Neha Sharma
Neha Sharma Nov 25, 2021

*सुविचार...*सत्य, विनय, शास्त्रज्ञान, विद्या, कुलीनता, शील, बल, धन, शूरता और वाक्पटुता ये दस लक्षण स्वर्ग के कारण हैं।*जय श्री राधेकृष्णा*🙏 *शुभ रात्रि नमन*🙏 *एक औरत को आखिर क्या चाहिए होता है?..... *एक बार जरुर पढें ये छोटी सी कहानी.....✍️ *राजा हर्षवर्धन युद्ध में हार गए। *हथकड़ियों में जीते हुए पड़ोसी राजा के सम्मुख पेश किए गए। पड़ोसी देश का राजा अपनी जीत से प्रसन्न था और उसने हर्षवर्धन के सम्मुख एक प्रस्ताव रखा... *यदि तुम एक प्रश्न का जवाब हमें लाकर दे दोगे तो हम तुम्हारा राज्य लौटा देंगे, अन्यथा उम्र कैद के लिए तैयार रहें। *प्रश्न है.. एक स्त्री को सचमुच क्या चाहिए होता है ? *इसके लिए तुम्हारे पास एक महीने का समय है हर्षवर्धन ने यह प्रस्ताव स्वीकार कर लिया.. *वे जगह जगह जाकर विदुषियों, विद्वानों और तमाम घरेलू स्त्रियों से लेकर नृत्यांगनाओं, वेश्याओं, दासियों और रानियों, साध्वी सब से मिले और जानना चाहा कि एक स्त्री को सचमुच क्या चाहिए होता है ? किसी ने सोना, किसी ने चाँदी, किसी ने हीरे जवाहरात, किसी ने प्रेम-प्यार, किसी ने बेटा-पति-पिता और परिवार तो किसी ने राजपाट और संन्यास की बातें कीं, मगर हर्षवर्धन को सन्तोष न हुआ। *महीना बीतने को आया और हर्षवर्धन को कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला.. *किसी ने सुझाया कि दूर देश में एक जादूगरनी रहती है, उसके पास हर चीज का जवाब होता है शायद उसके पास इस प्रश्न का भी जवाब हो.. *हर्षवर्धन अपने मित्र सिद्धराज के साथ जादूगरनी के पास गए और अपना प्रश्न दोहराया। *जादूगरनी ने हर्षवर्धन के मित्र की ओर देखते हुए कहा.. मैं आपको सही उत्तर बताऊंगी परंतु इसके एवज में आपके मित्र को मुझसे शादी करनी होगी । *जादूगरनी बुढ़िया तो थी ही, बेहद बदसूरत थी, उसके बदबूदार पोपले मुंह से एक सड़ा दाँत झलका जब उसने अपनी कुटिल मुस्कुराहट हर्षवर्धन की ओर फेंकी । *हर्षवर्धन ने अपने मित्र को परेशानी में नहीं डालने की खातिर मना कर दिया, सिद्धराज ने एक बात नहीं सुनी और अपने मित्र के जीवन की खातिर जादूगरनी से विवाह को तैयार हो गया *तब जादूगरनी ने उत्तर बताया.. "स्त्रियाँ, स्वयं निर्णय लेने में आत्मनिर्भर बनना चाहती हैं | " *यह उत्तर हर्षवर्धन को कुछ जमा, पड़ोसी राज्य के राजा ने भी इसे स्वीकार कर लिया और उसने हर्षवर्धन को उसका राज्य लौटा दिया *इधर जादूगरनी से सिद्धराज का विवाह हो गया, जादूगरनी ने मधुरात्रि को अपने पति से कहा.. *चूंकि तुम्हारा हृदय पवित्र है और अपने मित्र के लिए तुमने कुरबानी दी है अतः मैं चौबीस घंटों में बारह घंटे तो रूपसी के रूप में रहूंगी और बाकी के बारह घंटे अपने सही रूप में, बताओ तुम्हें क्या पसंद है ? *सिद्धराज ने कहा.. प्रिये, यह निर्णय तुम्हें ही करना है, मैंने तुम्हें पत्नी के रूप में स्वीकार किया है, और तुम्हारा हर रूप मुझे पसंद है । *जादूगरनी यह सुनते ही रूपसी बन गई, उसने कहा.. चूंकि तुमने निर्णय मुझ पर छोड़ दिया है तो मैं अब हमेशा इसी रूप में रहूंगी, दरअसल मेरा असली रूप ही यही है। *बदसूरत बुढ़िया का रूप तो मैंने अपने आसपास से दुनिया के कुटिल लोगों को दूर करने के लिए धरा हुआ था । *अर्थात्, सामाजिक व्यवस्था ने औरत को परतंत्र बना दिया है, पर मानसिक रूप से कोई भी महिला परतंत्र नहीं है। *इसीलिए जो लोग पत्नी को घर की मालकिन बना देते हैं, वे अक्सर सुखी देखे जाते हैं। आप उसे मालकिन भले ही न बनाएं, पर उसकी ज़िन्दगी के एक हिस्से को मुक्त कर दें। उसे उस हिस्से से जुड़े निर्णय स्वयं लेने दें।

*सुविचार...*सत्य, विनय, शास्त्रज्ञान, विद्या, कुलीनता, शील, बल, धन, शूरता और वाक्पटुता ये दस लक्षण स्वर्ग के कारण हैं।*जय श्री राधेकृष्णा*🙏 *शुभ रात्रि नमन*🙏
*एक औरत को आखिर क्या चाहिए होता है?.....
*एक बार जरुर पढें ये छोटी सी कहानी.....✍️

*राजा हर्षवर्धन युद्ध में हार गए।
*हथकड़ियों में जीते हुए पड़ोसी राजा के सम्मुख पेश किए गए। पड़ोसी देश का राजा अपनी जीत से प्रसन्न था और उसने हर्षवर्धन के सम्मुख एक प्रस्ताव रखा...

*यदि तुम एक प्रश्न का जवाब हमें लाकर दे दोगे तो हम तुम्हारा राज्य लौटा देंगे, अन्यथा उम्र कैद के लिए तैयार रहें।

*प्रश्न है.. एक स्त्री को सचमुच क्या चाहिए होता है ?

*इसके लिए तुम्हारे पास एक महीने का समय है हर्षवर्धन ने यह प्रस्ताव स्वीकार कर लिया..

*वे जगह जगह जाकर विदुषियों, विद्वानों और तमाम घरेलू स्त्रियों से लेकर नृत्यांगनाओं, वेश्याओं, दासियों और रानियों, साध्वी सब से मिले और जानना चाहा कि एक स्त्री को सचमुच क्या चाहिए होता है ? किसी ने सोना, किसी ने चाँदी, किसी ने हीरे जवाहरात, किसी ने प्रेम-प्यार, किसी ने बेटा-पति-पिता और परिवार तो किसी ने राजपाट और संन्यास की बातें कीं, मगर हर्षवर्धन को सन्तोष न हुआ।

*महीना बीतने को आया और हर्षवर्धन को कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला..

*किसी ने सुझाया कि दूर देश में एक जादूगरनी रहती है, उसके पास हर चीज का जवाब होता है शायद उसके पास इस प्रश्न का भी जवाब हो..

*हर्षवर्धन अपने मित्र सिद्धराज के साथ जादूगरनी के पास गए और अपना प्रश्न दोहराया।

*जादूगरनी ने हर्षवर्धन के मित्र की ओर देखते हुए कहा.. मैं आपको सही उत्तर बताऊंगी परंतु इसके एवज में आपके मित्र को मुझसे शादी करनी होगी ।

*जादूगरनी बुढ़िया तो थी ही, बेहद बदसूरत थी, उसके बदबूदार पोपले मुंह से एक सड़ा दाँत झलका जब उसने अपनी कुटिल मुस्कुराहट हर्षवर्धन की ओर फेंकी ।

*हर्षवर्धन ने अपने मित्र को परेशानी में नहीं डालने की खातिर मना कर दिया, सिद्धराज ने एक बात नहीं सुनी और अपने मित्र के जीवन की खातिर जादूगरनी से विवाह को तैयार हो गया

*तब जादूगरनी ने उत्तर बताया..

"स्त्रियाँ, स्वयं निर्णय लेने में आत्मनिर्भर बनना चाहती हैं | "

*यह उत्तर हर्षवर्धन को कुछ जमा, पड़ोसी राज्य के राजा ने भी इसे स्वीकार कर लिया और उसने हर्षवर्धन को उसका राज्य लौटा दिया

*इधर जादूगरनी से सिद्धराज का विवाह हो गया, जादूगरनी ने मधुरात्रि को अपने पति से कहा..

*चूंकि तुम्हारा हृदय पवित्र है और अपने मित्र के लिए तुमने कुरबानी दी है अतः मैं चौबीस घंटों में बारह घंटे तो रूपसी के रूप में रहूंगी और बाकी के बारह घंटे अपने सही रूप में, बताओ तुम्हें क्या पसंद है ?

*सिद्धराज ने कहा.. प्रिये, यह निर्णय तुम्हें ही करना है, मैंने तुम्हें पत्नी के रूप में स्वीकार किया है, और तुम्हारा हर रूप मुझे पसंद है ।

*जादूगरनी यह सुनते ही रूपसी बन गई, उसने कहा.. चूंकि तुमने निर्णय मुझ पर छोड़ दिया है तो मैं अब हमेशा इसी रूप में रहूंगी, दरअसल मेरा असली रूप ही यही है।

*बदसूरत बुढ़िया का रूप तो मैंने अपने आसपास से दुनिया के कुटिल लोगों को दूर करने के लिए धरा हुआ था ।

*अर्थात्, सामाजिक व्यवस्था ने औरत को परतंत्र बना दिया है, पर मानसिक रूप से कोई भी महिला परतंत्र नहीं है।

*इसीलिए जो लोग पत्नी को घर की मालकिन बना देते हैं, वे अक्सर सुखी देखे जाते हैं। आप उसे मालकिन भले ही न बनाएं, पर उसकी ज़िन्दगी के एक हिस्से को मुक्त कर दें। उसे उस हिस्से से जुड़े निर्णय स्वयं लेने दें।

+183 प्रतिक्रिया 77 कॉमेंट्स • 193 शेयर

कामेंट्स

Anup Kumar Sinha Nov 26, 2021
जय माता दी 🙏🏻🙏🏻शुभ संध्या वंदन, बहना । माता रानी आपको सुख,शांति, समृद्धि और प्रसन्नता प्रदान करें। आपका हर दिन मंगलमय हो 🥀🙏🏻🥀

Anil Nov 26, 2021
good night ❤️🌺🙏🌺❤️

brijmohan kaseara Nov 26, 2021
very nice Thoughtful wo men post..thank Didi ji goodness Day and life God name every to happen

Ashwinrchauhan Nov 26, 2021
जय श्री कृष्ण राधे राधे जी राधारानी की कृपा आप पर आप के पुरे परिवार पर सदेव बनी रहे मेरी आदरणीय बहना जी आप का हर पल मंगल एवं शुभ रहे भगवान श्री कृष्णा जी आप की हर मनोकामना पूरी करे आप का आने वाला दिन शुभ रहे गुड नाईट बहना जी

Anil Nov 27, 2021
good morning ❤️🌹🙏🙏🌹❤️

santoshi thakur Nov 29, 2021
Good afternoon sister 🙏 om namah shivay 🙏🏵️ Jai shree mahakal 🏵️🙏 Har har Mahadev 🙏🏵️ Jai bholenath🏵️🙏aapka har pal mangalmay ho mahadev ji ki kripa aap par bani rahe God bless you 👍👍 Radhe Radhe krishna ji 🙏🏵️

Babubhai Nov 29, 2021
जय श्री कृष्ण शुभ संध्या वंदन जी🌷🙏🙏🌷

🔹🌼🇮🇳हरि प्रिय पाठक🇮🇳🌼🔹 Nov 29, 2021
⛳🏵️⛳**जय महादेव**⛳🏵️⛳ 🥀🌚शुभ रात्रि वंदनजी🌚🥀 **जिंदगी में सबसे बड़ा धनवान* **वो इंसान होता है,जो दूसरों को* **अपनी मुस्कुराहट देकर....... * **दिल जीत लेता है.............. !! 🦋😊🦋😊🦋😊🦋😊🦋😊 🌿🍍🌿आप की रात्रि सकूँन भरा कृष्णमय हो,आने वाला कल सकल मनोरथ पूर्णदायक हो,शुभ रात्रि वंदन बहन जी🌿🍍🌿 ❣️🌼‼️🙏‼️🌼❣️

Ravi Kumar Taneja Nov 30, 2021
*🌹राम राम जी 🌹* *🙏💐🙏नमस्कार, शुभ प्रभात: स्नेह वंदन जी, आपका जीवन मंगलमय हो🙏💐🙏* 🕉जय श्री हनुमान 🕉 *🏹हमेशा याद रखें पछतावा* *हमारा अतीत नहीं बदल सकता* *🏹और चिंता* *हमारा भविष्य नहीं सँवार सकती* *🌴इसलिए🌴* *🌹वर्तमान का आनंद लेना ही* *🌹जीवन का सच्चा सुख है...🌹* प्लीज जरा मुसकुराईऐ🤗 जय जय जय बजरंग बली 🙏🌺🙏 जय श्री राम 🙏💐🙏 प्रभु श्रीराम आपको और आपके परिवार को शांति,सुख-समृद्धि, मान-सन्मान,यश-कीर्ति, वैभव,ऐश्वर्य प्रदान करें,प्रभु श्रीराम जी से हमारी यही प्रार्थना है !!!🙏🌹🙏 *‼️सदैव प्रसन्न रहिये!* *जो प्राप्त है,पर्याप्त है‼️* 🕉🦚🦢🙏🌹🙏🦢🦚🕉

Manoj manu Nov 30, 2021
🚩🌺जय श्री कृष्णा जी राधे राधे जी शुभ संध्या मधुर मंगल जी दीदी 🌿🙏

+9 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 22 शेयर

+20 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 101 शेयर
JAGDISH BIJARNIA Jan 17, 2022

+68 प्रतिक्रिया 24 कॉमेंट्स • 134 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 5 शेयर
Babbu Bhai Jan 16, 2022

+25 प्रतिक्रिया 6 कॉमेंट्स • 54 शेयर
JAGDISH BIJARNIA Jan 16, 2022

+182 प्रतिक्रिया 116 कॉमेंट्स • 240 शेयर
R S Sharma Jan 16, 2022

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 32 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB