श्रावण मास की पांचवी सवारी जय भूतभवन महांकाल

श्रावण मास की पांचवी सवारी
जय भूतभवन महांकाल

🙏ऊँ।जय श्री महाकाल।ऊँ🙏
श्रावण मास की अंतिम सवारी आज घटाटोप रूप मे भक्तो को दर्शन देंने निकलेगे राजाधिराज। श्रावण-भादो मास मे जब तक सवारी वापस मन्दिर लौटकर नही आती तब तक भगवान् महाकाल की संध्या आरती नही होती है। कहा जाता है,की राजा महाकाल स्वयं मुखोटे मे विराजित होकर प्रजा का हाल जानने को निकले हैं।
प्रजा अपने राजा से मिलने को इस कदर बेताब रहती है। की शहर के चौराहे-चौराहे पर स्वागत की विशेष तैयारिया की जाती है।
राजा महाकाल के नगर भ्रमण के दौरान ठण्डी हवा के झोके या पानी की हल्की फ़ुवारो से प्रकर्ति भी राजाधिराज का अभिनन्दन करती है।
राजा महाकाल इस दोरान अपनी राजा शाही मुद्रा मे होते है। सभी को अपनी अभिलाषा पूर्ण होने का वरदान देते चलते है।भक्त अपने राजा की एक झलक पाकर ही निहाल हो जाते है।
श्रावण मास की पांचवी सवारी आज शाम ठीक 4 बजे महाकालेश्वर मन्दिर प्रांगण से।
# आ रही है,पालकी
# मृत्युंजय महाकाल की🙏

+223 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 18 शेयर

कामेंट्स

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB