मायमंदिर फ़्री कुंडली
डाउनलोड करें
Dinesh  sahu
Dinesh sahu Jan 8, 2019

https://youtu.be/V_bl2tD24QI

+12 प्रतिक्रिया 12 कॉमेंट्स • 0 शेयर

कामेंट्स

Dinesh sahu Jan 8, 2019
ओम नमः शिवाय जय श्री कृष्णा राधे राधे जी बंसी वाले की जय

Gour.... Jan 11, 2019
जय श्री राधे जय श्री कृष्णा जी। सुबह की राम राम जी। आपका दिन मंगलमय हो

Preeti jain Jan 11, 2019
Jai Shri Krishna radhe radhe jai mata di shubh ratri ji🚩🍁🍁🌹🌹

Dinesh sahu Jan 11, 2019
जय श्री कृष्णा राधे राधे

Dinesh sahu Jan 11, 2019
जय श्री कृष्णा राधे राधे

soniya Jan 12, 2019
Jai Shree Krishna Radhe Radhe ji good morning Ji 🙏🙏

+5 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
Hemang Nangia Jun 17, 2019

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 0 शेयर

🌹jai Shri Krishna 🌹[Vrindavan Dreams -🌹 *राधे राधे*🌹बोलने से निम्नलिखित फायदे मिलते है *(1)राधे राधे*बोलने से व्यक्ति की नेगेटिव सोच दूर हो जाती है *(2) राधे राधे*बोलने से व्यक्ति प्रसन्नता का अनुभव करता है *(3) राधे राधे* बोलने से व्यक्ति सभी धर्मों का आदर करने लगता है व भूखे को भोजन प्यासे को पानी देने के लिए प्रेरित होता है *(4)राधे राधे*बोलने से व्यक्ति अध्यात्मिक शक्ति व सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त करता है *(5) राधे राधे*बोलने से आत्मा नारायण व मुरारी से संबंध और मजबूत होता है *(6)राधे राधे* बोलने से व्यक्ति में दूसरों का बुरा करने की इच्छा जागृत नहीं होता *(7) राधे राधे*बोलने से व्यक्ति अहिंसक बनता है और उसमें क्रूर स्वभाव नष्ट हो जाता है नाम एक *राधे राधे*फायदे अनेक....!!! *रा* कहत रोग सब नाशे *धा* कहत मिटे भाव बाधा जपिए निरन्तर *श्री राधा श्री राधा श्री राधा....* *🙏जय श्री राधे राधे🙏*

