करता हूँ फरियाद “साँई ”बस इतनी रहमत कर देना, जो भी पुकारे तुझको बाबा खुशियों से उसकी झोली भर देना…!! 🌸‼ ॐ श्री साई राम ‼🌸 🌿🌿🌿🌿Good morning 🌿🌿🌿🌿

करता हूँ फरियाद “साँई ”बस इतनी रहमत कर देना,
जो भी पुकारे तुझको बाबा खुशियों से उसकी झोली भर देना…!!

               🌸‼ ॐ श्री साई राम ‼🌸
   🌿🌿🌿🌿Good morning 🌿🌿🌿🌿

+127 प्रतिक्रिया 20 कॉमेंट्स • 438 शेयर

कामेंट्स

Piar Singh om Feb 25, 2021
ओम साईं राम ओम साईं राम ओम साईं राम हरि ओम

Saurabh Dhawan Feb 25, 2021
Om Shri Sai Ram Ji 🙏🙏🙏🙏🙏🌹🌹🌹🌹🙏

Piar Singh om Feb 25, 2021
हरि ओम हरि ओम हरि ओम हरि ओम हरि ओम गुरु ओम गुरु ओम गुरु ओम गुरु ओम नमः शिवाय ओम नमः शिवाय ओम नमः शिवाय ओम कृष्णाय नमः ओम कृष्णाय नमः ओम कृष्णाय नमः ओम कृष्णाय नमः

Piar Singh om Feb 25, 2021
राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम

Mira nigam 7007454854 Feb 25, 2021
श्री साईं नाथ भगवान की जय लक्ष्मी नारायण भगवान की जय विष्णु जी की जय

dhruv wadhwani Feb 25, 2021
ओम भगवते वासुदेवाय नमः

prem chand shami Feb 25, 2021
ओमः साँई राम जी महाराज 🙏🏻🙏🏻 जय जय साँई राम जी 🙏🏻🙏🏻 शुभ प्रभात मंगलमय की शुभकामनायें प्रणाम भाई जी 🌷🙏🏻

जितेन्द्र दुबे Feb 25, 2021
🚩🌹🥀जय श्री मंगलमूर्ति गणेशाय नमः 🌺🌹💐🚩🌹🌺 शुभ प्रभात वंदन🌺🌹 राम राम जी 🌺🚩🌹मंदिर के सभी भाई बहनों को राम राम जी परब्रह्म परमात्मा आप सभी की मनोकामना पूर्ण करें 🙏 🚩🔱🚩प्रभु भक्तो को सादर प्रणाम 🙏 🚩🔱🚩 🕉️ नमो भगवते वासुदेवाय नमः हरि ऊँ तत्सत हरि ऊँ तत्सत परमब्रम्ह परमात्मने नमः श्रीमन नारायण नारायण नारायण श्रीमन नारायण नारायण नारायण 🚩 ऊँ उमामहेश्वराभ्यां नमः🌺 ऊँ राम रामाय नमः 🌻🌹ऊँ सीतारामचंद्राय नमः🌹 ॐ राम रामाय नमः🌹🌺🌹 ॐ हं हनुमते नमः 🌻ॐ हं हनुमते नमः🌹🥀🌻🌺🌹ॐ शं शनिश्चराय नमः 🚩🌹🚩ऊँ नमः शिवाय 🚩🌻 जय श्री राधे कृष्णा भगवान परब्रह्म परमात्मा श्री हरि विष्णु जी माता लक्ष्मी की कृपा दृष्टि आप सभी पर हमेशा बनी रहे आप का हर पल मंगलमय हो 🚩जय श्री राम 🚩🌺हर हर महादेव🚩राम राम जी 🥀शुभ प्रभात स्नेह वंदन💐🌹🌺 शुभ गुरुवार🌺 हर हर नर्मदे हर हर नर्मदे 🌺🙏🌹🙏🌷🙏🌺

Mamta Chauhan Apr 19, 2021

+200 प्रतिक्रिया 45 कॉमेंट्स • 501 शेयर
dhruv wadhwani Apr 19, 2021

+240 प्रतिक्रिया 49 कॉमेंट्स • 362 शेयर
Amar jeet mishra Apr 19, 2021

+52 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 255 शेयर

*सुख दुख आते जाते रहेंगे* घुप्प अंधेरी रात में एक व्यक्ति नदी में कूद कर आत्महत्या करने का विचार कर रहा था. वर्षा के दिन थे और नदी पूरे उफान पर थी. आकाश में बादल घिरे थे और रह-रहकर बिजली चमक रही थी. वह उस देश का बड़ा धनी व्यक्ति था लेकिन अचानक हुए घाटे से उसकी सारी संपत्ति चली गई. उसके भाग्य का सूरज डूब गया था. चारों ओर निराशा ही निराशा. भविष्य नजर नहीं आ रहा था. उसे कुछ सूझता न था कि क्या करे. उसने स्वयं को समाप्त करने का विचार कर लिया था. नदी में कूदने के लिए जैसे ही चट्टान के छोर पर खड़ा होकर वह अंतिम बार ईश्वर का स्मरण करने लगा तभी दो बुजुर्ग परंतु मजबूत बांहों ने उसे रोक लिया. बिजली की चमक में उसने देखा कि एक वृद्ध साधु उसे पकड़े हुए है ! उस वृद्ध ने उससे निराशा का कारण पूछा. किनारे लाकर उसकी सारी कथा सुनी फिर हंसकर बोला- तो तुम यह स्वीकार करते हो कि पहले तुम सुखी थे. सेठ बोला- हाँ मेरे भाग्य का सूर्य पूरे प्रकाश से चमक रहा था. सब ओर मान-सम्मान संपदा थी. अब जीवन में सिवाय अंधकार और निराशा के कुछ भी शेष नहीं है. वृद्ध फिर हंसा और बोला- दिन के बाद रात्रि है और रात्रि के बाद दिन. जब दिन नहीं टिकता तो रात्रि भी कैसे टिकेगी ? परिवर्तन प्रकृति का नियम है ठीक से सुनो और समझ लो. जब तुम्हारे अच्छे दिन हमेशा के लिए नहीं रहे तो बुरे दिन भी नहीं रहेंगे. जो इस सत्य को जान लेता है वह सुख में सुखी नहीं होता और दुख में दुखी नहीं होता ! उसका जीवन उस अडिग चट्टान की भांति हो जाता है जो वर्षा और धूप में समान ही बनी रहती है ! सुख और दुख को जो समभाव से ले, समझ लो कि उसने स्वयं को जान लिया. सुख-दुख तो आते-जाते रहते हैं. यही प्रकृति की गति है. ईश्वर का इंसाफ. जो न आता है और न जाता है वह है स्वयं का अस्तित्व. इस अस्तित्व में ठहर जाना ही समत्व है. सोचो यदि किसी ने जीवन में एक जैसा ही भाव देखा. हमेशा सुख का ही. जिस चीज की आवश्यकता हुई उससे पहले वह मिल गई. तो क्या वह कुछ उपहार पाने की खुशी का अनुभव कैसे कर सकता है ? *दुख न आए तो सुख का स्वाद क्या होता कोई कैसे जाने ? जो इस शाश्वत नियम को जान लेता है, उसका जीवन बंधनों से मुक्त हो जाता है..!!*

+378 प्रतिक्रिया 95 कॉमेंट्स • 464 शेयर
ramkumarverma Apr 19, 2021

+40 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 187 शेयर

+23 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 101 शेयर

+18 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 85 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB