जय श्री राम जी जय वीर हनुमानजी जय श्री कृष्ण जी राधे राधे जी शुभ प्रभात वंदन जी🙏🙏

जय श्री राम जी जय वीर हनुमानजी जय श्री कृष्ण जी राधे राधे जी शुभ प्रभात वंदन जी🙏🙏

+113 प्रतिक्रिया 41 कॉमेंट्स • 20 शेयर

कामेंट्स

Sushil Kumar Sharma 🙏🙏🌹🌹 Apr 13, 2021
Good Afternoon My Bhai ji 🙏🙏 Aapko Happy Navratri Ki Hardik Shubhkamnaye ji 🙏🙏🌹🌹 Jay Mata di 🙏🙏🌹🌹 Mata Rani 🙏🙏🌹🌹🌹 Ki Kripa Dristi Aap Our Aapke Priwar Per Hamesha Sada Bhni Rahe ji 🙏 Aapka Har Pal Har Din Shub Mangalmay Ho ji 🙏🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹.

muskan Apr 14, 2021
jay shree ram 🍇🌹🍇🌹🙏 jay mata di 🌹🍇🙏🙋🌾🌿🎉jay ganesh seva 🌿🌾🙏🍇🌹🎉🕉 suprabhat vandan bhiya ji aap ka din shubh va mnglmy ho 🌹🍇🙏🌾🌿🎉🕉🌹🌹🍇🍇🕉🕉🕉🎉🎉🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

Brajesh Sharma Apr 14, 2021
🎋प्रेम से बोलो जय जय माता दी..🌹🙏 🌹हर हर महादेव.... ॐ नमः शिवाय.🌹🙏

saumya sharma Apr 15, 2021
जय माता दी 🙏सुप्रभात वंदन भाई जी🌹तृतीय नवरात्रि माँ चंद्रघंटा उसी प्रकार आप का ध्यान रखें जैसे एक माँ अपने पुत्र का रखती है 🙏आप खुश रहें, हँसते मुस्कुराते रहें 🌹😊

+32 प्रतिक्रिया 2 कॉमेंट्स • 135 शेयर

+23 प्रतिक्रिया 4 कॉमेंट्स • 192 शेयर
ramkumarverma May 6, 2021

+36 प्रतिक्रिया 1 कॉमेंट्स • 122 शेयर

बात कड़वी मगर सच्ची👍 🐦एक कबूतर और एक क़बूतरी एक पेड़ की डाल पर बैठे थे। उन्हें बहुत दूर से एक आदमी आता दिखाई दिया । क़बूतरी के मन में कुछ शंका हुआ औऱ उसने क़बूतर से कहा कि चलो जल्दी उड़ चले नहीं तो ये आदमी हमें मार डालेगा। क़बूतर ने लंबी सांस लेते हुए इत्मीनान के साथ क़बूतरी से कहा..भला उसे ग़ौर से देखो तो सही, उसकी अदा देखो, लिबास देखो, चेहरे से शराफत टपक रही है, ये हमें क्या मारेगा..? बिलकुल सज्जन पुरुष लग रहा है...? क़बूतर की बात सुनकर क़बूतरी चुप हो गई। जब वह आदमी उनके क़रीब आया तो अचानक उसने अपने वस्त्र के अंदर से तीर कमान निकाला औऱ झट से क़बूतर को मार दिया...औऱ बेचारे उस क़बूतर के वहीं प्राण पखेरू उड़ गए.... असहाय क़बूतरी ने किसी तरह भाग कर अपनी जान बचाई औऱ बिलखने लगी।उसके दुःख का कोई ठिकाना न रहा औऱ पल भर में ही उसका सारा संसार उजड़ गया। उसके बाद वह क़बूतरी रोती हुई अपनी फरियाद लेकर राजा के पास गई औऱ राजा को उसने पूरी घटना बताई। राजा बहुत दयालु इंसान था। राजा ने तुरंत अपने सैनिकों को उस शिकारी को पकड़कर लाने का आदेश दिया। तुरंत शिकारी को पकड़ कर दरबार में लाया गया।शिकारी ने डर के कारण अपना जुर्म कुबूल कर लिया। उसके बाद राजा ने क़बूतरी को ही उस शिकारी को सज़ा देने का अधिकार दे दिया औऱ उससे कहा कि " तुम जो भी सज़ा इस शिकारी को देना चाहो दे सकती हो औऱ तुरंत उसपर अमल किया जाएगा "। 🌀क़बूतरी ने बहुत दुःखी मन से कहा कि " हे राजन,मेरा जीवन साथी तो इस दुनिया से चला गया जो फ़िर क़भी भी लौटकर नहीं आएगा, इसलिए मेरे विचार से इस क्रूर शिकारी को बस इतनी ही सज़ा दी जानी चाहिए कि अगर वो शिकारी है 🏹तो उसे हर वक़्त शिकारी का ही लिबास पहनना चाहिए , ये शराफत का लिबास वह उतार दे क्योंकि शराफ़त का लिबास ओढ़कर धोखे से घिनौने कर्म करने वाले सबसे बड़े नीच होते हैं....।" ✒️इसलिए अपने आसपास शराफ़त का ढोंग करने वाले बहरूपियों से हमेशा सावधान रहें.......... सतर्क रहें औऱ अपना बहुत ख़याल रखें...!! 🚩 राम राम जी 🚩

+321 प्रतिक्रिया 72 कॉमेंट्स • 128 शेयर

भारत का एकमात्र धार्मिक सोशल नेटवर्क

Rate mymandir on the Play Store
5000 से भी ज़्यादा 5 स्टार रेटिंग
डेली-दर्शन, भजन, धार्मिक फ़ोटो और वीडियो * अपने त्योहारों और मंदिरों की फ़ोटो शेयर करें * पसंद के पोस्ट ऑफ़्लाइन सेव करें
सिर्फ़ 4.5MB