+11 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 1 शेयर

+28 प्रतिक्रिया 7 कॉमेंट्स • 23 शेयर
N S Yadav GoldMine Jun 16, 2019

डॉ. कोमल अग्रवाल :- {Bolo Ji Radhey Radhey} कृपया मैसेज को पढें और अपने दोस्तों को भेजे l ये जानना बहुत जरुरी है.! हम पानी क्यों ना पीये खाना खाने के बाद.! क्या कारण है.? हमने दाल खाई, हमने सब्जी खाई, हमने रोटी खाई, हमने दही खाया, लस्सी पी, दूध, दही, छाछ, लस्सी, फल आदि.! ये सब कुछ भोजन के रूप मे हमने ग्रहण किया ये सब कुछ हमको उर्जा देता है और पेट उस उर्जा को आगे ट्रांसफर करता है.! पेट मे एक छोटा सा स्थान होता है जिसको हम हिंदी मे कहते है "अमाशय" उसी स्थान का संस्कृत नाम है "जठर" उसी स्थान को अंग्रेजी मे कहते है "epigastrium" ये एक थैली की तरह होता है और यह जठर हमारे शरीर मे सबसे महत्वपूर्ण है क्योंकि सारा खाना सबसे पहले इसी मे आता है। ये बहुत छोटा सा स्थान हैं इसमें अधिक से अधिक 350gms खाना आ सकता है.! हम कुछ भी खाते सब ये अमाशय मे आ जाता है.! आमाशय मे अग्नि प्रदीप्त होती है उसी को कहते हे "जठराग्नि".! ये जठराग्नि है वो अमाशय मे प्रदीप्त होने वाली आग है । ऐसे ही पेट मे होता है जेसे ही आपने खाना खाया की जठराग्नि प्रदीप्त हो गयी.. यह ऑटोमेटिक है, जेसे ही अपने रोटी का पहला टुकड़ा मुँह मे डाला की इधर जठराग्नि प्रदीप्त हो गई.! ये अग्नि तब तक जलती हे जब तक खाना' पचता है | अब अपने खाते ही गटागट पानी पी लिया और खूब ठंडा पानी पी लिया. और कई लोग तो बोतल पे बोतल पी जाते है.! अब जो आग (जठराग्नि) जल रही थी वो बुझ गयी.! आग अगर बुझ गयी .तो खाने की पचने की जो क्रिया है वो रुक गयी.! You suffer from IBS, Never CURABLE अब हमेशा याद रखें खाना जाने पर हमारे पेट में दो ही क्रिया होती है, एक क्रिया है जिसको हम कहते हे "Digestion" और दूसरी है "fermentation" फर्मेंटेशन का मतलब है सड़ना...! और डायजेशन का मतलब हे पचना.! आयुर्वेद के हिसाब से आग जलेगी तो खाना पचेगा, खाना पचेगा तो उससे रस बनेगा.! जो रस बनेगा तो उसी रस से मांस, मज्जा, रक्त, वीर्य, हड्डिया, मल, मूत्र और अस्थि बनेगा और सबसे अंत मे मेद बनेगा.! ये तभी होगा जब खाना पचेगा.! यह सब हमें चाहिए. ये तो हुई खाना पचने की बात. अब जब खाना सड़ेगा तब क्या होगा..? खाने के सड़ने पर सबसे पहला जहर जो बनता है वो हे यूरिक एसिड (uric acid) कई बार आप डॉक्टर के पास जाकर कहते है की मुझे घुटने मे दर्द हो रहा है, मुझे कंधे-कमर मे दर्द हो रहा है तो डॉक्टर कहेगा आपका यूरिक एसिड बढ़ रहा है आप ये दवा खाओ, वो दवा खाओ यूरिक एसिड कम करो| और एक दूसरा उदाहरण खाना जब खाना सड़ता है, तो यूरिक एसिड जेसा ही एक दूसरा विष बनता है जिसको हम कहते हे LDL (Low Density lipoprotine) माने खराब कोलेस्ट्रोल (cholesterol) जब आप ब्लड प्रेशर(BP) चेक कराने डॉक्टर के पास जाते हैं तो वो आपको कहता है (HIGH BP) हाई-बीपी है आप पूछोगे... कारण बताओ.? तो वो कहेगा कोलेस्ट्रोल बहुत ज्यादा बढ़ा हुआ है | आप ज्यादा पूछोगे की कोलेस्ट्रोल कौनसा बहुत है ? तो वो आपको कहेगा LDL बहुत है | इससे भी ज्यादा खतरनाक एक  विष है वो है.... VLDL (Very Low Density Lipoprotine) ये भी कोलेस्ट्रॉल जेसा ही विष है। अगर VLDL बहुत बढ़ गया तो आपको भगवान भी नहीं बचा सकता| खाना सड़ने पर और जो जहर बनते है उसमे एक ओर विष है जिसको अंग्रेजी मे हम कहते है triglycerides.! जब भी डॉक्टर आपको कहे की आपका "triglycerides" बढ़ा हुआ है तो समझ लीजिए की आपके शरीर मे विष निर्माण हो रहा है | तो कोई यूरिक एसिड के नाम से कहे, कोई कोलेस्ट्रोल के नाम से कहे, कोई LDL -VLDL के नाम से कहे समझ लीजिए की ये विष हे और ऐसे विष 103 है | ये सभी विष तब बनते है जब खाना सड़ता है | मतलब समझ लीजिए किसी का कोलेस्ट्रोल बढ़ा हुआ है तो एक ही मिनिट मे ध्यान आना चाहिए की खाना पच नहीं रहा है , कोई कहता है मेरा triglycerides बहुत बढ़ा हुआ है तो एक ही मिनिट मे डायग्नोसिस कर लीजिए आप...! की आपका खाना पच नहीं रहा है | कोई कहता है मेरा यूरिक एसिड बढ़ा हुआ है तो एक ही मिनिट लगना चाहिए समझने मे की खाना पच नहीं रहा है | क्योंकि खाना पचने पर इनमे से कोई भी जहर नहीं बनता.! खाना पचने पर जो बनता है वो है.... मांस, मज्जा, रक्त, वीर्य, हड्डिया, मल, मूत्र, अस्थि.! और खाना नहीं पचने पर बनता है.... यूरिक एसिड, कोलेस्ट्रोल, LDL-VLDL.! और यही आपके शरीर को रोगों का घर बनाते है.! पेट मे बनने वाला यही जहर जब ज्यादा बढ़कर खून मे आते है ! तो खून दिल की नाड़ियो मे से निकल नहीं पाता और रोज थोड़ा थोड़ा कचरा जो खून मे आया है इकट्ठा होता रहता है और एक दिन नाड़ी को ब्लॉक कर देता है जिसे आप heart attack कहते हैं.! तो हमें जिंदगी मे ध्यान इस बात पर देना है की जो हम खा रहे हे वो शरीर मे ठीक से पचना चाहिए और खाना ठीक से पचना चाहिए इसके लिए पेट मे ठीक से आग (जठराग्नि) प्रदीप्त होनी ही चाहिए| क्योंकि बिना आग के खाना पचता नहीं हे और खाना पकता भी नहीं है महत्व की बात खाने को खाना नहीं खाने को पचाना है | आपने क्या खाया कितना खाया वो महत्व नहीं हे.! खाना अच्छे से पचे इसके लिए वाणभट्ट जी ने सूत्र दिया.! "भोजनान्ते विषं वारी" (मतलब खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीना जहर पीने के बराबर है) इसलिए खाने के तुरंत बाद पानी कभी मत पिये..! अब आपके मन मे सवाल आएगा कितनी देर तक नहीं पीना.? तो 1 घंटे 48 मिनट तक नहीं पीना ! अब आप कहेंगे इसका क्या calculation हैं.? बात ऐसी है....! जब हम खाना खाते हैं तो जठराग्नि द्वारा सब एक दूसरे मे मिक्स होता है और फिर खाना पेस्ट मे बदलता हैं.! पेस्ट मे बदलने की क्रिया होने तक 1 घंटा 48 मिनट का समय लगता है ! उसके बाद जठराग्नि कम हो जाती है.! (बुझती तो नहीं लेकिन बहुत धीमी हो जाती है) पेस्ट बनने के बाद शरीर मे रस बनने की प्रक्रिया शुरू होती है ! तब हमारे शरीर को पानी की जरूरत होती हैं। तब आप जितना इच्छा हो उतना पानी पिये.! जो बहुत मेहनती लोग है (खेत मे हल चलाने वाले, रिक्शा खीचने वाले, पत्थर तोड़ने वाले) उनको 1 घंटे के बाद ही रस बनने लगता है उनको  घंटे बाद पानी पीना चाहिए ! अब आप कहेंगे खाना खाने के पहले कितने मिनट तक पानी पी सकते हैं.? तो खाना खाने के 45 मिनट पहले तक आप पानी पी सकते हैं ! अब आप पूछेंगे ये मिनट का calculation....? बात ऐसी ही जब हम पानी पीते हैं तो वो शरीर के प्रत्येक अंग तक जाता है ! और अगर बच जाये तो 45 मिनट बाद मूत्र पिंड तक पहुंचता है.! तो पानी - पीने से मूत्र पिंड तक आने का समय 45 मिनट का है ! तो आप खाना खाने से 45 मिनट पहले ही पाने पिये.! इसका जरूर पालण करे..! अधिक अधिक लोगो को बताएं.! संग्राहक.आनंद महाजन. Jai Shri Krishna राधे राधे जी। Have a nice day

+3 प्रतिक्रिया 0 कॉमेंट्स • 2 शेयर
P.B Jun 17, 2019

+177 प्रतिक्रिया 65 कॉमेंट्स • 153 शेयर

🙏🙏🌹🌹जय श्री श्याम्🌹🌹🙏 दूसरों को सही-गलत साबित करने में जल्दबाजी न करें | 2 कहानियाँ पहली कहानी : ट्रेन में एक पिता-पुत्र सफर रहे थे. 24 वर्षीय पुत्र खिड़की से बाहर देख रहा था, अचानक वो चिल्लाया – पापा देखो पेड़ पीछे की ओर भाग रहे हैं ! पिता कुछ बोला नहीं, बस सुनकर मुस्कुरा दिया. ये देखकर बगल में बैठे एक युवा दम्पति को अजीब लगा और उस लड़के के बचकाने व्यवहार पर दया भी आई. तब तक वो लड़का फिर से बोला – पापा देखो बादल हमारे साथ दौड़ रहे हैं ! युवा दम्पति से रहा नहीं गया और वो उसके पिता से बोल पड़े – आप अपने लड़के को किसी अच्छे डॉक्टर को क्यों नहीं दिखाते ? लड़के का पिता मुस्कुराया और बोला – हमने दिखाया था और हम अभी सीधे हॉस्पिटल से ही आ रहे हैं. मेरा लड़का जन्म से अंधा था और आज वो यह दुनिया पहली बार देख रहा है. ———- दूसरी कहानी : एक प्रोफेसर अपनी क्लास में कहानी सुना रहे थे, जोकि इस प्रकार है – एक बार समुद्र के बीच में एक बड़े जहाज पर बड़ी दुर्घटना हो गयी. कप्तान ने शिप खाली करने का आदेश दिया. जहाज पर एक युवा दम्पति थे. जब लाइफबोट पर चढ़ने का उनका नम्बर आया तो देखा गया नाव पर केवल एक व्यक्ति के लिए ही जगह है. इस मौके पर आदमी ने औरत को धक्का दिया और नाव पर कूद गया. डूबते हुए जहाज पर खड़ी औरत ने जाते हुए अपने पति से चिल्लाकर एक वाक्य कहा. अब प्रोफेसर ने रुककर स्टूडेंट्स से पूछा – तुम लोगों को क्या लगता है, उस स्त्री ने अपने पति से क्या कहा होगा ? ज्यादातर विद्यार्थी फ़ौरन चिल्लाये – स्त्री ने कहा – मैं तुमसे नफरत करती हूँ ! I hate you ! प्रोफेसर ने देखा एक स्टूडेंट एकदम शांत बैठा हुआ था, प्रोफेसर ने उससे पूछा कि तुम बताओ तुम्हे क्या लगता है ? वो लड़का बोला – मुझे लगता है, औरत ने कहा होगा – हमारे बच्चे का ख्याल रखना ! प्रोफेसर को आश्चर्य हुआ, उन्होंने लडके से पूछा – क्या तुमने यह कहानी पहले सुन रखी थी ? लड़का बोला- जी नहीं, लेकिन यही बात बीमारी से मरती हुई मेरी माँ ने मेरे पिता से कही थी. प्रोफेसर ने दुखपूर्वक कहा – तुम्हारा उत्तर सही है ! प्रोफेसर ने कहानी आगे बढ़ाई – जहाज डूब गया, स्त्री मर गयी, पति किनारे पहुंचा और उसने अपना बाकि जीवन अपनी एकमात्र पुत्री के समुचित लालन-पालन में लगा दिया. कई सालों बाद जब वो व्यक्ति मर गया तो एक दिन सफाई करते हुए उसकी लड़की को अपने पिता की एक डायरी मिली. डायरी से उसे पता चला कि जिस समय उसके माता-पिता उस जहाज पर सफर कर रहे थे तो उसकी माँ एक जानलेवा बीमारी से ग्रस्त थी और उनके जीवन के कुछ दिन ही शेष थे. ऐसे कठिन मौके पर उसके पिता ने एक कड़ा निर्णय लिया और लाइफबोट पर कूद गया. उसके पिता ने डायरी में लिखा था – तुम्हारे बिना मेरे जीवन को कोई मतलब नहीं, मैं तो तुम्हारे साथ ही समंदर में समा जाना चाहता था. लेकिन अपनी संतान का ख्याल आने पर मुझे तुमको अकेले छोड़कर जाना पड़ा. जब प्रोफेसर ने कहानी समाप्त की तो, पूरी क्लास में शांति थी. ————— इस संसार में कईयों सही गलत बातें हैं लेकिन उसके अतिरिक्त भी कई जटिलतायें हैं, जिन्हें समझना आसान नहीं. इसीलिए ऊपरी सतह से देखकर बिना गहराई को जाने-समझे हर परिस्थिति का एकदम सही आकलन नहीं किया जा सकता. – कलह होने पर जो पहले माफ़ी मांगे, जरुरी नहीं उसी की गलती हो. हो सकता है वो रिश्ते को बनाये रखना ज्यादा महत्वपूर्ण समझता हो. – दोस्तों के साथ खाते-पीते, पार्टी करते समय जो दोस्त बिल पे करता है, जरुरी नहीं उसकी जेब नोटों से ठसाठस भरी हो. हो सकता है उसके लिए दोस्ती के सामने पैसों की अहमियत कम हो. – जो लोग आपकी मदद करते हैं, जरुरी नहीं वो आपके एहसानों के बोझ तले दबे हों. वो आपकी मदद करते हैं क्योंकि उनके दिलों में दयालुता और करुणा का निवास है. आजकल जीवन कठिन इसीलिए हो गया है क्योंकि हमने लोगो को समझना कम कर दिया और फौरी तौर पर judge करना शुरू कर दिया है. थोड़ी सी समझ और थोड़ी सी मानवता ही आपको सही रास्ता दिखा सकती है. जीवन में निर्णय लेने के कई ऐसे पल आयेंगे, सो अगली बार किसी पर भी अपने पूर्वाग्रह का ठप्पा लगाने से पहले विचार अवश्य करें. 🙏🙏🌹हर हर महादेव🌹🌹🙏

+590 प्रतिक्रिया 100 कॉमेंट्स • 158 शेयर

( इसे जरुर पढे ) 💕💘एक दिन रुक्मणी ने भोजन के बाद,💘💕 💘💕श्री कृष्ण को दूध पीने को दिया।💕💘 💘💕दूध ज्यादा गरम होने के कारण श्री कृष्ण के हृदय में लगा💕💘 और उनके श्रीमुख से निकला- " हे राधे ! "😀💕💘 ी- प्रभु ! ऐसा क्या है राधा जी में, जो आपकी हर साँस पर उनका ही नाम होता है ?💕💘 💕💘मैं भी तो आपसे अपार प्रेम करती हूँ... फिर भी, आप हमें नहीं पुकारते !!💕💘 👩‍❤‍👩💘💕श्री कृष्ण ने कहा -देवी ! आप कभी राधा से मिली हैं ? और मंद मंद मुस्काने लगे...💕💘 💕💘अगले दिन रुक्मणी राधाजी से मिलने उनके महल में पहुंची ।💕💘 💕राधाजी के कक्ष के बाहर अत्यंत खूबसूरत स्त्री को देखा...💘 और, उनके मुख पर तेज होने कारण उसने सोचा कि- 💕💘ये ही राधाजी है और उनके चरण छुने लगी !💕💘 💕💘तभी वो बोली -आप कौन हैं ?💕💘 💕💘 रुक्मणी ने अपना परिचय दिया और आने का कारण बताया...💕💘 💘💕तब वो बोली- मैं तो राधा जी की दासी हूँ।💘💕 💘💕राधाजी तो सात द्वार के बाद आपको मिलेंगी !!💘💕 💕💘रुक्मणी ने सातो द्वार पार किये... और,💕💘 💕💘हर द्वार पर एक से एक सुन्दर और तेजवान दासी को देख सोच रही थी क़ि-💕💘 💕💘अगर उनकी दासियाँ इतनी रूपवान हैं...💕💘 तो, राधारानी स्वयं कैसी होंगी ?💕💘 💕💘सोचते हुए राधाजी के कक्ष में पहुंची...💕💘 कक्ष👩 में राधा जी को देखा- अत्यंत रूपवान तेजस्वी जिसका मुख सूर्य से भी तेज चमक रहा था।💕💘 रुक्मणी सहसा ही उनके चरणों में गिर पड़ी...💘 पर, 💕ये क्या राधा जी के पुरे शरीर पर तो छाले पड़े हुए है !👩 👩💕रुक्मणी ने पूछा- देवी आपके शरीर पे ये छाले कैसे ?💘 💘तब👩 राधा जी ने कहा- देवी !💕 कल आपने कृष्णजी को जो दूध दिया...💕💘 वो ज्यादा गरम था !💘 💕💘जिससे उनके ह्रदय पर छाले पड गए...💘 और, उनके💘 ह्रदय में तो सदैव मेरा ही वास होता है..!!👩 💕इसलिए कहा जाता है-💘 💕बसना हो तो... 'ह्रदय' में बसो किसी के..!👩 '💕💘दिमाग' में तो.. लोग खुद ही बसा लेते है..!!👩                ❄❄❄❄❄❄❄ ╔══════════════════╗ ║ ❤💋प्रेम से कहिये जय श्री राधे ║💋❤ ╚══════════════════ 💋💘💕

+6 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 5 शेयर

+32 प्रतिक्रिया 10 कॉमेंट्स • 12 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB