Hardik badhai shubh prabhat vandan Bhai🙏🙏

Rajendra Prajapati Jan 14, 2019
Har Har Mahadeo Bhagwan Shiv ki kripa drashti sadaiv aap par bani rahe ji

Naresh Rawat Jan 14, 2019
ऊँ ऊँ नमो शिवाय हर हर महादेव ऊँ  🙏🚩🚩🚩 आप और आपके परिवार को मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं     शुभ प्रभात पांडे भाई जी 🙏🌞      राधे श्याम जय श्री कृष्ण🌺🙏भगवान् शिव शंकर की कृपाआप और की कृपा आप और आपके परिवार पर सदा बनी रहें🙏🚩     सदा स्वस्थ और खुश रहो🙂

R.K.Soni(गणेश मंदिर) Jan 14, 2019
ॐ सूर्याय नमः 🙏जय श्री राधे कृष्णा जी🙏 आप व आपके परिवार पर सूर्यदेव कीकृपा बनी रहे।क आपका जीवन मे हमेशा प्रकाश एवं सुख समृद्धि बनी रहे जी

Veena Kansal May 24, 2019

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 11 शेयर

+10 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 21 शेयर
Mohan Prakash Sharma May 22, 2019

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 4 शेयर

+6 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Anita Choudhary May 23, 2019

जिस रमजान में प्रधानमंत्री निवास और राष्ट्रपति भवन मुसलमानों की ससुराल बन जाता था और लोग इफ्तार पार्टियों का मजा उठाते थे , उसी में पूरे देश का ध्यान हिमालय केदार की गुफा में लगा हुआ है, सनातन धर्म आज उपेक्षित न रहकर देश की राजनीति के केन्द्र में आ चुका है। यह भारतवर्ष का पुनर्जागरण है और यह मोदीजी के इस 5 वर्ष के कार्यकाल की बहुत बड़ी उपलब्धि है। विगत कांग्रेसी और अन्य सभी प्रधानमन्त्रियों में ऐसा कर पाने की क्षमता नहीं थी। कुछ लोगों को लगता है कि हिमालय की गुफा में कैमरे के साथ मोदीजी साधना नहीं बल्कि ढोंग कर रहे हैं उन्हें मेरी सलाह है कि अपनी नकारात्मक सोच को बदलिए, यह हमारे धर्म, सभ्यता, संस्कृति का प्रचार है। चुनाव प्रचार समाप्त होने के बाद धर्म का प्रचार वह भी स्वयं करके अपने आचरण द्वारा, विना कुछ बोले, इसकी महत्ता को समझने के लिए पवित्र अन्तःकरण चाहिए। राजनीति की कुटिलता में फँसे लोगों के लिए इसे समझ पाना सरल कार्य नहीं है। मोदीजी का यह प्रतीकात्मक कार्य वर्तमान में और आने वाले समय में भी देश के नागरिकों को कितनी प्रेरणा और ऊर्जा से भरता रहेगा, यह मैं देख पा रहा हूँ। मैं यह भी देख पा रहा हूँ कि आने वाले समय में लोग गर्व से कहेंगे कि हमनें मोदी को देखा था, सुना था। "मेरे इस पोस्ट को आप गर्व से शेयर और कॉपी करें ताकि जन जन तक मेरा ये संदेश पहुंचे और पोस्ट की सार्थकता सिद्ध हो "" ""🌷भारतीय जनता पार्टी को जीत की बहुत बहुत बधाई 🌷 #जय हिंद

+51 प्रतिक्रिया 19 कॉमेंट्स • 90 शेयर
Shivcharanparmar May 24, 2019

आध्यात्मिक दर्शन। प्राण साधना 7 आगे प्रातर्मध्याह्नयोश्चन्द्र: सायंकाले दिवाकर:। तदा नित्यं जयो लाभों विपरीतं वि वर्जयेत्।। प्रात: काल और मध्याह्न में यदि चन्द्र स्वर चले और सायंकाल को सूर्य स्वर चले तो नित्य ही विजय प्राप्त होती है। यदि इसके विपरीत स्वर चले तो पराजय होती है। इस लिए विपरीत को वर्जना रोकना चाहिए साथियो इस रहस्य को यो समझों कि सूर्य उदय से आधा घंटा पहले से और आधा घंटा बाद तक तो चन्द्र स्वर चलना चाहिए और दोपहर को 11.30 बजे से 12.30 बजे तक। अपना भला चाहने वालों को इन दो सन्धियों में। इतने समयावधि में चन्द्र स्वर चलाना चाहिए और सायंकाल की सन्धि में सूर्य अस्त से आधा घंटा पहले से और आधा घंटा अस्त के बाद तक सूर्य स्वर चलना चाहिए ये अतिउत्तम योग है। ऐसा करने से आपके सभी कार्य सफल हो जातें हैं। ध्यान करैं सुबह बिस्तर पर जब आपकी निद्राभगं हो तो आपको अपने नासा छिन्द्रो को जाचना। देखना है। बाई और के छिन्द्र में श्वास जायदा है अथवा दाहिने में। जिस ओर के में भी अधिक स्वर चलता है उस ओर के हाथ को अपने मुंह पर फेरैं ओर उसी ओर का पैर पृथ्वी पर रखें परन्तु ध्यान करैं कि चन्द्र स्वर समहै और चलना दक्षिण ओर पश्चिम को है इसलिए चन्द्र स्वर में दक्षिण ओर पश्चिम में दो या चार बार बाऐं पैर से पृथ्वी का स्प्रिश करें। इसी तरह यदि सूर्य स्वर हो तो यह विषम है। सूर्य स्वर में दाहिने हाथ से मुखारविंद का स्प्रिश करें और दाहिने पैर को पृथ्वी पर विषम एक तीन पांच बार रखें इस प्रकार नित्य ध्यान पुर्वक नियम करने से आपकी नित्य ही प्रत्येक क्षेत्र में जय होगी। धन्यवाद जी शिवचरण परमार भुलवाना

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर
pawan vaishnav May 24, 2019

0 कॉमेंट्स • 1 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB