Bharat Jhunjhunwala
Bharat Jhunjhunwala Apr 28, 2018

या देवी सर्वभूतेषु शक्ति-रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥

सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके।
शरण्ये त्र्यंबके गौरी नारायणि नमोस्तुते॥



हे नारायणी! तुम सब प्रकार का मंगल प्रदान करने वाली मंगल मयी हो।

कल्याण दायिनी शिवा हो।

सब पुरुषार्थो को (धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष को) सिद्ध करने वाली हो।

शरणागत वत्सला, तीन नेत्रों वाली एवं गौरी हो।

हे नारायणी, तुम्हें नमस्कार है।

+18 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 42 शेयर

कामेंट्स

viren rana Apr 29, 2018
जय अम्बे.... जय माता दी शुभ रात्रि जी 🌹👣🙏👣🌹

DurgeshGiri May 9, 2020

+104 प्रतिक्रिया 15 कॉमेंट्स • 48 शेयर

+1 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 8 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर
Raj Kumar Sharma May 9, 2020

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 13 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 3 शेयर

+89 प्रतिक्रिया 17 कॉमेंट्स • 4 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB