Dr.Archana Sharma
Dr.Archana Sharma Apr 18, 2017

Sri Janki Ballabh Ji(Ramchandra Ji)Old city Dholpur(Raj.) Me Hanumaan Janmotav ki jhanki.

Sri Janki Ballabh Ji(Ramchandra Ji)Old city Dholpur(Raj.) Me Hanumaan Janmotav ki jhanki.
Sri Janki Ballabh Ji(Ramchandra Ji)Old city Dholpur(Raj.) Me Hanumaan Janmotav ki jhanki.
Sri Janki Ballabh Ji(Ramchandra Ji)Old city Dholpur(Raj.) Me Hanumaan Janmotav ki jhanki.
Sri Janki Ballabh Ji(Ramchandra Ji)Old city Dholpur(Raj.) Me Hanumaan Janmotav ki jhanki.

Sri Janki Ballabh Ji(Ramchandra Ji)Old city Dholpur(Raj.) Me Hanumaan Janmotav ki jhanki.

+38 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 2 शेयर

कामेंट्स

Raju Tamboli Apr 18, 2017
जय.जय श्रीराधेय राधेय जी

🇮🇳जयहिन्द 🇮🇳 🔮🔮🔮 !! श्री राम !! 🇮🇳 🔮🔮🔮 वंदे मातरम 🇮🇳 💚💚 प्रभु श्री रामचन्द्र जी की भक्ति मय दिन शनिवार का आपको  💕🙏🏻 स्नेहिल वंदन जी 🙏🏻💕 💚💚   💛💛💛 ओम शं शनैश्चराय नमो नमः 💛💛💛       🔱💥🔱 जय हनुमान 🔱💥🔱            💙💥💙 जय श्री राम 💙💥💙 --•●•○💥○🔮⚜⚜⚜❤⚜⚜⚜🔮○💥○•●●•- एक आदमी ने दुकानदार से पूछा - केले और सेब क्या भाव लगाऐ हैं ? केले 20 रु.दर्जन और सेब 100 रु. किलो । उसी समय एक गरीब सी औरत दुकान में आयी और बोली मुझे एक किलो सेब और एक दर्जन केले चाहिये - क्या भाव है भैया ? दुकानदार: केले 5 रु दर्जन और सेब 25 रु किलो। औरत ने कहा जल्दी से दे दीजिये । दुकान में पहले से मौजूद ग्राहक ने खा जाने वाली निगाहों से घूरकर दुकानदार को देखा । इससे पहले कि वो कुछ कहता - दुकानदार ने ग्राहक को इशारा करते हुये थोड़ा सा इंतजार करने को कहा। औरत खुशी खुशी खरीदारी करके दुकान से निकलते हुये बड़बड़ाई - हे भगवान तेरा लाख- लाख शुक्र है , मेरे बच्चे फलों को खाकर बहुत खुश होंगे । औरत के जाने के बाद दुकानदार ने पहले से मौजूद ग्राहक की तरफ देखते हुये कहा : ईश्वर गवाह है भाई साहब ! मैंने आपको कोई धोखा देने की कोशिश नहीं की यह विधवा महिला है जो चार अनाथ बच्चों की मां है । किसी से भी किसी तरह की मदद लेने को तैयार नहीं है। मैंने कई बार कोशिश की है और हर बार नाकामी मिली है।तब मुझे यही तरीकीब सूझी है कि जब कभी ये आए तो मै उसे कम से कम दाम लगाकर चीज़े दे दूँ। मैं यह चाहता हूँ कि उसका भरम बना रहे और उसे लगे कि वह किसी की मोहताज नहीं है। मैं इस तरह भगवान के बन्दों की पूजा कर लेता हूँ । थोड़ा रूक कर दुकानदार बोला : यह औरत हफ्ते में एक बार आती है। भगवान गवाह है जिस दिन यह आ जाती है उस दिन मेरी बिक्री बढ़ जाती है और उस दिन परमात्मा मुझपर मेहरबान होजाता है । ग्राहक की आंखों में आंसू आ गए, उसने आगे बढकर दुकानदार को गले लगा लिया और बिना किसी शिकायत के अपना सौदा खरीदकर खुशी खुशी चला गया । कहानी का मर्म :- खुशी अगर बांटना चाहो तो तरीका भी मिल जाता है l पोस्ट कैसी लगी कमेन्ट करके जरूर बताएं....

+69 प्रतिक्रिया 9 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 3 शेयर

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

+4 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
ganga Apr 4, 2020

+25 प्रतिक्रिया 3 कॉमेंट्स • 11 शेयर
anupkumaryadav Apr 4, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Hariram kumar Apr 4, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
Sunil Kumar. Apr 4, 2020

+2 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर
sushil88tiwari Apr 4, 2020

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB